home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Zinetac: जिनटैक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जिनटैक (Zinetac) क्या है?|दवा का उपयोग|फंक्शन|सावधानी और चेतावनी|प्रेग्नेंसी और स्तनपान में दवा का उपयोग|साइड इफेक्ट्स|रिएक्शन|डोसेज|स्टोरेज और डिस्पोजेबल तरीके|उपलब्ध खुराक
Zinetac: जिनटैक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जिनटैक (Zinetac) क्या है?

दवा का नाम और केटेगरी

जिनटैक (Zinetac) टैबलेट रेनटिडीन और हाइड्रोक्लाइड मौजूद होता है।

ओटीसी (OTC) या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग

जिनटैक (Zinetac) टैबलेट एक प्रिस्क्रिप्शन ड्रग है यानी इसका इस्तेमाल डॉक्टर द्वारा पर्चे पर लिखे जाने के बाद ही किया जा सकता है।

एक्टिव इंग्रिडेंट

इस टैबलेट में सक्रिय तत्व के रूप में रेनटिडीन और हाइड्रोक्लाइड पाया जाता है।

विशिष्ट उपयोग

जिनटैक (Zinetac) टैबलेट का मुख्य इस्तेमाल एसिडिटी संबंधित बीमारियों के इलाज में किया जाता है।

दवा का उपयोग

जिनटैक (Zinetac) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

इस दवा को चाहे तो पानी के साथ सेवन कर सकते हैं या फिर खाना खाने के 30 से 60 मिनट पहले सेवन कर सकते हैं। ऐसा कर हार्टबर्न (Heartburn) की समस्या से बचा जा सकता है, लेकिन सेवन को लेकर डॉक्टरी सलाह बेहद ही जरूरी है। इस दवा का उपयोग निम्न स्वास्थ्य समस्याओं में किया जाता है।

गैस्ट्रिक और डूओडेनल अल्सर (Duodenal Ulcer) : इस दवा का इस्तेमाल पेट में मौजूद अल्सर (गैस्ट्रिक) और स्मॉल इंटेस्टाइन अल्सर (Duodenal Ulcer) का इलाज करने के लिए किया जाता है। वहीं स्ट्रेस के कारण होने वाले अल्सर को भी ठीक करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल होता है।

गेस्ट्रोसोफिजील रिफलक्स डिजीज (Gastroesophageal reflux disease) : रिफलक्स डिजीज का इलाज करने के लिए भी इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है। पेट में बनने वाले एसिड और फूड पाइप इसोफेगस में होने वाले इरीटेशन को ठीक करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

इरोसिव इसोफेगिटिस : इस दवा का इस्तेमाल इरोसिव इसोफेगेटिस (इसोफेगल में जलन या सूजन) को ठीक करने के लिए किया जाता है। ऐसा सामान्य से ज्यादा मात्रा में एसिड सिक्रेशन के कारण होता है।

जोलिंगर इलोशन सिंड्रोम : इस दवा का इस्तेमाल पेट में सामान्य से अधिक मात्रा में बनने वाले एसिड को ठीक करने के लिए किया जाता है। ऐसा ट्यूमर और स्मॉल इंटेस्टाइन के कारण हो सकता है।

हाइपरसिक्रिटोरी कंडीशन : पेट में निकलने वाला एसिड एकाएक ज्यादा मात्रा में निकलने लगे तो उस कंडीशन में इसका इलाज किया जाता है।

डिस्पीसिया (Dyspepsia) : पेट में अत्यधिक एसिड प्रोडक्शन के कारण होने वाले इनडायजेशन और सोर स्टमक की समस्या को इस दवा का सेवन कर निजात पाया जा सकता है।

और पढ़ें : Pulmoclear: पलमोक्लिअर क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

फंक्शन

जिनटैक कैसे काम करता है?

जिनटैक दवा में रेनटिडीन और हाइड्रोक्लाइड पाया जाता है। इस दवा का इस्तेमाल पेट में मौजूद एसिड को कम करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा स्टमक अल्सर, गेस्ट्रोसोफिजील रिफलक्स डिजीज (gastroesophageal reflux disease (GERD) सहित अन्य एसिडिटी से संबंधित बीमारी व परेशानी को दूर करने के लिए भी इसका उपयोग होता है। पेट में सामान्य की तुलना में अत्यधिक एसिड उत्पन्न होने के साथ इनडायजेशन जैसी समस्या को दूर करने में भी यह मददगार है, लेकिन सबसे जरूरी है कि दवा का सेवन हमेशा एक्सपर्ट की राय लेकर ही करना चाहिए। खुद से इसका सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

सावधानी और चेतावनी

जिनटैक (Zinetac) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

दवा का इस्तेमाल कब करना है और कब नहीं इसको लेकर हमेशा सावधान रहने की जरूरत है। जरूरी है कि यदि किसी व्यक्ति को रेनिटिंडीन दवा से एलर्जी है तो उसे यह दवा सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा पोरफायरिया (Porphyria) रोग से ग्रसित मरीजों को इस दवा के सेवन की सलाह नहीं दी जाती है। संभावना रहती है कि दवा देने से शरीर में पोरफाइरीन बढ़ जाए।

निमोनिया (Pneumonia): इस दवा का सेवन करने के कारण निमोनिया की बीमारी होने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं। वहीं मरीज को सीने में दर्द, बुखार जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। वहीं सांस लेने में परेशानी के साथ कफ में ग्रीन व यल्लो द्रव निकलने की मरीज डॉक्टर से शिकायत करता है। ऐसे में मरीज की जांच कर डॉक्टर दवाओं में जरूरी बदलाव कर, डोज एडजस्टमेंट कर सकते हैं।

क्रॉनिक हार्ट बर्न (Chronic heart burn) : यदि आपको क्रॉनिक हार्ट बर्न की समस्या तीन महीने से ज्यादा समय से है और समस्या जटिल होती जा रही है तो ऐसे में आपको डॉक्टरी सलाह लेने की आवश्यकता है। नहीं तो समस्या और जटिल हो सकती है।

विटामिन बी 12 की कमी होने पर : यदि लंबे समय तक यह दवा चलाई जाए तो शरीर में विटामिन बी 12 को एब्जॉर्ब करने की क्षमता कम हो जाती है। ऐसे में आपको डॉक्टरी सलाह लेने की आवश्यकता है। नहीं तो समस्या और जटिल हो सकती है।

निकोटीन का इस्तेमाल (Nicotine use): दवा का सेवन करने के दौरान निकोटीन का इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दी जाती है। यदि कोई ऐसा करता है तो उसकी स्थिति और ज्यादा जटिल हो सकती है।

गेस्ट्रोइंटेस्टायनल ब्लीडिंग: जो मरीज गेस्ट्रोइंटेस्टायनल ब्लीडिंग (gastrointestinal bleeding) की बीमारी से ग्रसित होते हैं उन्हें इस दवा के सेवन की सलाह नहीं दी जाती है, इसका सेवन करने से बीमारी और जटिल हो सकती है। यही वजह है कि डॉक्टर जिनटैक का सेवन नहीं करने की सलाह देते हैं।

और पढ़ें : Tamsulosin: टैम्सुलोसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

प्रेग्नेंसी और स्तनपान में दवा का उपयोग

प्रेग्नेंसी : गर्भवती महिलाओं को इस दवा के सेवन की सलाह नहीं दी जाती है, जब तक जरूरी ही न हो जाए। दवा देने के पूर्व रिस्क व बेनिफिट के बारे में डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

ब्रेस्ट फीडिंग: शिशु को दूध पिलाने वाली महिलाओं को इस दवा का सेवन करने की सलाह नहीं दी जाती है। डॉक्टर जरूरी होने पर ही स्पेशल केस में दवा का सेवन करने की सलाह देते हैं। दवा देने के पूर्व रिस्क व बेनिफिट के बारे में डॉक्टर से बात करनी चाहिए। तभी दवा का सेवन कर सकते हैं।

साइड इफेक्ट्स

जिनटैक (Zinetac) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा का सेवन करने से होने वाले मेजर साइड इफेक्ट पर एक नजर।

और पढ़ें : Tranexamic Acid : ट्रेनेक्सामिक एसिड क्या है?

रिएक्शन

कौन सी दवाइयां जिनटैक (Zinetac) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

दवाएं जिनके साथ हो सकता है रिएक्शन वे निम्न हैं।

– कीटोकोनाजोल (Ketoconazole)

– लोपिरामिडे (Loperamide)

– मेटफोरमिन (Metformin)

– एटाजेनेविर (Atazanavir)

– डासाटिनिब (Dasatinib)

– पाजोफेनिब (Pazopanib)

दवा का असर प्रत्येक आदमी पर अलग होता है। ऐसे में जरूरी होता है कि कोई भी दवा शुरू करने के पूर्व डॉक्टरी सलाह लें।

शराब: इस दवा पर शराब का सेवन करने के साथ रिएक्शन के नतीजे अभी भी अज्ञात हैं। यदि आप नियमित तौर पर शराब का सेवन करते हैं तो डॉक्टरी सलाह लेना जरूरी हो जाता है।

बीमारी जिनके साथ रिएक्शन की हैं संभावनाएं

लिवर डिजीज : लिवर की बीमारी से ग्रसित मरीजों को काफी सोच समझकर इस दवा को एक्सपर्ट देते हैं। क्योंकि इसके विपरीत परिणाम देखने को मिल सकते हैं। यदि इस दवा को देते हैं तो जरूरी है कि लिवर फंक्शन टेस्ट समय- समय पर किया जाए। ऐसे में जरूरी हो जाता है डॉक्टर डोज एडजस्टमेंट करें और जिनटैक की बजाय कोई दूसरी दवा का सुझाव दें।

किडनी डिजीज : किडनी की बीमारी से ग्रसित मरीजों को काफी सोच समझकर इस दवा को एक्सपर्ट देते हैं। क्योंकि इसके विपरीत परिणाम देखने को मिल सकते हैं। यदि इस दवा को देते हैं तो जरूरी है कि किडनी फंक्शन टेस्ट समय समय पर किया जाए। ऐसे में जरूरी हो जाता है डॉक्टर डोज एडजस्टमेंट करें और जिनटैक की बजाय कोई दूसरी दवा का सुझाव दें।

डोसेज

जिनटैक (Zinetac) का सामान्य डोज क्या है?

व्यस्क और बच्चे : जिनकी उम्र 12 साल के आसपास है यदि वे इस दवा का सेवन करते हैं तो जरूरी है कि एक ग्लास पानी के साथ दवा का सेवन करें। व्यस्क और बड़े बच्चे चाहें तो खाना खाने के 30 से 60 मिनट पहले एक ग्लास पानी के साथ इस दवा का सेवन कर सकते हैं। इससे हार्टबर्न की समस्या से भी निजात मिलेगी। डॉक्टरी सलाह के अनुसार आप चाहे तो दिन में दो बार इस दवा का सेवन कर सकते हैं, लेकिन 24 घंटे में इससे ज्यादा डोज नहीं दी जाती है, इसके लिए डॉक्टरी सलाह लेना जरूरी हो जाता है।

12 साल से कम बच्चों के लिए : 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए यदि इस दवा को शुरू करने से सबसे पहले डॉक्टरी सलाह ली जाए। उसके बाद ही बच्चों को यह दवा दी जानी चाहिए नहीं तो उनकी सेहत पर नकारात्मक प्रभाव देखने को मिल सकता है।

ओवरडोज होने पर : डॉक्टरी सलाह के सुझाए गए दवा से यदि आप ज्यादा दवा का सेवन या ओवरडोज कर लेते हैं उस स्थिति में जरूरी है कि जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। कई केस में मेडिकल इमरजेंसी तक की जरूरत पड़ सकती है।

डोज मिस होने पर : यदि आप दवा का सेवन करना भूल जाते हैं तो जरूरी है कि जितना जल्दी संभव हो या याद आने पर दवा का सेवन करना चाहिए।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें :Oxcarbazepine: ओक्स्कार्बजेपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्टोरेज और डिस्पोजेबल तरीके

जिनटैक (Zinetac) को कैसे करूं स्टोर?

दवा को सुरक्षित रखने के लिए इसे 20 से 25 डिग्री तापमान पर रख सकते हैं, लेकिन इस बात का ख्याल रखना चाहिए इसे फ्रिज में न रखें। इसे सूर्य की सीधी रोशनी से बचाने के साथ अत्यधिक नमी और गर्मी से बचाकर रखना चाहिए। बता दें कि यह प्रोडक्ट सोडियम और शुगर फ्री है।

जिनटैक (Zinetac) किस रूप में है उपलब्ध

इंजेक्शन : इस दवा का प्रत्येक इंजेक्शन रेनिटिडीन एचसीएल का 28 एमजी (25 एमजी रेनिटिडीन एनहायड्रस फ्री बेस) नामक तत्व इंजेक्शन में मौजूद रहता है। नॉन मेडिकल इंग्रीडिएंट्स में डीसोडियम हाइड्रोजेन आर्थोफोस्फेट, फेनोइल (5 एमजी/एमएल) और पोटेशियम डाईहाइड्रोजन आर्थोफोस्फेट की मात्रा पाई जाती है।

टेबलेट 150 एमजी : सफेद रंग में आने वाली गोलाकार टेबलेट फिल्म से कोटेड रहती हैं। इसमें 168 एमजी रेनिटिनडीन एचसीएल (150 एमजी रेनिटिडीन एनहायड्रस फ्री बेस) की मात्रा होती है। नॉनमेडिकल इंग्रीडिएंट्स में मैग्नीशियम स्टीयरेट, माइक्रोक्रिस्टेलाइन सेल्यूल्स, फिल्म कोटिंग सस्पेंशन, हाइड्रोप्रोफिल मिथेलसेल्यूलोस, टाइटेनियम डाइऑक्साइड और ट्राईसिटीन, ग्लूटेन और टारट्रेजीन फ्री जैसे तत्व होते हैं।

टेबलेट 300 एमजी : सफेद रंग में आने वाली गोलाकार टेबलेट फिल्म से कोटेड रहती है। इसमें 336 एमजी रेनिटिनडीन एचसीएल (300 एमजी रेनिटिडीन एनहायड्रस फ्री बेस) की मात्रा होती है। नॉनमेडिकल इंग्रीडिएंट्स में मैग्नीशियम स्टीयरेट, माइक्रोक्रिस्टेलाइन सेल्यूल्स, फिल्म कोटिंग सस्पेंशन, हाइड्रोप्रोफिल मिथेलसेल्यूलोस, टाइटेनियम डाइऑक्साइड और ट्राईसिटीन, ग्लूटेन और टारट्रेजीन फ्री जैसे तत्व होते हैं।

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टरी सलाह लें। ।

सूचना- रेनिटिनडीन युक्त प्रोडक्ट को हाल ही में एफडीए ने बैन कर दिया है। ऐसा इसलिए किया है क्योंकि इसमें कार्सिनोजेनिक नामक तत्व एन निट्रोसोडिमिथेलेमीन (एनडीएमए) पाया जाता है। वहीं इसके कारण कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। इसलिए डॉक्टर की सलाह पर ही हमेशा इसका उपयोग करें।

उपलब्ध खुराक

यह दवा टैबलेट के रूप में उपलब्ध है।

आपको इस दवा का सेवन कब और कैसे करना चाहिए इसकी जानकारी अपने डॉक्टर से लें। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/02/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड