हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड कब और कैसे दें? पढ़िए इसकी पूरी जानकारी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 9, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देने से किसी भी व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है। हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड कैसे दिया जाए? कितने बार दिया जाए? इसका सही तरीका क्या है? इस प्रकार के सवाल अक्सर आपके दिमाग में आते हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल में हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड की विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं।

हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के बारे में जानने से पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि पीढ़ित को हार्ट अटैक आया है या कोई और समस्या है।

और पढ़ें : कीड़े का काटना या डंक मारना कब हो जाता है खतरनाक? क्या है बचाव का तरीका

सीपीआर का महत्व

कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन (सीपीआर) एक लाइफ सेविंग तकनीक है। यह व्यक्ति के हृदय या सांस के रुकने पर शरीर में खून और ऑक्सीजन का फ्लो बनाए रखता है।

सीपीआर किसी भी ट्रेन व्यक्ति द्वारा किया जा सकता है। इसमें सीने को दबाना और सांस को वापिस लाना शामिल होता है।

हृदय के रुकने के 6 मिनट के अंदर सीपीआर परफॉर्म करने से मेडिकल हेल्प आने तक व्यक्ति को जिंदा रखा जा सकता है।

18वी शताब्दी की शुरुआत में सांस देने की तकनीक को डूबने के बाद पानी से निकाले गए व्यक्ति को बचाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। हालांकि, 1960 में कार्डियक मसाज को अधिक प्रभावशाली तकनीक का दर्जा दिया गया। इसके बाद अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (American Heart Association) सीपीआर को फॉर्मल प्रोग्राम के रूप में विकसित किया।

भले ही सीपीआर सिखाने के लिए कोई भी सर्टिफाइड इंस्ट्रक्टर मौजूद नहीं है तब भी अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन केवल हाथों से सीने को दबाने की सलाह देती है। यानि अगर आपको सीपीआर के बारे में नहीं पता है तब भी आप इस तकनीक को अपना सकते हैं।

इस तकनीक में ब्रीथिंग को हटा दिया जाता है ताकि यह प्रक्रिया आसान हो जाए और हर व्यक्ति अपना सके।

और पढ़ें : घर पर फर्स्ट ऐड बॉक्स कैसे बनाएं?

हार्ट अटैक के लक्षण निम्नलिखित हैं

और पढ़ें: Shoulder surgery : शोल्डर (कंधे) सर्जरी क्या है?

हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड में क्या करें?

  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको यह सुनिश्चित करना है कि पीढ़ित अपने होश में है या नहीं।

पीढ़ित के होश में होने पर निम्नलिखित तरीकों को अपनाएं:

  • यदि वह पहले से ही हार्ट का मरीज है तो उसकी जेब में एस्पिरिन (Aspirin 325 mg) दवा जरूर होगी। यदि दवा मौजूद है तो तत्काल दवा को उसे खिलाएं।
  • यदि उसकी जेब में नाइट्रोग्लिसरीन (Nitroglycerin) की दवा है तो बिना देरी किए दवा को खिलाएं। दवा खिलाते वक्त आप गोली को छुए नहीं। चूंकि यह दवा ब्लडस्ट्री में तेजी से सोख जाती है।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देते वक्त पीढ़ित को कोई भोजन या पानी न दें।

जैसा कि पहले ही बता दिया गया है कि यदि व्यक्ति होश में है तो उसे विश्वास दिलाएं कि सब ठीक है और आप उसकी मदद कर रहे हैं।

और पढ़ें : Telmisartan: टेल्मीसार्टन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

यदि व्यक्ति अपने होश में नहीं है:

  • जब तक पीढ़ित सामान्य रूप से सांस ले रहा है, उसके दिल की धड़कन धड़क रही है तो इस स्थिति में आपातकालीन मदद पहुंचने से पहले आप कई तरीकों से उसे फर्स्ट ऐड दे सकते हैं।
  • व्यक्ति के होश में न होने पर उसे जमीन पर नीचे लेटाएं।
  • इसके बाद व्यक्ति को एक तरफ से लेटा लें। इसके बाद उसक श्वास नली को क्लीयर रखें। ऐसा करने के लिए आपको उसे सिर को आरामदेह मुद्रा में रखना होगा।
  • पीढ़ित की गर्दन को आगे की तरफ न मोड़ें और न ही पीछे की तरफ ज्यादा मोड़ें।
  • इससे मुंह में मौजूद लार श्वास नली में नहीं अटकेगी। इससे पीढ़ित को सांस लेने में परेशानी नहीं होगी।

उपरोक्त स्थितियों के अलावा कई बार व्यक्ति अपने होश में नहीं रहता और उसकी पल्स नहीं चलती हैं। ऐसे में हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है। इस स्थिति में आप पीढ़ित को सीपीआर दे सकते हैं। कुछ लोगों के पास सीपीआर में विशेष दक्षता हासिल होती है। लेकिन एक सामान्य व्यक्ति भी इसकी सही जानकारी से सीपीआर दे सकता है।

और पढ़ें : एयर एंबुलेंस के बारे में कितना जानते हैं आप? जानें इसका किराया और बुक करने का तरीका

सीपीआर (CPR) क्या है?

दिल का दौरा पड़ने पर प्राथमिक उपचार के रूप में एक तकनीक को अपनाया जाता है। इसे हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड भी कहा जाता है। इसके अतिरिक्त, इसे सीपीआर (CPR) के नाम से जाना जाता है। इस तकनीक के नाम से ही पता चलता है कि यह दिल की समस्याओं से जुड़ा हुआ फर्स्ट एड है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड काफी महत्वपूर्ण होता है। सीपीआर के इतर कुछ लोग इसे जीवन रक्षक तकनीक के नाम से भी बुलाते हैं। अचानक दिल का दौरा पड़ने या हार्ट अटैक में अचानक दिल की धड़कन रुक जाने पर पीढ़ित को सीपीआर दिया जाता है। यदि समय पर उसे सीपीआर दिया जाए तो उसके जीवित रहने की संभावना बढ़ जाती है। सही समय पर सीपीआर न मिलने पर जीवित रहने की संभावन कम हो जाती है।

और पढ़ें : घाव का प्राथमिक उपचार क्या है, जानिए फर्स्ट ऐड से जुड़ी सारी जानकारी यहां

सीपीआर कैसे दिया जाता है?

हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड (सीपीआर) देने के लिए कई चीजों का ध्यान रखा जाता है। आपकी हल्की सी चूक से पीढ़ित के बचने की संभावना को कम कर सकती है। हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड यानिकी सीपीआर देते वक्त आपको पीढ़ित के सीने के निप्पल्स से थोड़ा ऊपर दोनों चेस्ट के बीच वाली लाइन में दोनों हाथों से 5-6 सेंटीमीटर गहराई से दबाना या कंप्रेस करना है।

आसान भाषा में दोनों निप्पल्स के बीचों-बीच सीने को दोनों हाथों से दबाना है। ऐसा करते वक्त आपको काफी सावधानी बरतनी होगी। यदि आप पीढ़ित की छाती को 5-6 सेंटीमीटर से ज्यादा दबाते हैं तो उसकी पसलियां टूटने का खतरा रहता है। ऐसा होने पर पसलियां ह्रदय में घुस सकती हैं। हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देते वक्त आपको पीढ़ित के सीने को ज्यादा गहराई में नहीं दबाना है।

और पढ़ें : कार में फर्स्ट ऐड बॉक्स रखते समय इन चीजों को रखना न भूलें

सीपीआर देते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के रूप में सीपीआर देते वक्त आपको अपनी कोहनी (एलबो (Elbow)) मोड़ना नहीं है।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के रूप में सीपीआर देते वक्त दोनों हाथों को एकदम सीधा रखें।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के रूप में सीपीआर देते वक्त पीढ़ित को हमेशा फर्श पर पीठ के बल लेटाएं।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देते वक्त पीढ़ित को फर्श पर लेटाकर उसके दोनों हाथ और पैरों को सीधा रखें।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के रूप में सीपीआर देने के लिए उपरोक्त चरणों के बाद ही पीड़ित को सीपीआर दें।

और पढ़ें : टेनिस बॉल कमर दर्द दूर करने का आसान तरीका, जानकर हैरान रह जाएंगे आप

सीपीआर कितने बार और कैसे दें?

  • किसी भी व्यक्ति को हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के रूप में सीपीआर देते वक्त काफी सावधानी बर्तें। पीढ़ित को एक सेट में तीस बार कंप्रेशन (सीने को दबाना) दें। इसके साथ ही आपको मुंह से सांस देनी है।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देते वक्त ऐसा आपको पांच बार करना है।
  • प्रत्येक कंप्रेशन में सीने को 30 बार दबाएं और दो बार मुंह से सांस दें।
  • मुंह से सांस देने के लिए आपको पीढ़ित के मुंह से मुंह लगाना होगा।
  • हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के रूप में मुंह से सांस देते वक्त पीढ़ित की नाक को दूसरे हाथ से बंद कर दें।

और पढ़ें : पारिजात (हरसिंगार) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Night Jasmine (Harsingar)

हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड के लिए विशेष निर्देश

यदि आपके सामने किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक आता है और आप उसे फर्स्ट ऐड देने जा रहे हैं तो सबसे पहले आपातकाली नंबर पर फोन करके सहायता मांग लें। यदि आपके आसपास अन्य लोग भी मौजूद हैं तो उनसे एंबुलेंस बुलाने के लिए कहें।

सहायता पहुंचने तक आपको पीढ़ित को फर्स्ट ऐड देना है। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि सीपीआर चिकित्सा उपचार की जगह नहीं ले सकती है। बेहतर होगा कि आप तत्काल इसकी सूचना आपातकालीन नंबर पर दें, जिससे समय पर उस व्यक्ति की जान को बचाया जा सके।

और पढ़ें : अस्थिसंहार के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Hadjod (Cissus Quadrangularis)

बच्चों को हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड ऐसे दें

हार्ट अटैक या दिल का दौरा एक ऐसी समस्या है, जो बिना किसी उम्र के फासले के हर व्यक्ति को हो सकती है। कई बार शिशुओं या बच्चों का ह्रदय अचानक कार्य करना बंद कर देता हैं या उनके दिल की धड़कन रुक जाती है। हालांकि बड़ों के मुकाबले बच्चों को हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देना एक मुश्किल कार्य है।

और पढ़ें : हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट में क्या अंतर है ?

बच्चों को सीपीआर देते वक्त निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • छोटे बच्चों को सीपीआर देते वक्त आपको हाथ के अंगूठों या इंडेक्स उंगलियों से चेस्ट पर 5 सेंटीमीटर की गहराई तक कंप्रेश करना है।
  • एक बार में 30 कंप्रेशन दें।
  • 30 बार कंप्रेशन देने के तुरंत बाद बच्चे की नाक बंद करके मुंह से दो बार सांस दें।

और पढ़ें : फर्स्ट डिग्री से थर्ड डिग्री तक जानिए जलने के प्रकार और उनके उपचार

जिन्हें सीपीआर नहीं आता हो उन्हें क्या करना है?

जिन लोगों को सीपीआर की जानकारी नहीं है, उन्हें सिर्फ चेस्ट कंप्रेशन देना है। कंप्रेशन देने से पहले तुरंत आपातकालीन नंबर पर सूचित करें। आपको एक मिनट के भीतर 100-120 बार कंप्रेशन देने हैं। कई स्थितियों में सीधे अस्पताल से फोन के जरिए कंप्रेशन कैसे देना है और कब तक देना है इसकी जानकारी दी जा सकती है।

अंत में हम यही कहेंगे सही समय पर हार्ट अटैक में फर्स्ट ऐड देने से किसी व्यक्ति की जान बच सकती है। इसके लिए आपके पास फर्स्ट ऐड की सही जानकारी होना बेहद ही जरूरी है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

चोट लगने पर बच्चों के लिए फर्स्ट एड और घरेलू उपचार

बच्चों के लिए फर्स्ट एड टिप्स क्या हैं, बच्चों के लिए फर्स्ट एड किट में क्या-क्या चीजें होनी चाहिए, फर्स्ट एड कैसे किया जाता है, प्राथमिक उपचार क्या है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

कार में फर्स्ट ऐड बॉक्स रखते समय इन चीजों को रखना न भूलें

यहां जानें कार में फर्स्ट ऐड बॉक्स रखना क्यों जरूरी माना जाता है? साथी ही जानें कार में फर्स्ट ऐड बॉक्स में आपको कौन - कौन सी चीजें रखनी चाहिए। First aid box for car.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया indirabharti
प्रायोजित
कार में फर्स्ट ऐड बॉक्स-First aid box for car

फर्स्ट डिग्री से थर्ड डिग्री तक जानिए जलने के प्रकार और उनके उपचार

जलने के प्रकार क्या हैं, जलने के प्रकार in Hindi, फर्स्ट डिग्री बर्न, सेकेंड डिग्री बर्न, थर्ड डिग्री बर्न, फोर्थ डिग्री बर्न, Types of burn.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

एयर एंबुलेंस के बारे में कितना जानते हैं आप? जानें इसका किराया और बुक करने का तरीका

एयर एंबुलेंस क्या है, air ambulance in hindi, एयर एंबुलेंस का किराया कितना है, india mein air ambulance book kaise karein, india mein air ambulance ka kiraya, प्लेन से मरीज को कैसे ले जाएं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal

Recommended for you

Cashless Air Ambulance- कैशलेस एयर एंबुलेंस सेवा

कैशलेस एयर एंबुलेंस सेवा भारत में हुई लॉन्च, कोई भी कर सकता है यूज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सांप काटने का इलाज - snake bite first aid

सांप काटने का इलाज कैसे करें? जानिए फर्स्ट ऐड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अप्रैल 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बर्न फर्स्ट ऐड

जानें बर्न फर्स्ट ऐड क्या है? आ सकता है आपके बहुत काम

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ अप्रैल 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
फर्स्ट ऐड बॉक्स-First aid box

घर पर फर्स्ट ऐड बॉक्स कैसे बनाएं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया indirabharti
प्रकाशित हुआ अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें