Grilinctus syrup: ग्रिलिंक्टस सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 18, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

फंक्शन

ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) कैसे काम करती है?

ग्रिलिंक्टस सिरप एक संयोजन दवा है, यह अमोनियम क्लोराइड+क्लोरफेनेरमाइन मालेनेट+ डेक्सट्रोमेथोर्फेन हाइड्रोब्रोमाइड+गुआइफेनेसिन के मिश्रण से तैयार की जाती है। इसका उपयोग खांसी के इलाज के लिए किया जाता है। यह नाक, विंडपाइप और फेफड़ों से बलगम को कम करने में मददगार होती है। इससे खांसी को दूर करने में मदद मिलती है। इसके अलावा यह बहती नाक, आंखों की जलन और गले की जलन से भी राहत दिलाने का भी कार्य करती है।

ग्रिलिंक्टस सिरप को आपका डॉक्टर अन्य समस्याओं में भी सेवन करने की सलाह दे सकता है। इसमें ऐसे कई प्रकार के गुण मौजूदगी होते हैं जो कफ, सांस की समस्या, कॉमन फीवर से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इसमें मौजूद गुआइफेनसिन हमारे शरीर से संक्रमण को दूर रखने में मदद करता है। इसमें अमोनियम क्लोराइड की मात्रा भी होती है। जो हमारी श्वास नलिकाओं को साफ रखने में मदद करती है तो वहीं इसमें मौजूद क्लोरफेनिरामाइन एक एंटीएलर्जिक है जो बहती नाक, आंखों से पानी और छींकने, खुजली जैसे एलर्जी के लक्षणों से राहत देता है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। आमतौर पर ग्रिलिंक्टस सिरप का उपयोग निम्न परेशानियों से राहत दिला सकता है।

और पढ़ें: Clobetasol : क्लोबेटासोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) का सामान्य डोज क्या है?

ग्रिलिंक्टस सिरप आपका डॉक्टर आपकी स्थिति के आधार पर लेने की सलाह देता है। इसका डोज फिक्स नहीं किया गया है। इसको उम्र,जेंडर और स्थिति के आधार पर अलग-अलग रूप में लेने की सलाह दी जाती है। इस सिरप को आप भोजन के बाद ले सकते हैं। सिरप पीने के तुरंत बाद आपको पानी न पीने की सलाह दी जाती है। कुछ समय के बाद आप पानी पी सकते हैं।

ओवरडोज की स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?
आपात या ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

और पढ़ें:Sucralfate : सुक्रालफेट क्या है? जानिए उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मुझे ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

ग्रिलिंक्टस सिरप एक कफ सिरप है। इसका सही प्रकार से इस्तेमाल करने के लिए हमेशा डॉक्टर के दिए गए निर्देशों का पालन करें। डॉक्टर ने जितने समय के लिए आपको इस खुराक का सेवन करने के लिए कहा है। आपको उसका पालन करना चाहिए। यदि आप बताई गई अवधि तक यह खुराक नहीं लेते हैं तो आपकी समस्या जड़ से सामाप्त नहीं होती है। यदि आप बहुत जल्दी उपचार बंद कर देते हैं तो आपके लक्षण दोबारा आ सकते हैं और आपकी स्थिति खराब हो सकती है।

यदि आप पहले से किसी विशेष बीमारी का सामना कर चुके हैं या कर रहे हैं, तो अपने चिकित्सक को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में जरूर बताएं। उन सभी अन्य दवाओं के बारे में बताएं जो आप अभी भी  ले रहे हैं। कुछ लोगों में इसके कुछ मामूली साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिलते हैं।

इस दवा को लेने का चुनाव आप स्वंय न करें। यदि आपको इस दवा के बारे में जानकारी है इसके पश्चात भी किसी को यह दवा स्वंय से लेने की सलाह न दें। यदि आप गर्भवती है या होने के बारे में सोच रही हैं तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा जरूर करें। बच्चों को दवा देते समय अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। बच्चों को आपको उतनी ही खुराक मापकर देना चाहिए। जितना आपके डॉक्टर से आपके बच्चे की उम्र और समस्या के आधार पर कहा है। कभी भी बच्चों को सुलाने के लिए इस दवा का प्रयोग न करें। ध्यान दें इस दवा को लेते समय बहुत सारे तरल पदार्थ लेना फायदेमंद है। इससे पहले कि आप इस दवा को लेना शुरू करें, अपने चिकित्सक को सूचित करना या उनसे परामर्श लेने जरूरी है। 

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें: Clonidine : क्लोनिडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

बहुत कम मामलों में ग्रिलिंक्टस सिरप के साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं। ग्रिलिंक्टस सिरप के कुछ साधारण तो कुछ गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसके गंभीर दुष्प्रभाव बहुत ही दुर्लभ होते हैं। ग्रिलिल्टस-बीएम सिरप के लिए प्रमुख और मामूली दुष्प्रभाव इस प्रकार हैं।

जैसा कि हमने आपको बताया आमतौर पर इसके साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। यदि आपको किसी प्रकार का साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं तो इनमें से अधिकांश अस्थायी होते हैं और आमतौर पर समय के साथ स्वंय ही ठीक  होते हैं। यदि कुछ समय में आपके लक्षण ठीक नहीं होते हैं। तो अपने चिकित्सक से सीधे संपर्क करें।

और पढ़ें:Dolo 650MG Tablet : डोलो 650 एमजी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

इसका प्रयोग करते समय कई ऐसी बातें हैं जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं उनके बारे में।

  • यदि आप किसी प्रकार की बड़ी बीमारी से ग्रस्त हैं जैसे-लिवर की बीमारी, दौरा पड़ना, डायबिटीज, ग्लूकोमा, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, किडनी की बीमारी, अल्सर, ओवरएक्टिव थायरॉइड, यूरिन की समस्या आदि। इनमें से या कोई भी अन्य बीमारी से पीड़ित हैं तो आपको बिना डॉक्टर से परामर्श किए यह दवा प्रयोग में नहीं लाना चाहिए।
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अपने बच्चे की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बिना चिकित्सक की सलाह के दवा का सेवन नहीं करना चाहिए। यदि डॉक्टर इसको लेने की सलाह देते हैं तो ध्यान रखें कि दवा का सेवन करने के कुछ घंटे तक आप बच्चे को स्तनपान न कराएं
  • यदि आप अभी भी किसी प्रकार की दवा का सेवन कर रहे हैं तो ऐसे में बिना डॉक्टर की सलाह पर स्वंय से दवा खरीदकर प्रयोग में न लाएं। एक साथ कई दवाओं का मिश्रण कई प्रकार के साइड इफेक्टस पैदा कर सकते हैं। इस कारण कोई भी जोखिम न लें। दवा का प्रयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें।

क्या प्रेग्नेंसी के दौरान ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

यदि आप गर्भवती है तो किसी भी प्रकार की दवा का उपयोग करने से पहले आपको डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण होता है। यदि आप डॉक्टर से इस दवा को लेने के बारें में बात करते हैं। तो डॉक्टर आपकी स्थिति के अनुसार इसके फायदे और नुकसान के बारे में सभी जानकारी निकालने के बाद ही आपको यह प्रयोग करने की सलाह देते हैं। इसको लेकर कई प्रकार के तर्क सामने आते हैं। जिससे यह पता चलता है गर्भावस्था में इसके कुछ खतरे हो सकते हैं।

क्या शराब सेवन के दौरान ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

ऐसे में आपको अधिक सावधान रहने की जरूरत होती है। यदि आप एल्कोहॉल युक्त पदार्थों को सेवन करते हैं तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। ज्यादातर मामलों में दवा के साथ एल्कोहॉल लेने की सलाह नहीं दी जाती है। ज्यादातर मामलों में दवा के साथ शराब का सेवन करने से कई दुष्प्रभाव देखे गए हैं।

क्या मधुमेह के दौरान ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

हाई ब्लड शुगर के स्तर में परिवर्तन के बढ़ते जोखिम के कारण मधुमेह के इतिहास वाले रोगियों में इस दवा का उपयोग सावधानी से किया जाना चाहिए। आपको इसका उपयोग डॉक्टर के सलाह पर ही करना चाहिए।

क्या ड्राइविंग के दौरान ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

आपको बता दें कि इस दवा के उपयोग से आपको अधिक नींद आने की संभावना होती है। इसलिए जब तक आप यह नहीं जानते, कि यह दवा आपको कैसे प्रभावित करती है, तब तक गाड़ी चलाने या ऐसा कुछ भी नहीं करना चाहिए जिसमें मानसिक रूप से ध्यान केन्द्रित करने की आवश्यकता हो। यह किसी दुर्घटना का कारण बन सकता है।

क्या हृदय रोगियों को ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

इस दवा का उपयोग पहले से मौजूद हृदय रोग वाले रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए ताकि रोगी की स्थिति बिगड़ने का खतरा न हो। ऐसी स्थिति में अपने चिकित्सक की सलाह लेना अति आवश्यक होता है।

क्या किडनी के रोगियों को ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

किडनी की बीमारी के रोगियों में ग्रिलिंक्टस सिरप का उपयोग करना कितना सुरक्षित है इसके बारे में उपलब्ध सीमित आंकड़ों से पता चलता है कि इन रोगियों में ग्रिलिंक्टस सिरप के खुराक समायोजन की आवश्यकता नहीं हो सकती है। इस बारे में आप कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

क्या ग्लूकोमा के रोगियों  को ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

इस दवा का उपयोग पहले से मौजूद ग्लूकोमा के रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए ताकि रोगी की स्थिति बिगड़ने का खतरा न बढ़ जाए। ऐसी ​​स्थिति में आप डॉक्टर से संपर्क करें। 

क्या लिवर के रोगियों को ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

यदि आप लिवर की बीमारी से पीड़ित हैं। इसके इलाज के लिए आप दवा का सेवन भी कर रहे हैं तो इस सिरप का इस्तेमाल करने के लिए अपने डॉक्टर से उचित सलाह जरूर लें। अपनी इच्छा अनुसार मार्केट से दवा खरीदकर उपयोग करने के बारें में न सोचें।

क्या गैस्ट्रिक अल्सरेशन रोगियों को ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को लेना सुरक्षित है?

रोगी की स्थिति बिगड़ने के जोखिम के कारण गैस्ट्रिक अल्सरेशन या किसी अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों के इतिहास वाले रोगियों में उपयोग के लिए इस दवा की सिफारिश नहीं की जाती है। ऐसी स्थिति में किसी भी असामान्य लक्षण को तुरंत डॉक्टर को बताएं। रोगी की ​​स्थिति के आधार पर उचित खुराक समायोजन आवश्यक होती है।

और पढ़ें: Paracetamol : पैरासिटामोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) के साथ इंटरेक्शन कर सकती हैं? 

निम्न दवाएं ग्रिलंक्टस सिरप के साथ रिएक्शन कर सकती हैं।

  • एससिटैलोप्राम (Escitalopram)
  • प्रोप्रानोलोल (Propranolol)
  • मॉक्सिफ्लाक्सासिन (Moxifloxacin )
  • फ्युरोसेमाइड (Furosemide )
  • एंटीबायोटिक्स (antibiotic)
  • कार्विडिलोल (Carvedilol)
  • ऐमियोडैरोन (Amiodarone)
  • क्लोज़ापीन (Clozapine)
  • लाबेटालोल (Labetalol )

और पढ़ें: Levofloxacin: लिवोफ्लॉक्सासिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्टोरेज

मैं ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) को कैसे स्टोर करूं?

ग्रिलिंक्टस सिरप को स्टोर करने के लिए आपको इसे साधारण कमरे के तापमान पर रखना चाहिए। आपको इसे सूर्य की सीधी किरणों से दूर रखना चाहिए। इसको फ्रीज में या बहुत नमी वाली जगह से भी दूर रखना चाहिए। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। दवा को अपने बच्चों से और जानवरों से दूर रखना चाहिए। 

ग्रिलिंक्टस सिरप (Grilinctus syrup) किस रूप में उपलब्ध है?

  • लिक्वीड
  • टेबलेट

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

खांसी का आयुर्वेदिक इलाज: कफ होने पर क्या करें और क्या न करें?

खांसी का आयुर्वेदिक इलाज, सूखी खांसी की आयुर्वेदिक दवा, आयुर्वेदिक दवा के साइड इफेक्ट्स क्या हैं? खांसी होने पर क्या करें और क्या न करें? तुलसी, मुलेठी, अदरक खांसी का देसी इलाज....ayurvedic treatment for cough in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन जून 5, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

Karvol Plus: कारवोल प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कारवोल प्लस की जानकारी in hindi, उपयोग, डोज, सावधानी-चेतावनी को जानने के साथ साइड इफेक्ट्स की भी लें जानकारी, किन बीमारी में होता है इसका इस्तेमाल।

के द्वारा लिखा गया Satish singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

ड्रीम फीडिंग क्या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

ड्रीम फीडिंग तकनीक से माएं बच्चे को दूध पिलाकर रात की नींद खराब होने से बचा सकती हैं। आइए जानते हैं कि यह तकनीक कैसे काम करती है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
स्तनपान, पेरेंटिंग मई 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

REM sleep behavior disorder : रैपिड आई मूवमेंट स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर

रैपिड आई मूवमेंट(REM) स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर एक नींद की बीमारी है, जिसमें हम शारीरिक रूप से अप्रिय सपने या दुःस्वप्न में तेज आवाज़,बाते करना, या शारीरिक गत

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Siddharth Srivastav
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

एम्ब्रोडिल एस सिरप

Ambrodil S Syrup : एम्ब्रोडिल एस सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
जिरकोल्ड

Zyrcold: जिरकोल्ड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 19, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
ग्रिलिंक्टस बीएम

Grilinctus BM: ग्रिलिंक्टस बीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 15, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
Cofsils, कोफसिल्स

Cofsils: कोफसिल्स क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें