backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Wild Carrot: जंगली गाजर क्या है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Sunil Kumar द्वारा लिखित · अपडेटेड 24/12/2021

Wild Carrot: जंगली गाजर क्या है?

उपयोग

जंगली गाजर (Wild Carrot) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

जंगली गाजर का साइंटिफिक नाम डौकुस करोटा (Daucus carota) है। यह एक पौधा होता है। जमीन से ऊपर उगने वाले हिस्से और बीज से बनने वाले ऑयल का इस्तेमाल दवा बनाने के लिए किया जाता है। आम गाजर और जंगली गाजर (वाइल्ड कैरट) दोनों एक दूसरे से बिल्कुल अलग हैं। इस स्थिति में आपको बिल्कुल कनफ्यूज होने की जरूरत नही है। वहीं, भोजन में प्रयोग की जाने वाली गाजर की जड़ संतरी रंग की होती है।

इसका इस्तेमाल निम्नलिखित स्थितियों में किया जाता है:

  • गुर्दे की पथरी, ब्लैडर की समस्या और यूरिन में अतिरिक्त यूरिक एसिड इकट्ठा होने को मिलाकर यूरिनरी ट्रैक से जुड़ी ही समस्याओं में जंगली गाजर का इस्तेमाल होता है।
  • अत्यधिक यूरिक एसिड इकट्ठा होने पर जॉइंट की दर्द होने पर।
  • वहीं, इसके सीड ऑयल का इस्तेमाल गंभीर डायरिया (dysentery), अपच और आंत में गैस बनने पर होता है। वहीं, महिलाएं जंगली गाजर का इस्तेमाल यूट्रस के दर्द में राहत पाने और मासिक धर्म को शुरू करने के लिए भी कर सकती हैं।
  • दिल की बीमारी, कैंसर, किडनी की समस्या और आंत में कीड़े से होने वाले दर्द जैसी अन्य समस्याओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसका उपयोग ‘नर्व टॉनिक’ और यौन उत्तेजना बढ़ाने (एक कामोत्तेजक के रूप में) के लिए भी किया जाता है।
  • खाने में जंगली गाजर ऑयल का इस्तेमाल एल्कोहॉल फ्लेवर और नॉन-एल्कोहॉलिक बीवरेज में होता है। इसके अलावा, फ्रोजेन डेयरी मिठाइयों, कैंडी, पकी हुई चीजों, जेलाटीन, पुडिंग, मीट और मीट प्रोडक्ट्स, मसालों और सूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  • पुडिंग, मांस और मांस उत्पादों, मसालों, अवशेषों और सूप में।
  • मैन्युफैक्चरिंग में जंगली गाजर सीड्स ऑयल का इस्तेमाल फ्रेग्रेंस सोप, डिटरजेंट, क्रीम, लोशन और परफ्यूम के रूप में किया जाता है।

जंगली गाजर (Wild carrot) कैसे कार्य करती है?

यह कैसे कार्य करती है, इस संबंध में पर्याप्त शोध उपलब्ध नही हैं। इसकी ज्यादा जानकारी के लिए अपने हर्बालिस्ट और डॉक्टर से सलाह लें। हालांकि, जंगली गाजर में कैमिकल्स होते हैं, जो रक्त वाहिकाओं, मांसपेशियों और ह्रदय को प्रभावित कर सकते हैं।

और पढ़ें : Shilajit : शिलाजीत क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

जंगली गाजर (Wild carrot) का सेवन करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में अपने डॉक्टर, फार्मासिस्ट या हर्बालिस्ट की सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। शिशु को स्तनपान के दौरान और प्रेग्नेंसी में सिर्फ डॉक्टर की लिखी हुई दवाइयों का सेवन करना चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयों का सेवन कर रहे हैं। इसमें वह दवाइयों शामिल हैं, जो बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के बाजार में खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको जंगली गाजर या अन्य दवा या किसी औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कई बीमारी, डिसऑर्डर या मेडिकल कंडिशन हैं।
  • यदि आपको किसी प्रकार की एलर्जी, जैसे फूड, डाई, प्रिजरवेटिव्स या जानवरों से एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले आयुर्वेदिक औषधियों के संबंध में नियम ज्यादा सख्त नही हैं। वाइल्ड कैरट का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों का आंकलन करना जरूरी है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बालिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

क्या जंगली गाजर (Wild carrot) सुरक्षित है?

ज्यादातर अडल्ट्स में जंगली गाजर सीड ऑयल का मौखिक रूप से दवा के तौर पर सेवन सुरक्षित होता है। हालांकि, जंगली गाजर के जमीन से ऊपर उगने वाला हिस्सा सुरक्षित है या नहीं, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है।

और पढ़ें : Sunk Cabbage : पत्ता गोभी क्या है?

विशेष सावधानियां और चेतावनी

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग: गर्भावस्था के दौरान इस गाजर का सेवन असुरक्षित है। जंगली गाजर के सीड, ऑयल और जमीन से ऊपर उगने वाला हिस्सा यूट्रस में कॉन्ट्रे्क्शन पैदा कर सकता है। इससे पीरियड्स शुरू हो सकता है। जंगली गाजर के इस प्रभाव से मिसकैरिज का खतरा बढ़ सकता है। वहीं, स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी जंगली गाजर का सेवन नहीं करना चाहिए। जंगली गाजर सीड ऑयल एस्ट्रोजेन हार्मोन की तरह कार्य कर सकता है। स्तनपान के दौरान जंगली गाजर का जमीन से ऊपर उगने वाला हिस्सा कितना सुरक्षित है, इस बारे में जानकारी उपलब्ध नहीं है। इस स्थिति में बेहतर होगा कि आप इसका सेवन न करें।

  • गुर्दे की समस्या: जंगली गाजर का गुर्दे की समस्या में सेवन करने से आपकी स्थिति और बदतर हो सकती है। वाइल्ड कैरट गुर्दों में जलन पैदा करता है इसलिए, इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • सर्जरी: जंगली गाजर ब्लड प्रेशर की समस्या को प्रभावित कर सकता है। वहीं, कुछ डॉक्टरों की चिंता है कि यह सर्जरी के दौरान और बाद में ब्लड प्रेशर नियंत्रण में हस्तक्षेप कर सकता है। ऐसी स्थिति में सर्जरी से दो हफ्ता पहले जंगली गाजर का सेवन बंद कर दें।
  • यूवी लाइट ट्रीटमेंट: यदि आपका यूवी लाइट का इलाज हुआ है तो जंगली गाजर का सेवन ना करें।

और पढ़ें : Acai: असाई क्या है?

साइड इफेक्ट्स

जंगली गाजर (Wild Carrot) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • वाइल्ड कैरट सीड का हाई डोज लेने से गुर्दे खराब हो सकते हैं। यह नर्व से जुड़ी समस्याएं पैदा कर सकता है। जंगली गाजर से त्वचा पर रेडनेस आ सकती है और सूर्य के संपर्क में आने से सनबर्न का खतरा बढ़ जाता है।
  • जंगली गाजर से भोज वृक्ष (Birch), मगवॉर्ट, मसाले, अजवाइन और इससे संबंधित पौधों कें सपर्क में आने से एलर्जिक रिएक्शन हो सकते हैं। इसे सेलेरी-कैरट-मगवॉर्ट-स्पाइस-सिंड्रोम (celery-carrot-mugwort-spice syndrome) कहा जाता है।
  • हर व्यक्ति को उपरोक्त साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। इन दुष्प्रभावों के अलावा भी कुछ ऐसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं, तो अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें : Asafoetida : हींग क्या है?

रिएक्शन

जंगली गाजर (Wild Carrot) से मुझे क्या रिएक्शन हो सकते हैं?

यह आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकती है या दवा के कार्य करने के तरीके में बदलाव कर सकती है। इसका इस्तेमाल करने के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

निम्नलिखित प्रोडक्ट्स के साथ जंगली गाजर रिएक्शन कर सकता है:

  • एस्ट्रोजन: अधिक मात्रा में जंगली गाजर का सेवन करने से एस्ट्रोजन के तरह इसके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। हालांकि, एस्ट्रोजेन की गोलियां की तरह जंगली गाजर उतनी ताकतवर नही है। एस्ट्रोजेन की गोलियों के साथ जंगली गाजर का सेवन करने से एस्ट्रोजेन की गोलियों की प्रभाविकता कम हो सकती है। इसमें कॉनज्युगेटेड एक्वाइन एस्ट्रोजेन (conjugated equine estrogens (Premarin) (प्रेमारिन)), एथिनिल एस्ट्राडाओल (ethinyl estradiol), एस्ट्राडिओल (estradiol), अन्य दवाइयां शामिल हैं।
  • लीथियम: जंगली गाजर वॉटर पिल या ‘डाइयूरेटिक’ की तरह प्रभाव डालती है। जंगली गाजर का सेवन करने से बॉडी की लीथियम से छुटकारा पाने की ताकत कम हो सकती है। इससे बॉडी में लीथियम की मात्रा बढ़ सकती है और गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। यदि आप लीथियम का सेवन कर रहे हैं, तो जंगली गाजर का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। इस स्थिति में संभवतः आपके लीथियम के डोज में परिवर्तन किया जा सकता है।
  • हाई ब्लड प्रेशर की दवाइयां (Anti hypertensive drugs): अधिक मात्रा में जंगली गाजर (वाइल्ड कैरट) का सेवन करने से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। इस स्थिति में जंगली गाजर ब्लड प्रेशर को बढ़ाकर हाई ब्लड प्रेशर की दवा का असर कम कर सकती है।

निम्नलिखित हाई ब्लड प्रेशर की दवाइयों को जंगली गाजर के साथ सेवन नहीं करना चाहिए:

  • कापटोप्रिल (captopril)
  • केपोटेन (Capoten)
  • इनालाप्रिल (enalapril)
  • वोसोटेक (Vasotec)
  • लोसार्टन (losartan)
  • कोजार (Cozaar)
  • वलसर्टन (Valsartan)
  • डिओवेन (Diovan)
  • डिल्टिजेम (diltiazem)
  • कार्डिजेम (Cardizem)
  • एमलोडिपाइन (amlodipine)
  • नोरवासेक(Norvasc)
  • हाइड्रोक्लोरोथाइज्ड (hydrochlorothiazide)
  • हाइड्रोड्यूरिल (HydroDiuril)
  • फुरोसेमाइड (furosemide)
  • लेसिक्स (Lasix)
  • अन्य दवाइयां

सूर्य के प्रति त्वचा को संवेदनशील बनाने वाली दवाइयां : कुछ दवाइयां सूर्य के प्रति संवेदनशीलता को बढ़ा सकती हैं। जंगली गाजर भी सूर्य के संपर्क में आने पर आपकी त्वचा की संवेदनशीलता बढ़ा सकती है। ऐसे में सूर्य के प्रति संवेदनशीलता बढ़ाने वाली दवाइयों के साथ जंगली गाजर का सेवन करने से सनबर्न की समस्या, फफोड़े पड़ना या त्वचा पर लालिमा पड़ने के खतरे  को बढ़ा सकते हैं। ऐसे में सूर्य के संपर्क में आने पर सनब्लॉक और प्रोटेक्टिव क्लॉथिंग कैरी करें।

निम्नलिखित दवाइयों सूर्य के प्रति त्वचा को संवेदनशील बनाता हैं। जंगली गाजर के साथ इनका सेवन नहीं करना चाहिए।

  • एमिट्रिप्टीलिन (amitriptyline)
  • एलविल (Elavil)
  • सिप्रोफ्लॉक्सासिन (Ciprofloxacin)
  • सिप्रो (Cipro)
  • नॉरफ्लॉक्सासिन (norfloxacin)
  • नोरोक्सिन (Noroxin)
  • लोमेफ्लॉक्सासिन (lomefloxacin)
  • मेक्सिक्वाइन (Maxaquin)
  • ओफ्लॉक्सासिन (ofloxacin)
  • फ्लॉक्सिन (Floxin)
  • लेवोफ्लॉक्सासिन (levofloxacin)
  • लेवाक्वाइन (Levaquin)
  • स्पारफ्लॉक्सासिन (sparfloxacin)
  • जेगम (Zagam)
  • गेटिफ्लॉक्सासिन (gatifloxacin)
  • टेक्वाइन (Tequin)
  • मोक्सिफ्लॉक्सासिन (moxifloxacin)
  • एवेलॉक्स (Avelox)
  • ट्रिमेथोप्रिम (trimethoprim)
  • सल्फामेथोक्साजोल (sulfamethoxazole)
  • सेप्ट्रा (Septra)
  • टेट्रासाइकलिन (tetracycline)
  • मेथोक्सालेन (methoxsalen)
  • 8-मेथोक्सायपोसोरालिन (8-methoxypsoralen
  • 8-एमओपी (8-MOP)
  • ओक्सोरालेन (Oxsoralen)
  • ट्रिओक्सालेन (Trioxsalen)
  • ट्रिसोरालेन (Trisoralen)
  • [mc4wp_form id=’183492″]
    ऊपर बताई गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इस गाजर का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

    डोसेज

    जंगली गाजर (Wild Carrot) की सामान्य डोज क्या है?

    हर व्यक्ति के मामले में वाइल्ज कैरट की डोज अलग हो सकती है। जो डोज आप ले रहे हैं, वह आपकी उम्र, सेहत और बॉडी कई स्थितियों पर निर्भर करती है। हालांकि, हर्बल सप्लिमेंट्स हमेशा ही सुरक्षित नहीं होते हैं। जंगली गाजर के उपयुक्त डोज के लिए अपने हर्बालिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

    जंगली गाजर जंगली गाजर (Wild Carrot) का इस्तेमाल निम्नलिखित तरीके से किया जा चुका है:

    • जंगली गाजर की चाय बनाने के लिए 2-4 ग्राम जमीन से ऊपर उगने वाले हिस्से को लें। इसे पांच से 10 मिनट तक उबालें।
    • लिक्विड एक्सट्रैक्ट (25% प्रतिशत एल्कोहॉल में वन-टु-वन रेश्यो) दो से चार मिलिलीटर दिन में तीन बार लें।

    और पढ़ें : पालक से शिमला मिर्च तक 8 हरी सब्जियों के फायदों के साथ जानें किन-किन बीमारियों से बचाती हैं ये

    जंगली गाजर (Wild Carrot) किन रूपों में आती है?

    जंगली गाजर निम्नलिखित फॉर्म में उपलब्ध हो सकती है:

    • कच्ची जंगली गाजर
    • जंगली गाजर लिक्विड एक्स्ट्रैक्ट (Wild carrot liquid extract)
    • जंगली गाजर सीड ऑयल

    अगर आप जंगली गाजर (Wild Carrot) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।



    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr Sharayu Maknikar


    Sunil Kumar द्वारा लिखित · अपडेटेड 24/12/2021

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement