आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Tinea Cruris : टीनिया क्रूरिस क्या है?

जानिए मूल बातें|लक्षण|कारण|जोखिम के कारण|निदान और उपचार|जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार
Tinea Cruris : टीनिया क्रूरिस क्या है?

जानिए मूल बातें

टीनिया क्रूरिस क्या है?

टीनिया क्रूरिस एक तरह का स्किन इंफेक्शन है जो फंगस की वजह से होता है। यह आमतौर पर कमर के निचले हिस्से, बट, प्राइवेट पार्ट्स, जांघों के ऊपरी या भीतरी हिस्से में होता है। इस बीमारी को जॉक इच (Jock itch) के नाम से भी जाना जाता है। आमतौर पर यह उन लोगों में होती है जिन्हें बहुत ज्यादा पसीना आता है। इसके अलावा जो लोग ओवरवेट होते हैं उन्हें भी यह जल्दी अपनी चपेट में लेती है। हालांकि यह बहुत गंभीर बीमारी नहीं है। टीनिया क्रूरिस के सबसे सामान्य लक्षण हैं कमर के निचले हिस्से, बूट्स, प्राइवेट पार्ट्स, जांघों के ऊपरी या भीतरी हिस्से में गोलाकार लाल धब्बे और खुजलाहट होना। यह परेशानी सबसे ज्यादा गर्म और ह्यूमिड (नमी) वाली जगहों में रहने की वजह से होता है।

कितना सामान्य है टीनिया क्रूरिस ?

यह महिला या पुरुष दोनों को ही हो सकता है। हालांकि, महिलाओं की तुलना में पुरुषों को इसकी समस्या ज्यादा होती है। पुरुषों में इसकी समस्या ग्रॉइन (groins) में होती है, जिससे इंफेक्शन होने की संभावना भी बनी रहती है। वैसे पुरुष जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर हो या जो व्यक्ति टाइट अंडरगारमेंट्स पहनते हैं उनमें भी टीनिया क्रूरिस का खतरा ज्यादा होता है।

और पढ़ें : डायबिटीज के कारण इन अंगों में हो सकता है त्वचा संक्रमण

लक्षण

टीनिया क्रूरिस के लक्षण क्या होते हैं ?

औमतौर पर टीनिया क्रूरिस की शुरुआत स्किन के किसी हिस्से के लाल होने से शुरू होती है। धीरे धीरे यह बढ़ जाता है और जांघों के ऊपरी या भीतरी हिस्से में गोल-गोल चकत्ते का रूप ले लेता है। इन रैशेज में खुजली या जलन हो सकती है। कई बार त्वचा परतदार या पपड़ीदार भी हो जाती है।

टीनिया क्रूरिस के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • प्रभावित एरिया में खुजली और परेशानी महसूस होना।
  • ग्रोइन में रैश होना।
  • जांघों और बट्स में रैश होना।
  • रैश में उभार आना।
  • लाल निशान का पड़ना।

उपरोक्त बताए गए लक्षणों के अलावा और भी लक्षण हो सकते हैं। इसके बारे में अधिक जानने के लिए आप अपने चिकित्सक से परामर्श ले सकते हैं।

डॉक्टर से कब मिलना चाहिए ?

यदि आपको स्किन पर रैशेज हुए हैं जिनमें दो हफ्ते तक कोई सुधार नहीं हुआ है तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए। आप इस पर ओवर द काउंटर मेडिकेशन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो ये कुछ हफ्तों बाद वापस आ सकती है। टीनिया क्रूरिस के लक्षण और परेशानी समझ आने पर डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना बेहतर होगा।

और पढ़ें : Ringworm : दाद (रिंगवर्म) क्या है?

कारण

टीनिया क्रूरिस किन कारणों से होता है ?

टीनिया क्रूरिस अत्यधिक गर्म या नमी वाली जगहों में रहने से होता है। इसके साथ ही निम्नलिखित कारणों से भी इसकी समस्या हो सकती है:

  • गीले कपड़े पहनना या कपड़े की क्वालिटी अच्छी नहीं होना।
  • किसी अन्य व्यक्ति के तौलिये का इस्तेमाल करना।
  • बार-बार स्नान करना (जरूरत से ज्यादा स्नान करना)।
  • किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आना।
  • पब्लिक टॉयलेट या ऐसे स्थान पर बैठना जहां की सतह गीली हो।
  • संक्रमित जानवरों के संपर्क में भी आने से टीनिया क्रूरिस की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें : जानें क्यों रोज नहाना है जरूरी, नहीं नहाएंगे तो क्या होगा?

जोखिम के कारण

टीनिया क्रूरिस का खतरा किन कारणों से बढ़ सकता है ?

टीनिया क्रूरिस को आसानी से ठीक किया जा सकता है। हालांकि लापरवाही करने पर समस्या बढ़ सकती है। निम्नलिखित कारणों से बढ़ परेशानी बढ़ सकती है:

  • वातावरण का अत्यधिक गर्म होना या नम होना।
  • अत्यधिक पसीना आना।
  • वजन बढ़ना
  • टाइट कपड़े पहनना।
  • अंडरगारमेंट साफ नहीं पहनना।
  • डायबिटीज
  • इम्यून सिस्टम ठीक नहीं होना।
  • हाइजीन का ख्याल नहीं रखना।

और पढ़ेंः हर दिन सेक्स करना कैसे फायदेमंद है, जानिए इसके 9 वजह

निदान और उपचार

दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से संपर्क करें और सलाह लें।

पेरीफेरल न्यूरोपैथी का निदान कैसे किया जाता है ?

जब स्किन पर खुजली या लाल निशान जैसी परेशानी महसूस होती है तब टीनिया क्रूरिस को समझ सकते हैं। डॉक्टर पेशेंट से उनके लक्षण और परेशानी को पूछ कर समझ सकते हैं। कभी-कभी और कुछ महिलाओं या पुरुषों को टेस्ट की सलाह दी जा सकती है। स्किन के छोटे से हिस्से को माइक्रोस्कोप या कल्चर्ड की मदद से देखकर स्थिति कितनी गंभीर है यह समझी जा सकती है।

टीनिया क्रूरिस का इलाज कैसे किया जाता है ?

मेडिकल स्टोर से दवा लेकर इसका इलाज किया जा सकता है। लेकिन, अगर पेशेंट को ज्यादा तकलीफ हो रही है तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

निम्नलिखित तरह से टीनिया क्रूरिस का इलाज किया जा सकता है:

  • रैश वाली जगह को पानी और साबुन की साफ करें और एंटीफंगल क्रीम का इस्तेमाल करें।
  • लमिसिल, लॉट्रिम, मिकेटिन और मॉनिस्टेट जैसे एंटीफंगल क्रीम का इस्तेमाल करें। हालांकि इन एंटीफंगल क्रीम डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन पर लिखकर देने के बाद ही खरीदा जा सकता है। जिस तरह से एंटीफंगल लगाने की सलाह दी गई हो वैसे ही इसका इस्तेमाल करें। जितने दिन की दवा दी गई हो तब-तक उसका इस्तेमाल करें। बीच में दवा अपनी मर्जी से बंद नहीं करें। अगर परेशानी 2 सप्ताह के अंदर ठीक नहीं होती है, तो डॉक्टर से संपर्क करें।
  • अगर टीनिया क्रूरिस के लिए खाने की दवा जी जाती है, तो पेशेंट को एक महीने तक इसका सेवन करना पड़ सकता है।

और पढ़ेंः Bacterial Vaginal Infection: बैक्टीरियल वजायनल इंफेक्शन

[mc4wp_form id=”183492″]

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

निम्नलिखित टिप्स अपनाकर टीनिया क्रूरिस से बचा जा सकता है:

  • स्नान रोज करें, अगर आप रोज स्नान नहीं करेंगे तो इंफेक्शन का खतरा हो सकता है।
  • ज्यादा पसीना आने के बाद या एक्सरसाइज करने के बाद स्नान जरूर करें।
  • प्राइवेट पार्ट्स को अच्छी तरह क्लीन और ड्राई रखें।
  • अब्सॉर्बेंट पाउडर का इस्तेमाल करें।
  • कॉटन अंडरगारमेंट का उपयोग करें और टाइट अंडरगार्मेट नहीं पहनें।
  • अंडरगार्मेन्ट को धूप में सुखाएं।
  • अपना तौलिया किसी के साथ शेयर न करें और न ही किसी और का इस्तेमाल करें।
  • प्राइवेट पार्ट को ड्राय रखें। अपने जननांग और जांघों को साफ तौलिए के साथ अच्छे से सुखाएं।
  • प्राइवेट पार्ट्स के आस पास पाउडर का इस्तेमाल करें जिससे नमी न हो पाएं।
  • रोजाना अपना अंडरवियर बदलें। वर्कआउट करने के बाद अपने कपड़ों को धो दें। उन्हें दोबारा न पहनें।

अगर इस बीमारी से जुड़े कोई प्रश्न हैं आपके पास तो समझने के लिए कृपया अपने चिकित्सक से संपर्क करें। ।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में टीनिया क्रूरिस से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताए गए कोई भी लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें। टीनिया क्रूरिस से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Hello Swasthya Medical Panel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/06/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड