home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Theophylline: थियोफाइलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|इन जरूरी बातों को जानें|डोसेज
Theophylline: थियोफाइलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

थियोफाइलिन (Theophylline) का इस्तेमाल किसके लिए किया जाता है?

थियोफाइलिन का इस्तेमाल अस्थमा, क्रोनिक ब्रोंकाइटिस या फेफड़ों की बीमारी के कारण होने वाले लक्षण जैसे सांस का ज्यादा फूलना और सांस लेने में परेशानी के उपचार के लिए किया जाता है। थियोफाइलिन जैंथीन्स (xanthines) नामक दवाओं के वर्ग के अंतर्गत आती है। यह सांस की नली में होने वाली जलन और सूजन को कम करती है। ये फेफड़ों में सांस के रास्ते खोलने का काम करती है जिससे सांस लेने में होने वाली परेशानी दूर होती है।

ये दवा तुरंत अपना असर नहीं करती है। इसका इस्तेमाल अचानक सांस लेने में होने वाली दिक्कत के लिए नहीं करना चाहिए। अचानक सांस लेने में हो रही परेशानी के लिए आपका डॉक्टर आपको तुरंत आराम पहुंचाने वाली दवा या इन्हेलर लिख देगा। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

मैं थियोफाइलिन का इस्तेमाल कैसे करूं?

इस दवा को दिन में एक से दो बार अपने डॉक्टर के निर्देश के अनुसार लें सकते हैं। अगर इसे लेने से आपके पेट में किसी तरह की गड़बड़ हो रही है तो आप इसे खाने के साथ लें। ये दवा तब अच्छे से काम करती है जब यह कुछ समय तक आपके शरीर में एक स्थिर मात्रा में रहे। इसलिए इस दवा को समय पर लें। दवा को लेने का बेस्ट समय जानने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

दवा को किसी हाल में पीसें या चबाएं नहीं। ऐसा करने से साइड इफेक्ट्स होने का खतरा ज्यादा रहता है। पूरी गोली को पीसने या चबाने की बजाय निगल लें।

इसकी खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए डॉक्टर से चर्चा करें। अगर आपको इसके सेवन के बाद कुछ गड़बड़ महसूस हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

मैं थियोफाइलिन को कैसे स्टोर करूं?

थियोफाइलिन को हमेशा रूम टेम्प्रेचर पर स्टोर करें। दवा को डैमेज होने से रोकने के लिए इसे फ्रीजर में न रखें। हो सकता है अलग-अलग ब्रैंड की ये दवा को स्टोर करने की जरूरत भी अलग हो। इसलिए हमेशा दवा के पैकेट पर उसे स्टोर करने के लिए दी गई गाइडलाइंस को जरूर पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के थियोफाइलिन को टॉयलेट या नाले में न फेकें। अगर यह दवा एक्सपायर हो चुकी है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: ओमेप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

थियोफाइलिन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

थियोफाइलिन को इस्तेमाल करने से पहले इससे होने वाले जोखिम और लाभ के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें। इस दवा को लेने से पहने निम्न बाते अपने डॉक्टर को जरूर बताएं:

  • अगर आपको किसी भी दवा से एलर्जी है तो उसके बारे में अपने डॉक्टर को बताएं।
  • अगर आपको दवा से अलग भी किसी चीज से एलर्जी है तो इस बारे में भी चर्चा करें।
  • यदि आप किसी स्वास्थ्य स्थिति का उपचार ले रहे हैं?
  • अगर आप किसी तरह के हर्बल्स, काउंटर से मिलने वाली दवाएं या अन्य दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं?
  • अगर आपको कोई बीमारी है तो उसके बारे में बताएं।
  • गर्भवती हैं, या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं, या स्तनपान करा रही हैं तो डॉक्टर को बताना न भूलें।

अगर दवा के इस्तेमाल से आपके सेहत में कोई सुधार होता है या स्थिति और ज्यादा बिगड़ जाती है तो इसकी जानकारी तुरंत अपने डॉक्टर को दें।

बच्चों के लिए:

बच्चों के लिए थियोफाइलिन सुरक्षित है या नहीं इस पर अभी और शोध की जरूरत है। हालांकि एक साल की उम्र से कम बच्चों में गंभीर दुष्प्रभाव होने की अधिक संभावना है।

बुजुर्गों के लिए:

इस पर भी अभी अधिक शोध की जरूरत है कि थियोफाइलिन बुजुर्गों के लिए सेफ है या नहीं। वयस्कों की तुलना में बुजुर्गों के लिए ये दवा ज्यादा हानिकारक हो सकती है। इससे उनकी किडनी, लिवर, हार्ट और लंग्स फेल होने की संभावना रहती है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान थियोफाइलिन लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान इस दवा को सिर्फ तभी लें अगर डॉक्टर इसे रिकमेंड करें। प्रेग्नेंसी के आखिर के तीन महीनों में शरीर में बहुत बदलाव होते हैं जो खून में मौजूद इस दवा की मात्रा को प्रभावित कर सकते हैं। ये दवा ब्रेस्ट मिल्क में मिलकर बच्चे तक पहुंच सकती है और उसके लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं गलती से भी इसका इस्तेमाल न करें।

यह भी पढ़ें : नॉरफ्लोक्स टीजेड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, खुराक और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

थियोफाइलिन के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

यदि आपको थियोफाइलिन लेते समय निम्नलिखित में से कोई भी दुष्प्रभाव नजर आते हैं, तो तुरंत उसका इस्तेमाल करना बंद कर दें और अपने चिकित्सक से कंसल्ट करें:

  • एलर्जी
  • सांस लेने में दिक्कत होना
  • मुंह, लिप्स या गले में सूजन होना
  • लगातार उल्टी होना
  • दिल की धड़कने तेज या धीरे होना
  • लगातार सिर दर्द होना
  • पेट में दर्द, डायरिया, पेट में गड़बड़
  • पसीना आना
  • नींद न आना
  • थकान महसूस होना
  • लो पोटैशियम (बहुत प्यास लगना, यूरीन ज्यादा आना, टांगों में दर्द होना, मसल्स कमजोर होना आदि)
  • हाई ब्लड शुगर (सही से नजर न आना, अचानक वजन कम होना, भूख लगना, ड्राय स्किन आदि)

डॉक्टर यह दवा आपके लिए तभी निर्धारित करते हैं। जब उससे होने वाले फायदे साइड इफेक्ट्स से ज्यादा होते हैं। हालांकि, इस दवा का उपयोग करने वाले कई लोगों पर किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है।

ये भी पढ़ें : ओमेप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

हालांकि, दवा का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों में ये लक्षण नजर आए ऐसा जरूरी नहीं है। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्ट को लेकर कोई सवाल है, तो आपने डॉक्टर से संपर्क करें।

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं थियोफाइलिन के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

हो सकता है आप जो फिलहाल दवा ले रहे हैं उसे थियोफाइलिन के साथ लेने पर ज्यादा साइड इफेक्ट्स हो। ऐसा भी हो सकता है दूसरी दवाओं के साथ इसे लेने पर ये अन्य दवाओं के असर को प्रभावित कर सकती है। किसी भी तरह के बुरे प्रभाव से बचने के लिए आपको उन सभी दवाओं की एक लिस्ट रखनी चाहिए जिनका आप उपयोग कर रहे हैं और एक बार इस लिस्ट को अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को दिखाएं। सुरक्षा के लिए अपने डॉक्टर की स्वीकृति के बिना किसी-भी दवा की खुराक को शुरू न करें, ना ही दवा लेना बंद करें और न ही खुराक को बदलें।

निम्नलिखित दवाओं के साथ ये रिएक्ट कर सकती है:

  • Amifampridine
  • Riociguat

इन दवाओं के साथ थियोफाइलिन को उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती, लेकिन कुछ केस में जरूरत पड़ने पर डॉक्टर इन्हें साथ में दे भी सकता है। अगर इनमें से कोई दवा थियोफाइलिन के साथ डॉक्टर देता भी है तो वो अपने अनुसार खुराक को निर्धारित कर देगा।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ थियोफाइलिन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

थियोफाइलिन के साथ एल्कोहॉल लेने से हो सकता है दवा 30% ज्यादा समय तक आपके शरीर में रहे। इससे गंभीर साइड इफेक्ट्स होने की संभावना ज्यादा होगी। कुछ डायट (जैसे हाई प्रोटीन, लो कार्बोहाइड्रेट, हाई कार्बोहाइड्रेट या लो प्रोटीन) थियोफाइलिन के असर में परिवर्तन कर सकती हैं। अगर दवा खाते समय आप अपनी डायट में कोई बड़े बदलाव कर रहे हैं तो इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

थियोफाइलिन खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

थियोफाइलिन का इस्तेमाल आपकी सेहत के लिए कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें, खासतौर पर अगर आपको निम्नलिखित में से कोई परेशानी है:

ये भी पढ़ेंः वसाबी की ज्यादा मात्रा से महिला को हुआ ब्रोकन हार्ट सिन्ड्रोम

डोसेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

थियोफाइलिन की बच्चों के लिए क्या डोज है?

बच्चों के लिए

ओरल

एक साल से छोटे बच्चे जो प्रीमैच्योर पैदा हुए हो।

24 दिन से कम उम्र के बच्चे: हर 12 घंटे में 1 मिलीग्राम/किलोग्राम

24 दिन से ज्यादा उम्र के बच्चे: हर 12 घंटे में 1.5 मिलीग्राम/किलोग्राम

एक साल से छोटे बच्चे, जो मैच्योर पैदा हुए हों

डॉक्टर आपके बच्चे की डोज उसकी उम्र और वजन के हिसाब से दवा निर्धारित करेगा। डोज इस बात पर भी निर्भर करती है कि शरीर में थियोफाइलिन की मात्रा कितनी है।

0-25 हफ्ते तक के बच्चों के लिए- निर्धारित दवा को तीन बराबर डोज में हर 8 घंटे में लें

26 हफ्ते और उससे बड़े बच्चे- निर्धारित दवा को चार बराबर डोज में हर 6 घंटे में लें

एक से 15 साल तक के बच्चे जिनका वजन 45 से कम हो

शुरुआत में अधिकतम 300 मिलीग्राम लें। तीन दिन के बाद उनकी डोज बढ़कर अधिकतम 400 मिलीग्राम होगी। अगर किसी तरह के कोई साइड इफेक्ट्स न हो तो तीन दिन के बाद दवा थोड़ी और बढ़ाकर 600 मिलीग्राम तक होगी।

इस दवा को अलग अलग डोजेज में हर 4 से 6 घंटे में लिया जाता है। ये इस बात पर निर्भर करता है कि आपके शरीर में थियोफाइलिन की मात्रा कितनी है।

एक से 15 साल तक के बच्चे जिनका वजन 45 से ज्यादा हो

शुरुआत में अधिकतम 300-400 मिलीग्राम। तीन दिन के बाद उनकी डोज बढ़कर अधिकतम 400-600 मिलीग्राम होगी। तीन दिन के बाद डोज शरीर में मौजूद थियोफाइलिन की मात्रा के अनुसार निर्धारित कर दी जाएगी।

16 से 17 उम्र के बच्चों के लिए

शुरुआत में इनकी डोज 300-400 मिलीग्राम प्रति दिन। तीन दिन के बाद उनकी डोज बढ़कर अधिकतम 400-600 मिलीग्राम होगी। तीन दिन के बाद डोज शरीर में मौजूद थियोफाइलिन की मात्रा के अनुसार निर्धारित की जाएगी।

एडल्ट डोजेज (18 से 59 उम्र के लोगों के लिए)

शुरुआत में इनकी डोज 300-400 मिलीग्राम प्रति दिन। तीन दिन के बाद उनकी डोज बढ़कर अधिकतम 400-600 मिलीग्राम होगी। तीन दिन के बाद डोज शरीर में मौजूद थियोफाइलिन की मात्रा के अनुसार निर्धारित की जाएगी।

ओरल लिक्विड

शुरुआत में हर दिन 300 मिलीग्राम को हर 6 से 8 घंटे में अलग अलग डोसेज में लें।

अगर दवा आप सहन कर पा रहे हैं, तो तीन दिन के बाद 400 मिलीग्राम को हर 6 से 8 घंटे में अलग अलग डोसेज में लें।

तीन दिन के बाद अब 600 मिलीग्राम को हर 6 से 8 घंटे में अलग अलग डोजेज में लें।

60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए:

बुजुर्गों की किडनी इतने अच्छे से काम नहीं करती है जिस वजह से शरीर में दवा बहुत धीरे प्रॉसेस होती है। शरीर में लंबे समय तक ड्रग्स के रहने से साइड इफेक्ट्स होने की संभावना ज्यादा होती है। हो सकता है आपका डॉक्टर छोटी खुराक के साथ शुरुआत करें। आपके लिए अधिकतम खुराक 400 मिलीग्राम होगी।

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करूं?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

थियोफाइलिन की खुराक भूलने पर क्या करूं?

अगर थियोफाइलिन की खुराक लेना भूल जाते हैं, तो उसे स्किप कर दें। जो खुराक भूल गए उसे याद आने पर लेने की जरूरत नहीं है।

और पढ़ें : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/03/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x