home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Dexamethasone: डेक्सामेथासोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें|सावधानियां एवं चेतावनी|जानिए इसके साइड इफेक्ट|इन जरूरी बातों को जानें|डॉक्टर की सलाह
Dexamethasone: डेक्सामेथासोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें

डेक्सामेथासोन का उपयोग किसलिए किया जाता है?

डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल अर्थराइटिस, रक्त/हॉर्मोन/इम्यूनिटी सिस्टम डिसऑर्डर, एलर्जिक रिएक्शन, कुछ प्रकार की त्वचा और आंखों की स्थिति, सांस की समस्या, कुछ प्रकार का बॉवेल डिसऑर्डर और कुछ प्रकार के कैंसर जैसी स्थिति का इलाज करने के लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल एड्रेनल ग्लैंड डिसऑर्डर को भी टेस्ट करने के लिए किया जाता है।

डेक्सामेथासोन एक प्रकार का कॉर्टिकोस्टेरॉइड हॉर्मोन (ग्लूकोकोर्टिकॉड) है। यह शरीर का नैचुरल डिफेंसिव रिस्पॉन्स कम करता है और लक्षण जैसे सूजन व कुछ प्रकार के एलर्जिक टाइप के रिएक्शन को दूर करता है।

अन्य उपयोग – इस सेक्शन में दवा के वे उपयोग बताए गए हैं जो आधिकारिक रूप से दवा के उपयोग के रूप में मान्य नहीं हैं, लेकिन कुछ डॉक्टर इनके सेवन की सलाह दे सकते हैं। इस सेक्शन में बताए गए दवा के उपयोग, प्रोफेशनल डॉक्टर द्वारा आधिकारिक रूप से मान्यता प्राप्त नहीं हैं फिर भी कई डॉक्टर इसके उपयोग की सलाह देते हैं। डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल मतली और उल्टी से बचने के लिए भी किया जाता है जो कैंसर कीमोथेरेपी के कारण होते हैं।

मैं डेक्सामेथासोन को कैसे इस्तेमाल करूं?

डेक्सामेथासोन को डॉक्टर की सलाह से खाने के रूप में लें। इसके अलावा पेट खराब होने से बचने के लिए आप इसे खाने या दूध के साथ भी ले सकते हैं। डेक्सामेथासोन को आप एक ग्लास पानी (240 मिलीलीटर) के साथ लें, तब तक जब डॉक्टर आपको अन्य मात्रा न बता दें। अगर आप दवा को लिक्विड तरीके से ले रहे हैं, तो माप के लिए किसी उपकरण का इस्तेमाल करें। घर की चम्मच का इस्तेमाल न करें।

अगर आप डेक्सामेथासोन को दिन में एक बार ले रहे हैं, तो इसे सुबह को 9 बजे से पहले लें। अगर आप इस दवा को हर दूसरे दिन ले रहे हैं या रोजाना एक ही समय पर लेने के बजाए अन्य किसी समय पर ले रहे हैं, तो आपको याद रखने के रूप में समय को कलैंडर में डाल देना चाहिए।

खुराक और इलाज की लंबे समय तक चलने वाली प्रक्रिया चिकित्सीय स्थिति और थेरिपी के प्रति प्रक्रिया पर निर्भर करती है। आपका डॉक्टर समय- समय पर खुराक को कम करता रहेगा जिससे साइड इफेक्ट को कम किया जा सके।

अधिक फायदे प्राप्त करने के लिए डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल रोजाना करें। याद रखने के लिए इस दवा को रोजाना एक ही समय पर ले सकते हैं। अगर आपको अच्छा महसूस होता है तो तब भी इस दवा को लेना जारी रखें। खुराक की आवधि का ध्यानपूर्वक पालन करें, और डॉक्टर की सलाह से ही डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल करते रहें।

बिना डॉक्टर से पूछे डेक्सामेथासोन का सेवन बंद न करें। जब आप इस दवा को लेना बंद कर देंगे तो कुछ स्थति बिगड़ सकती हैं। आपकी खुराक को धीरे-धीरे डॉक्टर द्वारा कम किया जाएगा। अगर स्थिति बिगड़ती जाती है या लगातर बनी रहती है तो इस बारे में डॉक्टर से बात करें।

मैं डेक्सामेथासोन को कैसे स्टोर करूं?

डेक्सामेथासोन को अच्छा होगा अगर आप घर के तापमान में ही रखें और सीधी रोशनी व नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए, आपको डेक्सामेथासोन को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना चाहिए। डेक्सामेथासोन के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं जिनको स्टोर करने की जरूरतें अलग हो सकती हैं। इसलिए आवश्यक है कि आप उसे खरीदने से पहले उत्पाद पर लिखी संग्रह करने की जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ लें या फिर फार्मासिस्ट से इसकी जानकारी ले लें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाइयां बच्चों और जानवरों से अलग रखनी चाहिए।

आपको डेक्सामेथासोन टॉयलेट या किसी सीवर में नहीं डालनी चाहिए तब तक जब तक डॉक्टर आपको सलाह न दे। आवश्यक है कि आप पूरी तरह से दवाई को खत्म कर दें अगर वो एक्सपायर हो गयी है या किसी काम के लायक नहीं रही है। इसे सुरक्षित व सही तरह से खत्म करने के लिए एक बार अपने फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें : सीफोटेक्सीम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां एवं चेतावनी

डेक्सामेथासोन का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

डेक्सामेथासोन का उपयोग करने से पहले;

  • अगर आपको डेक्सामेथासोन, एस्पिरिन, टार्टाजिन (एक पीली डाई जो प्रोसेस्ड दवा और खाने में होती है) और अन्य दवा के इस्तेमाल से एलर्जी होती है तो अपने डॉक्टर और फार्मसिस्ट को बताएं।
  • पर्चे वाली या बिना पर्चे वाली दवा खासकर एन्टीकोगुलेंट्स (ब्लड थिनर) जैसे वार्फररिन (कोमाडिन), अर्थराइटिस दवाएं, एस्पिरिन, साईक्लोस्पोरिन (नियोरल, सैंडीइम्यून), डायजोक्सिन (लेनोक्सिन), डियूरेटिक्स (वाटर पिल), एफीड्रीन, एस्ट्रोजन (प्रेमरीन), कटोकोनाज़ोल (निजोरल), ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव, फिनोबार्बिटल, फेनिटोइन (डायलान्टिन) रिफाम्पिन (रिफाड़िन), थिओफिलिन (थियो दूर) और विटामिन्स ले रहे हैं तो डॉक्टर और फार्मासिस्ट को बताएं।
  • अगर आपको फंगल इंफेक्शन है (स्किन के अलावा), बिना डॉक्टर से पूछे डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल न करें।
  • अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको लिवर, किडनी, आंत या ह्रदय रोग, डायबिटीज, असक्रिय थायरॉइड ग्रंथि, हाई ब्लड प्रेशर, मस्तिष्क रोग, मायस्थेनिया ग्रेविस, ऑस्टियोपरोसिस, हर्पीस, आई इंफेक्शन, मिर्गी, टीबी या अल्सर है या हो चुका है तो डॉक्टर और फार्मासिस्ट को इस बारे में बताएं।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं, या प्लान कर रही है या स्तनपान कराती हैं तो इस बारे में डॉक्टर को बताएं। अगर आप डेक्सामेथासोन लेने के दौरान प्रेग्नेंट हो जाती है तो डॉक्टर से बात करें।
  • अगर आपकी किसी भी तरह की सर्जरी होने वाली है जैसे डेंटल सर्जरी, तो अपने डेंटिस्ट डॉक्टर को जरूर बताएं कि आप डेक्सामेथासोन दवा ले रहे हैं।
  • अगर आपको पहले कभी अल्सर रहा है या अधिक मात्रा में एस्पिरिन ली है या अन्य अर्थराइटिस दवा ली है, तो इस दवा को लेने के दौरान शराब का सेवन करना कम कर दें। डेक्सामेथासोन आपके पेट और आंतों को शराब, एस्पिरिन और कुछ प्रकार की अर्थराइटिस दवा के इरिटेटिंग प्रभाव के कारण संवेदनशील बना सकता है। ये प्रभाव आपके अल्सर के जोखिम को बढ़ा देता है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान डेक्सामेथासोन लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान या स्तनपान कराने के दौरान डेक्सामेथासोन इस्तेमाल करने से होने वाले जोखिम के ऊपर ऐसी कोई स्टडी अभी मौजूद नहीं है। कृपया आप डेक्सामेथासोन के इस्तेमाल से होने वाले लाभ और होने वाले नुकसान के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें। यूएस फूड और ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार डेक्सामेथासोन प्रेग्नेंसी जोखिम वर्गीकरण सी में आती है। एफडीए प्रेग्नेंसी जोखिम वर्गीकरण निम्नलिखित है:

A = कोई जोखिम नहीं

B = कुछ स्टडी में कोई जोखिम नहीं

C = कुछ जोखिम हो सकता है

D = जोखिम के सकारात्मक सबूत

X = निषेध

N = कोई जानकारी नहीं

और पढ़ें : नॉरफ्लोक्स टीजेड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, खुराक और सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट

डेक्सामेथासोन के क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

यहां कुछ साइड इफेक्ट्स शामिल हैं, लेकिन यही तक सीमित नहीं है ; आंखों की रोशनी में बदलाव, सूजन और तेजी से वजन बढ़ना

अगर आपको एलर्जिक रिएक्शन से जुड़े किसी भी तरह के लक्षण दिखाई देते हैं तो आपातकालीन चिकित्सीय जांच जरूर कराएं ; हाइव्स, सांस लेने में दिक्कत, चेहरे, होंठ, जीभ या गले में सूजन।

अगर आपको नीचे दिए गए साइड इफेक्ट्स दिखते हैं तो डॉक्टर से जांच कराएं, जैसे ;

  • आंखों की रोशनी में समस्या ;
  • सूजन, वजन तेजी से बढ़ना, सांस लेने में तकलीफ,
  • गंभीर रूप से डिप्रेशन, अनचाहे रूप से विचार आना और व्यवहार में बदलाव दिखना, मिर्गी ;
  • मल में खून आना, खांसने पर खून आना ;
  • पैंक्रियाटिस (पेट के ऊपर हिस्से से होते हुए पीछे कमर तक गंभीर रूप से दर्द, उल्टी और मतली, ह्रदय की गति तेज होना)
  • लो पोटैशियम (कंफ्यूजन, असामान्य ह्रदय की धड़कनों का स्तर, अत्यधिक प्यास, पेशाब का बढ़ना, पैरों में असहजता दिखना, मांसपेशियों में कमजोरी या लंगड़ा महसूस करना);
  • उच्च रक्तचाप (गंभीर सिरदर्द, धुंधली दृष्टि, आपके कानों का बजना, घबराहट, भ्रम, सीने में दर्द, सांस की तकलीफ, असमान धड़कन, दौरे)।

कम गंभीर रूप से साइड इफेक्ट्स जैसे ;

  • सोने में समस्या (अनिंद्रा), मूड में बदलाव ;
  • मुहांसे, रूखी त्वचा, त्वचा का पतला, छाले या कलर में बदलाव होना;
  • घाव का धीरे-धीरे ठीक होना;
  • पसीना बढ़ना;
  • सिर दर्द, पेट दर्द, पेट फूलना,
  • मांसपेशियों में कमजोरी
  • शरीर के आकर में बदलाव होना या चर्बी में बदलाव होना (खासकर हाथ,पैर, चेहरे, गर्दन, ब्रेस्ट और कमर)।

हर कोई इन साइड इफेक्ट्स को अनुभव नहीं करता। कुछ ऐसे साइड इफेक्ट्स भी हैं जो ऊपर नहीं दिए गए हैं। अगर आपको किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नजर आता है तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें : Sildenafil : सिल्डेनाफिल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं डेक्सामेथासोन के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अभी आप जो भी दवाइयां ले रहे हैं उसे डेक्सामेथासोन के साथ इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, इससे दवाई के कार्य करने के प्रभाव पर असर पड़ सकता है और गंभीर साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है। किसी भी दवा के गलत प्रभाव को रोकने के लिए, आपको इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं की एक सूची बनाकर रख लेनी चाहिए (जिनमें डॉक्टर के पर्चे की दवाएं, बिना सलाह वाली दवाएं और हर्बल उत्पाद शामिल हैं) और फिर उसे डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ साझा करें। आपकी सुरक्षा के लिए, बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई भी दवा अपने आप शुरू, बंद या खुराक में बदलाव न करें।

  • अर्टेमेथेर, डाक्लाट्सविर, प्राज़िक्वांटल, रिल्पिवरीन, रोटावायरस वैक्सीन, लिव।

साथ ही कुछ दवाओं को एक साथ इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, कुछ अन्य मामलों में दो दवाओं का इस्तेमाल एक साथ किया जा सकता हैं अगर उससे कोई और अन्य साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं तो। इन मामलों में, जरूरत पड़ने पर आपका डॉक्टर आपकी खुराक या अन्य सावधानियों में बदलाव कर सकता है।

  • एल्डसलिऊकिन, अरिपीप्राजोल, ऑक्सिटिंब, बोसेपरवीर, बोसूटिनिब, बूप्रोपिओं, कार्बमजेपीन, सेर्टिनिब, क्लॉरिथ्रोमाइसिन, क्लोज़पिन, कोबिसिस्टेट, क्रिज़ोटिनिंब, डबराफेनिब, दारुणावीर, डसटीनिब, डोक्सोरूबिकीं, डोक्सोरूबिकीं हाइड्रोक्लोराइड, लिपोसोम, एफवारिनेज़, एलीग्लूस्टेट, एल्विटेग्राविर, एन्जालूटामिड़, इसलिकारबाजेपीन एसिटेट, एट्राविरिन, फोसंप्रीणावीर, हाईड्रोकोडों, आइडेलसीब, इमाटिनिब, इतराकोनाजोल, आईब्राडीन, एक्साबेपीलोन, लपटिनिब, मिटोटेन, नेविरापिन, निफेडीपीन, निलोटिनिंब, निमोदीपाईन, पिपेराक्विन, पिसेंटरों, प्रीमिडों, रिटोनावीर, रिवारोक्सबन, रोमिडेपसीन, सिलटुक्सींमैब, सुनिटिनब, टेलापरेविर, टेम्सिरोलिमस, थालिडॉमिड, टिकाग्रेलर, टोपोटेकन, विनक्रिस्टीन सल्फेट, विनक्रिस्टीन सल्फेट लिपोसोम, वोटियोक्सेटिन।

इस दवा को नीचे दी गई दवाओं के इस्तेमाल करने से कुछ प्रकार के साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है, लेकिन दोनों दवाइयों का इस्तेमाल करने से आपको एक अच्छा ट्रीटमेंट मिल सकता है। अगर दोनों दवाइयों को एक साथ लेने की सलाह दी जाती है, तो आपका डॉक्टर आपकी खुराक में बदलाव कर सकता है या फिर कैसे आपको एक या दोनों दवाइयों का इस्तेमाल करना है, के बारे में बता सकता है।

  • अलटरोफ्लोक्सिन, अलकुरोनियम, एमिनोग्लूटेथीमाइड, एप्रेपिटेंट, एस्पिरिन, अल्ट्राकुरियम, एनोक्सासिन, फ्लेरोक्सासिन, फ्लूइडियन, फ्लूमेक्विन, फोस्प्रेपिटेंट, फोस्फिनाईटों, गलमाइन, गेमिफ्लोक्ससिन, ग्रेपफलोक्सासिन, हेक्साफ्लोरेनियम, लिवोफ़्लॉक्सासिन, लिकोरिस, लॉमफ्लोक्सासिन, मेटकूरिन, मौक्सिफ्लौक्सासिन, नेटपिटेंट, नॉरफ्लोक्सासिन, ओफ्लोक्सासिन, ओसपमिफेन, पैनकुरोनियम, फिनोबार्बिटल, फेनिटोइन, परुलीफ्लोक्सासिन, रिफाम्पिन, रिफपेंटीन, रोसोक्सासिन, रउफ्लोक्सासिन, सैबोकु-टू, स्परफ्लोक्साइन, टेमफ्लोक्सासिन, ट्रोवाफ्लोक्सासिन मेसिलेट, वेकुरोनियम, वार्फरिन।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

डेक्सामेथासोन दवा के काम करने के तरीके को बदलकर या गंभीर दुष्प्रभावों के लिए जोखिम को बढ़ाकर भोजन या एल्कोहॉल के साथ गलत प्रभाव डाल सकती है। इस दवा को लेने से पहले भोजन या एल्कोहॉल के साथ किसी भी तरह के सही परिणाम नहीं दिखाई देते हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

डेक्सामेथासोन खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

डेक्सामेथासोन आपकी स्वास्थ्य स्थिति पर गलत प्रभाव डाल सकती है। यह प्रभाव आपकी स्वास्थ्य स्थिति को बिगाड़ सकता है या फिर दवाई के कार्य करने के तरीके को कम कर सकता है। जरूरी है कि आप अपनी स्वास्थ्य स्थिति को डॉक्टर और फार्मासिस्ट को बताएं।

अन्य चिकित्सीय समस्याएं इस दवा के प्रभाव पर असर डाल सकती हैं. अगर आपको अन्य चिकित्सीय समस्याएं हैं तो डॉक्टर को जरूर बताएं, खासकर;

  • मोतियाबिंद ;
  • हार्ट का फेल होना
  • कशिंग सिंड्रोम (एड्रेनल ग्लैंड समस्या)
  • डायबिटीज ;
  • आई इंफेक्शन ;
  • फ्लूइड रिटेंशन
  • ग्लूकोमा ;
  • हाइपरग्लाईसिमीया (हाई ब्लड शुगर);
  • हाइपरटेंशन (हाई ब्लड प्रेशर);
  • इंफेक्शन (जैसे बैक्टीरियल, वायरस, फंगस);
  • मूड में बदलाव, जैसे डिप्रेशन
  • मायस्थीनिया ग्रेविस (गंभीर रूप से मांसपेशियों में कमजोरी);
  • ऑस्टियोपरोसिस(हड्डियों में कमजोरी);
  • पेप्टिक अल्सर, सक्रिय या पहले से ही ;
  • व्यक्तित्व में बदलाव
  • पेट या आंत में समस्या (जैसे डायवर्टिकुलिटिस, अल्सरेटिव कोलाइटिस)
  • टीबी, असक्रिय – सावधानी के साथ इस्तेमाल करें। इससे स्थिति बिगड़ सकती है।
  • फंगल इंफेक्शन
  • हर्पीस सिम्पलेक्स आई इंफेक्शन – इस स्थति से जुड़े मरीजों में इस्तेमाल नहीं होनी चाहिए।

डॉक्टर की सलाह

डेक्सामेथासोन कैसे उपलब्ध है?

डेक्सामेथासोन खुराक के रूप में और उसके प्रभाव के रूप में उपलब्ध है :

कंसन्ट्रेट, ओरल ;

डेक्सामेथासोन इंटेन्सोल ; 1 mg/mL (30 mL)

एलिक्सिर, ओरल ;

बायकाडरों : 0.5 mg/5 mL (237 mL)

जेनेरिक ; 0.5 mg/5 mL (237 mL)

सलूशन, ओरल ;

जेनेरिक ; 4 mg/mL ( 1mL, 5 mL, 30 mL); 10 mg/mL (1 mL, 10 mL)

सलूशन, इंजेक्शन, सोडियम फॉस्फेट के रूप ;

जेनेरिक ; 4 mg/mL ( 1mL, 5 mL, 30 mL); 10 mg/mL (1 mL, 10 mL)

सलूशन, इंजेक्शन, सोडियम फॉस्फेट के रूप ;

जेनेरिक ; 10 mg/mL (1 mL)

टेबलेट, ओरल ;

डेक्सपक 10 दिन ; 1.5 mg

डेक्सपक 13 दिन ; 1.5 mg

डेक्सपक 6 दिन ; 1.5 mg

जेनेरिक ; 0.5 mg, 0.75 mg, 1 mg, 1.5 mg, 2 mg, 4 mg, 6 mg.

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

अगर एक खुराक लेना भूल जाएं तो क्या करना चाहिए?

अगर डेक्सामेथासोन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/07/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x