Sitagliptin + Metformin :सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Medically reviewed by | By

Update Date मई 22, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
Share now

इस्तेमाल

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) का इस्तेमाल किसके लिए किया जाता है?

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन का इस्तेमाल टाइप 2 डायबिटीज से ग्रस्त लोगों में उच्च ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। जब उच्च ब्लड शुगर को नियंत्रित कर लिया जाता है तो कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है जैसे किडनी का खराब होना, आंखों की रोशनी कम होना, नर्व प्रॉब्लम और यौन समस्याएं आदि। यही नहीं, डायबिटीज को नियंत्रित करने से हार्ट अटैक के जोखिम से भी बचा जा सकता है।

इस उत्पाद में दो दवाइयां पाई जाती हैं, सीटाग्लिप्टिन और मेटफोर्मिन। सीटाग्लिप्टिन इन्क्रेटिन्स नामक प्राकृतिक तत्व के लेवल को बढ़ाने का  काम करता है। इन्क्रेटिन्स इन्सुलिन रिलीज के बढ़ने से ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करता है, खासतौर पर भोजन के बाद। मेटफोर्मिन लिवर में ग्लूकोज के उत्पादन को कम करता है और आंतों द्वारा ग्लूकोज का अवशोषण करता है। यह दवाई केवल टाइप-2 डायबिटीज के उपचार के लिए प्रयोग की जाती है।

यह भी पढ़ें: Metformin : मेटफॉर्मिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • अगर उपलब्ध हो तो मेडिकल गाइड, पेशेंट इनफॉर्मेशन लीफलेट अवश्य पढ़ें, जो आपको आपके डॉक्टर ने इस दवाई के प्रयोग से पहले दिया है। अगर कोई सवाल हो तो अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें।
  • अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार इस दवाई को मुंह के माध्यम से  रोजाना दिन में एक बार भोजन के साथ लें, हो सके तो शाम को इसे लें। 
  • इस दवाई को एकदम से तोड़ कर न चबाएं। ऐसा करने से पूरी दवाई आप एक ही बार में निगलेगी, जिससे साइड इफेक्ट का जोखिम बढ़ जाता है। पूरी टेबलेट को एक साथ खूब सारे पानी के साथ लें।
  • इस दवाई की डोज रोगी की मेडिकल स्थिति, ट्रीटमेंट और अन्य दवाइयों पर निर्भर करती है। अपने डॉक्टर को पहले ही उन सभी उत्पादों के बारे में बता दें जिन का प्रयोग आप कर रहे हैं। 
  • इस दवाई के पूरे फायदे पाने के लिए नियमित रूप से इसका सेवन करें। रोजाना इस दवाई को लेना याद रखने के लिए इसे एक ही समय पर लें। 
  • अगर इस दवाई को लेने के बाद आपकी स्थिति में सुधार नहीं होता या स्थिति बिगड़ जाती है तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन को कैसे स्टोर करूं?

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन को हमेशा रूम टेंपरेचर 15-30 C (59-86 F) पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें।  स्टोर से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से पूछे।

सावधानियां और चेतावनी

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन(Sitagliptin + Metformin) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको सीटाग्लिप्टिन या मेटफोर्मिन से या किसी अन्य तत्व से एलर्जी है तो सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन को लेने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अवश्य बताएं। इस उत्पाद में कुछ ऐसे तत्व हो सकते हैं जिनसे आपको एलर्जी रिएक्शन या अन्य समस्याएं हो सकती हैं।
  • इस दवाई का प्रयोग करने से पहले, अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री अवश्य बताएं। खासतौर पर अगर आपको किडनी रोग, गंभीर सांस संबंधी समस्याएं, लिवर रोग, गॉलब्लेडर में पथरी जैसी समस्याएं हों
  • किसी भी सर्जरी या X -रे/स्कैनिंग आदि से पहले अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को उन उत्पादों के बारे में बताएं जिनका प्रयोग आप कर रहे हैं। सर्जरी से पहले कुछ समय तक आपको इस दवाई का प्रयोग करना बंद कर देना चाहिए।
  • कम या अधिक ब्लड शुगर के कारण धुंधली दृष्टि, चक्कर आना या सुस्ती जैसी समस्याओं का सामना कर सकते हैं। इसलिए इस दवाई को लेने के बाद ड्राइव करना या ऐसा कोई भी काम न करें, जिन्हें करने में ध्यान लगाने की आवश्यकता हो।
  • इस दवाई का प्रयोग करने के बाद एल्कोहॉल का सेवन कम या बंद कर दें, क्योंकि इससे लैक्टिक एसिडोसिस का विकास, पैंक्रिअटिटिस और लौ ब्लड शुगर की समस्या हो सकती है।
  • अधिक बुखार, पसीना , डायरिया या उलटी आने से शरीर में डिहाइड्रेशन हो सकती है, जिससे लैक्टिक एसिडोसिस का जोखिम बढ़ सकता है। इसलिए अगर आप डायरिया या उलटी आना जैसी समस्याएं हों तो इस दवाई को लेना बंद कर दें।
  • अगर आप तनाव में हैं तो ब्लड शुगर को नियंत्रित करना बहुत मुश्किल हो सकता है। ऐसी स्थिति में अपने डॉक्टर से सलाह लें ताकि डॉक्टर आपको सही उपचार प्रदान कर सके।
  • बुजुर्ग इस दवाई से होने वाले साइड इफेक्ट्स के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। खासतौर, पर ब्लड शुगर का कम होना या लैक्टिक एसिडोसिस आदि।
  • मेटफोर्मिन महिलाओं के मासिक धर्म साइकिल में भी बदलाव ला सकता है और गर्भावस्था की संभावना भी बढ़ा सकता है। इसलिए डॉक्टर से इस बारे में सलाह अवश्य लें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी में, इस दवाई का प्रयोग तभी करें जब बहुत अधिक आवश्यक हो। इसके जोखिमों और फायदों के बारे में डॉक्टर की सलाह लें। गर्भावस्था में डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है ऐसे में अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए डॉक्टर से सलाह लें। आपके डॉक्टर गर्भवस्था में आपके डायबिटीज ट्रीटमेंट में परिवर्तन कर सकते हैं।

मेटफोर्मिन ब्रेस्टमिल्क से हो कर गुजरता है। इसके दुष्प्रभावों के बारे में जानने के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें।

यह भी पढ़ें : Diabetes insipidus : डायबिटीज इंसिपिडस क्या है ?

साइड इफेक्ट्स

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) के साइड इफेक्ट्स

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन लेने से कुछ लोगों में कुछ सामान्य साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • अपर श्वसन संक्रमण
  • नाक का भरा रहना या बहना और गले का खराब होना
  • डायरिया
  • चक्कर या उल्टी आना
  • गैस, पेट का खराब होना या खाना डायजेस्ट नहीं होना  
  • कमजोरी
  • सिरदर्द

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन का सेवन भोजन के साथ करने से मेटफोर्मिन से होने वाले पेट संबंधी सामान्य साइड इफेक्ट के कम होने में मदद मिलती है। यह साइड इफ़ेक्ट उपचार के शुरुआत में देखने को मिलते हैं। अगर आपको इस दवाई के प्रयोग से पेट में समस्याएं हों तो अपने डॉक्टर से सलाह लें। इस दवाई से कुछ अन्य साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। जैसे :

1.  हाथों और पैरों में सूजन : सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन को अगर रोसीग्लीटाज़ोन (Avandia) के साथ लिया जाए तो यह समस्या हो सकती है। रोसीग्लीटाज़ोन दूसरी तरह की डायबिटीज की दवाई है 

2. ब्लड शुगर का कम होना :अगर आप इस दवाई का सेवन अन्य दवाइयों के साथ लेते हैं तो उससे ब्लड शुगर कम हो सकती है जैसे इन्सुलिन। अगर आप सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन का सेवन कर रहे हैं तो इन दवाइयों को कम मात्रा में लें। ब्लड शुगर के कम होने के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • चक्कर आना
  • सिरदर्द
  • कमजोरी
  • परेशानी
  • भूख लगना
  • दिल की धड़कन का बढ़ना
  • पसीना आना
  • जलन महसूस होना

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin)   के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

  • सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन को अन्य दवाइयों के साथ लेने से साइड इफेक्ट होने की संभावना बढ़ जाती है।  हालांकि, इस सूची में उस सभी प्रभावों के बारे में नहीं बताया गया है। आप जिन उत्पादों या दवाइयों का सेवन कर रहे हैं उनकी सूची बना लें और अपने डॉक्टर से शेयर करें। इस दवाई का सेवन अपनी मर्जी से शुरू, बंद या बदलाव न करें।
  • बीटा-ब्लॉकर दवाइयां:  बीटा-ब्लॉकर दवाइयां इस प्रकार हैं मेटोप्रोलोल, प्रोप्रानोलोल, Glaucoma ऑय ड्रॉप्स जैसे टिमोलोल। जब हम कम ब्लड शुगर महसूस करते हैं तब यह दवाईयां हार्ट बीट का तेज़ होने को रोक सकती हैं।
  • बहुत सी दवाईयां आपके ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकती हैं। जब भी आप कोई दवाई शुरू बंद या बदलाव करें, तो अपने डॉक्टर से बात करें और जान लें कि इससे आपकी ब्लड शुगर पर क्या प्रभाव पड़ सकता है। अपने ब्लड शुगर को नियमित रूप से चेक करें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन के साथ एल्कोहॉल का सेवन न करें। ऐसा करने से ब्लड शुगर कम हो सकती है और इससे लैक्टिकएसिडोसिस की संभावना बढ़ सकती है। भोजन के साथ इस दवाई को लिया जा सकता है।

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन सेहत के कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपनी मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें।

यह भी पढ़ें : Diabetes: डायबिटीज क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

डोजेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

डायबिटीज टाइप 2 में वयस्कों के लिए डोज

शुरुआती डोज: तत्काल रिलीज

  • रोगियों के लिए जो मेटफॉर्मिन रिसीव नहीं कर रहे हों: सीटाग्लिप्टिन 50 mg/ मेटफॉर्मिन 500 mg मुंह के माध्यम से दिन में दो बार लें।
  • रोगियों के लिए जो एक दिन में 1000 mg मेटफॉर्मिन रिसीव कर रहे हों: सीटाग्लिप्टिन 50 mg/ मेटफॉर्मिन 500 mg मुंह के माध्यम से दिन में दो बार लें।
  • रोगियों के लिए जो एक दिन में 1700 or 2000 mg मेटफॉर्मिन रिसीव कर रहे हों: सीटाग्लिप्टिन 50 mg/ मेटफॉर्मिन 500 mg मुंह के माध्यम से दिन में दो बार लें।

शुरुआती डोज : एक्सटेंडेड रिलीज

  • रोगियों के लिए जो मेटफॉर्मिन रिसीव नहीं कर रहे हों: सीटाग्लिप्टिन 100 mg// मेटफॉर्मिन 1000 mg मुंह के माध्यम से दिन में दो बार लें।
  • रोगियों के लिए जो एक दिन में 1000 mg मेटफॉर्मिन रिसीव कर रहे हों: सीटाग्लिप्टिन 100 mg/ मेटफॉर्मिन 1000 mg मुंह के माध्यम से दिन में दो बार लें।
  • रोगियों के लिए जो एक दिन में 1700 or 2000 mg मेटफॉर्मिन रिसीव कर रहे हों: सीटाग्लिप्टिन 100 mg/ मेटफॉर्मिन 2000 mg मुंह के माध्यम से दिन में दो बार लें।

ऑप्टीमल ग्लाइसेमिक नियंत्रण प्राप्त करने के लिए टाइट्रेट खुराक

रोजाना की अधिकतम डोज: सीटाग्लिप्टिन 100 mg ; मेटफॉर्मिन 2000 mg

कमैंट्स:

तत्काल-रिलीज और एक्सटेंडेड-रिलीज के बीच बदलते रोगियों के लिए: मेटफॉर्मिन-सीताग्लिप्टिन की रोजाना की डोज को ऐसे ही बनाए रखें।

-जब शुरुआती थेरिपी दी जाती है तो हाइपोग्लाइसीमिया की खतरे को कम करने के लिए इस की खुराक की एडजस्टमेंट करना आवश्यक है।

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन(Sitagliptin + Metformin) किस रूप में आती है? 

सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) इस रूप में उपलब्ध है।

  • टेबलेट

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति के लिए अपने स्थानीय डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करें।

नोट 

  • रोगी के अलावा यह दवाई किसी अन्य व्यक्ति को न दें।
  • डायबिटीज एजुकेशन प्रोग्राम का हिस्सा बनें। ताकि, आप ध्यान, आहार, व्यायाम या अन्य चीजों से अपनी डायबिटीज को संतुलित करें।
  • ब्लड शुगर के अधिक और कम होने के लक्षणों को पहचानें और डॉक्टर की सलाह लें।
  • जब आप इस दवाई को लेना शुरू करते हैं तो लैब और मेडिकल टेस्ट आपको उससे पहले करा लेने चाहिए।

यदि मुझसे सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे सीटाग्लिप्टिन + मेटफोर्मिन (Sitagliptin + Metformin) की डोज मिस हो जाए, तो जितना जल्दी हो सके इसे ले लें। हालांकि, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है, तो डबल डोज लेने की बजाय एक डोज मिस कर दें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें :-

डायबिटीज में फल को लेकर अगर हैं कंफ्यूज तो पढ़ें ये आर्टिकल

Diabetes : मधुमेह से बचने के प्राकृतिक उपाय

शरीर पर पॉजिटिव होता है मेडिटेशन का असर

बढ़ती उम्र सिर्फ जिंदगी ही नहीं हाइट भी घटा सकती है

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Stugeron: स्टुगेरोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए स्टुगेरोन (Stugeron) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, स्टुगेरोन डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Vertin: वर्टिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

वर्टिन टेबलेट की जानकारी in hindi, इसके डोज, उपयोग, सावधानियों के साथ साइड इफेक्ट, रिएक्शन और इसे कैसे स्टोर करें आदि जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 4, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Vizylac: विजीलैक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए विजीलैक (vizylac) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, विजीलैक डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 2, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Bifilac: बिफिलेक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

बिफिलेक दवा की जानकारी in hindi वहीं इसके उपयोग, डोज और सावधानी और चेतावनी के साथ इसके साइड इफेक्ट्स और इसमें मौजूद तत्व व स्टोरेज जानने के लिए पढ़ें।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 2, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

वायरल फीवर-Viral Fever

Viral Fever: वायरल फीवर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
Published on जून 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
घुटनों में दर्द -knee pain

Knee Pain : घुटनों में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
Published on जून 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
बरगद -banyan tree

बरगद के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Banyan Tree (Bargad ka Ped)

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Ankita Mishra
Published on जून 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
चक्कर आना -dizziness

Dizziness : चक्कर आना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
Published on जून 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें