Rexipra Tablet : रेक्सिप्रा टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 17, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

फंक्शन

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) कैसे काम करती है?

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का प्रयोग मेजर डिप्रेसिव डिसऑर्डर (major depressive disorder), सोशल एंग्जायटी डिसऑर्डर (social anxiety disorder), और जनरलाइज्ड एंग्जायटी डिसऑर्डर के उपचार में किया जाता है। डॉक्टर इस टैबलेट को व्यापक रूप से अवसाद, चिंता, पैनिक डिसऑर्डर (panic disorder) और ऑब्सेसिव कम्पल्सिव डिसऑर्डर (obsessive compulsive disorder) जैसे अन्य मेंटल हेल्थ कंडीशन के उपचार के लिए निर्धारित करते हैं। यह एक प्रकार का एंटीडिप्रेसेंट है जिसे सेलेक्टिव सेरोटोनिन रीपटेक इनहिबिटर (SSRI) के रूप में जाना जाता है। ऐसकीटालोप्राम ऑक्सालेट (Escitalopram Oxalate) इसमें मुख्य रूप से एक्टिव इंग्रिडेंट के रूप में मौजूद रहता है। यह मस्तिष्क में एक प्राकृतिक हॉर्मोन सेरोटोनिन की मात्रा को बढ़ाता है, जो मानसिक संतुलन बनाए रखने में मदद करता है।

और पढ़ेंः Acetaminophen : एसिटामिनोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) की सामान्य खुराक क्या है?

मेजर डिप्रेसिव डिसऑर्डर (Major depressive disorder) के लिए इनिशियल डोज

एडोलसेंट

रेक्सिप्रा की अनुशंसित खुराक प्रतिदिन एक बार 10 मिलीग्राम है। यदि खुराक को 20 मिलीग्राम तक बढ़ाने की जरूरत होती है, तो यह कम से कम तीन सप्ताह के बाद की जाती है।

वयस्क 

रेक्सिप्रा की अनुशंसित खुराक प्रतिदिन एक बार 10 मिलीग्राम है। यदि टैबलेट की डोज को 20 मिलीग्राम तक बढ़ाने की आवश्यकता होती है तो ऐसा एक सप्ताह के बाद ही किया जाना चाहिए।

जनरलाइज्ड एंग्जायटी डिसऑर्डर (Generalized anxiety disorder) के लिए इनिशियल डोज इनिशियल डोज

वयस्क

रेक्सिप्रा की अनुशंसित शुरुआती खुराक दिन में एक बार 10 मिलीग्राम है। यदि खुराक को 20 मिलीग्राम तक बढ़ाने की जरूरत होती है तो ऐसा कम से कम एक सप्ताह के बाद किया जाना चाहिए। दवा की अधिकतम डोज 20 मिलीग्राम है।

जब तक आपके डॉक्टर द्वारा नहीं बताया जाए तब तक टैबलेट लेना बंद न करें। इस दवा के डोज के लिए आपको अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। बिना डॉक्टर के परामर्श के आपको किसी भी दवा का सेवन नहीं करना चाहिए।

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) की खुराक मिस हो जाए तो क्या करें?

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) की खुराक अगर गलती से लेना आप भूल जाए या उसका समय मिस हो जाए तो जितनी जल्दी आपको याद आए, वैसे ही आपको टैबलेट का सेवन कर लेना चाहिए। लेकिन, अगर आपके अगली डोज का टाइम हो गया है तो मिस हुई डोज को छोड़ दें। लेकिन दवा का डबल डोज एक साथ ना लें। ऐसा करना आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

अगर गलती से आपने इस रेक्सिप्रा टैबलेट का ओवर डोज ले लिया है तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। दवा का डबल डोज या अधिक डोज आपको किसी गंभीर समस्या में डाल सकता है।

और पढ़ें : Fertisure M Tablet : फर्टिश्योर एम टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • डॉक्टर आपको शुरुआत में दवा की कम डोज दे सकते हैं फिर स्थिति के अनुसार ही इसकी खुराक को बढ़ाते हैं
  • रेक्सिप्रा को रोजाना एक बार, सुबह या शाम, भोजन के साथ या बिना भोजन के लेना चाहिए। टैबलेट को अपने डॉक्टर के परामर्श के अनुसार पानी के साथ ले सकते हैं। टैबलेट को तोड़े या कुचले नहीं, इसे सीधा पानी के साथ निगल लें
  • अपने डॉक्टर से बात किए बिना खुराक में बदलाव न करें या इसे लेना बंद न करें, भले ही आप ठीक महसूस करें। ऐसा करने से आपकी स्थिति खराब हो सकती है या आप चिंता, बेचैनी, घबराहट, चक्कर आना, नींद की गड़बड़ी, आदि से पीड़ित हो सकते हैं।
  • दवा का ज्यादा से ज्यादा लाभ लेने के लिए इसे एक ही निर्धारित समय पर लें।

और पढ़ें : Caldikind Plus: कैलडिकाइंड प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्ट्स

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • किसी भी दवा के साइड इफेक्ट गंभीर या सामान्य हो सकते हैं। दुष्प्रभाव न केवल दवा से दवा में भिन्न होते हैं, बल्कि यह दवा की खुराक, व्यक्ति की स्वास्थ्य स्थिति और व्यक्तिगत संवेदनशीलता पर निर्भर करता है। कुछ रोगियों को विशिष्ट दवाओं के विशिष्ट दुष्प्रभाव मिलते हैं। यदि आपको कोई दुष्प्रभाव महसूस होता है और यह आपको परेशान करता है, तो अपने डॉक्टर को रिपोर्ट करना न भूलें।
  • यदि आपको रेक्सिप्रा से एलर्जी की प्रतिक्रिया के संकेत मिलते हैं, तो तुरंत इमरजेंसी मेडिकल हेल्प लें। जैसे-त्वचा पर चकत्ते या पित्ती, सांस लेने मे तकलीफ, चेहरे, होंठ, जीभ या गले में सूजन।
  • अपने डॉक्टर को किसी भी नए या बिगड़ते लक्षणों की रिपोर्ट करें, जैसे: मनोदशा या व्यवहार में परिवर्तन, चिंता, एंग्जायटी अटैक, नींद आने में परेशानी, अधिक उदास, चिड़चिड़ापन, आत्महत्या या खुद को चोट पहुंचाने के बारे में विचार आना, बेचैनी, अतिसक्रिय (मानसिक या शारीरिक रूप से) महसूस करना आदि।

यदि आपके पास इनमें से कोई भी संकेत मिले तो अपने डॉक्टर को तुरंत दिखाएं जैसे:

  • धुंधला दिखना, आंखों में दर्द या सूजन, बहुत अधिक खुशी या उदासी की भावनाएं;
  • शरीर में सोडियम का निम्न स्तर – सिरदर्द, भ्रम, गंभीर कमजोरी, उल्टी, बॉडी कोऑर्डिनेशन में समस्या, अस्थिरता महसूस करना
  • गंभीर नर्वस सिस्टम रिएक्शन – बहुत कठोर मांसपेशियां, तेज बुखार, पसीना, तेज या असमान दिल की धड़कन, कंपकंपी आदि।

रेक्सिप्रा टैबलेट के आम साइड इफेक्ट्स में शामिल हैं:

यह दुष्प्रभावों की पूरी सूची नहीं है, इसके अलावा भी साइड इफेक्ट्स दिख सकते हैं। दुष्प्रभावों के बारे में चिकित्सकीय सलाह के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

और पढ़ें : Glycomet SR 500 : ग्लाइकोमेट एसआर 500 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानी और चेतावनी

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

इस दवा को लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें, यदि आपको:

  • अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं कि क्या आपको इसके ऐसकीटालोप्राम ऑक्सालेट (Escitalopram Oxalate) या किसी अन्य सामग्री से एलर्जी है।
  • 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए रेक्सिप्रा 10 एमजी टैबलेट की सिफारिश नहीं की जाती है।
  • रेक्सिप्रा टैबलेट से ब्लीडिंग का खतरा बढ़ सकता है। यदि आप ब्लीडिंग डिसऑर्डर (bleeding disorder) से पीड़ित हैं तो दवा के उपयोग में सावधानी बरतें।
  • इस दवा के इस्तेमाल से किशोरों और युवा वयस्कों में आत्महत्या के विचार आने का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए, रोगियों को टैबलेट के सेवन के दौरान काफी देखभाल की आवश्यकता होती है। बुजुर्ग रोगियों में बहुत सावधानी के साथ इस दवा का उपयोग किया जाना चाहिए।
  • अगर आप मोनोमाइन ऑक्सीडेज इनहिबिटर (MOIs) का सेवन कर रहे हैं, तो रेक्सिप्रा को शुरू करने के लिए आपको 14 दिन का गैप किया जाना जरूरी है।
  • ठंड या एलर्जी की दवा, सेडेटिव, नारकोटिक पेन मेडिसिन, नींद की गोलियां (sleeping pills), मसल रेल्क्सेर्स, दौरे या चिंता की दवा आदि के इस्तेमाल से रेक्सिप्रा की वजह से आने वाली नींद में इजाफा कर सकती हैं। अपने डॉक्टर को बताएं यदि आप नियमित रूप से इनमें से किसी भी दवा का उपयोग करते हैं।
  • दर्द, गठिया, बुखार या सूजन के लिए नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा (NSAID) लेने से पहले अपने डॉक्टर से पूछें। इसमें एस्पिरिन, इबुप्रोफेन (एडविल, मोट्रिन), नेप्रोक्सेन(एलेव, नेप्रोसिन, नेपरेलन, ट्रेमेसेट), सेलेकोक्सीब (सेलेब्रेक्स), डाइक्लोफेनाक (आर्थ्रोटेक, कंबिया, कैटाफ्लम, वॉल्टरन, फेल्टर पैच, हेलिकैड, सोलेज सोल्यूज) शामिल हैं। रेक्सिप्रा के साथ एक एनएसएआईडी का उपयोग करने से आप इंजरी और ब्लीडिंग के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं।
  • रेक्सिप्रा टैबलेट से कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं जो आपकी ड्राइव करने की क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं।
  • रेक्सिप्रा टैबलेट का उपयोग लिवर के रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। इस दवा की डोज एडजस्टमेंट की आवश्यकता हो सकती है। टैबलेट के सेवन से पहले कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।
  • रोगी में बेचैनी, दस्त, दिल की धड़कन का तेज होना, मतली, उल्टी जैसे लक्षणों के साथ सेरोटोनिन सिंड्रोम (serotonin syndrome) विकसित हो सकता है। इसलिए, दवा के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से इस विषय पर बात करें।

और पढ़ें : Mahacef Plus: महासेफ प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) को लेना सुरक्षित है?

अगर आप गर्भवती हैं तो रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) न लें। इस दवा को लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें यदि आप प्रेग्नेंट हैं या हो सकती हैं या प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रही हैं। गर्भावस्था के दौरान रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का इस्तेमाल करना असुरक्षित हो सकता है। हालांकि, ह्यूमन स्टडीज काफी सीमित हैं। एनिमल स्टडीज में गर्भ में पल रहे शिशु पर दवा के इस्तेमाल के हानिकारक प्रभाव देखने को मिले हैं। डॉक्टर आपको यह टैबलेट निर्धारित करने से पहले उसके लाभों और किसी भी संभावित जोखिम की निगरानी करेंगे। कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

स्तनपान के दौरान रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का इस्तेमाल करना असुरक्षित है। सीमित मानव डेटा से पता चलता है कि दवा ब्रेस्टमिल्क में पास हो सकती है और बच्चे को नुकसान पहुंचा सकती है। इस दवा को लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

सभी दवाएं हर व्यक्ति से अलग-अलग इंटरैक्ट करती हैं। किसी भी दवा को शुरू करने से पहले आपको अपने डॉक्टर के साथ सभी संभावित इंटरैक्शन की जांच करनी चाहिए। यह टैबलेट नीचे लिखी इन दवाओं के साथ रिएक्ट कर सकती है। जैसे-

  • कार्बामाजेपिन (कार्बेट्रोल, इक्सेट्रो, टेग्रेटोल);
  • सिमेटिडिन (cimetidine)
  • लिथियम (लिथोबिड, एस्क्लिथ),
  • ब्लड थिनर जैसे वारफारिन (Coumadin, Jantoven)
  • किसी भी अन्य एंटीडिप्रेसेंट का इस्तेमाल जैसे कि एमिट्रिप्टिललाइन (Elavil, Vanatrip, Limbitrol), क्लोमीप्रैमाइन (Anafranil), डेसिप्रमाइन (Norpramin), और अन्य; या
  • माइग्रेन या सिरदर्द की दवा जैसे अल्मोट्रिप्टन (Axert), फ्रोवेट्रिप्टन (Frova), सुमाट्रिप्टान (Imitrex, Treximet), नराट्रिप्टन (Amerge), रिजेट्रिप्टन (Maxalt) जोलीमिट्रिपन (Zomig)।

यह सूची पूर्ण नहीं है और अन्य दवाएं रेक्सिप्रा के साथ परस्पर क्रिया कर सकती हैं। अपने डॉक्टर को सभी दवाओं के बारे में बताइए जो आप इस्तेमाल कर रहे हैं। इसमें प्रिस्क्रिप्शन, ओवर-द-काउंटर, विटामिन और हर्बल उत्पाद शामिल हैं। अपने डॉक्टर को बताए बिना किसी नई दवा को लेना शुरू न करें।

और पढ़ें : Grilinctus syrup: ग्रिलिंक्टस सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

एल्कोहॉल रेक्सिप्रा टैबलेट के तंत्रिका तंत्र के दुष्प्रभावों को बढ़ा सकता है जैसे कि चक्कर आना, उनींदापन और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई। कुछ लोग सोचने और डिसीजन लेने में परेशानी का अनुभव भी कर सकते हैं। इसलिए, इस टैबलेट के साथ इलाज करते समय आपको एल्कोहॉल के सेवन से बचना चाहिए। अगर किसी भी टोबैको प्रोडक्ट या एल्कोहॉल के साथ रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम हानिकारक हो सकते हैं। इसलिए, टैबलेट को किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ उपयोग किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें।

और पढ़ें : Deriphyllin: डेरिफीलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टोरेज

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) को कैसे स्टोर करें?

रेक्सिप्रा टैबलेट (Rexipra Tablet) को कमरे के सामान्य तापमान में ही रखें, कोशिश करें कि उसे डायरेक्ट सन लाइट और नमी वाली जगहों पर ना रखें। सेफ्टी के लिए इसे बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें। टैबलेट के एक्सपायर होने के पहले ही इसका सेवन कर लें। डेट एक्सपायर हो जाने पर उसे कैसे डिस्पोज करना है इस बारे में फॉर्मासिस्ट से सलाह लेनी चाहिए।

और पढ़ें : Deworming Tablet : डीवार्मिंग टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

किस रूप में उपलब्ध है?

यह दवा टैबलेट के रूप में उपलब्ध है।

उम्मीद है कि ये आर्टिकल आपके लिए बहुत मददगार साबित होगा। इस आर्टिकल में बताए गए सभी दिशा-निर्देशों के बाद भी अपने डॉक्टर के द्वारा सलाह दिए जाने पर ही इस टैबलेट का सेवन करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

लाफ्टर थेरेपी : हंसो, हंसाओं और डिप्रेशन को दूर भगाओं

लाफ्टर थेरेपी क्या है? लाफ्टर थेरेपी एक प्रकार की चिकित्सा है जो दर्द और तनाव को दूर करने के लिए ह्यूमर का उपयोग करती है। इसका उपयोग मेंटल स्ट्रेस (mental stress) के साथ-साथ कैंसर जैसी गंभीर बीमारी...

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
मूड डिसऑर्डर्स, मेंटल हेल्थ September 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

पेट्स पालना नहीं है कोई सिरदर्दी, बल्कि स्ट्रेस को दूर करने की है एक बढ़िया रेमेडी

पेट थेरेपी क्या है? इसके मानसिक स्वास्थ्य लाभ क्या है, यह कैसे काम करती है? एनिमल थेरेपी (animal therapy) में सबसे ज्यादा कुत्तों और बिल्लियों का उपयोग किया जाता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन September 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

रिटायरमेंट के बाद बिगड़ सकती है मेंटल हेल्थ, ऐसे रखें बुजुर्गों का ख्याल

रिटायरमेंट के बाद मेंटल हेल्थ पर क्या प्रभाव पड़ता है? 60 के पार होने पर बुजुर्गों में डायबिटीज, ऑस्टियोअर्थराइटिस, हाई ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारी के साथ-साथ न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर की संभावना भी बढ़ जाती हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस: क्यों भारत में महिला आत्महत्या की दर है ज्यादा? क्या हो सकती है इसकी रोकथाम?

भारत में महिला आत्महत्या की रोकथाम के लिए क्या करना चाहिए? आखिर क्यों महिलाएं करती हैं आत्महत्या? । Women suicide prevention in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन September 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

मूड डिसऑर्डर्स

मूड डिसऑर्डर के बारे में हर छोटी- बड़ी जानकारी पाएं यहां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 27, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें
एंग्जायटी डिसऑर्डर्स

एंग्जायटी डिसऑर्डर क्यों होता है? क्या है इसके लक्षण और उपचार?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 12, 2021 . 9 मिनट में पढ़ें
एडीएचडी से छुटकारे के लिए होम्योपैथिक उपाय

ADHD : हाइपरएक्टविटी से छुटकारे में होम्योपैथी दिखाती है असर

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr snehal singh
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ January 26, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
कॉलेज स्टूडेंट्स में डिप्रेशन

वर्ल्ड कॉलेज स्टूडेंट्स डे: क्यों होता है कॉलेज स्टूडेंट्स में डिप्रेशन?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ September 9, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें