आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस को लेकर लोगों में भ्रम, इसे कोरोना बियर से जोड़कर देख रहे हैं

    कोरोना वायरस को लेकर लोगों में भ्रम, इसे कोरोना बियर से जोड़कर देख रहे हैं

    कुछ भ्रमित लोग गूगल में ‘ कोरोना बियर वायरस ‘ खोज रहे हैं और कोरोना बियर को संक्रमण का कारण मान रहे हैं । जी नहीं, ये जानकारी बिल्कुल भी सच नहीं है। चीन के साथ ही दुनिया के विभिन्न देशों में फैल चुके कोरोना वायरस का कहर इतना ज्यादा हो चुका है कि लोग इस बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाना चाहते हैं। गूगल में कोरोना बियर वायरस लोगों ने इस कदर खोजा कि वो गूगल ट्रेंड में दिखने लगा। लोगों के बीच ये भ्रम बैठ गया कि कोरोना नाम की बियर पीने से कोरोना वायरस फैल रहा है। इस अफवाह के कारण ज्यादा से ज्यादा लोगों ने कोरोना बियर वायरस के बारे में जानकारी जुटाना शुरू कर दिया। जानिए क्या है कोरोना बियर वायरस का सच।

    यह भी पढ़ें : सांप (Snake) से कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलने की है आशंका, सामने आई ये बातें

    कोरोना बियर वायरस गूगल सर्च ट्रेंड में

    गूगल सर्च ट्रेंड बताता है कि किसी तय समय में लोग गूगल पर क्या-क्या सर्च करते हैं। कोरोना वायरस की कुछ खबरों पर यकीन करना मुश्किल होता है। वायरस के फैलने के बाद सामने आया कि हम सब किस तरह से कंफ्यूज लोगों से घिरे हुए हैं। जहां एक ओर देश-दुनिया में लोगों को कोरोना वायरस के खतरे के बारे में जानकारी दी जा रही है, वहीं कुछ कंफ्यूज लोगों ने कोरोना बियर को वायरस से जोड़ दिया है। पिछले 24 घंटे में लोगों ने कोरोना वायरस से जुड़े कई जवाबों को खोजने की कोशिश की। इन्हीं खोज में से एक था ‘ कोरोना बियर वायरस’। गूगल ट्रेंड्स ट्विटर अकाउंट के माध्यम से नोट किया गया है कि कोरोना वायरस के लक्षणों को लेकर लोगों ने पिछले सप्ताह की तुलना में बहुत ज्यादा सर्च किया है।

    लोगों की दिलचस्पी भी कोरोना वायरस को लेकर बढ़ गई है। कोरोनो वायरस को कैसे रोकें, कोरोना वायरस कैसे फैलता है और कोरोना वायरस के लक्षण क्या हैं, आदि प्रश्न के बारे में खोज जारी है। वहीं कुछ लोग जिनको कोरोना बियर को लेकर भ्रम है, वो कोरोना बियर वायरस के बारे में खोज रहे हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि हम लोग बहुत भ्रमित लोगों से जुड़े हुए हैं क्योंकि कोरोना बियर का कोरोना वायरस से कोई लेना-देना नहीं है।

    यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

    कोरोना बियर वायरस इन देशों में जा रहा है खोजा

    जैसा कि हम आपको ऊपर ही बता चुके हैं कि कोरोना नाम की बियर भी है, जो लोगों के मन में कोरोना वायरस को लेकर भ्रम पैदा कर रही है। आपको बताते चले कि कोरोनो बियर का उत्पादन मेक्सिको में होता है। वहीं गूगल सर्च में कोरोना बियर वायरस की खोज फिनलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इंडिया, इंडोनेशिया, जापान और न्यूजीलैंड में की जा रही है। सही मायनों में कहा जाए तो ये एक निराशाजनक स्थिति है। जब पूरे विश्व को इस कोरोना वायरस से बचाव के बारे में सही जानकारी लेने चाहिए, ऐसे में लोग कोरोना बियर वायरस के बारे में खोज रहे हैं।

    कोरोना वायरस और कोरोनो बियर में केवल एक ही समानता है, वो है उन दोनों का एक जैसा नाम। बाकी कोरोना वायरस, कोरोना बियर पीने से नहीं फैलता है। कोरोना का मतलब क्राउन होता है। ये बीमारी संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैलती है। साथ ही वुहान में सांप से कोरोना वायरस बीमारी के फैलने की खबर भी सामने आई थी। अब आप भी समझ गए होंगे कि कोरोना बियर वायरस जैसी कोई चीज नहीं होती है। केवल नाम की वजह से लोगों के बीच में भ्रम बना हुआ है।

    यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस मरीजों की संख्या: लॉकडाउन नहीं होता, तो भारत में होते 15 अप्रैल तक होते इतने मामले

    कोरोना बियर वायरस: ब्लीच पीने का भी मिल रहा है सुझाव

    डेली बीस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक ‘ इंटरनेट में ऐसी खबरे भी मौजूद हैं जो कोरोना वायरस से बचने के लिए ब्लीच पीने की सलाह दे रही हैं। मिरेकल मिनिरल सॉल्युशन, मिरेकल मिनरल सप्लीमेंट नाम के प्रोडक्ट को कोरोना वायरस से बचाव के लिए बेचा जा रहा है। ऐसा सामने आया है कि एमएमएस इंडस्ट्रियल ब्लीचिंग एजेंट के माध्यम से बनाया गया है। एफडीए पहले भी मिरेकल मिनिरल सॉल्युशन (एमएमएस) के खिलाफ वार्निंग दे चुका है। साथ ही ये भी कह चुका है कि ऐसे किसी भी प्रोडक्ट न पिया जाए जिसमें सोडियम क्लोराइड और क्लोरीन डाईऑक्साइड मिला हुआ हो। एफडीए को ऐसे लोगों रिपोर्ट भी मिली है, जो लोग एमएमएस पीने की वजह से वॉमिटिंग, डायरिया, लो ब्लड प्रेशर, डिहाइड्रेशन और एक्युट लिवर फेलियर की समस्या से पीड़ित हो गए हैं। बेहतर होगा कि किसी भी प्रकार का कदम उठाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें। आपको बताते चले कि कोरोना वायरस बियर से किसी भी प्रकार से संबंधित नहीं है।

    कोरोना वायरस से मर चुके हैं अब तक 132 लोग

     corona beer virus in hindi, कोरोना वायरस के बारे में
    कोरोना वायरस

    वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस का सफर अब दुनिया भर में फैल रहा है। कोरोना वायरस से अब तक 132 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और 6000 से ज्यादा लोग इस वायरस से प्रभावित या संदिग्ध बताए जा चुके हैं। मेनलैंड चीन के साथ ही ये वायरस एशिया और पूरी दुनिया में फैल रहा है। चाइना सिटी में करीब 60 मिलियन लोगों को लॉकडाउन कर दिया गया है। चीन के बाहर कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या 17 हो चुकी है, जिसमे पांच लोग यूएस से हैं। कई देशों के लोग अपने नागरिकों को वुहान शहर से बाहर निकालने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

    यह भी पढ़ें : फेफड़ों के बाद दिमाग पर अटैक कर रहा कोरोना वायरस, रिसर्च में सामने आईं ये बातें

    डब्लूएचओ (WHO ) कर रहा है अवेयर

    कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए WHO देश-दुनिया के लोगों को बीमारी के बारे में जानकारी प्रदान कर रहा है। अभी हाल ही में WHO ने ये बात कंफर्म की है कि अफ्रीका में कोरोना वायरस का कोई भी केस कंफर्म नहीं हुआ है। साथ ही में WHO ने ट्रेवलिंग के दौरान सेफ रहने की हिदायत दी है। महामारी में ट्रेवलिंग के दौरान ऐसे व्यक्तियों के संपर्क में आने से बचे जिन्हें फीवर और कफ की समस्या हो। हाथ धोने के लिए एल्कोहल बेस्ड सेनेटाइजर, हैंड रब सोप और पानी का इस्तेमाल करें। साथ ही आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।

    यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस (Coronavirus, वुहान ) आखिर क्या है? जानें क्या हैं इसके लक्षण और खतरे

    चीन हमारा पड़ोसी देश है और अब तक कोरोना वायरस से कई जानें जा चुकी हैं। हम सभी को किसी भी प्रकार की अफवाह पर ध्यान नहीं देना चाहिए। नेट में वायरल खबरों की सत्यता की जांच जरूर करें। बिना जानकारी के किसी भी मैसेज को वायरल न करें। कोरोना वायरस से बचाव के लिए डॉक्टर से भी परामर्श कर सकते हैं।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

    और पढ़ें :

    Novel Coronavirus: जानें क्यों बेहद खतरनाक है चीन में फैल रहा कोरोना वायरस

    तो क्या भारत में कोरोना वायरस (coronavirus) पहुंच चुका है ? जानें बचाव के तरीके

    कोरोना वायरस से ब्लड ग्रुप का है कनेक्शन, रिसर्च में हुआ खुलासा

    बुजुर्गों को कोरोना का खतरा अधिक, जानें कैसे करें बचाव

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: