home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

American Chestnut: अमेरिकी शाहबलूत क्या है?

परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|रिएक्शन|डोसेज
American Chestnut: अमेरिकी शाहबलूत क्या है?

परिचय

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) क्या है?

अमेरिकी शाहबलूत एक पौधा है। इसकी पत्तियों और छाल का इस्तेमाल दवाइयां बनाने में होता है। अमेरिकी शाहबलूत (American chestnut) एक विशालकाय और उभयलिंगी (द्विलिंगी) पौधा है। अमेरिकी शाहबलूत बीच (Beech) परिवार के पेड़ों से संबंध रखता है। यह मूलतः उत्तरी अमेरिका में पाया जाता है। इससे पहले यह प्रजाति चेस्टनट ब्लाइट (Chestnut Blight), जो एक फंगल बीमारी से तबाह होने से पहले यह पेड़ पूरी दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण पेड़ था। दुनिया में भी इसे एक सर्वश्रेष्ट चेस्टनट ट्री के नाम से जाना जाता था।

उपयोग

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

निम्नलिखित समस्याओं में अमेरिकी शाहबलूत का इस्तेमाल होता है:

उपरोक्त समस्याओं के अलावा भी डॉक्टर या हर्बलिस्ट की सलाह पर अन्य समस्याओं में अमेरिकी शाहबलूत का इस्तेमाल किया जा सकता है। यदि आप इस संबंध में फिर भी आश्वस्त नहीं हैं तो अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह अवश्य लें। किसी भी प्रकार की समस्या में बिना अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट की मंजूरी के इस दवा का सेवन शुरू या बंद, डोज में बदलाव और निर्देशित अवधि से अधिक समय तक न करें। शुरुआती दिनों में यदि आपको अमेरिकी शाहबलूत से फायदा मिल जाता है तो इसका सेवन बंद न करें। ऐसा करने से समस्या के लक्षण दोबारा लौट सकते हैं। डॉक्टर या हर्बलिस्ट के सुझाए गए डोज को पूरा करें।

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) कैसे कार्य करता है?

इसके कार्य करने के संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें। हालांकि, कुछ अध्ययन यह बताते हैं कि अमेरिकी शाहबलूत में बड़ी मात्रा में टेननिन्स नामक कैमिकल्स होते हैं। टेननिन्स आंत और पेट में मौजूद पदार्थों को सोख लेते हैं। यह कैमिकल्स सूजन को कम करने का कार्य भी करते हैं। टेनिन्स एक एस्टिजेंट्स की तरह भी कार्य करते हैं, जो कोशिकाओं में मौजूद ऊत्तकों को और करीब लाते हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

यह भी पढ़ें: Strep-throat: स्ट्रेप थ्रोट/गले का संक्रमण क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बालिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको अमेरिकी शाहबलूत के किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। अमेरिकी शाहबलूत का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) कितना सुरक्षित है?

बेवरेजेस और भोजन में पाई जाने वाली अमेरिकी शाहबलूत की मात्रा ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित है। दवा के तौर पर अधिक मात्रा में इसका इस्तेमाल सुरक्षित है या नहीं, इस संबंध में जानकारी उपलब्ध नही है।

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग: गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान अमेरिकी शाहबलूत का सेवन सुरक्षित है या नहीं, इस बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नही है। एहतियात के तौर पर दोनों ही स्थितियों में इसका सेवन करने से बचें। प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग दोनों ही एक विशेष स्थितियों हैं, जिनमें हर महिला की बॉडी के हार्मोन अलग तरह से कार्य करते हैं। यह कहना मुश्किल है कि अमेरिकी शाहबलूत का प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एक महिला की बॉडी पर जैसा प्रभाव पड़ेगा ठीक वैसा ही दूसरी महिला की बॉडी पर भो होगा।

आमतौर पर प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी दवा या औषधि का सेवन करने से वह प्लेसेंटा के जरिए भ्रूण तक पहुंच जाती है। ऐसा होने पर मां और शिशु दोनों के लिए ही खतरा होता है। वहीं, ब्रेस्टफीडिंग के दौरान यह औषधि मां के दूध के जरिए शिशु की बॉडी में प्रवेश कर सकती है। यदि ऐसा होता है तो यह कहना मुश्किल होगा कि नवजात शिशु की बॉडी इस संबंध में क्या रिएक्शन दिखाएगी। बेहतर होगा कि आप दोनों ही स्थितियों में किसी भी दवा या औषधि का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह अवश्य लें।

साइड इफेक्ट्स

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

अमेरिकी शाहबलूत निम्नलिखित समस्याओं का कारण बन सकता है:

  • पेट और आंत की समस्याएं
  • गुर्दे और लिवर खराब होना
  • कुछ प्रकार के कैंसर होना

हालांकि, हर व्यक्ति को यह साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। उपरोक्त दुष्प्रभाव के अलावा भी अमेरिकी शाहबलूत के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

यह भी पढ़ें: Kidney Stone : किडनी स्टोन होने पर बरतें ये सावधानियां

रिएक्शन

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) से मुझे क्या रिएक्शन हो सकते हैं?

अमेरिकी शाहबलूत आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकता है या दवा का कार्य करने का तरीका परिवर्तित हो सकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से संपर्क करें। विशेषकर उन परिस्थितियों में जब आप मौखिक रूप से इसके साथ दवाइयों का सेवन कर रहे हों। इससे बॉडी में दवा की सोखने की क्षमता कम हो जाती है और उनकी प्रभाविकता भी गिर जाती है। इस रिएक्शन को रोकने के लिए मौखिक रूप से ली जाने वाली दवाइयों से कम से कम एक घंटा पहले इसका सेवन करें।

डोसेज

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

अमेरिकी शाहबलूत (American Chestnut) का सामान्य डोज क्या है?

हर मरीज के मामले में जापानी पुदीना का डोज अलग हो सकता है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, हेल्थ और दूसरे अन्य कारकों पर निर्भर करता है। औषधियां हमेशा ही सुरक्षित नही होती हैं। जापानी पुदीना के उपयुक्त डोज के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

अमेरिकी शाहबलूत किन रूपों में उपलब्ध है?

यह निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • फ्लूड एक्सट्रैक्ट
  • पाउडर
  • घोल

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/06/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड