सुइसाइड प्रिवेंशन डे: ये क्विज बताएगी, क्या आप किसी को आत्महत्या करने से रोक सकते हैं?

द्वारा

अपडेट डेट September 8, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सुइसाइड प्रिवेंशन क्विज : आज के समय में आत्महत्या एक अनैतिक चलन बन गया है, जो कि कानूनन अपराध भी है। आत्महत्या करने का कारण  अक्सर अवसाद को माना जाता है, जिसके बाद व्यक्ति के मन में सुइसाइडल थॉट्स (आत्महत्या के विचार) आने लगते हैं। इस स्थिति में वह सोचने-समझने की क्षमता खो देता है। इसी कारण, इस स्थिति में पीड़ित व्यक्ति की देखभाल में आसपास रह रहे दोस्तों, जानकारों और परिवार वालों की भूमिका बढ़ जाती है। लेकिन अज्ञानता व अपर्याप्त जानकारी होने के कारण अक्सर वे भी सही समय पर अवसाद से पीड़ित व्यक्ति की मदद नहीं कर पाते। आइए जानते क्या आप किसी भी आत्महत्या को रोक कर जिंदगी बचा पाने में सक्षम हैं? इस क्विज को खेल कर आप ये पता लगा सकते हैं…

और पढ़ें – चक्रव्यूह के जैसी है लत की दुनिया, क्या आप में है इसे तोड़ने की ताकत

सुइसाइड प्रिवेंशन क्विज – क्या कहता है आपका स्कोर?

अगर आपका स्कोर 0 से 30 के बीच है, तो आपको सुइसाइड प्रिवेंशन (आत्महत्या से बचाव) के बारे में काफी कम जानकारी है और आपको इसके लिए अधिक जानकारी इकट्ठा करने की जरूरत है।

अगर आपका स्कोर 40 से 70 के बीच है, तो आपको सुइसाइड प्रिवेंशन के बारे में थोड़ी-बहुत जानकारी है, लेकिन अभी भी आपको इस विषय में अधिक जानकारी लेनी चाहिए।

अगर आपका स्कोर 80 से 100 के बीच है, तो आप आत्महत्या रोक कर किसी की जिंदगी बचाने में काफी हद तक सक्षम हैं। इसी तरह जानकारी इकट्ठा करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

युवाओं में आत्महत्या के बढ़ते स्तर का कारण क्या है?

15 से 29 साल के युवाओं में आत्महत्या के कारण मौत को गले लगा लेते हैं। युवाओं में सुसाइड के कारण और निदान क्या है? खुदकुशी से निपटने के टिप्स के लिए पढें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन May 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सुइसाइड प्रिवेंशन : क्योंकि हर जिंदगी है अनमोल!

Suicide prevention: सुइसाइड प्रिवेंशन कैसे करें। आत्महत्या के विचार को रोकने के लिए दूसरों की मदद कैसे करें?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन May 5, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

डिप्रेशन ही नहीं ये भी बन सकते हैं आत्महत्या के कारण, ऐसे बचाएं किसी को आत्महत्या करने से

आत्महत्या के कारण लगभग हर 40 सेकंड में एक व्यक्ति की मृत्यु होती है। WHO के अनुसार आत्महत्या से लोगों की जान को सबसे ज्यादा खतरा है। आत्महत्या के कारण, सुइसाइड करने के लक्षण क्या हैं? suicide causes and prevention in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन April 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

डिजायनर सब्यसाची थे सुसाइड टेंडेंसी के शिकार, दीपिका-अनुष्का के वेडिंग लहंगों के हैं डिजायनर

जानिए सुसाइड टेंडेंसी क्या है in Hindi, सुसाइड टेंडेंसी के कारण, फैशन डिजायनर सब्यसाची मुखर्जी, दीपिका पादुकोण, अनुष्का शर्मा, Suicidal Tendency के कारण, लक्षण और उपचार।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Govind Kumar
सुइसाइड प्रिवैंशन, मेंटल हेल्थ November 21, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

टीनएजर्स में खुदकुशी के विचार

‘नथिंग मैटर्स, आई वॉन्ट टू डाय’ जैसे स्टेटमेंट्स टीनएजर्स में खुदकुशी की ओर करते हैं इशारा, हो जाए अलर्ट

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ September 2, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
भारत में महिला आत्महत्या women suicide prevention in india

विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस: क्यों भारत में महिला आत्महत्या की दर है ज्यादा? क्या हो सकती है इसकी रोकथाम?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ September 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
इंडियन यूथ को होेने वाली 10 बीमारियां

International Youth Day: ऐसी 10 बीमारियां जिनके शिकार अधिकतर इंडियन यूथ हो रहे हैं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
प्रकाशित हुआ August 12, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
टीनएजर्स में आत्महत्या के विचार

टीनएजर्स में आत्महत्या के विचार को कैसे रोका जा सकता है?

के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ July 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें