आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

Jequirity: जेक्विरिटी क्या है?

परिचय |सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|किन रूपों में उपलब्ध है जेक्विरिटी (जेक्विरिटी)?
    Jequirity: जेक्विरिटी क्या है?

    परिचय

    जेक्विरिटी (Jequirity) क्या है?

    जेक्विरिटी एक पौधा है। इसकी पत्तियां, जड़ें और फलियों का उपयोग दवाओं में किया जाता है। इसे रोसरी पी (Rosary pea) और क्रैब आई (Crab Eye) भी कहते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम Abrus precatorius है। ये फबासिए परिवार से ताल्लुख रखता है।

    औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल सिरदर्द, पैरालिसिस, डिसेंटरी, अल्सर और नर्वस डिसऑर्डर के लिए किया जाता है। पौराणिक समय में इसका प्रयोग जख्म को भरने और कुत्ता, बिल्ली और चूहों द्वारा मारी गई खरोंचों के लिए किया जाता था। एक स्टडी के अनुसार, इसमें यौन उत्तेजक, एंटीट्यूमोर, जीवाणुरोधी, एंटीडायबिटिक और विरोधी भड़काऊ गुण होते हैं। कुछ महिलाएं इसका उपयोग लेबर को बढ़ाने करती है।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    और पढ़ें: Diosmin: डिओसमिन क्या है?

    जेक्विरिटी (Jequirity) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

    जेक्विरिटी का इस्तेमाल निम्नलिखित परेशानियों के लिए किया जाता है:

    • इसके लाल रंग के बीज काफी जहरीले होते हैं, लेकिन इस पौधे के दूसरे हिस्से कई दवाओं में इस्तेमाल किए जाते हैं। इसकी पत्तियां जख्मों को भरने के साथ सूजन दूर करने में मददगार है। समय से पहले बालों के झड़ने और त्वचा की परेशानियों के लिए इसके पीसे हुए बीजों को राइस वॉटर में मिलाकर लगाने की सलाह दी जाती है।
    • इसकी पत्तियां मुंह के घावों को भरने और स्किन कैंसर के लिए उपयोगी मानी जाती है।
    • इसकी पत्तियों से बनाई गई चाय कोल्ड, कफ और फीवर का इलाज में मदद करती है।
    • आयुर्वेद में भी इसे बालों की ग्रोथ के लिए अच्छा बताया गया है।
    • इसमें एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती है जो किसी भी त्वचा संबंधित परेशानी से निजात दिलाती है।
    • इसमें एंटीट्यूमर गुण होते हैं जो ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं।
    • इसे अस्थमा, ब्रोन्कियल ट्यूब की सूजन, हेपेटाइटिस, मलेरिया, दौरे, सांप के कांटने, गले में खराश, पेट में दर्द और टैपवार्म के लिए प्रयोग किया जाता है।

    आहार को लेकर क्या खाएं व कब खाएं जानने के लिए वीडियो देख लें एक्सपर्ट की राय

    कैसे काम करता है जेक्विरिटी (Jequirity)?

    जेक्विरिटी कैसे काम करता है इस बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें। हालांकि कुछ शोध के अनुसार, जेक्विरिटी में एब्रिन नामक केमिकल होता है जो टॉक्सिक होता है और कोशिकाओं को सामान्य रूप से बढ़ने या कार्य करने से रोकता है। इसके अलावा ये महिलाओं में ओव्यूलेशन को ब्लॉक कर और पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर और शुक्राणुओं की संख्या कम कर बर्थ कंट्रोल की तरह काम करता है। यह मलेरिया का कारण बनने वाले कुछ बैक्टीरिया, टैपवार्म या परजीवी को खत्म करने में भी मदद कर सकता है। इसमें कुछ ऐसे केमिकल्स भी होते हैं जो ब्लड क्लोटिंग को धीमा, सूजन और एलर्जी को कम करने में मदद करते हैं।

    और पढ़ें: Elderberry: एल्डरबेरी क्या है?

    कैसे करता है काम

    जेक्विरिटी औषधी में कई खास प्रकार की औषधी पाई जाती है। कुछ औषधी तो इसके पत्तों में होते हैं वहीं जड़ों में भी कई खास तत्व पाए जाते हैं, जिनसे कई बीमारियों का इलाज होता है। इस औषधी का इस्तेमाल एलर्जी के लक्षणों से निजात पाने के साथ-साथ शरीर में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में करने के लिए, ब्लड क्लोटिंग की समस्या से निजात पाने के लिए और शरीर में होने वाले सूजन से निजात पाने के साथ बैक्टीरिया को मारने में इस्तेमाल में लाया जाता है। इस औषधी में इतनी क्षमता होती है कि यह टेपवार्म को मारने के साथ शरीर में पनपने वाले कैंसर सेल्स का भी खात्मा करते हैं। जेक्विरिटी के बीज में भी कई खासियत छिपी होती है, इसमें एब्रिन होता है।

    सावधानियां और चेतावनी

    कितना सुरक्षित है जेक्विरिटी (Jequirity) का उपयोग?

    निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बालिस्ट से सलाह लें:

    • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
    • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
    • यदि आपको जेक्विरिटी के किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
    • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है। दिल संबंधित परेशानियों से ग्रसित लोगों को इसका इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
    • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

    अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। जेक्विरिटी का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

    ये लोग बरतें खास सावधानियां

    • बच्चों के लिए जेक्विरिटी सेफ नहीं है। बच्चे इसके चमकदार बीजों की तरफ आकर्षित होते हैं। इसलिए बच्चों से इसकी दूरी बनाकर रखें।
    • ब्लीडिंग डिसॉर्डर (Bleeding Disorder): जेक्विरिटी बल्ड क्लोटिंग को धीमा करता है। जिन लोगों को ब्लीडिंग डिसॉर्डर है वो उनकी स्थिती को पहले से ज्यादा खराब कर सकता है।
    • डायबिटीज (Diabetes): जेक्विरिटी ब्लड शुगर को कम करता है। जिन लोगों की ब्लड शुगर लो रहती है वो ज्यादा कम हो सकती है। जो लोग ब्लड शुगर लो करने की दवा ले रहे हैं उनमें शुगर बहुत ज्यादा कम हो सकती है।
    • सर्जरी (Surgery): अगर आपकी कोई सर्जरी होने वाली है तो उसके दो हफ्ते पहले और दो हफ्ते बाद तक इसका प्रयोग न करें।

    और पढ़ें: Elm Bark: एल्म की छाल क्या है?

    साइड इफेक्ट्स

    जेक्विरिटी (Jequirity) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

    जेक्विरिटी को दवा के तौर पर लेना असुरक्षित है। इसमें एब्रिन नामक एक केमिकल होता है जो काफी जहरीला होता है। इससे जान भी जा सकती है। इससे पेट में दर्द, डायरिया की समस्या, खून की उल्टी, तेज दिल की धड़कन, लिवर और किडनी की बीमारी आदि की शिकायत हो सकती है।

    जेक्विरिटी के बीज जब त्वचा के संपर्क में आते हैं तो उससे निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

    • सूजन (Inflammation)
    • पेट में दर्द (Stomach ache)
    • इरिटेशन (Irritation)
    • गंभीर आंखों की समस्या (Severe eye problem)

    हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरूरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

    डोसेज

    जेक्विरिटी (Jequirity) को लेने की सही खुराक क्या है?

    जेक्विरिटी की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। कभी भी जेक्विरिटी की खुराक खुद से निर्धारित करने की गलती न करें। आपके द्वारा की गई छोटी सी लापरवाही स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

    और पढ़ें: Calabar Bean: कैलबार बीन क्या है?

    किन रूपों में उपलब्ध है जेक्विरिटी (जेक्विरिटी)?

    जेक्विरिटी निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

    • फ्लूइड एक्सट्रेक्ट (Fluid extract)
    • पाउडर (Powder)
    • टिंचर (Tinture)

    हम उम्मीद करते है कि जेक्विरिटी पर आधारित यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। इसमें हमने इस हर्ब से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी देने की कोशिश की है। अधिक जानकारी के लिए या अगर आपका कोई सवाल है तो डॉक्टर से कंसल्ट करें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह , निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है और ना ही इसके लिए जिम्मेदार है।

    हमेशा लें एक्सपर्ट की सलाह उसके बाद करें इस्तेमाल

    इस औषधी का इस्तेमाल कभी भी बिना एक्सपर्ट और हर्बलिस्ट की सलाह लिए बगैर नहीं करना चाहिए। संभव है कि उम्र, बीमारियों व किसी दवा का सेवन कर रहे हो उसके साथ यदि इस दवा का सेवन किया जाए तो विपरित असर पड़ सकता है, मरीज की सेहत में सुधार की बजाय उसकी तबीयत और ज्यादा बिगड़ सकती है। ऐसे में बेहतर यही होगा कि आप एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही इस औषधी का सेवन करें। वैसे तो यह औषधी कई प्रकार की खासियत से भरपूर है वहीं इससे कई प्रकार की समस्याओं और बीमारियों का उपचार किया जा सकता है, लेकिन इसके इस्तेमाल को लेकर एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही प्रयोग में लाना चाहिए और समस्याओं से निजात पाना चाहिए। यदि सही मार्गदर्शन न लिया जाए तो समस्या ठीक होने की बजाय और बढ़ जाएगी।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Jequirity http://www.webmd.com/vitamins-supplements/ingredientmono-836-jequirity.aspx?activeingredientid=836&activeingredientname=jequirity Accessed March 29, 2017

    Jequirity http://www.livingnaturally.com/ns/DisplayMonograph.asp?StoreID=3D9D155236034A5897378F7C5A033221&DocID=bottomline-jequirity Accessed March 29, 2017

    https://www.alwaysayurveda.com/abrus-precatorius/  Accessed November 11, 2019

    Crab’s eye-Abrus precatorius/
    https://www.healthbenefitstimes.com/crabs-eye/  Accessed November 11, 2019

    Castor Bean and Jequirity Bean Poisoning/https://emedicine.medscape.com/article/1009200-overview

    Accessed 18 March,2020

    Jequirity/ https://www.emedicinehealth.com/jequirity/vitamins-supplements.htm
    Accessed 18 March,2020

    Studies on the toxicity of an aqueous extract of the leaves of Abrus precatorius in rats/https://www.researchgate.net/publication/6132090_Studies_on_the_toxicity_of_an_aqueous_extract_of_the_leaves_of_Abrus_precatorius_in_rats / Accessed on 6 Oct 2020

    The in-vitro antimicrobial activity of Abrus precatorius (L) fabaceae extract on some clinical pathogens/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18408781/ / Accessed on 6 Oct 2020

    Ethno botanical and Phytophrmacological potential of Abrus precatorius L.: A review/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4025349/ / Accessed on 6 Oct 2020

    Antitumor and proapoptotic effect of Abrus agglutinin derived peptide in Dalton’s lymphoma tumor model/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18550041/ / Accessed on 6 Oct 2020

    Inhibitory effect of Abrus abrin-derived peptide fraction against Dalton’s lymphoma ascites model/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18706794/ / Accessed on 6 Oct 2020

    Abrin P2 suppresses proliferation and induces apoptosis of colon cancer cells via mitochondrial membrane depolarization and caspase activation/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4888365/ / Accessed on 6 Oct 2020

    In vitro immunostimulatory properties of Abrus lectins derived peptides in tumor bearing mice/https://europepmc.org/article/med/19303750 /Accessed on 6 Oct 2020

    लेखक की तस्वीर badge
    Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/10/2020 को
    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड