backup og meta

बियर बन सकती है बेली फैट का कारण, जानिए कैसे कम करें इस फैट को!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 10/06/2022

बियर बन सकती है बेली फैट का कारण, जानिए कैसे कम करें इस फैट को!

आपने अक्सर यह सुना होगा कि बियर (Beer) को लिमिटेड मात्रा में पीना चाहिए, क्योंकि इससे आपका पेट बढ़ सकता है या आप मोटे हो सकते हैं। यही शायद सबसे सामान्य कारण है कि जो लोग शेप में रहना चाहते हैं, वो बियर का कम सेवन करते हैं। डॉक्टर एल्कोहॉल और बियर दोनों को नजरअंदाज करने या सीमित मात्रा में लेने की ही सलाह देते हैं। बियर (Beer) को बॉडी फैट के साथ जोड़ा जाता है, खासतौर पर पेट के आसपास के फैट के साथ। इसे आमतौर पर बियर बेली (Beer belly) भी कहा जाता है। आज हम बात करने वाले हैं बियर बेली (Beer belly) के बारे में। हम जानेंगे कि क्या बियर, बिग बेली का कारण बन सकती है? बियर बेली (Beer belly) के बारे में जानने से पहले बियर (Beer) के बारे में जानना भी जरूरी है।

बियर (Beer) किसे कहा जाता है?

बीयर अनाज (जौ, गेहूं या राई) से बना एक एल्कोहॉलिक ड्रिंक है, जिसे यीस्ट के साथ फर्मेन्टेड किया जाता है। हॉप्स का इस्तेमाल करके इसमें फ्लेवर ऐड किए जाते हैं, जिससे बियर का फ्लेवर अच्छा हो जाता है। हॉप्स, हॉप नाम के प्लांट के फूल को कहा जाता है। बियर काफी कड़वी होती है, ऐसे में अनाज में चीनी से इस मिठास को संतुलित किया जाता है। बियर (Beer) के कुछ प्रकारों को फलों, हर्ब और मसलों से भी फ्लेवर्ड किया जाता है। बीयर को फाइव-स्टेप प्रोसेस में बनाया जाता है:

  • माल्टिंग(Malting)
  • मैशिंग (Mashing)
  • बॉयलिंग (Boiling)
  • फेर्मेंटिंग (Fermenting)
  • बॉटलिंग (Bottling)

बियर (Beer) की स्ट्रेंथ इसमें मौजूद एल्कोहॉल की मात्रा पर निर्भर करती है। बियर (Beer) में कार्बोहायड्रेट और एल्कोहॉल की मात्रा अधिक होती है। लेकिन, इसमें अन्य न्यूट्रिएंट्स बहुत लो होते हैं। बियर (Beer) के कैलोरी कंटेंट इसकी स्ट्रेंथ पर निर्भर करते हैं। ऐसा माना गया है कि जो लोग बियर का सेवन करते हैं, उनकी बेली के बढ़ने की संभावना अधिक होती है। खासतौर, पर अगर आपकी उम्र अधिक है और आप पुरुष हैं। लेकिन, क्या सच में बियर “बियर बेली (Beer belly)” का कारण बन सकती है। हालांकि, सब बियर ड्रिंकर्स को यह समस्या नहीं होती है। लेकिन, कुछ लोग इस परेशानी का सामना आवश्यक करते हैं। आइए जानें बियर बेली (Beer belly) के क्या कारण हो सकते हैं?

बियर बेली, beer belly

और पढ़ें: बियर के बारे में कुछ इंट्रेस्टिंग फैक्ट्स, जो नहीं जानते होंगे आप, जानिए क्या है वह

बियर बेली (Beer belly) के क्या कारण हैं?

ऐसा जरूरी नहीं है कि केवल बियर (Beer) से, बल्कि जिन भी चीजों से आपको अधिक कैलोरीज मिलती हैं, वो आपके बेली फैट (Belly fat) का कारण बन सकती हैं।  किसी भी तरह की कैलोरीज जैसे एल्कोहॉल से मिलने वाली, शुगरी पेय से प्राप्त होने वाली या अधिक फूड खाने से मिली कैलोरीज से बेली फैट (Belly fat) बढ़ता है। हालांकि, ऐसा लगता है कि एल्कोहॉल का मिडसेक्शन में फैट के साथ एक विशेष संबंध है। साधारण शब्दों में कहा जाए, तो एल्कोहॉल इंटेक को बिग वेस्ट के साथ जोड़ा जाता है। क्योंकि, जब आप एल्कोहॉल का सेवन करते हैं, तो लिवर फैट की जगह एल्कोहॉल को बर्न करता है।

एक टिपिकल बियर में 150 कैलोरी होती है और यदि आप एक बार में कई बीयर्स का सेवन कर लेते हैं, तो आप कई कैलोरीज को अपने शरीर में ले जाते हैं। इसके साथ ही उन चीजों को न भूलें, जिन्हें आप बियर के साथ लेते हैं। एल्कोहॉल से आपकी भूख भी बढ़ सकती है और अगर आप किसी पार्टी में बियर (Beer) का सेवन करते हैं, तो इसके साथ खाने वाले फूड जैसे पिज्जा, विंग्स और अन्य तले-भुने आहार से कैलोरीज और अधिक बढ़ सकती हैं। अगर आप जितनी कैलोरीज को बर्न करते हैं, उससे अधिक कैलोरीज का सेवन करते हैं, तो अधिक कैलोरीज फैट के रूप में स्टोर हो जाती हैं।

और पढ़ें: कोरोना वायरस को लेकर लोगों में भ्रम, इसे कोरोना बियर से जोड़कर देख रहे हैं

बियर बेली (Beer belly) की संभावना बुजुर्गों में सामान्य है। क्योंकि, उम्र बढ़ने के साथ ही कैलोरी नीड्स कम हो जाती है, इस उम्र में हम कम एक्टिव होते हैं और आसानी से हमारा वजन बढ़ सकता है। उम्र के बढ़ने के साथ ही जैसे ही महिलाओं और पुरुषों में हॉर्मोन लेवल्स कम होते हैं, वैसे ही पेट में फैट अधिक स्टोर होने लगता है। अब जानते हैं कि बियर बेली (Beer belly) किन परेशानियों का कारण बन सकती है?

बियर बेली (Beer belly) किन परेशानियों का कारण बन सकती है?

मिड सेक्शन में बेली फैट (Belly fat) को कई समस्याओं का कारण माना जा सकता है। जैसा कि पहले ही बताया गया है कि बियर बेली (Beer belly) फैट्स का कारण बन सकती है। बेली फैट को कई हेल्थ प्रॉब्लम्स से जोड़ा जाता है जैसे टाइप 2 डायबिटीज, हाय ब्लड प्रेशर और कार्डियोवैस्कुलर डिजीज आदि। क्या आप जानते हैं कि थाई और हिप्स में अतिरिक्त वजन की तुलना में पेट का फैट अधिक रिस्की है। इसके अलावा, सबक्यूटेनियस फैट (Subcutaneous fat) जो कमर के आसपास और अपनी थाई, हिप्स और बटलॉक्स पर होता है, उतना खतरनाक नहीं है, जितना कि विसेरल फैट (Visceral Fat) जो आपके अंगों के आसपास एब्डोमिनल कैविटी के भीतर पाया जाता है। यानी, बेली फैट्स कई परेशानियों की वजह बन सकता है। अब जानिए कि क्या अन्य तरह के एल्कोहॉल बेली फैट (Belly fat) का कारण बन सकते हैं?

और पढ़ें: बेली फैट को कम करने के लिए घर पर क्रंचेस कैसे करें?

अन्य तरह के एल्कोहॉल और बेली फैट (Belly fat) का क्या है लिंक?

सबसे अधिक संभावना है कि बीयर बेली फैट (Belly fat) का कारण बनती है, इसकी वजह इसमें मौजूद अतिरिक्त कैलोरीज होती हैं। अन्य तरह की एल्कोहॉल जैसे वाइन और स्पिरिट्स में बियर (Beer) की तुलना में कम कैलोरीज होती हैं। इसका अर्थ है कि इन्हें पीने से हो सकता है कि आपका वजन या बेली फैट कम बढे। दिलचस्प बात यह है कि कुछ स्टडीज ने वाइन की कम मात्रा को, लो बॉडी वेट के साथ जोड़ा है।

इसके कारणों के बारे में जानकारी नहीं है। इसके साथ ही बेली फैट (Belly fat) के लिए एल्कोहॉल की मात्रा और इसकी फ्रीक्वेंसी भी मैटर करती हैं। संक्षेप में कहा जाए तो बीयर की तुलना में अन्य एल्कॉहलिक पेय पदाथों में कैलोरी कम होती है। हालांकि, किसी भी एल्कोहॉलिक ड्रिंक का अधिक मात्रा में सेवन करने से आपका बेली फैट बढ़ सकता है। अब जानते हैं कि बियर बेली (Beer belly) या बेली फैट को कैसे कम किया जा सकता है?

और पढ़ें: बेली फैट (Belly fat) कम करने के लिए अपनाएं ये एक्सरसाइज

बियर बेली (Beer belly) को कम करने के कौन से हैं तरीके?

बियर बेली (Beer belly) को कम करने के सबसे बेहतरीन तरीके हैं डायट और एक्सरसाइज। अगर आप इसका अधिक सेवन करते हैं, तो आपको इसे सीमित मात्रा में लेने के बारे में सोचना होगा। हालांकि, बेली फैट को कम करने के लिए कोई परफेक्ट डायट नहीं है। लेकिन, आपको अपने आहार में प्रोसेस्ड मीट, शुगरी ड्रिंक्स और रिफाइंड ग्रेन प्रोडक्ट्स को कम शामिल करना चाहिए, ताकि आपके पेट की चर्बी कम हो सके। अगर आप अपने स्वास्थ्य में सुधार करना चाहते हैं और वजन कम करना चाहते हैं, तो अपनी डायट में फल, सब्जियों और साबुत अनाज को अधिक इंक्लूड करें।

इसके साथ ही एक्सरसाइज भी बेली फैट (Belly fat) को कम करने का अच्छा उपाय है। इसमें कार्डियो एक्सरसाइज और हाय-इंटेंसिटी एक्सरसाइज दोनों आपके लिए सहायक सिद्ध हो सकती हैं। यही नहीं, एक्सरसाइज से और भी कई शारीरिक और मानसिक लाभ भी आपको मिलेंगे।

बियर बेली, beer belly

और पढ़ें: बेली फैट कम करने के लिए करें ये 5 एक्सरसाइज

यह तो थी जानकारी बियर बेली (Beer belly) के बारे में। ऐसा माना जाता है कि बियर (Beer) पीने से वजन बढ़ सकता है खासतौर पर बेली फैट (Belly fat)। याद रखें कि जितना अधिक आप बियर पीएंगे, उतना अधिक आपको वेट गेन का रिस्क रहेगा। ऐसे में आपको कम और सही मात्रा में इसे लेना चाहिए। नियमित रूप से इसका सेवन और बहुत अधिक मात्रा में इसे लेने से भी बेली फैट का रिस्क बढ़ सकता है। इससे आपको कई अन्य हेल्थ प्रॉब्लम्स भी हो सकती हैं। वजन और बेली फैट (Belly fat) के रिस्क को कम करने के लिए एल्कोहॉल का सेवन सीमित मात्रा में करें और एक हेल्दी व एक्टिव लाइफस्टाइल को अपनाएं। अगर बियर बेली (Beer belly) को लेकर आपके मन में कोई भी सवाल है, तो डॉक्टर से इसके बारे में बात करना न भूलें।

आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 10/06/2022

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement