backup og meta

Agave : रामबांस क्या है ? जानिए इसके फायदे और साइड इफेक्ट

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


lipi trivedi द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/10/2020

Agave : रामबांस क्या है ? जानिए इसके फायदे और साइड इफेक्ट

परिचय

रामबांस क्या है?

रामबांस मेक्सिको,सेंट्रल अमेरिका,साउथ अमेरिका और हिंदुस्तान के कुछ हिस्सों में पाया जानेवाला मोनोकट्स जाती का पौधा हैं। इसका साइंटिफिक नाम अगेव एमेरिकाना ( Agave americana) है। रामबांस पेड़ के बहुत से औषधीय गुण होते हैं। रामबांस का पेड़ आपको अपने आसपास भी दिखाई पड़ सकता है। ये पेड़ अधिकतर पार्क, सड़कों के किनारे भी देखा जा सकता है। रामबांस का जंगलों में भी पाया जाता है। अगर पेड़ को देखा जाए तो इसके पत्ते एवोवेरा जैसे ही दिखते हैं और साथ ही इसमे तना भी होता है। ये सजावटी पौधे के रूप में भी लगाया जाता है। इसे कालकंटल या सेंचुरी प्लांट के नाम से भी जाना जाता है।

रामबांस की पत्तियों का उपयोग रस्सी के रूप में भी किया जाता है। रामबांस की पत्तियां आगे से नुकीली होती हैं। साथ ही पत्तियों के किनारे में छोटे कांटे भी होते हैं। रामबांस में उगने वाले फूलों का रंग पीला, हरा और सफेद होता है। रामबांस की पत्तियों का उपयोग एंटीइंफ्लामेट्री के रूप में किया जाता है। रामबांस की पत्तियों में पत्तियों में जीनिन (genins), सैपोनिन (saponins), स्टेरायडल फ्लेवोनोइड्स (steroidal flavonoids), आइसोफ्लेवोन्स ( isoflavones) और कैमारिन (coumarins) होते हैं। रामबांस के पराग कण स्वाद में बहुत मीठे होते हैं। रामबांस के पराग कण का उपयोग सीरप बनाने में भी किया जाता है।

और पढ़ें- Wild Daisy: वाइल्ड डेजी क्या है?

उपयोग

रामबांस का उपयोग किस लिए किया जाता है?

रांमबांस का उपयोग निम्नलिखित बीमारियों में किया जा सकता है। अमेरिका में रामबांस का उपयोग घाव को ठीक करने में किया जाता है। रामबांस के छोटे पौधे से पाउडर बनाने का काम किया जाता है और फिर उसे घाव में लगाया जाता है। वहीं जिन लोगों को खाना न पचने की समस्या होती है, उनके लिए भी रामबांस उपयोगी साबित होता है।

  • कब्ज की समस्या
  • अपच की समस्या
  • पेट फूलना
  • पीलिया
  • कैंसर
  • लेबर पेन शुरू कराने
  • यूरिन प्रोडक्शन बढ़ाने और दस्त में राहत पाने के लिए
  • बाल लंबे करने के लिए और चोट मिटाने के लिए त्वचा पर लगाया जाता हैं|

कब्ज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए खाने में फाइबर युक्त फूड के शामिल करना चाहिए और साथ ही पानी का अधिक सेवन करना चाहिए। अगर खान-पान पर ध्यान दिया जाए तो कब्ज की समस्या से राहत पाई जा सकती है। अगर किसी व्यक्ति को लंबे समय से कब्ज की समस्या है तो इस बारे में डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। डॉक्टर डायट में बदलाव के साथ ही अन्य सुझाव भी दे सकते हैं।

अगावे सिरप नैचुरल स्वीटनेस देता है और साथ ही ये डायबिटिक फ्रैंडली स्वीटनर होता है। अगर अगावे सिरप का यूज डायबिटिक पेशेंट करेगा तो उसका ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ेगा। अगावे में उपस्थित शुगर का उपयोग टकीला बनाने में भी किया जाता है। अगावे की सैप को उबाल कर स्वीटनर तैयार किया जाता है। अगावे के पौधे में हीलिंग प्रॉपर्टी भी होती है। यानी अगावे की पत्तियों को घाव पर उपयोग करने पर घाव जल्दी ठीक हो जाता है। अगावे नैक्टर में लो जीआई (glycemic index ) होता है।

रामबांस के उपयोग का सूचन अन्य किसी विकार में भी किया जा सकता हैं। ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श करें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें|

रामबांस कैसे काम करता हैं?

यह एक हर्बल सप्लिमेंट है और कैसे काम करता है, इसके संबंध में अभी कोई ज्यादा शोध उपलब्ध नहीं है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप किसी हर्बल विशेषज्ञ या फिर किसी डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि, कुछ शोध यह बताते हैं कि रामबांस में मौजूद केमिकल सूजन कम कर सकते हैं, गर्भाशय के सिकुड़न में मदद कर सकते हैं और कुछ कैंसर सेल्स से भी बचाते है।

[mc4wp_form id=’183492″]

और पढ़ें: ज्वार क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

कितना सुरक्षित है रामबांस का उपयोग?

रामबांस का उपयोग बिना एक्सपर्ट की सलाह से नहीं करना चाहिए। अगर ऐसा किया जाता है तो शरीर में दुष्प्रभाव भी दिख सकते हैं। इस बारे में अभी भी शोध नहीं उपलब्ध है कि रामबांस का उपयोग किसने लिए फायदेमंद है और किसके लिए नहीं।

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग :

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग में इस औषधि का उपयोग सुरक्षित है या नहीं,इस बारेमें कोई ठोस शोध उपलब्ध नहीं है। यदि आप प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्टफीडिंग पर हैं और रामबांस का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो अपने डॉक्टर या हर्बल एक्सपर्ट का संपर्क करें।

सर्जरी :

किसी भी सर्जरी से दो हफ्ते पहले ही रामबांस को खाना या उससे जुड़े किसी भी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिए|

किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें|

और पढ़ें- Arginine: आर्जिनाइन क्या है?

साइड इफेक्ट्स

रामबांस के सेवन से मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

कुछ लोगों में रामबांस के उपयोग के कारण यह चिह्न दिखाई देते हैं –

  • लिवर डैमेज
  • एलर्जिक रिएक्शन
  • इरिटेशन
  • सूजन
  • लाल चकते
  • स्किन पर लाली
  • स्किन के घाव
  • रक्त वाहिका में सूजन
  • हालांकि, हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरूरी नहीं हैं। कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए है। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं, तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें|

    और पढ़ें- Veronica : वेरोनिका क्या है?

    डोसेज

    रामबांस को लेने की सही खुराक क्या है ?

    इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं| इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

    यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें|

    और पढ़ें: चकोतरा क्या है?

    उपलब्ध

    किन रूपों में उपलब्ध है?

    रामबांस निम्न रूप में उपलब्ध है,

    • रामबांस के सूखे पत्ते और जड़

    रामबांस के उपयोग के बारे में आपको एक्सपर्ट से जानकारी लेनी चाहिए। इस बारे में बहुत अधिक जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है। आपको अगर किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या होती है तो पहले इस बारे में डॉक्टर से सलाह करें। किसी भी जड़ी-बूटी का सेवन हर व्यक्ति में अलग-अलग असर दिखा सकता है। कई बार ये बात हेल्थ कंडीशन पर भी निर्भर कर सकती है। बेहतर होगा कि आप डॉक्टर से सलाह लें।आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr Sharayu Maknikar


    lipi trivedi द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/10/2020

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement