इंटरनेशनल विमेंस डे पर एक्सपर्ट से जानें हेल्दी विमेन की राइट डेफिनेशन के बारे में....

    इंटरनेशनल विमेंस डे पर एक्सपर्ट से जानें हेल्दी विमेन की राइट डेफिनेशन के बारे में....

    अगर महिलाओं की हेल्थ की बात करें, तो वाे अक्सर अपनों की हेल्थ को लेकर पेरशान रहती है, लेकिन अपने हेल्थ की तरफ उनका कम ध्यान जाता है। पर महिलाओं को खूद की हेल्थ की तरफ भी खास ध्यान देना चाहिए। अगर हेल्दी विमेन की बात करें, तो अधिकतर लोगों को हेल्दी विमेन की सही परिभाषा भी शायद पता नहीं होती है। इसलिए इस आर्टिकल में हम बात करेंगे फोर्टिस हॉस्पिटल के डॉक्टर रसिक परब से की उनकी नजर के हेल्दी विमेन होने का अर्थ क्या है? क्योंकि केवल सुंदर दिखना ही हेल्दी होना नहीं है। उनका फिजिकली के साथ मेंटली हेल्दी होना जरूरी है। आएइ जानते हैं कि हेल्दी विमेन की डेफिनेशन के बारे में एक्सपर्ट की राय:

    और पढ़ें: Women Empowerment: जानिए वीमेन एम्पावरमेंट ऑर्गेनाइजेशन के बारे में जो करती हैं महिलाओं की मदद

    हेल्दी विमेन की डेफिनेशन क्या है (What is the definition of a healthy woman)?

    अगर हेल्दी विमेन की बात करें, तो एक हेल्दी विमेन की आइडियल डिफेशन है, उसका फिजिकली के साथ मेंटली और इमोशनली भी फिट होना। यदि कोई महिला इन तीनों पॉइंट से फिट है, तो उन्हें हेल्दी विमेन कहा जा सकता है। जो कि बहुत की कम देखने को मिलता है। आज के समय में बढ़ती जिम्मेदारियों के साथ लोगों में तनाव का कारण भी बढ़ रहा है। अगर देखा जाए, तो तनाव ही सबसे बड़ा कारण है, जो कि फिजिकली, मेंटली और इमोशनली तीनों हेल्थ को बिगाड़ता है। इसलिए महिलाओं को कोशिश करनी चाहिए कि वो तनाव से दूर रहें। यदि यह आसान नहीं है, तो उसे कम से कम अपने ऊपर हावी न होने दें।

    और पढ़ें : मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं कुछ ऐसे करती हैं हमें प्रभावित, जानिए कैसे करें इससे बचाव!

    आपको क्यों लगता है कि महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देना जरूरी है (Why do you think it’s important to focus on women’s mental health)?

    विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ, 2017) के अनुसार अवसाद की समस्या दुनिया भर में 300 मिलियन से अधिक लोगों को प्रभावित करती है। हालांकि, महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक अवसाद से ग्रस्त हैं (डब्ल्यूएचओ, 2021 की रिपोर्ट के अनुसार)। जैविक कारक, विरासत में मिले लक्षण, व्यक्तिगत जीवन की परिस्थितियाँ और अनुभव महिलाओं में अवसाद के उच्च जोखिम से जुड़े हैं। महिलाएं भी मां होती हैं और अक्सर घर की महत्पूर्ण जिम्मेदारी उन्हीं पर होती हैं। इसलिए, यदि मानसिक स्वास्थ्य संकट के दौरान उन्हें सर्वोत्तम संभव सहायता नहीं मिल पाती है, तो परिवार और बच्चे भी पीड़ित होंगे। जो महिलाएं मानसिक स्वास्थ्य सहायता की तलाश करती हैं, उन्हें अक्सर खामोश कर दिया जाता है, शर्मिंदा किया जाता है, या उन सेवाओं से सफलतापूर्वक नहीं जोड़ा जाता है जिन्हें उन्हें सुधारने की आवश्यकता होती है। वैश्विक नागरिकों के रूप में, हमें उन महिलाओं को गले लगाना चाहिए जिन्हें अपनी मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों को दूर करने और अपने स्वास्थ्य को मजबूत करने के लिए संसाधनों और सहायता की आवश्यकता होती है।

    और पढ़ें : वीमन्स हेल्थ: आप दिनभर करती हैं काम तो स्वास्थ्य पर कौन देगा ध्यान?

    अवसाद जैसे मुद्दों को संबोधित करते समय महिलाओं को किन बाधाओं का सामना करना पड़ता है (What barriers do women face when addressing issues like depression)?

    यह जानना सबसे पहले महत्वपूर्ण है कि कई प्रकार के अवसाद केवल महिलाओं के लिए तनाव का कारण होते हैं, जैसे कि मासिक धर्म से पूर्व बेचैनी की समस्या, प्रसवकालीन अवसाद, पेरिमेनोपॉजल अवसाद और प्रसवोत्तर अवसाद, घर की फायनेंशियल प्रॉब्लम, रिलेशनशिप प्रॉब्लम और फैमिली प्रॉब्लम आदि। कुल मिलाकर, महिलाओं को प्रमुख अवसादग्रस्तता विकार (एमडीडी) और प्रसवोत्तर अवसाद (पीपीडी) दोनों प्रकरणों के दौरान सहायता प्राप्त करने के लिए कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है। कई केसेज में परविार का सपोर्ट न मिलना, परिवार में देखभाल न मिलना , भेदभाव, लिंग-आधारित भूमिकाएं, जैसे जीवन के तनाव महिलाओं पर भारी पड़ जाते हैं। अवसाद से बाहर निकलने के लिए पहला कदम महिलाओं को परिवार से सहयोग मिलना जरूरी है।

    और पढ़ें : वीमेन हेल्थ इश्यूज के निदान के लिए क्यों जरूरी हैं स्क्रीनिंग टेस्ट?

    शारीरिक रूप से स्वस्थ होने का क्या अर्थ है (what does it mean to be physically fit)?

    शारीरिक स्वास्थ्य जीवन की गुणवत्ता को बनाए रखने की क्षमता है जो आपको अनावश्यक थकान या शारीरिक तनाव के बिना अपनी दैनिक गतिविधियों से अधिकतम लाभ उठाने की अनुमति देता है। शारीरिक स्वास्थ्य यह मानता है कि हमारी दैनिक आदतों और व्यवहारों का हमारे समग्र स्वास्थ्य, कल्याण और जीवन की गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ता है।

    और पढ़ें : महिलाओं में तंबाकू का सेवन बढ़ने के कारण और इसके खतरनाक प्रभाव क्या हैं?

    एक महिला स्वस्थ कैसे हो सकती है (How can a woman be healthy)?

    शारीरिक स्वास्थ्य का निर्धारण कई चीजों से किया जा सकता है, लेकिन कुछ प्रमुख घटकों में शारीरिक गतिविधि, पोषण और आहार, शराब और ड्रग्स, चिकित्सा स्व-देखभाल और आराम और नींद शामिल हो सकते हैं। स्वस्थ शारीरिक गतिविधि को इत्मीनान से शारीरिक गतिविधि, जैसे लंबी पैदल यात्रा, या संरचित व्यायाम, जैसे खेल खेलना, द्वारा निर्धारित किया जा सकता है।शारीरिक रूप से स्वस्थ महिला परिभाषा के लिए छवि परिणाम एक स्वस्थ महिला बनने के 8 तरीके

    • जाओ अपने प्राथमिक देखभाल चिकित्सक को दिखाओ। अच्छे स्वास्थ्य को प्राप्त करने या बनाए रखने के लिए महिलाएं कई कदम उठा सकती हैं। …
    • अपने आहार पर एक नज़र डालें। …
    • चलते रहो। …
    • देखें कि आप अपने शरीर में क्या डालते हैं। …
    • नींद को प्राथमिकता दें। …
    • तनाव को कम करें। …
    • “नहीं” कहना सीखें। …
    • अपनी चिकित्सा यात्राओं के लिए एक सूची बनाएं।

    आज के समय में महिलाओं का खुद की हेल्थ की तरफ ध्यान बहुत कम जाता है। लेकिन उनका खुद की हेल्थ के तरफ भी ध्यान देना बहुत जरूरी है। महिलाओं के हेल्थ से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए अपने डॉकटर से बात करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड