home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Myasthenia Gravis: मायस्थेनिया ग्रेविस क्या है?

Myasthenia Gravis: मायस्थेनिया ग्रेविस क्या है?
मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) क्या है?| लक्षण |मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) के कारण |किन कारणों से बढ़ सकता है मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) का खतरा|मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) का पता कैसे किया जाता है?|जीवन शैली में बदलाव और घरेलू उपाय

मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) क्या है?

मायस्थेनिया ग्रेविस एक ऑटोइम्यून डिसीस है जो न्यूरोमस्कुलर डिसऑर्डर पैदा करती है। इसमें आंखें, चेहरा, गला, हाथ और पैर की मसल्स कमजोर हो जाती हैं और व्यक्ति थका हुआ महसूस करता है। सबसे ज्यादा कमजोरी आमतौर पर पहले 3 वर्षों के दौरान होती है। अगर इसे आसान से शब्दों में समझा जाये तो स्केलटल मसल कमजोर होने की वजह से बॉडी को मूव करने में परेशानी होती है। यह भी ध्यान रखें की यह जेनेटिक कारणों की वजह से भी हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार गर्भ में पल रहे शिशु को मां से ही इस बीमारी के होने का खतरा बना रहता है। ऐसा रक्त संचार होने की वजह से होता है।

मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) कितना आम है?

किसी को भी मायस्थेनिया ग्रेविस हो सकता है। हालांकि, यह 40 की उम्र से पहले महिलाओं और 50 के बाद पुरुषों में ज्यादा होता है। रिस्क फैक्टर को कम करके इसके होने की संभावना को कम कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

लक्षण

यह बीमारी ऑटोइम्यून प्रॉब्लम की वजह से होती है। दरअसल यह बीमारी हेल्दी इम्यून सिस्टम पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। हालांकि इसके मुख्य कारणों की जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन, इसे लक्षणों के आधार पर समझा जा सकता है। इसके लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे-

  • सीने के मसल्स में कमजोरी के कारण सांस लेने में कठिनाई होना
  • चबाने, निगलने में कठिनाई होना, जिससे बार-बार गैगिंग, चोकिंग या ड्रोलिंग होती है
  • सीढ़ियां चढ़ने में परेशानी होना
  • बात करने में कठिनाई होना
  • सिर का झुका रहना
  • चेहरे की मांसपेशियों का कमजोर होना
  • हमेशा थकान महसूस होना
  • आवाज बैठना या आवाज बदल जाना
  • डबल विजन (दो-दो दिखाई देना)
  • फोकस करने में कठिनाई होना
  • आईलिड ड्रॉपिंग (eyelid drooping)
  • बात करने में परेशानी महसूस होना

ऊपर बताये गये लक्षणों के साथ-साथ बच्चों में नजर आने वाले लक्षण निम्नलिखित हैं-

इन लक्षणों के अलावा और भी अन्य लक्षण हो सकते हैं जो कि इस सूची में शामिल न हो , यदि आपको इनमें से कोई लक्षण नजर आते हैं या कोई अन्य शारीरिक परेशानी होती है तो कृपया अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

सांस की तकलीफ या अन्य लक्षण नजर आने पर अपने डॉक्टर को फोन करना चाहिए। हर किसी का शरीर अलग तरह से कार्य करता है। इसलिए डॉक्टर से चर्चा करना सही होता है जिससे यह पता चले कि आपकी स्थिति में आपके लिए क्या अच्छा है।

और पढ़ें : Somatization disorder: सोमेटाइजेशन डिसऑर्डर क्या है?

मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) के कारण

वर्तमान में मायस्थेनिया ग्रेविस के लिए कोई सटीक कारण नहीं हैं। हालांकि, शोधकर्ता को यह ऑटोइम्यून डिसऑर्डर और थाइमस ग्रंथि से संबंधित लगता है। इसके अलावा, जेनेटिक रीजन भी मायस्थेनिया ग्रेविस का कारण बन सकते हैं।

किन कारणों से बढ़ सकता है मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) का खतरा

निम्नलिखित कारणों से इसकी परेशानी बढ़ सकती है। जैसे-

रिस्क फैक्टर नजर नहीं आने का यह मतलब नहीं है कि आपको ये बीमारी नहीं हो सकती। ये फैक्टर केवल रेफरेंस के लिए हैं। आपको अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) का पता कैसे किया जाता है?

डॉक्टर फेफड़े, रेफ्लेक्सेस और मांसपेशियों की कमजोरी के परीक्षण के साथ एक पूरा बॉडी टेस्ट करके इसकी पहचान करेंगे। इसके अलावा, इलेक्ट्रोमोग्राफी, स्ट्रेस टेस्ट ,ब्लड टेस्ट और सीटी स्कैन भी किया जा सकता है।

इलाज

मायस्थेनिया ग्रेविस का कोई इलाज नहीं है। इसके ट्रीटमेंट के दौरान महिलाओं को बिना किसी प्रारंभिक संकेत के पीरियड्स आ सकते हैं। जिन दवाओं की सलाह दी जा सकती है उनमें से कुछ यह हैं : नियोस्टीग्मिन पाइरिडोस्टिग्माइन, प्रेडनिसोन, एजैथीओप्रिन, साइक्लोस्पोरिन या मायकोफेनोलेट मोफेटिल। यदि मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia Gravis) में आपको सांस लेने में कठिनाई होती है, तो आपको अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता हो सकती है। जहां आपको वेंटिलेटर से सांस लेने में सहायता की जाती है ।

अन्य उपाय प्लास्माफेरेसिस और इम्युनोग्लोबुलिन इनफ्यूजन हैं। प्लास्माफेरेसिस डायलिसिस के समान एक फिल्टरिंग प्रॉसेस है। इसमें ब्लड को एक मशीन के माध्यम से रूट किया जाता है जो एंटीबॉडी को हटाता है। हालांकि इसका प्रभाव आमतौर पर केवल कुछ हफ्तों तक रहता है और बार-बार इस प्रॉसेस को दोहराने से नसों में सूजन जैसी स्थिति भी आ जाती है।

यदि ट्यूमर मौजूद है (मायस्थेनिया ग्रेविस के कारण) तो डॉक्टर थाइमस (थाइमेक्टॉमी) को हटाने के लिए सर्जरी कर सकते हैं। यदि आपको आंखों की समस्या है, तो आपका डॉक्टर विजन में सुधार करने के लिए लेंस प्रिज्म का सुझाव दे सकता है। आंख की मांसपेशियों के इलाज के लिए सर्जरी की भी सलाह दी जा सकती है। इसके अलावा, फिजिकल थेरिपी आपकी मांसपेशियों की ताकत को बनाए रखने में मदद कर सकती है।

जीवन शैली में बदलाव और घरेलू उपाय

जीवन शैली में बदलाव और घरेलू उपाय कर इससे बचा जा सकता है। जैसे-

  • बीमारी और अपनी स्वास्थ्य स्थिति पर नजर बनाए रखने के लिए समय -समय पर जांच कराते रहें।
  • डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें।
  • मसल्स की वीकनेस को कम करने के लिए आराम और फिजिकल एक्टिवटी के बीच संतुलन बनाए रखने की कोशिश करें।
  • मसल्स को मजबूत रखने के लिए फिजिकल थेरिपी लें।
  • डबल विजन और धुंधला दिखने की स्थिति में आप आई एक्सपर्ट से संपर्क करें।
  • यदि आपको निगलने में परेशानी होती है, तो भोजन को अलग-अलग तरल पदार्थों के साथ आजमाएं और देखें कि क्या आपको सबसे ज्यादा सूट करता है।
  • स्ट्रेस से दूर रहें।
  • धूम्रपान न करें और धूल से भी बचें।

अगर आप इस बीमारी से पीड़ित हैं, डॉक्टर से सलाह लें और खुद से इलाज न करें क्योंकि इसके दवाओं के सेवन से चेहरे पर सूजन आने की समस्या हो सकती है। इसके साथ ही अगर आप मायस्थेनिया ग्रेविस से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Myasthenia gravis. http://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/myasthenia-gravis/basics/definition/con-20027124/ Accessed on 10/01/2020

Myasthenia gravis/ https://www.nlm.nih.gov/medlineplus/ency/article/000712.htm/Accessed on 10/01/2020

Myasthenia Gravis/https://www.healthline.com/health/myasthenia-gravis/Accessed on 10/01/2020

What’s to know about myasthenia gravis?/https://www.medicalnewstoday.com/articles/179968.php/Accessed on 10/01/2020

Myasthenia Gravis Fact Sheet/https://www.ninds.nih.gov/disorders/patient-caregiver-education/fact-sheets/myasthenia-gravis-fact-sheet/Accessed on 10/01/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित
अपडेटेड 06/07/2019
x