home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी से जुड़े सवालों के जवाब हैं यहां!

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी से जुड़े सवालों के जवाब हैं यहां!

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (Indian Council of Medical Research) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्रोस्टेट कैंसर की घटना दर 9-10/100000 जनसंख्या है, जो एशिया, अफ्रीका जैसे देशों की तुलना में अधिक है, वहीं अमेरिका और यूरोपीय देशों की तुलना में कम है। प्रोस्टेट कैंसर पुरुषों में होने वाली अन्य प्रकार के कैंसरों में से एक और सबसे सामान्य है। प्रोस्टेट कैंसर क्या है और प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) से जुड़ी पूरी जानकारी आपसे शेयर करेंगे, लेकिन सबसे पहले आपसे एक बात जरूर कहना चाहुंगी कि कैंसर का नाम सुनते ही पैनिक ना हों, क्योंकि पैनिक होना या टेंशन लेना एक बीमारी के साथ-साथ दूसरी बीमारी को अपना दोस्त बनाकर साथ ले आती है। इसलिए घबराएं नहीं और हां इलाज में देरी ना करें। चलिए हमभी देर ना करते हुए आपसे प्रोस्टेट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) के बारे में इंफॉर्मेशन शेयर करते हैं।😊 ✌🏻

  • प्रोस्टेट कैंसर क्या है?
  • प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण क्या हैं?
  • प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी क्या हैं?

चलिए अब एक-एक कर प्रोस्टेट कैंसर के इन सवालों का जवाब जानने की कोशिश करते हैं।

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) क्या है?

प्रोस्टेट कैंसर एक गंभीर और आम कैंसर की समस्या है, जो पुरुषों के प्रोस्टेट में होता है। इसका आकार अखरोट की तरह होता है, जो एक छोटी-सी ग्रंथि (Prostate Gland) होती है। इससे स्पर्म का निर्माण होता है। प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) की समस्या धीरे-धीरे बढ़ती है, लेकिन काफी वक्त तक यह प्रोस्टेट ग्रंथि तक ही सीमित रहता है। ऐसी स्थिति में कोई गंभीर परेशानी नहीं होती है। ऐसे वक्त में ही अगर प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) की जानकारी मिल जाए, तो इलाज शुरू किया जा सकता है और इस बीमारी को मात भी दी जा सकती है। हालांकि अगर आप ये सोच रहें हैं कि इस बीमारी को कैसे समझा जाए, तो आपको कुछ लक्षणों पर ध्यान देना होगा, जिसके बारे में हम इस आर्टिकल में चर्चा करेंगे।

और पढ़ें : आपको जरूर पता होना चाहिए, प्रोस्टेट कैंसर के ये प्रभावकारी घरेलू इलाज

प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Prostate cancer)

प्रोस्टेट कैंसर की समस्या होने पर निम्नलिखित लक्षण देखे जा सकते हैं। जैसे:

ये लक्षण प्रोस्टेट कैंसर की ओर इशारा करते हैं। इसलिए अगर आप इनमें से कोई लक्षण महसूस कर रहें हैं, तो इग्नोर ना करें और जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्टेशन करें।

प्रोस्टेट कैंसर को नीचे दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक कर आसानी से समझा जा सकता है। नीचे दिए इस 3 D मॉडल में प्रोस्टेट एनाटॉमी (Prostate anatomy) के माध्यम से इस बीमारी के बारे में समझें।

और पढ़ें : जानें किस स्टेज पर और कैसे होता है प्रोस्टेट कैंसर ट्रीटमेंट?

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी क्या हैं? (Radiation therapy for Prostate cancer)

इस सवाल का जवाब शॉर्ट में नहीं, बल्कि डिटेल्स में समझने की जरूरत है और सबसे पहले रेडिएशन थेरिपी को समझते हैं।

रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy) क्या है?

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer)

रेडिएशन थेरिपी को मेडिकल टर्म में रेडियोथेरिपी (Radiotherapy) भी कहा जाता है। रेडिएशन थेरिपी कैंसर का इलाज करने का एक ऐसा तरीका है, जिसमें रेडिएशन किरणों (Radiation Rays) के माध्यम से कैंसर के सेल्स को खत्म किया जाता है। यही नहीं रेडिएशन थेरिपी कैंसरस सेल (Cancerous cells) को खत्म करने के साथ-साथ बॉडी के दूसरे ऑर्गेन में भी फैलने वाले कैंसर सेल्स को रोकने में सक्षम हो सकते हैं।

और पढ़ें : क्या स्मोकिंग, सिर और गर्दन के कैंसर का मुख्य कारण हैं, जानिए इस बारे में विस्तार से

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी: क्या अलग-अलग तरह के होते हैं रेडिएशन थेरिपी?

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी अलग-अलग तरह के होते हैं, लेकिन विशेष रूप से सिर्फ 2 थेरिपी महत्वपूर्ण मानी जाती है, जो इस प्रकार हैं-

  1. एक्स्टर्नल बीम रेडिएशन (External Beam Radiation [EBRT])
  2. ब्रैकीथेरिपी (Brachytherapy)

चलिए अब इन दोनों थेरिपी के बारे में जानते हैं।

1. एक्स्टर्नल बीम रेडिएशन (External Beam Radiation [EBRT])

एक्स्टर्नल बीम रेडिएशन (EBRT) कॉमन है और इस थेरिपी की मदद से शरीर के बाहरी हिस्से पर रेडिएशन दी जाती है, जिससे कैंसर का इलाज किया जाता है। अगर कैंसर अत्यधिक बढ़ चुका है, तो ऐसी स्थिति में ब्रैकीथेरिपी (Brachytherapy) की मदद ली जा सकती है (ब्रैकीथेरिपी के बारे में इस आर्टिकल में आगे पढ़ेंगे)। एक्स्टर्नल बीम रेडिएशन (External Beam Radiation) अंतर्गत 3 अलग-अलग तरह की टेक्निक बताई गई है। हैकेंसैक मेरिडियन हेल्थ (Hackensack Meridian Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) के दौरान अगर एक्स्टर्नल बीम रेडिएशन (External Beam Radiation) थेरिपी के दौरान निम्नलिखित थेरिपी की भी मदद ली जा सकती है। जैसे:

i) इंटेंसिटी-मॉडुलेटेड रेडिएशन थेरिपी (Intensity-modulated radiation therapy [IMRT])

इस थेरिपी के दौरान कैंसरस ट्यूमर को को बढ़ने से रोकने के लिए और उसके खतरे को कम करने के लिए IMRT की मदद ली जाती है। इंटेंसिटी-मॉडुलेटेड रेडिएशन थेरिपी से ट्यूमर के आसपास हेल्दी टिशू को नुकसान पहुंचने का खतरा कम होता है।

ii) स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडिएशन थेरिपी (Stereotactic body radiation therapy [SBRT])

स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडिएशन थेरिपी को कैंसर के इलाज के लिए एडवांस थेरिपी माना जाता है। प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) के अंतर्गत आने वाले स्टीरियोटैक्टिक बॉडी रेडिएशन थेरिपी (Stereotactic body radiation therapy) की 5 सेशन होती है।

iii) प्रोटोन थेरिपी (Proton therapy)

प्रोटोन थेरिपी के दौरान एक्स-रे (x-rays) की जगह प्रोटोन का प्रयोग किया जाता है। प्रोटोन थेरिपी (Proton therapy) से हेल्दी टिशू को नुकसान कम पहुंचने की संभावना होती है।

2. ब्रैकीथेरिपी (Brachytherapy)

ब्रैकीथेरिपी को इंटरनल रेडिएशन (Internal radiation) थेरिपी भी कहा जाता है। प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) के दौरान ब्रैकीथेरिपी (Brachytherapy) की मदद तब ली जा जाती है, जब प्रोस्टेट कैंसर सबसे एडवांस्ड स्टेज में पहुंच जाए।

नोट: प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी के दौरान इमेज-गाइडेड रेडिएशन थेरिपी (Image-guided radiation therapy [IGRT]) की मदद ली जा सकती है।

और पढ़ें : कीमोथेरिपी के साइड इफेक्ट्स को कम किया जा सकता है, इस तरह के योगासन और डायट से

क्या रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy) पेनफुल है?

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) हो या किसी अन्य बीमारी के इलाज में मदद ली जाने वाली रेडिएशन थेरिपी, ये सभी पेनलेस होते हैं। रेडिएशन थेरिपी जिस वक्त पेशेंट को दी जाती है, उस वक्त दर्द नहीं होता है। ध्यान रखें रेडिएशन थेरिपी की वजह से दर्द नहीं होता है, लेकिन पेशेंट में इसके थोड़े साइड इफेक्ट्स देखे जा सकते हैं। जैसे बार-बार टॉयलेट जाना, रात के वक्त सामान्य से ज्यादा टॉयलेट जाना या फिर बाउल मूवमेंट ज्यादा होना। हालांकि हैकेंसैक मेरिडियन हेल्थ (Hackensack Meridian Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार इन साइड इफेक्ट्स को मेडिकेशन से कम करने में मदद मिल सकती है।

नोट: प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) की वजह से अगर आपको कोई साइड इफेक्ट्स नजर आती है या आप महसूस करते हैं, तो अपनी मर्जी से किसी भी दवाओं का सेवन ना करें। साइड इफेक्ट्स के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें और उनके द्वारा प्रिस्क्राइब की गई दवा और सलाह का पालन करें।

क्या प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) के लिए रेडिएशन थेरिपी सेफ है?

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी कैंसर एक्पर्ट हु सजेस्ट करते हैं। इस दौरान डॉक्टर पेशेंट के हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखते हुए ही रेडिएशन थेरिपी की मदद लेते हैं। हैकेंसैक मेरिडियन हेल्थ (Hackensack Meridian Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार पेशेंट में प्रोस्टेट कैंसर की गंभीरता को सबसे पहले समझा जाता है और फिर रेडिएशन थेरिपी एक्सपर्ट स्टेप बाय स्टेप ट्रीटमेंट शुरू करते हैं। इस दौरान डॉक्टर्स की टीम यह भी ध्यान रखती है कि कैंसर कौन सी स्टेज में हैं।

और पढ़ें : कैंसर के इलाज के लिए किए जाने वाले एडवांस ट्रीटमेंट के बारे में जान लीजिए

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी में कितना वक्त लगता है?

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी के दौरान पेशेंट को हॉस्पिटल में एडमिट होने की जरूरत नहीं पड़ती है। रेडिएशन थेरिपी में तकरीबन 10 से 15 मिनट का वक्त लगता है, लेकिन थेरिपी की कोर्स 1 से 8 सप्ताह तक चलती है। इसलिए डॉक्टर पेशेंट को थेरिपी लेने की टाइमिंग पहले बता देते हैं और फिर उस टाइम के अनुसार पेशेंट को क्लिनिक पहुंचना होता है।

नोट: थेरिपी के दौरान दी जाने वाली अलग-अलग रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy) में समय कम या ज्यादा भी लग सकता है।

एडवांस्ड रेडिएशन थेरिपी कौन-कौन सी है?

हैकेंसैक मेरिडियन हेल्थ (Hackensack Meridian Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) में शामिल इंटेंसिटी-मॉडुलेटेड रेडिएशन थेरिपी (Intensity-modulated radiation therapy) एवं इमेज-गाइडेड रेडिएशन थेरिपी (Image-guided radiation therapy) एडवांस थेरिपी में से एक है।

और पढ़ें : अपनी 70 साल की उम्र को भी नहीं आने दिया कैंसर के सामने, हिम्मत से किया पार: लंग कैंसर वॉरियर, नरेंद्र शर्मा

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी कितनी सक्सेसफुल है?

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy) और सर्जरी (Surgery) दोनों ही एक तरह के होते हैं। हालांकि अगर कैंसर (Cancer) की जानकारी शुरुआती स्टेज में मिल जाए, तो सर्वाइवल रेट ज्यादा बढ़ जाते हैं। इसलिए अगर शरीर में कोई नेगेटिव बदलाव महसूस हो या लक्षण दिखें, तो इसे इग्नोर नहीं करना चाहिए और जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्टेशन करना चाहिए।

रेडिएशन थेरिपी की फीस कितनी होती है? (Fee for Radiation therapy)

कैंसर को जिस तरह से गंभीर बीमारी का दर्जा मिला हुआ है, ठीक वैसे ही कहते हैं इसका इलाज वही करवा सकते हैं, जिनके पास पैसे ज्यादा हों। हालांकि कहते हैं सेहत से बढ़कर दुनिया में कुछ नहीं है, तो ठीक वैसे ही अगर रेडिएशन थेरिपी की फीस को समझा जाए, तो यह 15000 से शुरुआत होती है और लाखों रूपए तक जाती है। वैसे अगर इस दौरान समझदारी और हेल्थ एक्सपर्ट या एनजीओस (NGOs) की मदद ली जाए, तो शायद प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) में आपको कम खर्ज में भी इलाज करवाया जा सकता है।

और पढ़ें : इचिंग यानी खुजली को न करें नजरअंदाज, क्योंकि यह हो सकती हैं कैंसर की निशानी!

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) के लिए रेडिएशन थेरिपी के बाद किन-किन बातों का ध्यान रखें?

रेडिएशन थेरिपी के बाद निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जैसे:

  • रेडिएशन थेरिपी के दौरान दर्द नहीं होता है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं की आप आराम (Rest) ना करें। थेरिपी के बाद रेस्ट लें।
  • पेशेंट के केयर टेकर को पेशेंट के हाइजीन का ध्यान रखते हुए उनके आसपास की जगहों में भी साफ सफाई का ध्यान रखें
  • पानी का सेवन करें। अगर पेशेंट कम पानी पिएंगे, तो डिहाइड्रेशन (Dehydration) का खतरा बढ़ सकता है।
  • सेक्शुअल एक्टिविटी (Sexsual activity) से दूर रहें।

नोट: रेडिएशन थेरिपी के बाद डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह का ध्यान पूर्वक पालन करें। ऐसा करने से बीमारी से लड़ना और उसे हराना ज्यादा आसान हो जाता है। अगर रेडिएशन थेरिपी के बाद पेशेंट को कोई परेशानी महसूस होती है, तो इसकी जानकारी डॉक्टर की जरूर दें।

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) हो या किसी अन्य कैंसर ट्रीटमेंट के दौरान दी जाने वाली रेडिएशन थेरिपी पेशेंट को कैंसर की बीमारी से बचाने के लिए किये जाते हैं। प्रायः लोग कैंसर का नाम सुनते ही जिंदगी खत्म होनी जैसी बातों को अपने मन में रख लेते हैं, जबकि बीमारी किसी भी स्टेज में हो हमेशा पॉजिटिव रहें। वहीं कुछ लोगों को लगता है कि कैंसर ट्रीटमेंट के दौरा बाल झड़ (Hair fall) जाएंगे! दरसल बाल सिर्फ कुछ वक्त के लिए झड़ने लगते हैं और कुछ दिनों के बाद वापस आ जाते हैं। बढ़ती टेक्नोलॉजी और एडवांस्ड ट्रीटमेंट की वजह से बाल झड़ने की परेशानी को भी कम करने की कोशिश जारी है। यह ध्यान रखें कि आपकी जिंदगी ज्यादा जरूरी है और इसकी जगह कोई और नहीं ले सकता।

और पढ़ें : अपने पॉजिटिव एटीट्यूड से हराया, स्टेज-4 ब्रेस्ट कैंसर को: ब्रेस्ट कैंसर सर्वाइवर, रूचि धवन

अगर आप प्रोस्टेट कैंसर या प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप प्रोस्टेट कैंसर से पीड़ित है, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें, क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखकर इलाज शुरू करेंगे और प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) पर विचार करेंगे।

प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy for Prostate cancer) से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी हमने आपके साथ शेयर किया, लेकिन क्या अब इस बीमारी से जुड़ी जानकरी आपके पास है सही? जानने के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और अपना नॉलेज स्कोर जानिए।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

 

Demography and disease characteristics of prostate cancer in India/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4831497/Accessed on 01/06/2021

Everything Men Should Know About Radiation Therapy for Prostate Cancer/https://www.hackensackmeridianhealth.org/HealthU/2021/04/27/everything-men-should-know-about-radiation-therapy-for-prostate-cancer/Accessed on 01/06/2021

Radiation Therapy for Prostate Cancer/https://www.cancer.org/cancer/prostate-cancer/treating/radiation-therapy.html/Accessed on 01/06/2021

What Every Man Should Know About Radiation Therapy for Prostate Cancer/https://www.mskcc.org/news/what-every-man-should-know-about-radiation-therapy-prostate-cancer/Accessed on 01/06/2021

Radiation Therapy in Treating Patients With Prostate Cancer/https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT00003290/Accessed on 01/06/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/06/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड