आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Petechiae: पेटीचिया क्या है? जानिए पेटीचिया के लक्षण, कारण और इलाज!

    Petechiae: पेटीचिया क्या है? जानिए पेटीचिया के लक्षण, कारण और इलाज!

    स्किन प्रॉब्लेम …इससे ज्यादातर लोग कभी ना कभी परेशान होते हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) होते हैं जिनके बारे जानकारी की कमी की वजह से परेशानी बढ़ जाती है। इसलिए हम आपके लिए अलग-अलग स्किन प्रॉब्लेम से जुड़ी जानकारी शेयर करते आ रहें हैं। आज इस आर्टिकल में त्वचा संबंधी परेशानी पेटीचिया (Petechiae) के बारे में समझेंगे।

    • पेटीचिया क्या है?
    • पेटीचिया के कारण क्या हैं?
    • पेटीचिया के लक्षण क्या हैं?
    • पेटीचिया का इलाज कैसे किया जाता है?
    • पेटीचिया से होने वाले कॉम्प्लिकेशन क्या हो सकते हैं?
    • पेटीचिया से बचाव कैसे संभव है?
    • पेटीचिया की समस्या होने पर डॉक्टर से कब संपर्क करना जरूरी है?

    चलिए अब स्किन प्रॉब्लेम परेशानी पेटीचिया (Petechiae) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानेंगे।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    पेटीचिया (Petechiae) क्या है?

    पेटीचिया शरीर पर छोटे-छोटे ब्लड क्लॉट की तरह या ब्लीडिंग की तरह नजर आने वाली समस्या है। इसमें कोई उभार नहीं होता है और यह स्किन के अंदुरुनी हिस्से में होने वाले स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) है, लेकिन इसे आसानी से त्वचा पर देखा जा सकता है। इसे नीचे दिए इस तस्वीर में आसानी से समझा जा सकता है।

    पेटीचिया (Petechiae)
    पेटीचिया (Petechiae)

    पेटीचिया आसानी से देखे जा सकते हैं, लेकिन ये डॉट्स स्किन के अंदर और सबसे ऊपरी त्वचा में होते हैं।

    और पढ़ें : Blind Pimple: ब्लाइंड पिंपल से छुटकारा पाने के लिए 7 घरेलू उपाय एवं 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

    पेटीचिया के कारण क्या हैं? (Cause of Petechiae)

    पेटीचिया के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • स्किन इंजुरी (Skin injury) होना।
    • सनबर्न (Sunburn) होना।
    • कीड़े-मकोड़े के काटने (Insect bite) से एलर्जी होना।
    • ऑटोइम्यून डिजीज (Autoimmune disease) की समस्या होना।
    • वायरल इंफेक्शन (Viral infection) या बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial infection) की समस्या होना।
    • ब्लड प्लेटलेट्स (Platelets) नॉर्मल लेवल से कम होना।
    • कैंसर (Cancer) का ट्रीटमेंट होना।
    • ल्यूकेमिया (Leukemia) या बोन मेरो (Bone marrow) की समस्या होना।
    • अत्यधिक उल्टी (Vomiting) या कफ (Coughing) की समस्या होना।
    • तेज गतिविधि (Strenuous activity) में हिस्सा लेना।
    • सेप्सिस (Sepsis) की समस्या होना।
    • स्कर्वी (Scurvy) की समस्या होना।
    • वैस्क्युलाइटिस (Vasculitis) की समस्या होना।
    • वायरल फीवर जैसे डेंगू (Dengue), इबोला (Ebola) या येल्लो फीवर (Yellow fever) की समस्या होना।
    • स्किन के अंदर ब्लीडिंग (Bleeding under the skin) होना।

    और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

    कुछ दवाओं के भी सेवन से पेटीचिया की समस्या शुरू हो सकती है। जैसे:

    • एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) का सेवन करना।
    • एंटीडिप्रेसेंट (Antidepressants) का सेवन करना।
    • एंटी-सीजर ड्रग्स (Anti-seizure drugs) का सेवन करना।
    • ब्लड थिनर (Blood thinners) का सेवन करना।
    • हार्ट रिदम ड्रग्स (Heart rhythm drugs) का सेवन करना।
    • नॉनस्टेरॉइड्स एंटी-इन्फ्लामेट्री ड्रग्स (Nonsteroid anti-inflammatory drugs) का सेवन करना।

    अगर इन दवाओं के साथ-साथ अगर पेशेंट किसी अन्य दवाओं का सेवन करते हैं, तो इसकी जानकारी डॉक्टर को जरूर दें ।

    ये सभी पेटीचिया के कारण हो सकते हैं। अगर ऐसी कोई परेशानी महसूस होती है, तो डॉक्टर से कंसल्ट करें।

    और पढ़ें : हाइड्रोजन पेरोक्साइड और स्किन कंडिशन: क्यों स्किन के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए?

    पेटीचिया के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Petechiae)

    पेटीचिया के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • स्किन के अंदर ब्लड क्लॉट (Blood clot) जैसा नजर आना।
    • घाव होना या हल्की चोट लगने पर भी ब्लीडिंग (Bleeding) होना।
    • मसूड़ों से ब्लीडिंग (Gums bleeding) होना।
    • जॉइंट हेमोरेज (Joint hemorrhage) होना।
    • पीरियड्स (Menstrual) के दौरान ब्लीडिंग ज्यादा होना।
    • नाक से ब्लीडिंग (Nosebleeds) होना।

    ये लक्षण पेटीचिया के लक्षण की ओर इशारा करते हैं। अगर ऐसे लक्षण नजर आ रहें हैं, तो डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

    और पढ़ें : Liquid Collagen: जानिए लिक्विड कोलेजन के 11 फायदे?

    पेटीचिया का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Petechiae)

    पेटीचिया (Petechiae)

    पेटीचिया का इलाज निम्नलिखित तरह से किया जा सकता है। जैसे:

    • बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial infection) के कारण पेटीचिया की समस्या होने पर एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) प्रिस्क्राइब की जाती है।
    • अगर पेटीचिया की वजह से सूजन की समस्या हो रही है, तो ऐसी स्थिति में कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Corticosteroids) प्रिस्क्राइब की जाती है।
    • अगर इम्यून सिस्टम कमजोर (Weak immune system) हो, तो ऐसी स्थिति में इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाने वाली दवाएं जैसे अजैथियोप्रिन (Azathioprine) या मेथोट्रेक्सेट (Methotrexate) जैसी दवाओं के सेवन की सलाह दी जाती है।

    नोट: यहां हमने कुछ दवाओं के नाम का जिक्र किया है, जो सिर्फ आपके जानकारी के लिए बताई गई है। इनमें से किसी भी दवाओं का सेवन अपनी मर्जी से ना करें। इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी है कि जितने डोज की सलाह डॉक्टर द्वारा दी गई है उसे वैसे ही फॉलो करें।

    और पढ़ें : Purpura: परप्यूरा क्या है? जानिए परप्यूरा के कारण, लक्षण और इलाज!

    पेटीचिया से होने वाले कॉम्प्लिकेशन क्या हो सकते हैं? (Complication due to Petechiae)

    पेटीचिया का इलाज अगर ठीक तरह से ना करवाया जाए तो धीरे-धीरे ये परेशानी गंभीर रूप ले सकती है। इन परेशानियों में शामिल है-

    • किडनी (Kidney), लिवर (Liver) और लंग्स (Lungs) से जुड़ी समस्या होना।
    • हार्ट से जुड़ी बीमारी (Heart Disease) होना।
    • बॉडी में इंफेक्शन (Infection) होना।

    ऐसी स्थिति ना हो इसलिए पेटीचिया की समस्या को इग्नोर ना करें और जल्द से जल्द डर्मेटोलॉजिस्ट से कंसल्ट करें।

    और पढ़ें : Hyaluronic Acid For Skin: जानिए शरीर एवं त्वचा के लिए हाईऐल्युरोनिक एसिड के 10 फायदे!

    पेटीचिया से बचाव कैसे संभव है? (Prevention tips for Petechiae)

    पेटीचिया से बचाव के लिए इसके कारणों को समझना जरूरी है। इसलिए इसके कारणों को समझें जिससे स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) पेटीचिया से बचने में मदद मिल सके। पेटीचिया के कारण (Petechiae cause) की चर्चा आर्टिकल में की गई है। इसके अलावा निम्नलिखित बातों का भी ध्यान रखें। जैसे:

    • हमेशा हाथ को साबुन या सैनिटाइजर (Soap or Sanitizer) से क्लीन करने के बाद ही कुछ भी खाएं।
    • इंफेक्शन (Infection) के शिकार व्यक्ति से फिजिकली संपर्क में ना आयें।
    • अपनी पर्सनल चीजें (Personal belongings) किसी के साथ शेयर ना करें।
    • कीड़े-मकोड़ों के काटने पर इंसेक्ट रिपेलेंट (Insect repellant) का इस्तेमाल करें।

    पेटीचिया की समस्या होने पर डॉक्टर से कब संपर्क करना जरूरी है? (Consult Doctor if-)

    पेटीचिया की समस्या होने पर और निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है। जैसे:

    • तेज बुखार (High fever) होना।
    • सांस लेने में तकलीफ (Trouble breathing) होना।
    • भ्रम (Confusion) में रहना।

    अगर ऐसी स्थिति महसूस हो, तो डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है। किसी भी बीमारी का इलाज अगर इसके शुरुआती स्टेज से ही शुरू हो जाए तो बीमारी से जल्द छुटकारा मिल सकता है और मनिसक एवं शारीरिक परेशानियों से भी बचने में मद्द मिल सकती है।

    हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल में पेटीचिया (Petechiae) से जुड़ी जानकारी आपके लिए लाभकारी होंगी। इसलिए अगर आप लंबे वक्त से पेटीचिया (Petechiae) के शिकार हैं और यह परेशानी दूर नहीं हो रही है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करें। डॉक्टर बीमरी की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए मेडिसिन प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए आप हैलो स्वास्थ्य के त्वचा संबंधी समस्याओं पर क्लीक करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Acute myeloid leukaemia/https://www.nhs.uk/conditions/acute-myeloid-leukaemia/symptoms/Accessed on 19/04/2022
    Cytomegalovirus/https://www.nhs.uk/conditions/cytomegalovirus-cmv/Accessed on 19/04/2022
    Drug allergies/https://www.acaai.org/allergies/types/drug-allergies/Accessed on 19/04/2022
    The generalized rash/https://www.aafp.org/afp/2010/0315/p726.html/Accessed on 19/04/2022

    Schlossberg/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/8698985/Accessed on 19/04/2022

    Viral hemorrhagic fevers: Symptoms and causes/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/viral-hemorrhagic-fevers/symptoms-causes/dxc-20180483/Accessed on 19/04/2022

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: