home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Blood Urea Nitrogen Test: ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट क्या है?

बेसिक्स को जाने|जानने योग्य बातें|जानिए क्या होता है|परिणामों की व्याख्या
Blood Urea Nitrogen Test: ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट क्या है?

बेसिक्स को जाने

ब्लड यूरिया नाइट्रोजन परीक्षण (Blood Urea Nitrogen Test) क्या है?

ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Blood Urea Nitrogen Test) का प्रयोग यह निश्चित करने के लिए किया जाता है कि आपकी किडनी कितनी अच्छी तरह काम कर रही हैं। ऐसा रक्त में यूरिया नाइट्रोजन की मात्रा को मापकर किया जाता है। यूरिया नाइट्रोजन शरीर का एक बेकार पदार्थ है जो लीवर में बनता है, जब शरीर में प्रोटीन की खराबी होती है । आम तौर पर, गुर्दे इस कचरे को छान लेते हैं, और पेशाब के रास्ते शरीर से निकाल देते हैं।

जब किडनी या लीवर डैमेज हो जाती हैं तो शरीर मे बॉन का लेवल (स्तर) बढ़ जाता है। रक्त में बहुत अधिक मात्रा में यूरिया नाइट्रोजन जमा होना किडनी या लीवर की समस्या का संकेत हो सकता है ।

ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Blood Urea Nitrogen Test) क्यों किया जाता है?

आपको बॉन टेस्ट की जरूरत पड़ती है

  • जब डॉक्टर को लगता है कि किडनी डैमेज है।
  • किडनी ठीक प्रकार से काम कर रही है या नहीं और हेमोडायलिसिस या पेरिटोनियल डायलिसिस कितना कारगर है, ये निश्चित करने के लिए इस टेस्ट की मदद ली जाती है।
  • ये टेस्ट भी बाकी ब्लड टेस्ट ग्रुप का ही एक हिस्सा है और कई बीमारियों को डायग्नोस या उनके निदान में मदद करता है जैसे, लिवर डैमेज, पेशाब में दिक्कत, हार्टफेल या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रक्तस्राव जैसी कई अन्य स्थितियों का निदान करने में मदद करता है – हालाँकि एक एब्नॉर्मल बॉन टेस्ट किसी भी बीमारी की 100 प्रतिशत पुष्टि नहीं करता ।

यदि गुर्दे की समस्याएं सबसे बड़ी चिंता हैं, तो आपके रक्त में क्रिएटिनिन का स्तर भी उसी समय मापा जाएगा जब यूरिया नाइट्रोजन के स्तर को समझने के लिए आपका ब्लड टेस्ट किया जाएगा।

क्रिएटिनिन एक अन्य अपशिष्ट या बेकार/ वेस्ट उत्पाद है, जो हेल्थी किडनी के माध्यम से आपके शरीर से बाहर निकलता है। आपके खून में क्रिएटिनिन का हाई लेवल गुर्दे या किडनी की क्षति का संकेत हो सकता है।

डॉक्टर इस बात की भी जांच कर सकता है कि आपकी किडनी कितनी अच्छी तरह यूरिया नाइट्रोजन को शरीर से बाहर निकाल रही है ।

ऐसा करने के लिए, आपके पास वो ब्लड सैंपल होना चाहिए जो “एस्टीमेट ग्लोमेरुलर फिल्ट्रेशन रेट” (जीएफआर) की गणना करने के लिए लिया गया है । जीएफआर किडनी के कार्य-प्रतिशत का अनुमान लगाता है।

और पढ़ेंः CT Scan : सीटी स्कैन क्या है?

जानने योग्य बातें

मुझे ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Blood Urea Nitrogen Test) कराने से पहले पता होना चाहिए?

बॉन टेस्ट से जुड़े साइड इफेक्ट

  • सुई लगने वाले स्थान पंचर साइड से खून आना
  • पंचर साइट की स्किन का नीला पड़ जाना
  • स्किन के नीचे ब्लड क्लॉट होना या खून जमना
  • पंचर साइट पर इंफैक्शन
और पढ़ें : Contraction Stress Test: कॉन्ट्रेक्शन स्ट्रेस टेस्ट क्या है?

जानिए क्या होता है

ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Blood Urea Nitrogen Test) की तैयारी कैसे करें?

आपका अगर सिर्फ बॉन टेस्ट हो रहा है तो आप खा पी सकते है लेकिन अगर ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट के साथ दूसरे टेस्ट भी हो रहे है तो आपको एक निश्चित समय तक फास्टिंग या उपवास करना पड़ सकता है । ऐसी स्थिती में आपका डॉक्टर आपको उचित दिशा निर्देश देगा ।

और पढ़ें : Uric Acid Blood Test : यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Blood Urea Nitrogen Test) के दौरान क्या होता है?

  • बॉन टेस्ट भी एक नार्मल ब्लड टेस्ट जैसा ही है जिसमे सैंपल के तौर पे थोड़ा सा ब्लड लिया जाता है
  • लैब अटेंडेंट ब्लड सैंपल लेने से पहले इंजेक्ट साइड को एंटीसेप्टिक से साफ करेगा । वह आपकी बांह को एक इलास्टिक बैंड से बांध देगा जिससे आपकी नसे फूल जाएगी और उनमें खून भर जाएगा। इसके बाद नसों में एक सुई इंजेक्ट करके उससे जुड़ी एक ट्यूब में ब्लड सैंपल ले लेगा । सुई इंजेक्ट करते समय आपको हल्का दर्द हो सकता है
  • जरूरत के हिसाब से ब्लड सैंपल लेने के बाद अटेंडेंट सुई निकाल के इंजेक्ट साइड पे बैंडेज लगा देगा। ब्लड सैंपल को जांच के लिए लैब में भेज दिया जाएगा। आपके टेस्ट रिजल्ट के विषय मे डॉक्टर आपसे बात करेगा ।

ब्लड यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Blood Urea Nitrogen Test) के बाद क्या होता है?

जब तक आपके साथ कोई मेडिकल इमरजेंसी के हालात पैदा नहीं होते, आप बॉन टेस्ट के बाद अपने घर और अपनी नार्मल लाइफ में लौट सकते है।

बॉन टेस्ट को लेकर यदि आपके मन मे कोई सवाल है तो उसे समझने और उचित निर्देश के लिए अपने डॉक्टर से बात करे।

और पढ़ें : Allergy Blood Test : एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

परिणामों की व्याख्या

मेरे परिणामों का क्या मतलब है?

एक बॉन टेस्ट के रिजल्ट प्रति मिलीग्राम मिलीग्राम (मिलीग्राम / डीएल) में मापा जाता है। नार्मल बॉन वैल्यू सेक्स और आयु के आधार पर अलग अलग होते हैं। यह ध्यान रखना भी महत्वपूर्ण है कि हर एक लैब में नार्मल वैल्यू के लिए अलग-अलग रेंज हैं।

आमतौर पे नार्मल बॉन लेवल निम्न श्रेणियों के अंतर्गत आते हैं:

वयस्क पुरुष: 8 से 24 मिलीग्राम / dL

वयस्क महिला: 6 से 21 मिलीग्राम / dL

बच्चे 1 से 17 वर्ष की आयु: 7 से 20 मिलीग्राम / dL

और पढ़ें :

60 से ज्यादा की उम्र के लोगो का नार्मल बॉन लेवल 60 से कम उम्र के नार्मल बॉन लेवल से थोड़ा ज्यादा होता है।

हाई बॉन लेवल इशारा कर सकते हैं:

ध्यान रखें कि कुछ दवाएं, जैसे कुछ एंटीबायोटिक दवाएं, बॉन के लेवल को बढ़ा सकती हैं।

लोअर बॉन लेवल संकेत देता है:

आपके टेस्ट रिजल्ट के आधार पे डॉक्टर उपचार और निदान की स्थिति में आपसे दूसरे टेस्ट कराने के लिए भी बोल सकता है । बॉन के लेवल को घटाने के लिए हाइड्रेशन (तरल पदार्थों का सेवन) सबसे प्रभावी तरीका है। कम-प्रोटीन डाइट, बॉन लेवल में मदद कर सकता है। बॉन के स्तर को कम करने लिए किसी भी दवा के निर्देश नहीं दिए जाएंगे।

हालाँकि, एब्नॉर्मल बॉन लेवल का ये मतलब ये नहीं है की आप को किडनी की समस्या है । डिहाइड्रेशन, गर्भावस्था, हाई या लो प्रोटीन का सेवन, स्टेरॉयड और उम्र बढ़ने जैसे कई कारण बॉन लेवल को प्रभावित कर सकते हैं।

पैथलॉजी और अस्पताल के आधार पर, ब्लड यूरिया नाइट्रोजन (BUN) टेस्ट की नार्मल रेंज बदलाव हो सकते है। अपने टेस्ट रिजल्ट के बारे में अपने डॉक्टर से कन्सल्ट करें।

उपरोक्त दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Blood Urea Nitrogen Test. mayoclinic.org/tests-procedures/blood-urea-nitrogen/basics/definition/prc-20020239. Accessed on 29 June, 2020.

Blood Urea Nitrogen Test. https://www.mayoclinic.org/tests-procedures/blood-urea-nitrogen/about/pac-20384821. Accessed on 29 June, 2020.

Blood Urea Nitrogen Test.labtestsonline.org/understanding/analytes/bun/tab/test. Accessed on 29 June, 2020.

Blood Urea Nitrogen Test.  mayomedicallaboratories.com/test-info/pediatric/refvalues/reference.php Accessed on 29 June, 2020.

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Radhika apte के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Suniti Tripathy द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/07/2019
x