home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Nosocomial infection : नोसोकॉमियल इनफेक्शन क्या है?

परिचय|लक्षण|कारण|खतरों के कारण|जांच और इलाज| घरेलू उपाय
Nosocomial infection : नोसोकॉमियल इनफेक्शन क्या है?

परिचय

नोसोकॉमियल इनफेक्शन क्या होता है?

नोसोकॉमियल इनफेक्शन एक तरह का संक्रमण होता है जो अस्पताल जैसी जगहों पर फैलता है। स्वास्थ्य देखभालों से जुड़ा ये संक्रमण उसी वक्त फैलता है जब आपको पहले से कोई बीमारी हो। अस्पताल के जिस वार्ड से एचएआई यानी नोसोकॉमियल इनफेक्शन होता है वह आईसीयू है। यहां डॉक्टर गंभीर बीमारियों का इलाज करते हैं। इस वजह से आईसीयू से यह संक्रमण ज्यादा फैलता है।

और पढ़ेंः Epiglottitis: एपिग्लोटाइटिस क्या है?

कितना आम है नोसोकॉमियल इनफेक्शन?

स्वास्थ्य देखभाल से जुड़ा यह संक्रमण बहुत आम है। अस्पताल में भर्ती होने वाले 10 में से 1 मरीज को यह संक्रमण होता है। इसका असर मरीज को किसी भी उम्र में हो सकता है।
अस्पताल में भर्ती होते समय साफ—सफाई का ध्यान रखना जरूरी है। इसके अलावा डॉक्टर
आपको इस बारे में ज्यादा जानकारी दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें- Chest Pain : सीने में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लक्षण

नोसोकॉमियल इनफेक्शन के सामान्य लक्षण क्या हैं?

  • नोसोकॉमियल इनफेक्शन के लक्षण सामान्य तौर पर 48 घंटे बाद दिखाई देते हैं।
  • वहीं कुछ मामलों में अस्पताल से डिस्चार्ज होने के 3 दिन बाद ये संक्रमण असर दिखाना शुरू
    करता है।
  • वहीं आॅपरेशन के 30 दिन के बाद इसके लक्षण दिखने शुरू होते हैं।
  • ऐसा भी देखा गया है कि जब कोई अस्पताल से घर आता है तो
    उससे अन्य सदस्यों को यह संक्रमण हो जाता है।

नोसोकॉमियल इनफेक्शन के कई प्रकार होते हैं-

  • यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शन (Urinary tract infections)
  • सर्जिकल साइट इनफेक्शन (Surgical site infections)
  • मैनिंजाइटिस (Meningitis)
  • निमोनिया (Pneumonia)

इस संक्रमण के लक्षणों में आपको बुखार, कफ, सांस लेने में परेशानी, सिर दर्द, डायरिया, दस्त और उल्टी जैसी समस्या हो सकती है।

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

  • ऊपर दिए लक्षणों में से अगर कुछ भी दिखे तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए।
  • ये लक्षण हर किसी में अलग—अलग तरह से दिख सकते हैं।
  • ऐसे में बिना देरी के डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
  • अस्पताल में रहने के दौरान और घर आने के बाद इन लक्षणों पर खास ध्यान
    देने की जरूरत होती है।
और पढ़ेंः Earwax Blokage: ईयर वैक्स ब्लॉकेज क्या है?

कारण

नोसोकॉमियल इनफेक्शन के कारण क्या हैं?

बै​क्टीरिया, फंगस और वायरस से नोसोकॉमियल इनफेक्शन होता है। इनमें से 90 फीसदी बैक्टीरिया से यह संक्रमण फैलता
है। जिस व्यक्ति का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उसे यह संक्रमण जल्दी लग जाता है।
यह संक्रमण एक से दूसरे में फैल जाता है। इस वजह से साफ—सफाई पर विशेष ध्यान देने
की जरूरत है। इसके लिए हाथ साफ रखें। अस्पताल की किसी भी चीज को छूने के बाद हाथ
जरूर धोएं। समय—समय पर सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते रहें।

और पढ़ेंः Giant cell Arteritis: जायंट सेल आर्टेराइटिस क्या है?

खतरों के कारण

क्या चीजें हैं जो नोसोकॉमियल इनफेक्शन की संभावना को बढ़ा सकती हैं?

बैक्टीरिया के अलावा कई और वजह हैं, जिससे यह संक्रमण होता है-

  • अस्पताल में रहने वाले आपके रूम मेट की वजह से।
  • आपकी उम्र 70 वर्ष या इससे ज्यादा है तो भी आपको ये संक्रमण तुरंत हो जाएगा।
  • एंटिबायोटिक की वजह से।
  • ज्यादा समय तक आईसीयू में रहने से।
  • ज्यादा समय तक कोमा में चले जाने से
  • अगर आपको कोई सदमा लगा हो।
  • कमजोर इम्यून सिस्टम की वजह से।

जांच और इलाज

नोसोकॉमियल इनफेक्शन का परीक्षण कैसे किया जा सकता है?

  • अस्पताल में भर्ती होने के दौरान डॉक्टर तुरंत संक्रमण के लक्षण को
    पहचान लेते हैं।
  • इस संक्रमण से बीमारी और भी ज्यादा बढ़ सकती है।
  • ब्लड और यूरिन टेस्ट से भी इसका परीक्षण होता है।
और पढ़ेंः Dental Abscess: डेंटल एब्सेस (दांत का फोड़ा) क्या है?

नोसोकॉमियल इनफेक्शन का इलाज कैसे करें?

  • इनफेक्शन के हिसाब से ही इसका इलाज होता है।
  • यह जरूरी नहीं है कि इस इनफेक्शन से सभी में एक जैसे लक्षण दिखें।
  • अलग—अलग लक्षण की अलग बीमारी होगी और उसकी अलग दवा देनी होगी।
  • इसके अलावा डॉक्टर इस बारे में ज्यादा अच्छे से जानकारी दे सकते हैं।

घरेलू उपाय

घरेलू उपचार और जरूरी जानकारी

  • खान—पान अच्छा और हेल्दी रखें।
  • साफ—सफाई का विशेष ध्यान दें।
  • लक्षण दिखाई देने पर कुछ प्राकृतिक उपचार भी करते रहें।
  • तरल पदा​र्थ का सेवन करें और शरीर को आराम दें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Nosocomial Infections: https://www.healthline.com/health/hospital-acquired-nosocomial-infections Accessed March 7, 2018

Nosocomial Infections: http://www.ehagroup.com/epidemiology/nosocomial-infections/ Accessed March 7, 2018

Nosocomial Infections:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3470069/ Accessed March 7, 2018

Nosocomial Infections: https://www.medicinenet.com/script/main/art.asp?articlekey=4590 Accessed March 7, 2018

 

लेखक की तस्वीर
Bhawana Sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x