backup og meta

थायरॉइड से हो चुके हैं परेशान, तो ये योग आ सकते हैं आपके काम!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 12/05/2021

थायरॉइड से हो चुके हैं परेशान, तो ये योग आ सकते हैं आपके काम!

योग न सिर्फ आपके शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का काम करता है, बल्कि ये मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है। अक्सर लोग बीमारी को दूर भगाने के लिए बहुत से उपाय करते हैं लेकिन उनका ध्यान योग की ओर कम ही जाता है। थायरॉइड की समस्या भी उनमें से एक है। क्या आप जानते हैं कि स्ट्रेस और हायपोथायरॉयडिज्म में संबंध है? जी हां! स्ट्रेस की समस्या के कारण आपको थायरॉइड की समस्या से जूझना पड़ सकता है। कुछ योग पोज आपके थायरॉइड को बैलेंस करने का काम कर सकते हैं। भले ही आपको हायपोथायरॉयडिज्म की समस्या या फिर हायपरथायरॉयडिज्म की, दोनों के लिए योग बेहतर साबित हो सकते हैं। जानिए थायरॉइड के लिए योग (Yoga for the Thyroid) कैसे किया जाए और किन बातों को ध्यान में रखा जाए।

और पढ़ें: Thyroid storm: थायरॉइड स्टॉर्म क्या है?

थायरॉइड के लिए योग (Yoga for the Thyroid)

थायरॉइड की समस्या को दूर करने के लिए योग कॉम्प्लीमेंट्री थेरिपी की तरह इस्तेमाल किया जाता है। इसे अन्य रिप्लेसमेंट थेरिपी की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। आप योग एक्सपर्ट की हेल्प लेकर थायरॉइड के लिए योग (Yoga for the Thyroid) कर सकते हैं। थ्रोट स्टिमुलेशन पोज का इसमें अधिक इस्तेमाल होता है। आप दिए गए पोज को दिन में एक बार या दो बार कर सकते हैं।

सपोर्टेड शोल्डरस्टैंड (Supported shoulderstand)

थायरॉइड के लिए योग

सपोर्टेड शोल्डस्टैंड पोज (Supported shoulderstand) करने के दौरान आपकी अपर बॉडी में ब्लड फ्लो बढ़ जाता है। इस कारण आपके शरीर में होने वाले थायरॉइड फंक्शन (Thyroid function) में सुधार होता है।

  • सबसे पहले आसन में लेट जाएं और फिर पीठ के बल लेट जाएं।
  • शोल्डर और हेड को मैट में अच्छी तरह से टिकाएं।
  • अब अपने हाथों को बैक यानी पीछे की ओर ले जाएं। फिर सांस अंदर की ओर खींचे।
  • अब हाथों के सपोर्ट से दोनों पैरों को 90 डिग्री का कोण बनाते हुए ऊपर की ओर करें।
  • आप हाथों से बैक को सपोर्ट करते रहें और फिर कुछ समय बाद सांस को बाहर छोड़ते हुए पैरों को नीचे कर लें। बेहतर होगा कि आप ये योग एक्सपर्ट की देखरेख में करें, वरना चोट लगने का खतरा हो सकता है।

और पढ़ें: Hypothyroidism: हाइपोथायरॉयडिज्म होने पर क्या खाएं और क्या नहीं?

थायरॉइड के लिए योग: प्लाओ पोज (Plow pose)

थायरॉइड के लिए योग

थायरॉइड के लिए योग (Yoga for the Thyroid) में आप प्याओ पोज (Plow pose) भी अपना सकते हैं। जैसे कि आपने शोल्डरस्टैंड किया, वैसे ही कुछ आपको प्याओ पोज (Plow pose) में भी करना है। थायरॉइड स्टिमुलेशन के लिए ये पोज कारगर साबित हो सकता है।

  • जैसा कि आपने शोल्डरस्टैंड में पैरो को 90 डिग्री में ऊपर की ओर उठाया था, वैसा ही करें।ट
  • फिर सांस को बाहर की ओर छोड़ें और दोनों पैरों को सिर के ऊपर ले जाएं।
  • अपने हाथों से बैक को पूरी तरह से सपोर्ट करें।
  • अब अपने पैरों को फ्लोर से टच कराने की कोशिश करें। आपको शुरुआत में थोड़ी दिक्कत हो सकती है लेकिन कुछ दिन अभ्यास करने के बाद आपको आराम महसूस होगा।
  • अब सांस अंदर खींचते हुए पैरो को ऊपर की ओर करें और फिर पैरों को स्पाइन की सीध में ले आएं। अब सांस बाहर की ओर छोड़ें।
  • और पढ़ें: Thyroid: थायरॉइड क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    कैट काऊ पोज (Cat-cow pose)

    थायरॉइड के लिए योग

    ऐसा माना जाता है कि कैट काऊ पोज (Cat-cow pose) में भी फ्लूड मोशन होता है, जो कि थायरॉइड स्टिमुलेट करने का काम करता है। इस योग (Yoga) में चिन को जब चेस्ट के पास लाया जाता है और इसे फिर गर्दन की पीछे की ओर किया जाता है।

    • सबसे पहले हाथ और पैरों की सहायता से जमीन में पोज काऊ पोज बनाएं।
    • अपने शरीर का भार बैकवर्ड और फारफर्ड, दोनों ओर बराबर रखें।
    • अब सांस अंदर की ओर खींचे और नीचे मैट की ओर देखें।
    • आपको चिन की हेल्प से चेस्ट टच करना है।
    • अब सांस बाहर छोड़ें और ऊपर की ओर देखें।
    • आपको पेल्विक को ऊपर की ओर रखना जरूरी है।
    • इस मुद्रा में आपको पांच से 10 सेकेंड के लिए रहना चाहिए।

    और पढ़ें: थायरॉइड से हैं परेशान? ट्राई करें थायरॉइड के घरेलू उपाय

    बोट पोज (Boat pose)

    बोट पोज

    जिन लोगों को थायरॉइड की समस्या होती है, जब वो लोग बोट पोज करते हैं, जो थायरॉइड ग्लैंड में अच्छा प्रभाव पड़ता है। हो सकता है कि शुरुआत में आपके लिए ये पोज कठिन हो, लेकिन आप धीरे-धीरे इसका अभ्यास कर सकते हैं। थायरॉइड के लिए योग(Yoga for the Thyroid) अपनाते समय आपको शुरुआत में अधिक अभ्यास करना पड़ेगा।

    • सबसे पहले पैरों को आगे की ओर फैलाकर बैठ जाएं।
    • अब हाथों को फ्लोर में रखें और शरीर को थोड़ा सा पीछे की ओर ले जाएं।
    • स्पाइन को सीध में रखते हुए चिन को थोड़ा सा छाती की ओर झुकाएं।
    • अब अपने घुटनों को ऊठाकर मोड़ लें।
    • धीरे-धीरे अपने घुटनों की सहायता से पैर को ऊपर की ओर उठाएं।
    • आपको दोनों हाथ सीध में रखने हैं।
    • आपको घुटनों की सहायता से पैरों को ऊपर ऊपर उठार आंखों की सीध में लाना है।
    • आपको सिटिंग बोंस में बैलेंस करने की बहुत जरूरत है।

    थायरॉइड के लिए योग: कैमेल पोज (Camel pose)

    Camel pose

    कैमेल पोज (Camel pose)  में स्ट्रॉन्ग नेक एक्सटेंशन थायरॉइड ग्लैंड को स्टिमुलेट करने का काम करती है। साथ ही उस एरिया में सर्कुलेशन (Circulation) को बढ़ाने का काम भी करती है।

    • सबसे पहले फ्लोर में नी यानी घुटनों के बल बैठ जाएं।
    • घुटनों, कंधों और हिप्स को एक ही सीध में रखें।
    • अब हाथों को पीछे की ओर स्पाइन बेस में रखें।
    • अब अपने सीर को पीछे की ओर झुकाएं और टोज में भी मूवमेंट करें।
    • आपको थाई और हिप्स को आगे की ओर यानी फॉरवर्ड करना है।
    • इस प्रोसेस को पास से दस मिनट तक करें और फिर रिलेक्स पुजिशन में आ जाएं।

    कोबरा पोज (Cobra pose)

    कोबरा पोज (Cobra pose) के दौरान आपको अपने पेट के बल लेट कर हाथों के सहारे अपर बॉडी को पीछे की ओर ले जाना होता है। ये योग भी थायरॉइड ग्लैंड में स्टिमुलेशन (Stimulation) का काम करती है। अगर आपको किसी प्रकार की समस्या न हो, तभी इस योग का अभ्यास करें। कुछ लोगों को स्पाइन संबंधी समस्या होती है, ऐसे में एक्सपर्ट से जानकारी जरूर लें।

    • सबसे पहले मैट में पेट के बल लेट जाएं।
    • अपनी कोहनी को अपनी छाती के साइड में दबाएं।
    • अब सांस अंदर की ओर लें और सिर, कंधे और सीने को ऊपर की ओर उठाएं।
    • अपनी कोहनी में हल्का सा झुकाव लाएं।
    • अगर आपको किसी तरह की समस्या नहीं हो रही है, तो कुछ देर के लिए सिर को पीछे रखें।
    • अब सांस छोड़ें और सिर को आगे की ओर धीरे-धीरे लाएं।
    • आप इस योग का अभ्यास ( Yoga practice) एक से दो बार करें और किसी तरह की समस्या होने पर इसे इग्नोर कर सकते हैं।

    योग करने से शरीर को नुकसान नहीं पहुंचता है। अगर आप एक्सपर्ट की देखरेख में योग करेंगे, तो बहुत-सी समस्याओं से बच सकते हैं। योग का अभ्यास एक या दो दिन करने से लाभ नहीं पहुंचता है। आपको एक्सपर्ट से जानकारी लेने के बाद इसे जारी रखना चाहिए। हम उम्मीद करते हैं कि आपको थायरॉइड के लिए योग ( Yoga for the Thyroid) संबंधित ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 12/05/2021

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement