आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Cut Finger: जानिए उंगली कट जाने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना है जरूरी!

Cut Finger: जानिए उंगली कट जाने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना है जरूरी!

उंगली कट जाना (Cut Finger) एक सामान्य सी परेशानी है, लेकिन इसका इलाज ना करना तकलीफ को बढ़ाने का काम कर सकती है। इसलिए आज इस आर्टिकल में समझेंगे कि अगर किसी भी कारण से उंगली कट जाती है तो क्या करना चाहिए और इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण बातें।

उंगली कट जाना… यह समस्या किसी के साथ भी और कभी भी हो सकती है, लेकिन यह कितना माइल्ड है या सीवियर है इसे समझना जरूरी है। अगर उंगली ज्यादा कट गई है, तो ऐसी स्थिति में जल्द से जल्द इलाज की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए अगर उंगली कट जाए तो कुछ खास स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है।

और पढ़ें : Hyaluronic Acid For Skin: जानिए शरीर एवं त्वचा के लिए हाईऐल्युरोनिक एसिड के 10 फायदे!

  • डॉक्टर से कब कंसल्ट करना है जरूरी?
  • उंगली कट जाने पर फर्स्ट एड क्या करना चाहिए?
  • उंगली के डीप कट का इलाज कैसे किया जाता है?
  • क्या है उंगली कट जाने के ट्रीटमेंट के बाद की देखभाल?

चलिए अब इन सवालों का जवाब जानते हैं।

उंगली कट जाना (Cut Finger): डॉक्टर से कब कंसल्ट करना है जरूरी? (Consult Doctor if-)

उंगली कट जाने पर निम्नलिखित स्थितियों में इमरजेंसी मेडिकल ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। जैसे:

  • कट फिंगर (Cut Finger) एक इंच या इससे ज्यादा हो।
  • काफी अंदर तक उंगली कट (Deep Cut Finger) गई हो।
  • हड्डी तक दर्द (Bone pain) महसूस होना।
  • उंगली कटने पर अत्यधिक ब्लीडिंग (Bleeding) होना।
  • ब्लीडिंग (Non-stop bleeding) नहीं रूकना।
  • कटी हुई उंगली के अंदर कुछ (Foreign particle) चला जाना।

इन स्थितियों में जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए, क्योंकि मरीज की तकलीफ बढ़ सकती है और कोई अन्य परेशानी भी शुरू हो सकती है।

और पढ़ें : Creams for Scars: जानिए 7 बेस्ट स्कार्स के लिए क्रीम और इन क्रीम्स को खरीदने के पहले किन बातों का रखें ध्यान!

उंगली कट जाना (Cut Finger): उंगली कट जाने पर फर्स्ट एड क्या करना चाहिए? (First aid for Cut Finger)

उंगली कट जाना (Cut Finger)

जब किसी व्यक्ति की उंगली कट जाती है, तो ऐसी स्थिति में सबसे पहले डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए और इसके साथ ही फर्स्ट एड भी करना चाहिए। इसलिए फर्स्ट एड के दौरान निम्नलिखित बातों को फॉलो करें। जैसे:

  • कट फिंगर (Cut Finger) यानी उंगली का हिस्सा जो कट हुआ है-, तो उसे साफ पानी (Clean water) और एंटीसेप्टिक लिक्विड (Antiseptic Liquid) से साफ करें।
  • घाव पर पेट्रोलियम जेली (Petroleum jelly) अप्लाई किया जा सकता है। ऐसा करने से घाव जल्द ठीक होने में मदद मिलेगी।
  • कटी हुई उंगली को बैंडेज (Bandage) से कवर करें, जिससे ब्लीडिंग बंद हो और फॉरेन पार्टिकल अंदर प्रवेश ना करें। बैंडेज करने से इंफेक्शन से भी बचाव में मदद मिलता है।
  • हाथों में मूवमेंट बनाये रखें जिससे अंदुरुनी और बाहरी सूजन (Swelling) कम हो सके।
  • अगर उंगली काटने की वजह से अत्यधिक दर्द है, तो ओवर-द-काउंटर (OTC) मिलने वाली दर्द की दवाओं का सेवन करें।

इन टिप्स को फॉलो करने से कटी हुई उंगली (Cut Finger) को जल्द ठीक करने में मदद मिल सकती है, लेकिन अगर उंगली ज्यादा कट गई है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है।

नोट: दि अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी एसोसिएशन (The American Academy of Dermatology Association) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार कटी हुई उंगली से जुड़ी हुई तकलीफ और घाव तकरीबन एक हफ्ते में भर जाते हैं।

और पढ़ें : Best Vitamin C serum: जानिए बेस्ट विटामिन सी सीरम के फायदे और किन बातों को रखकर चुने सीरम!

उंगली कट जाना (Cut Finger): उंगली के डीप कट का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Cut Finger)

उंगली के डीप कट यानी गहरा कट जाने पर निम्नलिखित तरह से इलाज किये जा सकते हैं। जैसे:

  • कटी हुई उंगली को सबसे पहले क्लीन किया जाता है और डॉक्टर कटे हुए हिस्से को क्लोस्ली मॉनिटर करते हैं।
  • अगर उंगली गहरी कट गई है, तो ऐसी स्थिति में स्टीच (Stich) की जाती है। ध्यान रखें कि टांके अक्सर गहरे या चौड़े कट के इलाज के लिए किया जाता है।
  • थोड़े छोटे कटों के लिए डॉक्टर स्टेरी-स्ट्रिप्स (Steri-Strips) का इस्तेमाल करते हैं।
  • अगर बहुत गहरा कट हुआ है, तो ऐसी स्थिति में स्किन ग्राफ्ट (Skin graft) की मदद ली जा सकती है। यह एक सर्जिकल प्रक्रिया है।
  • व्यक्ति को टिटनेस (Tetanus) की सूई दी जाती है। टिटनेस की सुई अगर व्यक्ति ने किसी कारण से हाल ही के दिनों में लिया है, तो टिटनेस की सूई नहीं दी जा सकती है।
  • एसिटामिनोफेन (Acetaminophen) या आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) जैसी दवाएं भी प्रिस्क्राइब की जा सकती हैं।

इन अलग-अलग तरीकों से गहरी कटी हुई उंगली का इलाज किया जा सकता है।

और पढ़ें : Sunscreens For Oily Skin: जानिए ऑयली स्किन के लिए सनस्क्रीन के फायदे और किन बातों को रखकर चुने सनस्क्रीन!

उंगली कट जाना: क्या है उंगली कट जाने के ट्रीटमेंट के बाद की देखभाल? (Finger cut aftercare)

अगर डॉक्टर से उंगली कट जाने पर ट्रीटमेंट की जरूरत नहीं पड़ी है और आप घर में ही इलाज कर रहें हैं तो यह ध्यान रखें कि ब्लीडिंग (Bleeding) बंद हुई है या नहीं। अगर ब्लीडिंग की समस्या ज्यादा होती तो इंफेक्शन (Infection) का खतरा भी बढ़ सकता है। इसलिए कटे हुए हिस्से को ड्राई रखें और क्लीन रखें।

अगर हीलिंग की प्रक्रिया 24 घंटे के अंदर-अंदर शुरू नहीं हुई है, इंफेक्शन के लक्षण (Infection symptoms) नजर आने पर जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

अगर डॉक्टर ने जल्द घाव भरने के लिए बैंडेज किया है तो घाव के सूखने पर बैंडेज को रिमूव किया जा सकता है।

नोट: इन टिप्स को फॉलो करने के साथ-साथ डॉक्टर द्वारा दिए गए एडवाइस को भी फॉलो करें। डॉक्टर द्वारा दिए गए एडवाइस को फॉलो करने से घाव को जल्द ठीक होने में मदद मिलती है। इसके साथ ही डॉक्टर ने दवाओं को प्रिसक्राइब किया है तो उसका सेवन भी समय पर करें।

और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

उंगली काटना बिना किसी चेतावनी के हो सकती है। इसलिए इन परेशानियों से बचने के लिए इनसे जुड़ी जानकारियों के बारे में जरूर समझें। इसके साथ ही बच्चों की पहुंच से चाकू, कैंची या धारदार वाली चीजों को दूर रखें। वहीं इससे होने वाले नुकसान के बारे में भी बच्चों को जरूर बतायें। अगर बच्चे थोड़े बड़े हैं और चाकू या कैंची जैसे उपकारों का प्रयोग करते हैं तो उन्हें इसके इस्तेमाल का तरीका बतायें जिससे किसी दुर्घटना से बचने में मदद मिल सके।

अगर बहुत गहरा कट गया है तो इन ऊपर बताये टिप्स को फॉलो करने के साथ मेडिकल ट्रीटमेंट लेना बेहद जरूरी है। वहीं अगर कट छोटा है, लेकिन ब्लीडिंग बंद नहीं हो रही है तो भी डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। उम्मीद करते हैं कि कट फिंगर (Cut Finger) यानी उंगली कट गई है तो ऐसी स्थिति में क्या करना आवश्यक है। अगर घर पर ही इलाज खुद से कर रहें हैं तो इंफेक्शन से बचाव बेहद जरूरी है, क्योंकि इंफेक्शन की वजह से छोटी से छोटी कटी हुई समस्या गंभीर रूप ले सकती है।

आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड