backup og meta

Sulfamethoxazole + Trimethoprim: सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Anoop Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 13/10/2020

Sulfamethoxazole + Trimethoprim: सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

यह दो एंटीबायोटिक का कॉम्बिनेशन है जिसमें सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम शामिल हैं। यह दवा बैक्टीरियल इंफेक्शन (जैसे  कान, यूरिन, सांस संबंधी और आंतों से जुड़े इंफेक्शन) में इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा यह कुछ खास किस्म के निमोनिया (न्युमोसिस्टिस-टाइप) को रोकने में भी इस्तेमाल किया जाता है।

दो साल के कम उम्र के बच्चो में इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे गंभीर साइड इफेक्ट्स का खतरा हो सकता है।

यह वायरल इंफेक्शन (जैसे फ्लू) में काम नहीं करती है। अगर जरूरत ना हो तो एंटीबायोटिक का इस्तेमाल न करें क्योंकि ऐसा करने से इसका प्रभाव कम होने लगता है।

मैं सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमेथोप्रिम (Sulfametoxazole + Trimethoprim) का इस्तेमाल कैसे करूं?

प्रत्येक खुराक को इस्तेमाल करने से पहले अच्छी तरह से मिला लें। इस दवा की खुराक को नापने के लिए डिवाइस का इस्तेमाल करें। घर में इस्तेमाल होने वाले चम्मच का इस्तेमाल ना करें क्योंकि इससे आपको सही खुराक नहीं मिल पाती है। डॉक्टर के निर्देश के अनुसार एक गिलास पानी (8 औंस /240ml) के साथ इस दवा का सेवन करें। अगर आपका पेट खराब है तो इस दवा को भोजन या दूध के साथ लें। जब तक आपको डॉक्टर ना कहे तब तक इस दवा को लेने के बाद खूब पानी पिएं ताकि किडनी स्टोन की समस्या ना हो। इस दवा की खुराक आपके स्वास्थ्य स्थिति और इलाज के प्रति आप कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है।

इस दवा के बेहतर प्रभाव के लिए आप इस एंटीबायोटिक को समान मात्रा में लें। आपको बता दें कि इस दवा को आप रोजाना एक ही समय पर लें।

इस दवा को तब तक जारी रखें जब तक दवा की पूरी मात्रा समाप्त ना हो जाए भले ही कुछ दिनों बाद लक्षण गायब हो जाएं। इस दवा को जल्दी बंद कर देने से बैक्टीरिया लगातार बढ़ सकते हैं जिसकी वजह से इंफेक्शन फिर से हो सकता है।

अगर इंफेक्शन ज्यादा दिन तक बना रहता है या खराब स्थिति में पहुंच जाता है तो इस स्थिति में आप डॉक्टर को बताएं।

मैं सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfametoxazole + Trimethoprim) को कैसे स्टोर करूं?

सल्फामेथोक्साजोल+ट्राईमथोप्रिम को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। सल्फामेथोक्साजोल+ट्राईमथोप्रिम को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में सल्फामेथोक्साजोल+ट्राईमथोप्रिम के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी सल्फामेथोक्साजोल+ट्राईमथोप्रिम खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के सल्फामेथोक्साजोल+ट्राईमथोप्रिम को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : मां को हो सर्दी-जुकाम तो कैसे कराएं स्तनपान?

सावधानियां

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole +Trimethoprim) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आपको इस दवा से कोई एलर्जी हो या किसी दूसरी तरह की एलर्जी हो तो इसका इस्तेमाल करने से पहले आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं। आपको बता दें कि इस दवा में कुछ ऐसे निष्क्रिय तत्व होते हैं जिनसे आपको एलर्जी या फिर दूसरी समस्याएं हो सकती हैं। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इस दवा के इस्तेमाल से पहले आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में बताएं खासतौर पर आपको अगर ये सारी बीमारियां हों जैसे; किडनी की बीमारी, लिवर की बीमारी, ब्लड संबंधी समस्याएं (जैसे; पोरफाइरिया, फोलेट विटामिन की कमी के कारण एनीमिया), ट्राईमथोप्रिम या सल्फा ड्रग से ब्लड संबंधी किसी बीमारी की हिस्ट्री, विटामिन की कमी (फोलेट या फोलिक एसिड), गंभीर एलर्जी की समस्या, अस्थमा, बोन मैरो का ठीक से काम ना करना ( बोन मैरो सप्रेशन), मेटाबोलिक डिसऑर्डर (जी6पीडी, G6PD की कमी), थायरॉइड की समस्या, मिनरल्स का असंतुलन ( जैसे; ब्लड में सोडियम या पोटैशियम लेवेल का बढ़ जाना) आदि।

इस दवा की वजह से लाइव बैक्टीरियल वैक्सीन ठीक से काम नहीं करती है। इसलिए जब तक आपका डॉक्टर ना कहे तब तक आप इस दवा के इस्तेमाल के दौरान किसी तरह की वैक्सीन या इम्युनिटी को बढाने वाली दवाइयों का इस्तेमाल ना करें।

सर्जरी करवाने से पहले आप डॉक्टर या डेंटिस्ट को आपके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले सभी प्रोडक्ट्स के बारे बताएं ( जिसमें पर्चे वाली दवा, गैर पर्चे वाली दवा या कोई हर्बल प्रोडक्ट शामिल हों)।

इस दवा के इस्तेमाल से आप धूप के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं। इसलिए धूप में कम समय बिताएं। जब भी बाहर जाएं तो सनस्क्रीन या सुरक्षात्मक कपड़े पहनें। अगर सनबर्न की समस्या हो या त्वचा में चकते पड़ जाएं तो तुरंत मेडिकल सेवाओं की सहायता लें।

अगर आपको डायबिटीज है तो या दवा आपके ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकती है। इसलिए रेगुलर अपना ब्लड शुगर चेक कराएं और डॉक्टर से रिपोर्ट जरूर शेयर करें। अगर आपको लो ब्लड शुगर के लक्षण महसूस हो रहें है तो तुरंत डॉक्टर को इस बारे में बताएं। आपका डॉक्टर आपके डायबिटिक दवाइयों, एक्सरसाइज प्रोग्राम या आपकी डायट के बारे में ठीक से बताएगा।

ज्यादा उम्र के लोग इस दवा के साइड इफेक्ट्स के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं जैसे स्किन रिएक्शन, ब्लड डिसऑर्डर, ब्लीडिंग होना या ब्लड में पोटैशियम लेवल का बढ़ जाना आदि।

ऐसे मरीज जिन्हें एड्स की समस्या हो, वो लोग इस दवा के साइड इफेक्ट्स के प्रति ज्यादा संवेदनशील हो सकते हैं जैसे स्किन रिएक्शन, बुखार और ब्लड डिसऑर्डर आदि।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान या डिलिवरी के समय यह दवा नहीं दी जाती है क्योंकि इससे होने वाले बच्चे को नुकसान हो सकता है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

आपको बता दें कि यह दवा ब्रेस्ट मिल्क में प्रवेश कर जाती है। हालांकि स्वस्थ शिशुओं में इस दवा के नुकसान से जुड़ी अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं है, लेकिन जो शिशु बीमार, प्रीमैच्योर या जिनमें कुछ समस्याएं (जैसे; पीलिया, ब्लड में बाइलरुबिन का ज्यादा होना, जी6पीडी, G6पीडी की कमी आदि) होती हैं उनमें इस दवा का बुरा प्रभाव हो सकता है। ब्रेस्टफीडिंग से पहले डॉक्टर से संपर्क करें। 

 सल्फामेथोक्साजोल+ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) लेने से पहले इसके फायदों और नुकसान के बारे डॉक्टर से जरूर सलाह लें। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार मिफेप्रिस्टोन प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी डी (pregnancy risk category D) के अंतर्गत आता है।

एफडीए प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी का संदर्भ नीचे दिया गया है,

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान के सकारात्मक प्रमाण
  • X= निषेध (CONTRAINDICATED)
  • N= कोई जानकारी नहीं

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में खाएं ये फूड्स नहीं होगी कैल्शियम की कमी

साइड इफेक्ट्स

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा के इस्तेमाल से मिचली, उल्टी, डायरिया और भूख न लगने जैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। अगर आपको ये सारे साइड इफेक्ट्स ज्यादा दिनों तक बने रहते हैं या खराब स्थिति में हो जाते हैं तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट को जरूर बताएं।

आप याद रखें कि आपका डॉक्टर इस दवा को इसलिए प्रेस्क्राईब करता है क्योंकि उसे पता है कि इस दवा के साइड इफेक्ट्स की तुलना में इसके फायदे ज्यादा हैं। बहुत से लोगों को इस दवा के इस्तेमाल करने के बावजूद भी साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं।

आप अपने डॉक्टर को जरूर बताएं अगर आपको ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं जैसे; मांसपेशियों में कमजोरी, मूड का बदलना, किडनी की समस्या (जैसे यूरिन की मात्रा का बदलना, मूत्र से ब्लड का आना), ऊंघाई आना, ब्लड शुगर लेवल का कम होना (जैसे अचानक पसीना आना, हिलना, हार्ट बीट का तेज होना, धुंधला दिखाई देना, सुस्ती या हाथ पैरों का कांपना) आदि।

आप तुरंत मेडिकल सेवाओं की सहायता लें अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं जैसे; ज्यादा दिन तक सिरदर्द होना, गर्दन में अकड़ल, दौरे पड़ना, धीमी/अनियमित हार्ट बीट होना आदि।

इस दवा के इस्तेमाल से एलर्जी या दूसरे साइड इफेक्ट्स हो जाते हैं जैसे, त्वचा में चकते पड़ना (जैसे स्टीवेंस जॉनसन सिंड्रोम), ब्लड डिसऑर्डर (जैसे ऐग्रेन्युलोसाईटोसिस, एप्लास्टिक एनीमिया), लिवर खराब होना या फेफड़ों में घाव होना। अगर आपको नीचे बताई गईं समस्याएं हैं तो तुरंत मेडिकल सेवाओं की सहायता लें जैसे; त्वचा का जलना या चकते पड़ना, खुजली/सूजन (खासतौर पर चेहरे/जीभ/गले में), गले में खराश या बुखार होना, जोड़ों में दर्द, कफ होना, सांस लेने में दिक्कत, ब्लीडिंग होना, आँखों और त्वचा का पीला पड़ना, मिचली/उल्टी, थकान, डार्क यूरीन आदि।

इस दवा के इस्तेमाल से कभी कभी आपको आंतो से संबंधित गंभीर समस्या (क्लोस्ट्रीडियम डिफीसिले असोसिएटेड डायरिया) हो सकती है। यह समस्या ट्रीटमेंट के दौरान या ट्रीटमेंट समाप्त होने के कुछ हफ्ते या महीने बाद भी हो सकती है। अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको ये साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं जैसे; लगातार डायरिया की समस्या, पेट दर्द या पेट में खिंचाव, मल से ब्लड या म्यूक्स का आना आदि।

अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण महसूस हो रहें हैं तो इस स्थिति में एंटीडायरिया प्रोडक्ट या नार्कोटिक की दवाइयों का सेवन ना करें क्योंकि इन प्रोडक्ट्स से स्थिति और अधिक खराब हो सकती है।

अगर आप इस दवा को लंबे समय तक और नियमित अंतराल पर इस्तेमाल करते हैं तो इससे मुंह के छाले या यीस्ट इंफेक्शन हो सकता है। अगर आपको मुंह के अंदर सफेद धब्बे, वजायनल डिस्चार्ज में बदलाव या नए लक्षण महसूस हों तो अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। यहां पर सभी साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं। यदि आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट्स महसूस हो तो इस स्थिति में आप डॉक्टर या फार्मासिस्ट से जरूर संपर्क करें।

और पढ़ें : आईवीएफ (IVF) के साइड इफेक्ट्स: जान लें इनके बारे में भी

[mc4wp_form id=’183492″]

इंटरैक्शन

कौन सी दवाएं सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

कुछ प्रोडक्ट्स इस दवा के साथ इंटरैक्ट कर सकते हैं जैसे; ब्लड थिनर (जैसे वरफेरिन), डोफेटीलाइड, मेथेनामीन, मेथोट्रेक्सेट आदि।

हालांकि अधिकांश एंटीबायोटिक दवाइयां हार्मोनल बर्थ कंट्रोल (दवाएं, पैच या रिंग) पर कोई प्रभाव नहीं डालती हैं लेकिन कुछ एंटीबायोटिक (जैसे कि रीफामैपिन, रीफाब्यूटिन) इनके असर या प्रभाव को घटा सकते हैं। इससे प्रेग्नेंसी हो सकती है। अगर आप हार्मोनल बर्थ कंट्रोल इस्तेमाल करते हैं तो इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

यह दवा कुछ लेबोरेटरी टेस्ट को बाधित कर सकता है जिससे टेस्ट के परिणाम गलत हो सकते हैं। इस स्थिति में लेबोरेटरी कर्मी और आपके डॉक्टर को इस बात का पता होना चाहिए कि आप इस दवा का इस्तेमाल करते हैं।

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम उसके साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं की लिस्ट रखें जो डॉक्टर द्वारा पर्चे पर लिखी गई हों या ना लिखी गई हों या हर्बल प्रोडक्ट्स हो और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बन्द करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) लेना सुरक्षित है?

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे आपके दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है या साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है। भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस दवा के इस्तेमाल को लेकर डॉक्टर या फार्मासिस्ट की सलाह जरूर लें।

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम आपके स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। इससे आपके स्वास्थ्य की स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या फिर दवा के काम करने का तरीका प्रभावित हो सकता है। अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को जरूर बताएं।

और पढ़ें : फॉलो करें यह बनाना डायट प्लान, जल्दी घटेगा वजन

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम (Sulfamethoxazole + Trimethoprim) कैसे उपलब्ध है?

सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

  • ओरल टैबलेट (oral tablet)
  • ओरल सस्पेंसन (oral suspension)
  • इंट्रावेनस सॉल्यूशन (ravenous solution)

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इस स्थिति में आप अपने लोकल इमरजेंसी सेवाओं को कॉल करें या फिर नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप सल्फामेथोक्साजोल + ट्राईमथोप्रिम की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें।

हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


Anoop Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 13/10/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement