सोते हुए शिशु को डकार दिलाने में होती हैं परेशान? ये स्ट्रेटजी कर सकती हैं मुश्किल आसान

    सोते हुए शिशु को डकार दिलाने में होती हैं परेशान? ये स्ट्रेटजी कर सकती हैं मुश्किल आसान

    कुछ शिशुओं को दूसरों बेबीज की तुलना में अधिक गैस बनती है। ऐसे में उन्हें डकार दिलाना जरूरी हो जाता है। वे ब्रेस्टफीड करते वक्त या बॉटल से दूध पीते समय एयर को भी अंदर ले लेते हैं। ऐसे में डकार अंदर गई एयर को बाहर निकालने में मदद करती है। कई बार बेबी दूध पीते हुए ही सो जाते हैं। ऐसे में पेरेंट्स को सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) मुश्किल लगता है।

    इस आर्टिकल में हम इस मुश्किल को हल करने के तरीके बता रहे हैं। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि अगर शिशु सो गया है, तो उसे गोद में लेकर कंधे पर सहारा देने के कुछ मिनट के बाद डकार दिलाने की कोशिश करें नहीं तो वह उसके पेट में दर्द और गैस की समस्या के साथ जाग सकता है। बता दें कि शिशु बड़े बच्चों और व्यस्कों की तुलना में अधिक डकार लेते हैं।

    सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby)

    अगर बच्चा दूध पीते हुए सो गया है तो डकार के बिना वह असहज हो सकता है और जल्दी जाग सकता है या दूध को उल्ट भी सकता है। यहां हम कुछ तरीके बता रहे हैं जिनकी मदद से सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) आसान काम बन जाएगा।

    कंधे के ऊपर

    सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) इस पॉजिशन में आसान हो सकता है। यह एक आसान पॉजिशन है। जिससे बच्चे को डकार भी आ जाती है और वह जागता भी नहीं है। शिशु को कंधे के ऊपर सहारा दें और उसके निचले भाग को होल्ड करके रखें। उसकी पीठ पर हाथ फेरें या थपकी दें। मां के कंधे का प्रेशर उसकी टमी को गैस को रिलीज करने के लिए पुश करता है।

    और पढ़ें: Baby Modeling: बेबी मॉडलिंग के दौरान इन टिप्स का रखा जा सकता है ध्यान!

    गोद में लिटाएं

    शिशु को गोद में लिटाएं। अगर महिला चेयर पर बैठी है तो अपने पैरों को आपस में जोड़कर शिशु को पेट के बल अपने घुटने पर लेटा लें। अब उसकी पीठ पर धीरे-धीरे थपकी दें ताकि डकार आ सके। इस पॉजिशन में बेबी की नींद भी डिस्टर्ब नहीं होगी। सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) इस पॉजिशन की मदद से भी आसान हो सकता है।

    शिशु को दें हाथों का सहारा

    सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) है, तो यह पॉजिशन भी ट्राय की जा सकती है। फीडिंग के बाद शिशु की पॉजिशन को बदलें और धीरे-धीरे उस बांह की कलाई पर इस प्रकार लेकर आए कि उसकी टमी कलाई पर रहे और उसके सिर को कोहनी से सपोर्ट मिलता रहे। उसके पैर आपके हाथ पर रह सकते हैं। यह पॉजिशन शिशु की बेली पर प्रेशर डालती है। इस दौरान आप उसके पीठ पर हल्के हाथ से थपकी भी दे सकते हैं जब तक कि उसे डकार नहीं आ जाती। इस पॉजिशन को पेरेंट्स बैठे या खड़े हुए ट्राय कर सकते हैं।

    और पढ़ें: ऑर्गेनिक बेबी फॉर्मुला में किन प्रोडक्ट का किया जा सकता है इस्तेमाल?

    सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) चाहते हैं तो उसे लोअर चेस्ट पर होल्ड करें

    इसके लिए आपको सोते हुए शिशु को थोड़ा से लिफ्ट करके चेस्ट पर होल्ड करके रखना है। यदि आप सोफे पर हैं तो यह सबसे आरामदायक हो सकता है। इस पॉजिशन में बेबी अपने पैरों को थोड़ा सिकोड़ लेते हैं जिससे गैस को बाहर निकलने के लिए दवाब बनता है। आप हाथों से उसके सिर को सहारा दे सकते हैं।

    और पढ़ें: ऑर्गेनिक बेबी फॉर्मुला में किन प्रोडक्ट का किया जा सकता है इस्तेमाल?

    क्या बच्चे को मिडनाइट में दूध पिलाने के बाद भी डकार दिलाना (Burping) जरूरी है?

    इसका जवाब है हां। अगर आप बच्चे को लेट नाइट फीडिंग भी करा रही हैं तो उसे डाकर दिलाना जरूरी है। किसी भी प्रकार की फीडिंग गैस क्रिएट कर सकती है जिससे बेबी दूध को उल्ट कर सकता है। इसलिए इस गैस का निकलना जरूरी है। बोटल से फीड कराने पर बीच में ब्रेक देने पर शिशु को डकार दिलाई जा सकती है या ब्रेस्ट को स्विच करते वक्त भी। एक पॉजिशन से रिजल्ट नहीं मिलता है तो दूसरी ट्राय करें, लेकिन पांच मिनट से अधिक समय तक ऐसा ना करें।

    शिशु को डकार आने में कितना समय लगता है? (How long does burping take?)

    शिशु को डकार आने में एक या दो मिनट का समय लगता है। कई बार शिशु को कंधे पर उठाते ही डकार आ जाती है तो कभी इसके लिए मेहनत करना पड़ सकती है। इसके अलावा सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) तब आसान हो सकता है जब बेबी को फीड करते हुए नहीं पालने में सुलाने की आदत डालें।

    जब आप ब्रेस्टफीडिंग या बॉटल फीडिंग कराते हुए ये नोटिस करते हैं कि बेबी को नींद आने लगी है, तो फीडिंग बंद कर दें और उसे डकार दिलाने की कोशिश करें इसके बाद उसे सोने के लिए बेड या पालने में लिटा दें। जैसे-जैसे आप इस स्ट्रेजी को अपनाएंगे आपके लिए सोते हुए शिशु को डकार दिलाना आसान हो जाएगा।

    सोते हुए शिशु को डकार दिलाना

    अगर बेबी को डकार ना आएं तो? (What happens if a sleeping baby doesn’t burp?)

    अगर सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) मुश्किल हो रहा है और उसे डकार नहीं आ रही है तो परेशान होने की बात नहीं है। वह पूरी तरह ठीक रहेगा और गैस को किसी दूसरे तरीक से पास करेगा। कुछ शिशु बाद में पालने में स्पिट करते हैं या वे रोते हुए उठ जाते हैं और फिर इसके बाद उनको डकार आती है।

    एक बच्चा जो अच्छी तरह से डकार नहीं लेता है, लेकिन गैस से बहुत परेशान होता है, उसे स्पिट से रोकने में मदद करने के लिए उसके दूध पिलाने के बाद 15 मिनट या उससे अधिक समय तक सहारा देर खड़ा किया जा सकता है। यह स्थिति अंततः उसे डकार लेने में मदद कर सकती है।

    ये भी जान लें

    कुछ शिशु उतनी हवा नहीं निगलते, जितनी दूसरे शिशु जब वे ब्रेस्टफीड करते हैं या बोतल से दूध पीते हैं, और इसलिए उन्हें बार-बार डकार लेने की आवश्यकता नहीं होती है। यदि आपका बच्चा दूध पिलाने के बाद गैस से परेशान नहीं है तो यह आपके लिए अच्छी खबर है। ध्यान रखें कि पीठ थपथपाने का यह चरण समय-सीमित होता है, क्योंकि लगभग 6 महीने (हालांकि यह अलग-अलग हो सकता है) तक अधिकांश बच्चे जब बैठना शुरू करते हैं तो थूकना बंद हो जाता है।

    केवल कुछ गैस के बुलबुले को पास करने के लिए एक बच्चे को नींद से जगाना कठिन है, लेकिन एक सोते हुए बच्चे को डकार दिलाना उसकी नींद को अधिक आरामदायक बना सकता है, जिसका अर्थ है कि वह बेहतर ढंग से सो सकता है। थोड़े से अभ्यास और बच्चे को डकार दिलाने की कुछ तरकीबें आजमाने से, यह प्रक्रिया जल्द ही आसान लगने लगेगी।

    और पढ़ें: बेबी स्लीप रिग्रेशन: इस तरह से मैनेज करें बच्चों के इस स्लीप डिसऑर्डर को!

    शिशुओं में गैस बनने को कारण (Causes of gassiness in babies)

    उम्मीद करते हैं कि आपको सोते हुए शिशु को डकार दिलाना (Burping a Sleeping Baby) और इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 05/01/2022 को
    Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड