28 महीने के बच्चे की देखभाल के लिए आपको क्या जानने की आवश्यकता है?

द्वारा

अपडेट डेट May 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

विकास और व्यवहार

मेरे 28 महीने के बच्चे को अभी क्या-क्या गतिविधियां करनी चाहिए?

आप अपने बच्चे को सामाजिक तौर पर चाहे कितना ही घुला मिला क्यों न रखें लेकिन, इस उम्र में उसका दूसरे बच्चों के साथ दोस्ती करना ज्यादा जरूरी है। दूसरे बच्चों के साथ दोस्ती करना न सिर्फ आपके बच्चे के विकास के लिए अच्छा है, बल्कि यह सामाजिक कौशल का अभ्यास करने और उनके खेलने में विविधता लाने में भी मदद करता है। यदि आपका बच्चा डे-केयर में जाता है, तो वह साथ में खेलने वाले दोस्तों को पसंद करने लगता है और उन्हीं के साथ रम जाता है।

विशेषज्ञों का कहना है कि जो बच्चे प्री-स्कूल और डे-केयर में जाते हैं, वह अन्य बच्चों की तुलना में चीजें तेजी से सीखते हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि डे-केयर और प्री-स्कूल में बच्चा काफी लोगों से मिलता है और उनके व्यवहार से प्रेरित होकर चीजों को सीखता है। विशेषज्ञों का कहना है कि कभी-कभी बचपन में ही यह स्पष्ट हो जाता है कि आपका बच्चा छोटी-सी उम्र में दूसरे बच्चों की तुलना में अधिक और जल्दी सीखेगा।

28 महीने के बच्चे अब अपनी हरकतों पर ज्यादा नियंत्रण रखते हैं। अब वह छोटी वस्तुओं के साथ आसानी से खेल सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक, 28 महीने के बच्चे या इस उम्र के आस-पास के बच्चे ज्यादा से ज्यादा 20 मिनट के लिए ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।

28 महीने के बच्चे को अब किन चीजों के लिए तैयार करना चाहिए ?

28 महीने के बच्चे को जल्दी दोस्ती बढ़ाने में मदद करने के लिए

  • अक्सर देखा जाता है कि छोटे बच्चे जब बड़े ग्रुप में खेलते हैं, तो उनके बीच झगड़े ज्यादा होते हैं। इसलिए बच्चों को छोटे-छोटे ग्रुप में खेलने के लिए प्रेरित करें। अगर बच्चों का ग्रुप एक ही उम्र का हो, तो वह ज्यादा बेहतर रहता है।
  • बच्चों के खेलने का समय कम रखें। विशेष रूप से नए दोस्तों के साथ, इस उम्र में आधे से एक घंटे नए दोस्तों के साथ खेलना काफी रहता है।
  • आपके 28 महीने के बच्चे या दो साल से ज्यादा उम्र के बच्चे दो कई बार छोटे बच्चों से भी बहुत कुछ सीख सकते हैं इसलिए बच्चों को हमेशा मिक्सअप ऐज ग्रुप में खेलने दें।
  • जहां तक संभव हो बच्चों को खिलौनों से दूर रखें। बच्चों को दौड़ने दें और ऑब्जेक्ट से खेलने दें। जैसे-कोई बॉक्स या फिर घर का ऐसा सामान जो उन्हें नुकसान नहीं पहुंचा सकता है।
  • 28 महीने के बच्चे या दो साल की उम्र के बच्चे अब अपने पेरेंट्स की नकल करने लगते हैं और उनसे बहुत कुछ सीखते भी हैं, तो ऐसे में उनके सामने बहस या झगड़ें नहीं। ऐसा करने बच्चों भी झगड़ना सीखते हैं और कई बार अपशब्द भी सिख सकते हैं, जो माता-पिता ने किसी से बहस करते समय बोले हों। ऐसे में जरूरी है कि बच्चे के सामने शालीन भाषा का प्रयोग करें और शांत रहें।

यह भी पढ़ें : बच्चे का रूट कैनाल ट्रीटमेंट हो तो ऐसे करें डील

डॉक्टर के पास कब जाएं?

28 महीने के बच्चे से जुड़े किन विषयों पर डॉक्टर से बात करनी चाहिए?

यदि आप अपने बच्चे को प्राइवेट पार्ट्स को छूते हुए देखते हैं, तो घबराएं नहीं। वे ऐसा इसलिए करता है क्योंकि बच्चा अपने शरीर के अंग को लेकर इस समय काफी उत्सुक होते हैं। अगर आपको ऐसा लगता है कि बच्चा गुप्त अंगों का स्पर्श कुछ ज्यादा ही कर रहा है, तो देखें कि ऐसा तो नहीं उसको प्राइवेट पार्ट्स में किसी तरह का इंफेक्शन हुआ हो। इसके बाद भी समस्या हल न हो, तो आपको एक बार डॉक्टर की सलाह लेने की जरूरत होती है।

28 महीने के बच्चे के बारे में डॉक्टर को क्या बताएं?

आप शायद सोच रहे हैं कि अपने बच्चे को प्री-स्कूल में कब डाला जाए? बच्चे को प्री-स्कूल में भेजने का सही समय क्या है? इससे आपको थोड़ा-सा तनाव हो सकता है। आपके बच्चों को प्री-स्कूल में डालने की सही उम्र क्या है और उसे किस तरह के प्री-स्कूल में डालना चाहिए ताकि वो सही तरीके से विकास कर सके। इसके लिए नीचे सुझाव दिए गए हैंः

  • ध्यान रहे कि जिस प्री-स्कूल में आप बच्चे को भेजने की सोच रहे हैं, वो साफ और बैक्टीरिया फ्री हो। यह एक ऐसी जगह है जहां पर बीमारियां और बैक्टीरिया आसानी से बच्चे तक पहुंच जाते हैं। जैसे कि हाथ-पैर और मुंह की बीमारी और सिर में जुएं होना आम बात हैं। प्री-स्कूल में बच्चों को भेजने से पहले वहां के प्रबंधक से यह बात जरूर पूछें कि उनका प्ले एरिया कितने समय अंतराल पर साफ किया जाता है?
  • आमतौर पर बच्चे को तीन से पांच साल की उम्र में प्री-स्कूल भेजना शुरू किया जाता है। लेकिन कई मामलों में दो साल के बाद ही बच्चों का प्ले स्कूल में दाखिला करा दिया जाता है। ऐसे में अगर आप अपने 28 महीने के बच्चे को प्री-स्कूल भेजने की सोच रहें, तो इससे पहले वहां एक बार जरूर जाएं और सभी चीजों की जानकारी लें। जैसे कि वहां पर खेलने के लिए प्ले ग्राउंड है या नहीं? क्लासरूम कैसे हैं? एक क्लास में कितने बच्चे बैठते हैं आदि।
  • बच्चे के टीचर से बात करें क्योंकि टीचर से बात करना आपके लिए बेहद जरूरी है। इससे आप बच्चे की स्कूल की एक्टिविटी कैसी रहेगी, इसके बारे में पूरी तरह जान सकेंगे।
  • स्कूलों के शिक्षण और प्रकार के कई अलग-अलग तरीके हैं। आपको पता होना चाहिए कि आपके बच्चे के लिए सबसे अच्छा क्या है।

यह भी पढ़ें :  बच्चे को कैसे और कब करें दूध से सॉलिड फूड पर शिफ्ट

क्या उम्मीद करें?

मुझे 28 महीने के बच्चे के स्वास्थ्य से जुड़ी क्या चिंताएं करनी चाहिए?

दो वर्ष या उससे छोटी उम्र के बच्चों को रोजाना दो घंटे या उससे कम ही टीवी देखने दें। ऐसा इसलिए है क्योंकि ज्यादा देर तक टीवी देखना आपके बच्चे के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। यह आपके बच्चे के विकास और भाषा पर पकड़ को कमजोर कर सकता है।

यह वो नाजुक दौर हैं, जब आपको बच्चे को चौबीसों घंटे और सातों दिन देखभाल करने की आवश्यकता है क्योंकि एक और दो साल के बच्चों को चोट लगने, गिरने और कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। खासकर जब आपके घर पर मेहमान आते हैं या फिर आप कहीं जाते हैं तो बच्चे का खास ध्यान रखें क्योंकि इतने छोटे बच्चे को चोट लगने के कारण आप परेशान हो सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें :-
डायबिटीज के साथ बच्चे के जीवन को आसांन बनाने के टिप्स
बच्चे को बायीं तरफ गोद में लेने से मजबूत होता है मां और बच्चे का रिश्ता
भावुक बच्चे को हैंडल करना हो सकता है मुश्किल, जान लें ये टिप्स
अपने बच्चे के निगेटिव कमेंट्स को कैसे करें मैनेज

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जानिए मुंह के कैंसर के प्रकार और उनके होने का कारण

मुंह के कैंसर के प्रकार को जानने के साथ बीमारी के कारण, लक्षण और बचाव, कौन सा कैंसर किस व्यक्ति को हो सकता है, कैसे करें बचाव

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
अन्य ओरल समस्याएं, ओरल हेल्थ April 14, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

अचानक दूसरों से ज्यादा ठंड लगना अक्सर सामान्य नहीं होता, ये है हाइपोथर्मिया का लक्षण

हाइपोथर्मिया क्या है, hypothermia in hindi, हाइपोथर्मिया का इलाज क्या है, ज्यादा ठंड लगने पर क्या करें, jyada thand lagne par kya karein, mujhe bahut thand lagti hai kya karun, ठंड कैसे भगाएं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
लक्षण, स्वास्थ्य January 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Child Tantrums: बच्चों के नखरे का कारण कैसे जानें और इसे कैसे हैंडल करें

बच्चों के नखरे का कारण कुछ भी हो सकता है। वे किसी भी वजह से जिद और नखरे दिखा सकते हैं। ऐसा मानिसक और शारीरिक स्थिति दोनों की वजह से हो सकता है। इस आर्टिकल में जानें बच्चों के नखरे दिखाने का कारण और इससे निपटने के आसान टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal

बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

बच्चों में फूड एलर्जी के कारण, बच्चों में फूड एलर्जी क्यों होता है, फूड एलर्जी के लिए क्या करें, कैसे पहचाने फूड एलर्जी kids Food Allergy, जानें और

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh

Recommended for you

दांत दर्द का आयुर्वेदिक इलाज

दांत दर्द का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जानें कौन सी जड़ी-बूटी है असरदार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ June 26, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Malocclusion- मैलोक्लूजन

Malocclusion: मैलोक्लूजन क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ April 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मुंह की देखभाल

बच्चे हो या बुजुर्ग करें मुंह की देखभाल, नहीं हो सकती हैं कई गंभीर बीमारियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ April 21, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
स्ट्रॉबेरी लेग्स

आपकी खूबसूरती को बिगाड़ सकते हैं स्ट्रॉबेरी लेग्स, जानें इसे दूर करने के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ April 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें