त्वचा संबंधी परेशानियों के लिए उपयोगी है नीम तेल

By Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj

नीम और उसकी खूबियां तो दुनिया भर में मशहूर हैं, लेकिन ज्यादातर लोग इसके सौंदर्य फायदों के बारे में नहीं जानते। नीम की पत्तियों का पेस्ट इस्तेमाल करना त्वचा के निखार के लिए बेहतरीन है लेकिन उसकी तुलना में नीम के तेल का उपयोग ज्यादा सरल और आसान है, और यह त्वचा के अंदर तक पहुंच जाता है। नीम का तेल आम मेडिकल स्टोर या आयुर्वेदिक दवाओं की दुकान में आसानी से मिल जाता है। 

नीम तेल में दो प्रमुख यौगिक शामिल हैं, जिसके कारण नीम के तेल में एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल, एंटीपीयरेटिक और एंटीहिस्टामाइन गुण पाए जाते हैं।

यह भी पढ़ें : Bipolar Disorder :बाईपोलर डिसऑर्डर क्या है?जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

त्वचा के परेशानियों के लिए नीम तेल कैसे है फायदेमंद: 

1.झुर्रियां कम करने में मदद करे:

नीम में एंटीऑक्सिडेंट्स और इम्यून बढ़ाने के तत्व होते हैं जिसके कारण यह त्वचा निचली परत में मौजूद पैथोजन्स का मुकाबला करते हैं। इससे त्वचा मुएलायम रहती है और झुर्रियां नहीं पड़तीं। हफ्ते में दो बार, त्वचा पर नीम का तेल या नीम फेस पैक लगाने से बुढ़ापे के दिखाई देने वाले लक्षणों का असर कम किया जा सकता है और त्वचा में निखार और नयापन नजर आ सकता है।

2.त्वचा का लचीलापन बरकार रखता है:

नीम के तेल में विटामिन ‘ई‘ और फैटी एसिड्स का खजाना होता है जो त्वचा के लचीलेपन को बरकार रखने में मदद करते हैं। नहाने के बाद, नीम का तेल नारियल के तेल मिला कर शरीर पर लगाया जाए तो यह मॉइस्चराइज़र का काम करेगा जिससे त्वचा नरम, मुलायम और हाइड्रेटेड रहेगी।

3.मुंहासों का सफाया करे:

नीम की एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक खूबियां मुँहासे कम करने में मदद करती हैं। नीम का एंटी-बैक्टीरियल गुण त्वचा पर मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देता है।नीम के तेल से मुंहासों के दाग-धब्बों और सूजन को कम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : Alprazolam : अल्प्राजोलम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

4.सेहतमंद पलकें और भौं:

रिसर्च के अनुसार जो लोग अपने चेहरे पर नीम का तेल लगाते हैं, उनकी पलकें और भौं साफ़ और सेहतमंद नजर आती हैं। नीम त्वचा को गहराई से साफ़ करती है जबकि नीम का तेल त्वचा की सफाई के साथ-साथ पलकों और भौओं की बढ़ोतरी में भी अहम किरदार निभाता है। 

5.त्वचा के फंगल इंफेक्शन से राहत:

नीम के एंटी-फंगल गुण त्वचा के फंगल इंफेक्शन जैसे रिंगवॉर्म, एथलीट्स फुट और नाख़ून के फंगस को खत्म कर देते हैं। नीम के तेल में मौजूद 2 कंपाउंड्स जेडुनिन और निम्बीडॉल, फंगस को खत्म कर देते हैं, जिसके कारण त्वचा के इंफेक्शन से राहत मिल जाती है। यह रिसर्च द्वारा साबित हुआ है कि नीम का तेल फंगस के 14 प्रकार में फायदेमंद है। 

6.खुजली से राहत दिलाए:

त्वचा की खुजली ज्यादातर त्वचा में नमी की कमी के कारण होती है। नीम के तेल में फैटी एसिड्स और विटामिन ‘ई’ की अच्छी मात्रा होती है जिसके कारण यह आसानी से त्वचा की अंदरूनी सतह तक पहुंच जाता है और नमी पैदा करता है। खुजली वाली त्वचा पर नीम का तेल लगाया जाए तो खुजली से राहत मिलेगी। साथ ही, ड्राई और डैमेज हुयी त्वचा दोबारा ठीक करने में आसानी होगी।

नीम का तेल सुरक्षित है लेकिन बेहद गुणकारी है। यह गजकर्ण जैसे त्वचा विकार वाले किसी व्यक्ति में प्रतिकूल प्रतिक्रिया का कारण बन सकता है। अगर यह नीम के तेल का उपयोग कर रहा है, तो अपने चेहरे से दूर, आपकी त्वचा के एक छोटे से क्षेत्र पर एक छोटी, पतला मात्रा में कोशिश करके शुरू करें। यदि लालिमा या खुजली विकसित होती है, तो आप तेल को और पतला कर सकते हैं या इसका पूरी तरह से उपयोग करने से बच सकते हैं।

और पढ़ें : Bajra : बाजरा क्या है?

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख जुलाई 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया नवम्बर 19, 2019

सूत्र