पेरिनियम पेन (Perineum Pain) महिलाओं को ही नहीं पुरुषों को भी कर सकता है प्रभावित!

    पेरिनियम पेन (Perineum Pain) महिलाओं को ही नहीं पुरुषों को भी कर सकता है प्रभावित!

    पेरिनियम (Perineum) जेनिटल और एनस के बीच का हिस्सा है। शरीर के इस हिस्से में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। पेरिनियम पेन (Perineum Pain) महिला और पुरुष दोनों को हो सकता है। पुरुषों में पेरिनियम स्क्रॉटम के पीछे से एनस तक का हिस्सा होता है। वहीं महिलाओं में पेरिनियम वल्वा से शुरू होकर एनस तक जाता है। पेरिनियम पेन महिलाओं में सामान्य है जो उन्हें चाइल्ड बर्थ के समय या बाद में इंजरी के कारण होता है। इस आर्टिकल में पेरिनयम पेन के संभावित कारणों के बारे में जानकारी दी जा रही है।

    चाइल्ड बर्थ (Child birth)

    सबसे पहले इसके सबसे आम कारण यानी चाइल्ड बर्थ की बात करते हैं। कई महिलाएं पहली बार बच्चे को जन्म देने पर पेरिनियम टियररिंग (Perineum tearing) का अनुभव करती हैं जो पेन का कारण बनता है। जिसकी वजह से चलने और रोजमर्रा के कामों को करने में भी परेशानी हो सकती है। यह पेरिनियम पेन कई हफ्तों तक रह सकता है। टियरिंग पेरिनियम के मसल्स को अंदर तक प्रभावित कर सकती हैं। मामला गंभीर होने पर मसल्स प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। जो बेहद दर्दनाक होने के साथ ही यूरिनरी ब्लैडर को प्रभावित कर सकती हैं।

    सिट्ज बाथ (Sitz bath), कोल्ड कंप्रेस और सुन्न करने वाले स्प्रे दर्द से राहत दिला सकते हैं। अगर तेज पेन के साथ, वजायना से तेज बदबू, बुखार आए तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यह इंफेक्शन के लक्षण हो सकते हैं।

    और पढ़ें: महिलाओं के प्यूबिक एरिया में ड्राय स्किन होने के कारण और बचने के तरीके जानें

    एपिसिओटमी (Episiotomy)

    पेरिनियम पेन (Perineum Pain) का एक कारण एप्सिओटमी हो सकता है। यह एक ऐसा प्रॉसीजर हैं जिसमें डॉक्टर चाइल्डबर्थ के दौरान वजायना की ओपनिंग को बढ़ा करने के लिए एक छोटा सा कट लगाते हैं। यह प्रॉसीजर चाइल्डबर्थ के दौरान होना सामान्य है। एनसीबीआई (NCBI) की रिचर्स के अनुसार ये इंकॉन्टिनेंस और पेल्विक पेन के रिस्क को बढ़ा सकती है। इस प्रॉसीजर के कारण होने वाले दर्द पेरिनियल टेयरिंग के दौरान होने वाले दर्द की तरह ही होता है।

    इसके लक्षणों को गंभीरता और ठीक होने का समय हर महिला के लिए अलग होता है जो कि एप्सिओटमी के टियर के प्रकार भी निर्भर करता है। इस स्थिति में भी सिट्ज बाथ, नंबिंग स्प्रे और ओवर द काउंटर पेन रिलिवरी दवाएं राहत प्रदान करती हैं।

    अन्य पेरिनियल इंजरीज (Other perineal injuries)

    दोनों महिला और पुरुष अन्य पेरिनियल इंजरीज का सामना कर सकते हैं। यह ट्रॉमा गिरने या किसी प्रकार के असॉल्ट की वजह से हो सकता है जो कि पेरिनियम की स्किन और मसल्स को डैमेज कर सकता है। कुछ हेल्थ कंडिशन जैसे कि डायबिटीज भी पेरिनियम में नर्व डैमेज का कारण बन सकती है। होम ट्रीटमेंट इंजरी के प्रकार पर निर्भर करते हैं। नर्व पेन के लिए अक्सर डॉक्टर ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। पेन रिलीविंग दवाएं और सिट्स बाथ मददगार हो सकते हैं, लेकिन डॉक्टर की सलाह के बिना इनका उपयोग ना करें।

    और पढ़ें: क्या महिलाओं के लिए करियर और लाइफ बैलेंस एक बड़ी चुनौती है?

    पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शन (Pelvic floor dysfunction)

    पेल्विक फ्लोर मसल्स पेल्विस से नीचे होती है और पेल्विक ऑर्गन को सपोर्ट करती हैं जैसे कि यूरिनरी ब्लैडर। पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शन तब हो सकता है जब मसल्स टाइट हो जाती है और पेरिनियम पेन (Perineum Pain) का कारण बनती हैं। इसके अलावा मल्सल्स बहुत कमजोर भी हो सकती हैं जिसकी वजह से ब्लैड इंकॉन्टिनेंस होता है। यह परेशानी किसी को भी हो सकती है, लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान और उसके बाद ऐसा होना सामान्य है। इस स्थिति में पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज मदद करती हैं जो कि डिसफंक्शन के प्रकार पर आधारित होती हैं। सही एक्सरसाइज जानने में फिजिकल थेरेपिस्ट मदद कर सकते हैं।

    रेफर्ड पेन (Referred pain)

    रेफर्ड पेन वह पेन होता है जो कहीं और से शुरू होता है और पेरिनियम तक पहुंच जाता है। अपेंडाइटिस, कोलाइटिस और दूसरे गैस्ट्रोइंटेनिल कंडिशन रेफर्ड पेन का कारण बन सकती हैं। ऐसे में भी पेन किलर का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें। अपनी मर्जी से किसी दवा का सेवन न करें।

    और पढ़ें: महिलाओं में कोलन कैंसर: कैसे की जाए इस कैंसर की पहचान, जानिए

    प्रोस्टाइटिस और अन्य प्रोस्टेट कंडिशन्स (Prostatitis and other prostate conditions)

    प्रोस्टेट पर होने वाली इंफ्लामेशन को प्रोस्टाइटिस कहा जाता है जो कि पेरिनियम पेन (Perineum Pain) का कारण बन सकती है। यह सूजन किसी इंफेक्शन या इंजरी के कारण अचानक दिखाई देने लगती है और कुछ मामलों में यह धीरे-धीरे विकसित होती है।

    हॉट कम्प्रेस और सिट्ज बाथ दर्द को कम करने में मदद कर सकती है, लेकिन ये होम रेमेडीज अंडरलाइन कंडिशन का इलाज नहीं कर सकती। अगर प्रोस्टाइटिस का कारण बैक्टीरियल इंफेक्शन है तो डॉक्टर एंटीबायोटिक का कोर्स प्रिस्क्राइब करेगा। अन्य प्रोस्टेट समस्याओं के लक्षण प्रोस्टेटाइटिस के समान हो सकते हैं। इसलिए, यूरिन पास करते वक्त या सेक्स के दौरान पेरिनियलम पेन होने पर व्यक्ति को डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

    इंफेक्शन्स (Infections)

    इंफेक्शन और सूजन पेरिनियम के आसपास स्वेलिंग का कारण बनते हैं। एनस में एक संक्रमित सिस्ट या फोड़ा दर्द का कारण बन सकता है। ऐसे में पेरिनियम सूज सकती है और यह बहुत दर्दनाक हो सकता है। गर्म सेक और सुन्न करने वाले स्प्रे दर्द में मदद कर सकते हैं। प्रिस्क्रिप्शन एंटीबायोटिक दवाओं के साथ कुछ संक्रमणों का इलाज करना आवश्यक हो सकता है। कुछ फोड़े को चीरा और फ्लूइड ड्रैनेज की आवश्यकता हो सकती है, जबकि संक्रमित सिस्ट को सर्जरी से निकालना आवश्यक हो सकता है।

    हेमोरॉइड्स (Hemorrhoids)

    पेरिनियम पेन

    हेमोरॉइड्स एनस में सूजी हुई ब्लड वेसल्स होती है। इंटरनल हेमोरॉइड्स कई बार बॉवेल मूवमेंट्स के दौरान ब्लीडिंग का कारण बन सकते हैं। एक्सर्टनल हेमोरॉइड्स ब्लीडिंग, खुजली और दर्द का कारण बन सकते हैं। कुछ हेमोरॉइड्स पेरिनियम पर प्रेशर डाल सकते हैं। यह प्रेशर पेरिनियम में दर्द का कारण बन सकता है जो रेक्टम तक जाता है। पेरिनियम पेन (Perineum Pain) बॉवेल मूवमेंट के दौरान बढ़ जाता है। सीवियर हेमोरॉइड्स को हटाने के लिए सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है।

    और पढ़ें: महिलाएं कभी न करें पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम को नजरअंदाज करने की गलती!

    डॉक्टर से कब संपर्क करें?

    पेरिनियल पेन के कुछ कारण, जैसे कि मामूली चोट या बच्चे के जन्म के दौरान होना वाला टियर, अपने आप ठीक हो जाता है। गंभीर पेरिनियल पेन के लिए डॉक्टर को दिखाना महत्वपूर्ण है। ज्यादातर मामलों का इलाज किया जा सकता है। कुछ मामलों में, डॉक्टर पेरिनियम पेन (Perineum Pain) वाले किसी व्यक्ति को पेल्विक फ्लोर को मजबूत करने वाले व्यायामों के लिए फिजिकल थेरिपिस्ट के पास भेज सकते हैं। जो असरकार होते हैं।

    पेरिनियम पेन तीव्र हो सकता है और नियमित गतिविधियों को कठिन बना सकता है। दर्द के कई संभावित कारण हैं, जिनमें से अधिकांश आसानी से इलाज योग्य हैं और लंबे समय तक नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। यह महत्वपूर्ण है कि दर्द को नजरअंदाज न करें और निदान और उपचार के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। वे सही ट्रीटमेंट प्लान के जरिए स्थिति का इलाज करेंगे। डॉक्टर की सलाह मानना जरूरी है।

    उम्मीद करते हैं कि आपको पेरिनियम पेन (Perineum Pain) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 29/06/2022

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement