home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Pica : पाइका क्या है?

परिचय|लक्षण|कारण|जोखिम|उपचार|घरेलू उपाय
Pica : पाइका क्या है?

परिचय

पाइका क्या है?

पाइका खाने से संबंधित एक तरह का विकार यानी डिसॉर्डर है। पाइका से ग्रसित व्यक्ति कुछ भी खाते हैं, खासकर के वे ऐसी चीजें खाते हैं जिसमें किसी भी तरह का कोई पोषक तत्व नहीं होता है। इस डिसॉर्डर में व्यक्ति बर्फ, मेटल, मिट्टी, सूखे पेंट या अन्य खतरनाक वस्तु खाने लगते हैं। जिससे व्यक्ति के शरीर में जहर फैलने या नुकसान पहुंचने का खतरा रहता है।

यह भी पढ़ें : बच्चे की मिट्टी खाने की आदत छुड़ाने के उपाय

कितना सामान्य है पाइका होना?

अक्सर पाइका बच्चों और गर्भवती महिलाओं में ज्यादा देखा गया है। अमूमन पाइका डिसॉर्डर कुछ समय के लिए ही होता है। वहीं, जो मानसिक रुप से अक्षम व्यक्ति हैं उनमें भी पाइका की शिकायत पाई गई है। कुछ लोगों में पाइका की शिकायत आंशिक न हो कर लंबे समय के लिए होती है। ज्यादा जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से बात कर लें।

यह भी पढ़ें : बेबी फूड्स में पाए गए टॉक्सिक मैटल, बच्चों का आईक्यू हो सकता है कम

लक्षण

पाइका के क्या लक्षण है?

पाइका में अक्सर लोग ऐसी चीजें खाते हैं, जो खाने के लायक नहीं रहती है। अगर कुछ भी खाने की आदत लगभग एक महीने से ज्यादा रहे तो ये पाइका होता है। अगर आपको ये डिसऑर्डर है तो आप निम्न चीजें खाने लगते हैं :

यह भी पढ़ें : बच्चों के लिए फूड प्रोडक्ट खरीदने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

जब व्यक्ति ऊपर बताई गई चीजें खाने लगे तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। समय से इलाज होने पर परेशानियों और साइड इफेक्ट्स का डोखिम कम हो जाएगा।

कारण

पाइका होने के कारण क्या है?

पाइका होने का कोई एक कारण नहीं है। कुछ मामलों में आयरन, जिंक या अन्य पोषक तत्वों की कमी से लोगों को पाइका हो जाता है। उदाहरण के लिए अगर किसी को एनीमिया या आयरन की कमी होती है तो पाइका के लक्षण सामने आने लगेंगे। ऐसा खासकर के गर्भवती महिलाओं में होता है। कुछ लोग जो मानसिक बीमारियों जैसे – शिजोफ्रेनिया और ऑबसेसिव कंप्लसिव डिसऑर्डर से ग्रसित रहते हैं, उन्हें भी पाइका डिसॉर्डर हो जाता है। कुछ लोगों को खाने के अयोग्य चीजें खाने में मजा आता है तो वे मिट्टी जैसी चीजें खातें हैं। इस प्रकार के पाइका को जियोफेजिया कहते हैं। डायटिंग और पोषक तत्वों की कमी पाइका के मुख्य कारणों में से एक है।

यह भी पढ़ें : ऑर्गेनिक फूड (organic food) क्या है और क्या हैं इसके फायदे?

जोखिम

पाइका के साथ मुझे क्या समस्याएं हो सकती हैं?

पाइका में होने वाली समस्याओं की जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

पिका की कई संभावित जटिलताएं हैं, जैसे:

गंदगी या अन्य वस्तुओं में मौजूद बैक्टीरिय गंभीर संक्रमण का कारण बन सकते हैं। कुछ संक्रमण किडनी या लिवर को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं।

गैर-खाद्य वस्तुओं को खाने से स्वस्थ भोजन खाने में हस्तक्षेप हो सकता है, जिससे पोषण संबंधी कमियां हो सकती हैं।

कुछ वस्तुओं, जैसे पेंट चिप्स, में सीसा या अन्य विषाक्त पदार्थ शामिल हो सकते हैं और उन्हें खाने से विषाक्तता हो सकती है, जिससे बच्चे के सीखने की अक्षमता और मस्तिष्क क्षति सहित जटिलताओं का खतरा बढ़ सकता है। यह पिका का सबसे अधिक और संभावित घातक दुष्प्रभाव है

उन वस्तुओं को खाना जो पच नहीं सकते हैं, जैसे कि पत्थर, आंतों और आंतों सहित पाचन तंत्र में कब्ज या रुकावट पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा, कठोर या तीक्ष्ण वस्तुएं (जैसे पेपरक्लिप्स या धातु स्क्रैप) अन्नप्रणाली या आंतों के अस्तर में आंसू पैदा कर सकती हैं।

सह-मौजूदा विकासात्मक विकलांगता उपचार को मुश्किल बना सकती है।

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

पाइका का निदान कैसे किया जाता है?

पाइका का पता लगाने के लिए किसी भी तरह का कोई टेस्ट नहीं है। डॉक्टर पाइका का पता आपकी परिस्थिति और जीवन इतिहास जान कर लगाते हैं। आप अपने डॉक्टर को इमानदारी के साथ उन चीजों को बताएं जो आप पाइका के चलते खा रहे हैं। ऐसा करने से डॉक्टर को वजह जानने में आसानी होती है। बच्चों और मानसिक रोगियों में पाइका के कारणों को जानना थोड़ा कठिन काम है। डॉक्टर आपका ब्लड टेस्ट भी करा सकते हैं। ब्लड टेस्ट कराने से शरीर में जिंक या आयरन की कमी पता चलती है।

यह भी पढ़ें : बच्चे की ये गलत आदतें पड़ सकती हैं सेहत पर भारी

पाइका का इलाज कैसे होता है?

पाइका के कारण शरीर में कई तरह के विकार या समस्याएं सामने आती हैं। उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति सूखे पेंट खाता है तो ये उसके लिए जहरीला साबित हो सकता है, क्योंकि पेंट में लेड की मात्रा पाई जाती है। ऐसे में डॉक्टर इलाज के लिए केलेशन थेरिपी का इस्तेमाल करते है। इस प्रक्रिया में डॉक्टर ऐसी दवाएं देते हैं तो लेड के साथ क्रिया कर के उसे शरीर से निकाल दे। साथ ही डॉक्टर एथिलीनडाईएमाइनटेट्राएसिटीक एसिड या EDTA जैसी दवा मरीज को देते हैं।

अगर डॉक्टर को लगता है कि आप के अंदर पोषक तत्वों की कमी से पाइका है तो वो दवा और थेरिपी दोनों तरह से इलाज करने की कोशिश करते हैं। एप्लाइड बिहेवियर एनालिसिस के जॉर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार पाइका में दवाओं से ज्यादा मल्टीविटामिन सप्लीमेंट्स असर करते हैं।

घरेलू उपाय

जीवनशैली में होने वाले बदलाव क्या हैं, जो मुझे पाइका को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

इस संबंध में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपके स्वास्थ्य की स्थिति देख कर ही डॉक्टर आपको उपचार बता सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Mental Health and Pica https://www.webmd.com/mental-health/mental-health-pica#1 Accessed November 5, 2019

Pica https://www.healthline.com/symptom/pica Accessed November 5, 2019

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/11/2019 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड