home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Aortic Regurgitation : महाधमनी अपर्याप्तता क्या है?

परिचय|लक्षण|कारण|जोखिम|उपचार|घरेलू उपाय
Aortic Regurgitation : महाधमनी अपर्याप्तता क्या है?

परिचय

हमारे दिल में चार चैम्बर होते हैं और हर एक चैम्बर में एक वाल्व होता है जो खून को बाहर जाने देता है। महाधमनी अपर्याप्तता एक दिल के वाल्व से जुडी बीमारी है इसमें महाधमनी वाल्व अच्छे से बंद नहीं होता। इससे रक्त महाधमनी (सबसे बड़ी रक्त वाहिका) से बाएं वेंट्रिकल (हृदय के एक कक्ष) में आसानी से प्रवाह करने लगता है। महाधमनी वाल्व बाएं वेंट्रिकल और महाधमनी के बीच में होता है। महाधमनी एक ऐसा ब्लड वेसल है जो शरीर से खून को पंप करता है। महाधमनी वाल्व बाएं वेंट्रिकल से आपकी महाधमनी तक सीधे रक्त को खोलता और बंद करता है। महाधमनी अपर्याप्तता के शुरुआती चरण में डॉक्टर दवाइयां आदि दे कर इसका इलाज कर सकते हैं। लेकिन, अगर यह बीमारी अधिक बढ़ जाए तो समस्या बहुत गंभीर भी हो सकती है।

लक्षण

महाधमनी अपर्याप्तता की समस्या के लक्षण कई सालों तक सामने नहीं आते। जैसे ही शरीर को कोई कोई परेशानी या नुकसान होता है, इस बीमारी के लक्षण सामने आने लगते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • छाती में दर्द या कसाव, व्यायाम के साथ यह समस्याएं बढ़ जाती हैं और जब आप आराम करते हैं तो कम हो जाती हैं
  • थकान
  • दिल की घबराहट
  • साँस लेने में समस्या
  • लेटने पर सांस लेने में कठिनाई
  • कमजोरी
  • बेहोशी
  • टखनों और पैरों में सूजन

और पढ़ें: Heartburn: हार्टबर्न (सीने में जलन) क्या है?

कारण

  • कोई भी स्थिति जो महाधमनी वाल्व को पूरी तरह से बंद होने से रोकती है, इस समस्या का कारण बन सकती है। जब वाल्व पूरी तरह से बंद नहीं होता है, तो दिल के धड़कने पर हर बार कुछ मात्रा में खून वापस आता है। जब बहुत अधिक मात्रा में यह खून वापस आता है, तो शरीर की जरूरतों को पूरा करने के लिए दिल को पर्याप्त खून बाहर निकालने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। दिल का बायाँ निचला चैम्बर चौड़ा होता है और दिल बहुत जोर से धड़कता है। समय के साथ, दिल शरीर को पर्याप्त खून की आपूर्ति करने में सक्षम हो जाता है।
  • पहले, रूमेटिक बुखार महाधमनी अपर्याप्तता का मुख्य कारण था। स्ट्रेप संक्रमण के इलाज के लिए एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग ने रूमेटिक बुखार को कम कॉमन बना दिया है।

महाधमनी अपर्याप्तता के अन्य कारण कुछ इस प्रकार हो सकते हैं:

  • आंक्यलोसिंग स्पॉन्डिलाइटिस
  • महाधमनी विच्छेदन
  • जन्मजात (जन्म के समय मौजूद) वाल्व समस्याएं, जैसे कि बाइसेप्सिड वाल्व
  • अन्तर्हृद्शोथ (हार्ट वाल्व का संक्रमण)
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • मार्फन सिंड्रोम
  • रियटर सिंड्रोम (जिसे प्रतिक्रियाशील गठिया के रूप में भी जाना जाता है)
  • उपदंशसिस्टमिक लुपस एरीथेमॅटोसस
  • छाती का ट्रामा
  • महाधमनी अपर्याप्तता की समस्या अधिकतर तीस से साठ साल के पुरुषों में सामान्य है

और पढ़ें: Heart rhythm disorder: हार्ट रिदम डिसऑर्डर क्या है?

[mc4wp_form id=”183492″]

जोखिम

महाधमनी अपर्याप्तता के जोखिम इस प्रकार हो सकते हैं:

  • अधिक उम्र होना
  • जन्म के समय कोई दिल की समस्या होना (congenital heart disease)
  • संक्रमण का इतिहास होना जो दिल को प्रभावित करे
  • कुछ ऐसी स्थितियां जो दिल को प्रभावित करें जैसे मार्फन सिन्ड्रोम
  • अन्य हृदय वाल्व की स्थितियां, जैसे महाधमनी वाल्व स्टेनोसिस
  • उच्च रक्त चाप

जटिलताएं

महाधमनी अपर्याप्तता से होने वाली जटिलताएं इस प्रकार हैं:

  • दिल का रुक जाना
  • दिल को प्रभावित करने वाले संक्रमण, जैसे कि एंडोकार्डिटिस
  • दिल की लय असमान्यतायें
  • मृत्यु

और पढ़ें: Congestive heart failure: कंजेस्टिव हार्ट फेलियर

उपचार

अगर रोगी में महाधमनी अपर्याप्तता के कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं, तो भी डॉक्टर स्टेथोस्कोप की सहायता से उस में महाधमनी अपर्याप्तता का पता लगाने में सक्षम हैं। यदि आपके डॉक्टर को धड़कन के बीच में एक अजीब सी ध्वनि सुनाई देती है, तो इसका मतलब हो सकता है कि आपको वाल्व की समस्या है। अजीब सी ध्वनि का अर्थ है कि वाल्व के माध्यम से रक्त का असामान्य प्रवाह हो रहा है।

महाधमनी अपर्याप्तता के लिए टेस्ट

अगर आपके डॉक्टर को महाधमनी अपर्याप्तता का संदेह हो तो आपको यह टेस्ट कराने पड़ सकते हैं:

  • इकोकार्डियोग्राम: यह इमेजिंग टेस्ट महाधमनी अपर्याप्तता के बारे में जानने के लिए लाभदायक है। इससे यह भी पता चलता है कि महाधमनी अपर्याप्तता की समस्या आपके हेअल्थी ब्लड फ्लो पर कितना प्रभाव ड़ाल रही है।
  • चेस्ट एक्स -रे: इससे पता चल सकता है महाधमनी अपर्याप्तता के कारण रोगी के दिल का आकार बढ़ गया है या नहीं। एक्स-रे से यह भी पता चल सकता है कि क्या आपके फेफड़े , हृदय में रक्त के प्रवाह से प्रभावित हुए हैं या नहीं।
  • कार्डियक कैथीटेराइजेशन: आपके डॉक्टर धमनी के माध्यम से और आपके दिल में एक कैथेटर नामक एक लचीली ट्यूब ड़ाल सकते है। हार्ट वाल्व और चैम्बर में विस्तार से देखने के लिए डॉक्टर खास डाई और एक्स-रे मूवी का प्रयोग कर सकते हैं।

कैसे करें उपचार

  • अगर महाधमनी अपर्याप्तता की समस्या कम है तो आपको उपचार की आवश्यकता नहीं होती। इस स्थिति में रोगी को नियमित चेकअप की जरूरत है।
  • अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो डॉक्टर आपको दवाइयों के साथ-साथ अपनी जीवनशैली में परिवर्तन करने को कहेंगे ताकि यह समस्या कम हो।
  • गंभीर स्थितियों में, महाधमनी वाल्व रिप्लेसमेंट ही सबसे बेहतरीन विकल्प है।

महाधमनी वाल्व रिप्लेसमेंट: यह पारंपरिक, खुली सर्जरी के साथ या एक नई प्रक्रिया के साथ किया जा सकता है। जिसे ट्रांसकैथेटर एओर्टिक वाल्व प्रतिस्थापन (टीएवीआर) के रूप में जाना जाता है। ट्रांसकैथेटर एओर्टिक वाल्व प्रतिस्थापन (टीएवीआर) के माध्यम से अपनी छाती को ओपन नहीं किया जाता बल्कि डॉक्टर एक कैथेटर का उपयोग करते हैं। इसमें आपके डॉक्टर खराब वाल्व को सही वाल्व के साथ बदल देते हैं। जब नया वाल्व अपनी सही स्थिति में ड़ाल दिया जाता है तो डॉक्टर कैथेटर को बाहर निकाल देते हैं। जिससे दिल फिर से सामान्य रूप से काम करना शुरू कर देता है।

घरेलू उपाय

महाधमनी अपर्याप्तता के लक्षणों को आप निम्नलिखित घरेलू उपायों से कम किया जा सकता है:

1) वजन को नियंत्रित करें

अधिक वजन हाई ब्लड प्रेशर और कोरोनरी धमनी की बीमारी का कारण बन सकता है। यह स्थितियां दिल के काम को बढ़ा सकती है। इसलिए अपने वजन कम करने के लिए हेल्थ केयर विशेषज्ञ से सम्पर्क करें।

2) धूम्रपान न करें

निकोटीन और सिगरेट में मौजूद केमिकल फेफड़े और दिमाग में नुकसान का कारण बनते हैं। अगर आप धूम्रपान करते हैं तो अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें और इसे छोड़ने के उपाय के बारे में जानें।

3) शराब से बचें

अगर आप शराब पीते हैं तो डॉक्टर से सलाह लें। अल्कोहल हाई ब्लड प्रेशर और कोरोनरी धमनी की बीमारी का कारण बन सकता है।

4) खानपान का ध्यान रखें

अपने खानपान का खास ध्यान रखें। ऐसे आहार का सेवन करें जो दिल के लिए अच्छा हो और जिसमे सोडियम कम मात्रा में हो। फल और सब्जियां अधिक खाएं। दिल के लिए अच्छे आहार जैसे अखरोट, व्होल ग्रेन ब्रेड, कम बसा वाले डेरी प्रोडक्ट, बीन्स, सालमोन और टूना मछली आदि का सेवन करना न भूलें।

5) व्यायाम करें

व्यायाम करने से दिल स्वस्थ रहता है। अपने डॉक्टर से पूछे कि इस स्थिति में आपको कौन से व्यायाम करने चाहिए। आपको किस तरह के व्यायाम करने चाहिए यह इस चीज़ पर निर्भर करता है कि आपको स्थिति कितनी गंभीर है।

6) गर्भावस्था

अगर आप गर्भवती हैं या गर्भ धारण करना चाहती हैं और आपको महाधमनी अपर्याप्तता की समस्या है तो अपने डॉक्टर की राय लें। गर्भावस्था के दौरान आपको और आपके शिशु दोनों को नियमित चेकअप की आवश्यकता होगी।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/07/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड