home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Anthrax (skin): स्किन एंथ्रेक्स क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय|लक्षण|कारण|जोखिम|उपचार|घरेलू उपचार
Anthrax (skin): स्किन एंथ्रेक्स क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

स्किन एंथ्रेक्स (Anthrax (skin)) क्या है?

एंथ्रेक्स एक संक्रामक रोग है, जोकि बेसिलस ऐंथरैसिस जीवाणु के कारण होता है। यह इंफेक्शन मनुष्य को त्वचा, फेफड़े और मुंह के माध्यम से होता है। एंथ्रेक्स बहुत ही दुर्लभ है, लेकिन एक गंभीर बीमारी है। यह रोग मुख्य रूप से पशुओं को प्रभावित करता है। अगर कोई मनुष्य सीधे या अप्रत्यक्ष तरीके से उन पशुओं के संपर्क में आता है तो उसे यह इंफेक्शन हो सकता है। यानी, यह रोग पशुओं के माध्यम से मनुष्यों को प्रभावित करता है।

आमतौर पर एंथ्रेक्स के जीवाणु त्वचा में कट या खरोंच के माध्यम से प्रवेश कर जाते हैं। इस स्थिति को स्किन एंथ्रेक्स या क्युटेनियस (cutaneous) एंथ्रेक्स कहा जाता है। स्किन एंथ्रेक्स जब होता है तब कोई व्यक्ति संक्रमित पशु के संपर्क में आता है या संक्रमित पशु उत्पाद जैसे ऊन, खाल या बाल को छूता है। सिर, गर्दन, बाजुओं और हाथों पर स्किन एंथ्रेक्स होना सबसे सामान्य है। स्किन एंथ्रेक्स त्वचा को प्रभावित करता है और संक्रमित जगह के आसपास के ऊत्तक इसकी चपेट में आ जाते हैं।

और पढ़ें: Phlebitis : फिलीबाइटिस क्या है?

स्किन एंथ्रेक्स एंथ्रेक्स इंफेक्शन का एक सामान्य रूप है। साथ ही स्किन एंथ्रेक्स कम घातक माना जाता है। एंथ्रेक्स के जीवाणु के संपर्क में आने के एक से सात दिन के अंदर संक्रमण विकसित हो जाता है। स्किन एंथ्रेक्स का इलाज न करने पर इसके 20% तक मामलों में पीड़ितों की मौत हो जाती है। हालांकि, उचित इलाज से ज्यादातर स्किन एंथ्रेक्स से पीढ़ित लोग जीवित रह सकते हैं।

इसके अलावा एंथ्रेक्स के तीन प्रकार और हैं। उनके बारे में भी जान लेते हैं।

इंहेलेशन एंथ्रेक्स- ये तब डेवलप होता है जब एंथ्रेक्स बीजाणु वायुमार्ग के माध्यम से फेफड़ों में प्रवेश करते हैं। ऐसा सामान्य रूप से तब होता है जब वर्कर ऊन बनाते वक्त एंथ्रेक्स बीजाणुओं से युक्त वातावरण में सांस लेते हैं। बीजाणुओं के बीच सांस लेने का मतलब है कि व्यक्ति एंथ्रेक्स से एक्सप्रोज तो हुआ है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि व्यक्ति में एंथ्रेक्स के लक्षण होंगे।

वास्तविक बीमारी होने से पहले बैक्टीरियल बीजाणुओं का अंकुरित होना जरूरी है। इस प्रक्रिया में आमतौर पर 1-6 दिन लगते हैं। एक बार बीजाणु अंकुरित होने के बाद वे कई प्रकार के विषैले पदार्थ छोड़ते हैं। ये पदार्थ इंटरनल ब्लीडिंग, सूजन और टिशूज डैमेज का कारण बनते हैं।

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल एंथ्रेक्स- ये तब विकसित होता है जब कोई एंथ्रेक्स-टेंटेड मांस खाता है।

इंजेक्शन एंथ्रेक्स- यह किसी ऐसे व्यक्ति में हो सकता है जो हेरोइन का इंजेक्शन लगाता है।

स्किन एंथ्रेक्स कितना सामान्य है?

स्किन एंथ्रेक्स एक दुर्लभ बीमारी है। हालांकि, किसी भी संक्रमित पशु या पशु उत्पाद के संपर्क में आने पर आप में इसके होने का खतरा अधिक बढ़ जाता है। कई मामलों में यह घातक सिद्ध हो सकती है। इसकी अधिक जानकारी के लिए बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें: Gaucher Diesease : गौशर रोग क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और निवारण

लक्षण

स्किन एंथ्रेक्स के क्या लक्षण हैं?

एंथ्रेक्स के लक्षण उसके होने के प्रकार पर निर्भर करते हैं। इसके लक्षण सामने आने में एक दिन से लेकर दो महीनों तक का समय लग सकता है। सभी प्रकार के एंथ्रेक्स में यदि इलाज न किया जाए तो यह बॉडी में फैलकर गंभीर बीमारियों का कारण बनते हैं। यहां तक कि इससे मृत्यु तक हो जाती है।

स्किन एंथ्रेक्स के लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • छोटे फफोलों का एक समूह या बम्प का सामने आना, इनमें खुजली हो सकती है।
  • छाले के चारो तरफ सूजन हो सकती है।
  • त्वचा के छाले जिनमें दर्द न हो और इनका केंद्र बिंदु काला हो सकता है। यह एक छोटे फफोले या बंप के सामने आने के बाद नजर आ सकता है।
  • अक्सर यह छाला चेहरे, गर्दन, बाजू या हाथ पर हो सकता है।
  • लिम्फ नोड्स के आसपास सूजन पैदा होना।

इनहेलेशन एंथ्रेक्स के लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं

  • फीवर और ठंड लगना
  • सीने में असहजता का एहसास होना
  • सांस लेने में तकलीफ
  • भ्रम और चक्कर आना
  • कफ
  • उल्टी आना
  • सिर दर्द
  • पसीना आना
  • बहुत अधिक थकान
  • बॉडी पेन

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल एंथ्रेक्स के लक्षण निम्न हो सकते हैं

  • डायरिया
  • ब्लडी डायरिया
  • पेट में दर्द
  • बेहोशी छाना
  • एब्डोमिन में सूजन
  • गले और गले की ग्लैंड में सूजन
  • निगलने में कठिनाई
  • खून वाली उल्टी
  • आंखों और चेहरे का लाल होना

इंजेक्शन एंथ्रेक्स के लक्षण निम्न हैं

  • बुखार और ठंड लगना
  • छोटे फफोले या धक्कों का एक समूह जो खुजली कर सकता है। जहां दवा इंजेक्ट की गई थी।
  • गले में सूजन
  • जहां दवा इंजेक्ट की गई थी उस त्वचा के नीचे या उस मांसपेशी में गहरा घाव या फोड़ा होना।

इंजेक्शन एंथ्रेक्स के लक्षण त्वचीय एंथ्रेक्स के समान होते हैं, लेकिन इंजेक्शन एंथ्रेक्स तेजी से पूरे शरीर में फैल सकता है और त्वचीय एंथ्रेक्स की तुलना में इसे पहचानना और इलाज करना कठिन होता है। इंजेक्शन दवा के उपयोग से जुड़े त्वचा और इंजेक्शन साइट संक्रमण आम हैं और जरूरी नहीं कि व्यक्ति को एंथ्रेक्स हो।

और पढ़ें: Mouth Ulcer: ये वजहें हो सकती हैं मुंह के छाले का कारण

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

कई सामान्य बीमारियां फ्लू से मिलते जुलते लक्षणों के सामने आते हैं। बेहद ही कम मामलों में एंथ्रेक्स की वजह से गले में खराश और मांसपेशियों में दर्द होता है। यदि आपको लगता है कि आप इसके संपर्क में आए हैं, उदाहरण के लिए यदि आप ऐसे वातावरण में कार्य करते हैं जहां पर स्किन एंथ्रेक्स होने की संभावना है। ऐसी स्थिति में इसका आंकलन और देखभाल के लिए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

दुनिया के ऐसे क्षेत्रों में जहां पर स्किन एंथ्रेक्स या एंथ्रेक्स सामान्य है, यदि आप यहां पर जानवरों या पशु उत्पाद के संपर्क में आने पर इसके लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। शुरुआती दौर में स्किन एंथ्रेक्स का पता लगाना इसके इलाज के लिए काफी जरूरी होता है।

और पढ़ें: Scurvy : स्कर्वी रोग क्या है?

कारण

स्किन एंथ्रेक्स का क्या कारण है?

स्किन एंथ्रेक्स का कारण निम्नलिखित हैं:

  • आमतौर पर एंथ्रेक्स संक्रमित जानवर जैसे भेड़, भैंस, गाय, बकरी और घोड़े से फैलता है। संक्रमित जानवरों के संपर्क में आने पर मनुष्य को एंथ्रेक्स हो सकता है।
  • त्वचा के घाव या कट या खरोंच के माध्यम से एंथ्रेक्स के जीवाणु शरीर में प्रवेश कर जाते हैं।
  • स्किन एंथ्रेक्स को सबसे सामान्य एंथ्रेक्स का प्रकार माना जाता है।
  • संक्रमित जानवरों की खाल या बाल, हड्डी प्रोडक्ट्स और ऊन या संक्रमित जानवर के संपर्क में आने पर एंथ्रेक्स होने का खतरा रहता है।
  • खेतों में कार्य करने वाले मजदूर, पशु चिकित्सक और ऊन का कार्य करने वाले लोगों को स्किन एंथ्रेक्स का खतरा सबसे ज्यादा रहता है।

जोखिम

किन कारकों से मुझे स्किन एंथ्रेक्स का खतरा रहता है?

और पढ़ें: Ulcer : अल्सर क्या है?

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

स्किन एंथ्रेक्स का निदान कैसे किया जाता है?

ब्लट टेस्ट, रेस्पिरेटरी सिक्रेशन (बलगम) या घाव की जांच के जरिए डॉक्टर स्किन एंथ्रेक्स का पता लगा सकता है। विगत समय में इसके संपर्क में आने की घटना या मेडिकल हिस्ट्री के बिना स्किन एंथ्रेक्स का पता लगाना मुश्किल होगा। ऐसे में यह सुनिश्चित करके अपने डॉक्टर को बताएं कि विगत समय में शायद आप कभी इसके संपर्क में आये हों। अपनी पिछली मेडिकल हिस्ट्री की जानकारी डॉक्टर को देना अति आवश्यक है।

और पढ़ें: Urticaria : पित्ती क्या है? जाने इसके कारण, लक्षण और उपाय

स्किन एंथ्रेक्स का इलाज कैसे किया जाता है?

  • एंथ्रेक्स के इलाज के लिए मार्केट में मनुष्यों के लिए वैक्सीन उपलब्ध है, लेकिन इसके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इंफेक्शन वाली त्वचा पर सोरनेस से लेकर गंभीर रिएक्शन हो सकते हैं।
  • यह वैक्सीन सामान्य लोगों के लिए उपलब्ध नहीं है। इस वैक्सीन को वैज्ञानिकों, सेना के जवानों के लिए आरक्षित रखा गया है। यह लोग एंथ्रेक्स के बीच कार्य करते हैं। साथ ही उच्च जोखिम के बीच रहने वाले लोगों को यह वैक्सीन दिया जाता है।
  • साथ ही आपको एंटीटॉक्सिन की जरूरत पड़ सकती है, जो एक प्रकार की दवा है। यह एंथ्रेक्स बैक्टीरिया द्वारा बनाए जाने वाले जहर को मारती है। इसमें ओबिल्टोक्सासिमेब (एंथिम) obiltoxaximab (Anthim) दी जा सकती है।
  • एंथ्रेक्स का इलाज सामान्य एंटीबायोटिक दवाओं से होता है। यदि आप इसके संपर्क में आए हैं, लेकिन अभी तक बीमार नहीं हुए हैं तो आपको वैक्सीन दिया जा सकता है। साथ ही इससे संक्रमित लोगों को एंटीबायोटिक्स का एक लंबा कोर्स दिया जाता है।

घरेलू उपचार

जीवनशैली में होने वाले बदलाव क्या हैं, जो मुझे स्किन एंथ्रेक्स को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

निम्नलिखित घरेलू उपाय आपको स्किन एंथ्रेक्स से बचने में मदद करेंगे:

  • एंथ्रेक्स प्रभावित इलाके में यदि आप यात्रा करते हैं तो वहां के जानवरों के संपर्क में आने से बचें।
  • ऐसे इलाकों में अधपके मीट को खाने से बचें। इससे एंथ्रेक्स हो सकता है।
  • यदि आपकी त्वचा पर कहीं घाव या खरोंच है तो उसे ढक कर रखें।
  • विदेशों से आयातित पशुओं की खाल, ऊन या फर के संपर्क में आने पर सावधानी बरतें।
  • इस संबंध में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपके स्वास्थ्य की स्थिति देख कर ही डॉक्टर आपको उपचार बता सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल उपयोगी लगा होगा और स्किन एंथ्रेक्स से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/10/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x