जानें लिवर कैंसर और इसके हाेने के कारण क्या हैं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

लिवर कैंसर क्या है ? 

लिवर कैंसर एक गंभीर कैंसर है जोकि लिवर यानी यकृत में होता है। कुछ कैंसर ऐसे भी होते हैं जो किसी और अंग में शुरू होते हैं और लिवर तक पहुंच जाते हैं। उसे सेकेंड्री लिवर कैंसर कहते हैं। वहीं लिवर से शुरू होने वाले कैंसर को प्राइमरी लिवर कैंसर कहते हैं।

डॉक्टरों के अनुसार, लिवर से शुरू होने वाले कैंसर को ही लिवर कैंसर कहा जाता है। अमेरिकन कैंसर सोसाइटी (एसीएस) का अनुमान है कि 2019 में 42,030 लोगों में लिवर कैंसर पाया गया। इनमें से 29,480 पुरुष और 12,550 महिलाएं शामिल हैं। लिवर कैंसर मुख्य रूप से हेपेटाइटिस संक्रमण के बढ़ने के कारण होता है।अमेरिका में यह कैंसर महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में ज्यादा पाया जाता है।

और पढ़ें – जानें लिवर कैंसर और इसके हाेने के कारण क्या हैं?

लिवर क्या काम करता है?

लिवर शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक होता है और यह निम्नलिखित कार्य करता है—

  • यह फेफड़ों के ठीक नीच होता है और शरीर से विषैले पदार्थों को हटाने का कार्य भी करता है।
  • इसके अलावा लिवर खून को भी फिल्टर करता है। यही खून पूरे शरीर में प्रवाहित होता है।
  • लिवर कई प्रकार के सेल्स यानी कोशिकाओं का निर्माण करता है। इसलिए सेल्स से कई प्रकार के ट्यूमर भी बनते हैं।
  • इनमें से कुछ सेल्स नॉनकैंसरस होते हैं जो ट्यूमर या कैंसर नहीं बनाते हैं। वहीं कुछ कैंसर वाले होते हैं और अन्य भागों में फैल जाते हैं।
  • ट्यूमर बनने के अलग-अलग कारण होते हैं और इनका इलाज भी अलग तरह से होता है।

और पढ़ें – Stem Cells : स्टेम सेल्स क्या हैं ?

प्राइमरी लिवर कैंसर क्या है?

प्राइमरी लिवर कैंसर लिवर में मौजूद अलग—अलग सेल्स से ​बनते हैं। प्राइमरी लिवर कैंसर लिवर में पनपने वाली एक गांठ के रूप में शुरू हो सकता है। यह कैंसर एक ही समय पर लिवर में कई जगहों पर भी हो सकता है। प्राइमरी लिवर कैंसर के कई प्रकार होते हैं, जैसे कि-

हेपेटोसेल्युलर कार्सिनोमा (एचसीसी)

इस कैंसर को हेपेटोमा के नाम से भी जाना जाता है। यह लिवर कैंसर का सबसे आम प्रकार है। हेपेटोसाइट्स सेल्स में निर्मित होने वाला कैंसर है। हेपेटोसाइट्स लिवर की प्रमुख कोशिका है। यह कैंसर लिवर से शरीर के अन्य भागों जैसे अग्न्याशय, आंत और पेट में फैल सकता है। उन लोगों में ये कैंसर होने की ज्यादा आशंका होती है जो शराब पीते हैं।

कोलैंगियोकार्सिनोमा

इस कैंसर को आमतौर पर पित्त नली कैंसर के नाम से जाना जाता है। यह कैंसर लिवर में छोटे ट्यूब जैसे पित्त नली की ​तरह वि​कसित होता है। पित्त नली भोजन को पचाने के लिए पित्त को पित्ताशय की थैली में ले जाती है। जब यह कैंसर लिवर के अंदर विकसित होता है तो उसे इंट्राहेपेटिक पित्त नली का कैंसर कहा जाता है। जब कैंसर लिवर के बाहर होता है तो इसे एक्स्ट्रापेटिक पित्त नली का कैंसर कहते हैं।

और पढ़ें – Cervical Dystonia : सर्वाइकल डिस्टोनिया (स्पासमोडिक टोरटिकोलिस) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लिवर एंजियोसारकोमा

लिवर एंजियोसारकोमा, ​लिवर कैंसर का एक दुर्लभ प्रकार है। यह लिवर की रक्त वाहिकाओं में शुरू होता है। यह कैंसर लिवर में बहुत तेजी से फैलता है। जब यह कैंसर डायगनोज होता है तो एडवांस स्टेज पर पहुंच चुका होता है।

हेपेटोब्लास्टोमा

हेपेटोब्लास्टोमा लिवर कैंसर का बेहद दुर्लभ प्रकार है। यह ज्यादा बच्चों में पाया जाता है। 3 साल तक के बच्चों में इसे ज्यादा देखा गया है। इस कैंसर का इलाज सर्जरी और कीमो​थेरेपी से किया जाता है। जब यह कैंसर शरीर में डायगनोज होता है तो जीवित रहने की संभावना 90 फीसदी तक होती है।

और पढ़ें – उस वक्त इच्छामृत्यु मुझे आसान रास्ता लग रहा था

क्या चीजें हैं जो लिवर कैंसर के खतरे को बढ़ा सकती हैं?

डॉक्टरों के अनुसार, अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि लोगों को लिवर कैंसर क्यों होता है। वहीं कुछ कारक हैं जो लिवर कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं।

  • 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में लिवर कैंसर अधिक पाया जाता है। इसका मतलब यह है कि उम्र के चलते भी लिवर कैंसर हो सकता है।
  • हेपेटाइटिस बी या सी संक्रमण आपके लिवर को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। हेपेटाइटिस एक शरीर से दूसरे में फैलने वाली बीमारी है।
  • हेपेटाइटिस व्यक्ति के खून या स्पर्म के जरिए दूसरे व्यक्ति को भी संक्रमित कर सकता है। हेपेटाइटिस बी से बचने के लिए वैक्सीन उपलब्ध है।
  • सालों से शराब का सेवन करने वालों को लिवर कैंसर जल्दी हो सकता है। वहीं जो लोग रोज शराब पीते हैं उनके लिए भी खतरा बना रहता है।
  • लिवर खराब होने के एक प्रकार का नाम सिरोसिस भी है। एक खराब लिवर ठीक से काम नहीं कर पाता। साथ ही कैंसर की संभावनाओं को भी बढ़ा देता है। अमेरिका में सबसे ज्यादा लिवर कैंसर सिरोसिस की वजह से ही होता है।
  • एफ्लेटॉक्सिन की वजह से भी लिवर कैंसर हो सकता है। यह एक विषैला पदार्थ होता है जो मूंगफली, अनाज और मकई खाने वाले लोगों में विकसित होता है। अमेरिका में फूड हैंडलिंग कानून के तहत इन खाद्य पदा​र्थों को सीमित मात्रा में ही बेचा जाता है। भारत के अलावा अन्य देशों के लोगों में एफ्लेटॉक्सिन का खतरा ज्यादा होता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

लिवर कैंसर होने  के अन्य कारण

टाइप 2 डायबिटीज

डायबिटीज यानी मधुमेह वाले मरीजों को लिवर कैंसर का खतरा हो सकता है। अगर उन्हें हेपेटाइटिस भी है तो ये खतरा और भी बढ़ सकता है। ऐसे लोगों को शराब के नियमित सेवन से बचना चाहिए। साथ ही डायबिटीज में लोगों को ये ध्यान देना चाहिए कि उनका वजन न बढ़े।

आनुवांशिक बीमारी

यदि घर में मां, पिता, भाई या बहन को कभी लिवर कैंसर हो चुका है तो परिवार के अन्य सदस्यों को भी कैंसर होने का खतरा बना रहता है।

और पढ़ें – Deep Vein Thrombosis (DVT): डीप वेन थ्रोम्बोसिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

ज्यादा शराब पीना

हर दिन शराब के 6 पैग पीने से सिरोसिस का खतरा बढ़ जाता है। सिरोसिस को लिवर कैंसर में बदलने में देर नहीं लगती।

इम्युनिटी कमजोर होना

स्वस्थ मनुष्य की तुलना में कमजोर इम्युनिटी सिस्टम वालों को लिवर कैंसर होने का खतरा पांच गुना ज्यादा होता है।

मोटापा

मोटे होने के कारण कई तरह के कैंसर विकसित हो जाते हैं। ​इसमें लिवर कैंसर भी शामिल है। फैटी लिवर कैंसर बनाता है।

धूम्रपान

कभी सिगरेट न पीने वालों की तुलना में धूम्रपान करने वाले लोगों को लिवर कैंसर का खतरा ज्यादा होता है।

अगर आप हेपेटाइटिस बी या सी से संक्रमित हैं तो आपको समय—समय पर डॉक्टर से जांच करवाते रहना चाहिए। ज्यादा शराब पीने वाले भी अपने लिवर का ध्यान रखें। लिवर कैंसर के एडवांस स्टेज में पहुंचने के बाद डॉक्टर उसे डायगनोज करते हैं तो इलाज करना बहुत मुश्किल होता है। इसका सीधा तरीका यही है कि ​जांच करवाते रहें। क्योंकि लिवर कैंसर के शुरुआती लक्षण नजर नहीं आते हैं। लिवर कैंसर की जांच ब्लड टेस्ट, हेपेटाइटिस टेस्ट, सीटी स्कैन, बायोप्सी, लेपेरोस्कोपी के जरिए होती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

कैंसर स्क्रीनिंग के बारे में हर किसी को होनी चाहिए यह जानकारी

कैंसर स्क्रीनिंग आज के दौर में सबसे जरूरी है क्योंकि यदि कोई कैंसर के लक्षण से लेकर उसके बचाव को जानेगा तभी वह बीमारी को सही समय पर पहचान सकता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 8, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Cerebrospinal Fluid Test : सीएसएफ टेस्ट (CSF Test) क्या है?

सीएसएफ टेस्ट क्या होता है? सीएसएफ टेस्ट क्यों किया जाता है? Cerebrospinal fluid (CSF) test in hindi, इस टेस्ट को कैसे किया जाता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
मेडिकल टेस्ट A-Z मई 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

World Liver Day: शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाने के लिए अपने लिवर की हेल्थ पर दें ध्यान

लिवर हेल्थ को कैसे ठीक रखें, लिवर हेल्थ के लिए क्या खाएं, इम्यूनिटी को कैसे बढ़ाएं, लिवर के लिए योगासन, liver health food yogasan in Hindi.

के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Pinched nerve : नस दबना (पिंच्ड नर्व) क्या है?

नस दबना (पिंच्ड नर्व) क्या है? नस दबने (पिंच्ड नर्व) के कारण, जोखिम व उपचार क्या है? Pinched Nerves: Causes, Symptoms & Treatment in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Anoop Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 10, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

हेपेटाइटिस के बारे में वीडियो - VIDEO ABOUT HEPATITIS WITH EXPERT

हेपेटाइटिस क्या है, कैसे करें इससे बचाव, जानें एक्सपर्ट के साथ

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ जुलाई 24, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

क्या होगा यदि कैंसर वाले पॉलिप को हटा दिया जाए, जानें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जून 25, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
कोलन कैंसर का परीक्षण /colon cancer

घर पर कैसे करें कोलोरेक्टल या कोलन कैंसर का परीक्षण?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जून 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
ओवेरियन कैंसर और ब्रेस्टफीडिंग

स्तनपान करवाने से महिलाओं में घट जाता है ओवेरियन कैंसर का खतरा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रकाशित हुआ मई 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें