home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Zolpidem : जोल्पिडेम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Zolpidem : जोल्पिडेम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां
जोल्पिडेम (Zolpidem) टैबलेट क्या है?|दवा का उपयोग|फंक्शन|इस्तेमाल के लिए निर्देश|सावधानी और चेतावनी|प्रेग्नेंसी और स्तनपान में दवा का उपयोग|साइड इफेक्ट्स|रिएक्शन|डोसेज|स्टोरेज और डिस्पोजेबल तरीके|उपलब्ध खुराक

जोल्पिडेम (Zolpidem) टैबलेट क्या है?

दवा का नाम और केटेगरी

जोल्पिडेम (Zolpidem) टैबलेट सेडेटिव- हिप्नोटिक्स (Sedative-hypnotics) क्लास के अंतर्गत आने वाला ड्रगस है।

ओटीसी (OTC) या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग

जोल्पिडेम (Zolpidem) टैबलेट एक प्रिस्क्रिप्शन ड्रग है यानी इसका इस्तेमाल डॉक्टर द्वारा पर्चे पर लिखे जाने के बाद ही किया जा सकता है।

एक्टिव इंग्रिडेंट

इस टैबलेट में सक्रिय तत्व के रूप में जोल्पिडेम टार्ट्रेट (Zolpidem tartrate) इनएक्टिव इंग्रिडेंट मौजूद होता है।

विशिष्ट उपयोग

जोल्पिडेम (Zolpidem) टैबलेट का मुख्य इस्तेमाल इन्सोम्निया के इलाज के लिए किया जाता है।

दवा का उपयोग

मैं जोल्पिडेम को कैसे स्टोर करूं?

जोल्पिडेम को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। जोल्पिडेम को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में जोल्पिडेम के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें।

सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। बिना निर्देश के जोल्पिडेम को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

फंक्शन

एडल्ट यानी बड़ी उम्र के लोगों में नींद से जुड़ी समस्या (इन्सोम्निया) के इलाज में जोल्पिडेम का इस्तेमाल किया जाता है। अगर आपको नींद की समस्या है तो इस दवा के इस्तेमाल से आपको जल्दी नींद आएगी और आप रात में अच्छे से आराम कर सकेंगे। जोल्पिडेम, ड्रग के एक समूह से संबंधित दवा है जिसे सेडेटिव- हिप्नोटिक्स कहते हैं। यह दवा कामिंग इफेक्ट (calming effect) का निर्माण करने के लिए आपके दिमाग पर काम करती है।

आमतौर पर जोल्पिडेम एक से दो हफ्ते या उससे भी कम समय के लिए इस्तेमाल होती है।

इस्तेमाल के लिए निर्देश

मैं जोल्पिडेम का कैसे इस्तेमाल करूं?

इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट द्वारा दी गई मेडिकेशन गाइड को फॉलो करें। अगर आपको इस बारे में कोई सवाल हो तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें।

जोल्पीडेम के उपयोग से पहले और हर बार इसे रिफिल कराते समय दवा के साथ दिए गए दिशा निर्देशों को पढ़ें और अगर दवा के साथ में पीआईएल (Patient Information Leaflet) भी उपलब्ध है तो उसे भी ध्यानपूर्वक पढ़ें।

आमतौर पर डॉक्टर के निर्देश के अनुसार रात में एक बार जोल्पिडेम को खाली पेट खाएं। चूंकि जोल्पीडेम तेजी से काम करती है इसलिए सोने से ठीक पहले इसका इस्तेमाल करें। इस दवा को भोजन या भोजन के बाद ना खाएं क्योंकि इस वजह से यह दवा तेजी से काम नहीं करती है।

जब तक आपके पास कम से कम 7 से 8 घंटे की पूरी नींद लेने के लिए समय न हो, तब तक इस दवा की एक भी डोज न लें। यदि आपको इससे पहले ही जागना पड़ता है, तो आपको कुछ मेमोरी लॉस की समस्या हो सकती है और किसी भी गतिविधि सुरक्षित रूप से करने में परेशानी हो सकती है, जिसमें सतर्कता की आवश्यकता होती है, जैसे ड्राइविंग या मशीनरी को ऑपरेट करना आदि। (सावधानी भाग को भी देखें)।

और पढ़ें : क्या नींद में कमी कर सकती है आपकी इम्यूनिटी को कमजोर?

इस दवा की खुराक आपकी उम्र, आपकी मेडिकल स्थिति, वो दवाइयां जिन्हें आप पहले से ही ले रहें हैं और आप इलाज के प्रति कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर भी निर्भर करती है। आप इस दवा की ना तो ज्यादा खुराक लें, ना ही इसे बार- बार इस्तेमाल करें और ना ही निर्धारित समय से ज्यादा समय तक इसका इस्तेमाल करें। एक दिन में 10 मिलीग्राम से ज्यादा की खुराक ना लें। महिलाओं को इस दवा की कम खुराक लेनी चाहिए क्योंकि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह दवा कम गति से शरीर के बाहर निकल पाती है। बड़े और बुजुर्ग लोगों में इस दवा की कम खुराक का ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इसे साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है।

खासतौर पर अगर जोल्पिडेम का इस्तेमाल लंबे समय तक किया जाए या फिर इसकी ज्यादा खुराक ली जाए तो विड्रॉवल रिएक्शन (withdrawal reaction) हो सकता है। अगर आप इस दवा को अचानक से बंद कर देते हैं तो इससे विड्रॉवल लक्षण (जैसे मिचली, उल्टी, फ्लूशिंग, पेट में खिंचाव, नर्वसनेस, कंपन) आदि उत्पन्न हो सकते हैं। इस तरह की समस्या को रोकने के लिए आपका डॉक्टर इस दवा की खुराक को कम कर सकता है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें और इस तरह के विड्रॉअल लक्षणों के बारे तुरंत रिपोर्ट करें।

इसके फायदों के अलावा इस दवा के इस्तेमाल से कभी कभी इसकी आदत भी पड़ जाती है। यदि आपने अतीत में शराब या ड्रग्स का दुरुपयोग किया है तो यह जोखिम बढ़ सकता है। इस दवा को आप निर्धारित खुराक के हिसाब से ही लें जिससे आपको इसकी आदत ना पड़े।

जब जोल्पिडेम लंबे समय तक ली जाती है तब यह ठीक से काम नहीं करती है। जब यह दवा काम करना बंद कर दें तो अपने डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं।

अगर 7 से 10 दिनों तक आपकी स्वास्थ्य स्थिति ऐसे ही बनी रहती है या और अधिक खराब हो जाती है तब अपने डॉक्टर से इस बारे में जरूर बात करें।

इस दवा को बंद करने के बाद आपको पहले कुछ रातों को ठीक से नींद नहीं आएगी। इसे रिबाउंड इन्सोम्निया कहा जाता है और यह एक सामान्य बात है। यह प्रभाव एक से दो रातों तक रहता है। अगर यह प्रभाव आगे भी जारी रहता है तो डॉक्टर से संपर्क करें।

सावधानी और चेतावनी

एफडीए प्रेग्नेंसी खतरे की सूची इस प्रकार है;

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान का पॉजिटिव प्रमाण
  • X= इस बारे में मतभेद हैं
  • N= कुछ पता नहीं

और पढ़ें : Isoniazid : आइसोनियाजिड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, डोज और सावधानियां

इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले इसके फायदों और इसके नुकसान के बारे में पता होना चाहिए। इस बात का निर्णय आप और आपका डॉक्टर लेगा। इस दवा के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:

एलर्जी होने पर

अगर आपको इस दवा से या किसी दूसरी दवाइयों से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को बताएं। अगर आपको किसी दूसरे तरह की जैसे फूड्स, डाइज, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों आदि से एलर्जी है तो अपने हेल्थ केयर प्रोफेशनल से बात करें। नॉन प्रिस्क्रिप्शन ड्रग के लिए लेबल और पैकेज सामग्री को पढ़ें।

बच्चों के उपचार में

बच्चों में इस दवा के प्रभाव और उनके उम्र को लेकर अभी पर्याप्त अध्ययन उपलब्ध नहीं हैं। इस बारे में सुरक्षा और इसके प्रभाव को निर्धारित नहीं किया गया है।

वृद्धों के उपचार में

आज तक किए गए उचित अध्ययनों ने वृद्धों से संबंधित विशिष्ट समस्याओं का प्रदर्शन नहीं किया है जो बुजुर्गों में जोल्पिडेम की उपयोगिता को सीमित करेगा। हालांकि बुजुर्गों में जो नवयुवकों की तुलना में जोल्पिडेम के प्रभाव के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं उनमें कंफ्यूजन, सिर चकराने, फालिंग की समस्या आदि हो सकती है।

अगर आप नीचे बताई गई किसी भी बीमारी से पीड़ित हैं तो इस दवा के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट को सूचित करें।

प्रेग्नेंसी और स्तनपान में दवा का उपयोग

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान जोल्पिडेम का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान इस दवा का इस्तेमाल तभी करना चाहिए जब बहुत जरूरी हो। जिन माओं ने गभावास्था के आखिरी 3 महीनों में इस दवा का सेवन किया होता है उनके बच्चों में नींद से जुड़ी समस्याएं, सांस में तकलीफ और अंगों का टेढ़ापन जैसी समस्याओं का खतरा हो सकता है। अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर से इसके फायदों और नुकसान की चर्चा करें।

इस दवा की कुछ मात्रा मां के दूध में मिल सकती है और उसकी वजह से शिशु में कुछ असामान्य लक्षण नजर आ सकते हैं जैसे कि : सोने में दिक्कत, सांस लेने में तकलीफ, अंगों का टेढ़ापन आदि। अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

साइड इफेक्ट्स

जोल्पिडेम के इस्तेमाल से गंभीर एलर्जिक रिएक्शन हो सकते हैं। आप जोल्पिडेम का इस्तेमाल बंद करें और इमरजेंसी मेडिकल सहायता लें अगर आपको ये एलर्जिक रिएक्शन महसूस होते हैं जैसे हिव्स, सांस लेने में दिक्कत होना, चेहरे, होठ, जीभ और गले में सूजन होना आदि।

अगर आपको नए लक्षण दिखाई दें या पुराने लक्षण खराब स्थिति में पहुंच जाए तो अपने डॉक्टर को रिपोर्ट करें जैसे डिप्रेशन, उलझन, एग्रेशन, उत्तेजना, कंफ्यूजन, असामान्य विचार, भ्रमित होना, मेमोरी की समस्या, व्यक्तित्व में बदलाव, खतरा लेने का स्वभाव, अवरोध में कमी, खतरे से ना डरना या आत्महत्या करने का विचार आना आदि।

जोल्पिडेम का इस्तेमाल बंद करें और अपने डॉक्टर को कॉल करें अगर आपको

  • सीने में दर्द, तेज या अनियमित हार्टबीट का होना, सांस लेने में परेशानी होना
  • सांस लेने में या निगलने में दिक्कत होना
  • ऐसा महसूस होना जैसे कि आपकी मृत्यु होने वाली है

कम गंभीर साइड इफेक्ट्स जैसे

  • दिन में ऊंघना, सिर चकराना, कमजोरी, नशा जैसा महसूस होना या सिर हल्का होना
  • थकान महसूस होना, संतुलन की कमी होना
  • नाक जाम होना, मुंह सूखना, नाक और गले मे उलझन होना
  • मिचली, कब्ज, डायरिया, पेट खराब होना
  • सिर दर्द, मांसपेशियों में दर्द होना

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। आपको यहां पर कुछ साइड इफेक्ट्स बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें : Enterogermina : एंटरोजर्मिना क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

रिएक्शन

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो जोल्पिडेम उसके साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

निम्नलिखित किसी भी दवा के साथ इस दवा के इस्तेमाल के बारे में नहीं बताया गया है। इसका निर्णय आपका डॉक्टर लेगा कि इस दवा के साथ आपका इलाज नहीं करना है या आपकी दवाइयों को बदलना है।

  • सोडियम ऑक्सिबेट

आमतौर पर निम्नलिखित दवाइयों के साथ यह दवा नही ली जाती है, लेकिन कुछ बीमारियों में इसको लेना जरूरी हो सकता है। अगर दोनों दवाइयां एक साथ प्रिस्क्राइब की गई हैं तो आपका डॉक्टर इसकी खुराक को बदल सकता है या आपको बताएगा कि कैसे आप इन दवाइयों का इस्तेमाल करें?

  • एल्प्राजोलाम, बुप्रेनोरफीन, बुस्पिरोन, ब्यूटाबर्बिटल, कार्बामेजापाइन, कार्बिनोक्सामीन, सेरेटिनिब, क्लोरडायाजेपॉक्साइड, क्लोरप्रोमाजीन, क्लैरिथ्रोमायसिन, क्लोनाजेपाम, क्लोराजीपेट, कोबीसिस्टेट, क्रिजोटीनिब, डेबराफेनिब, डेक्समेडेटोमिडीन, डायाजेपाम, डाईफेनिलहाइड्रामीन, डोक्सिलामीन, ऐस्लिकार्बाजेपाइन, इस्टाजोलम, इस्जोपीक्लोन, इथक्लोर्वीनॉल, फेंटानिल, फ्लुमाजेनिल, फ्लूराजेपाम, फॉस्प्रोपोफॉल, हेलाजेपाम, हाइड्रोकोडोन, हाइड्रोमोर्फ़ोन, हाइड्रोक्सीजिन, इडेलालिसिब, लोराजेपाम, मेक्लिजीन, मेप्रोबामेट, मेथाडोन, मिडाजोलाम, मिटोटेन, मॉर्फिन, सल्फेट लिपोसोम, निलोटिनिब, ऑक्साजेपाम, ऑक्सिकोडोन, पेंटोबर्बिटल, फिनोबर्बिटल, पिपराक्विन, प्राजेपाम, प्रिमिडोन, प्रोमेथाजीन, प्रोपोफॉल, क्वाजेपाम, रेमल्टियोन, सिकोबर्बिटल, सिल्टुक्सिमेब, सुवोरेकसेंट, टापेंटाडॉल, टेमाजेपाम, थियोरीडाजीन, ट्रॉयाजोलाम, जालेप्लोन।

निम्नलिखित दवाइयों के साथ जोल्पिडेम का इस्तेमाल करने से साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है, लेकिन दोनों ड्रग्स का इस्तेमाल करना आपके लिए बेहतर इलाज हो सकता है। अगर दोनों दवाइयों को एक साथ प्रिस्क्राइब किया गया है तो आपका डॉक्टर इसकी खुराक को बदल सकता है या आपको बताएगा कि इन दवाइयों को कैसे इस्तेमाल करना है?

  • बुप्रोपियोन, सिप्रोफ्लॉक्सासिन, डेसिप्रामीन, फ्लुवोक्सामीन, कीटोकोनाजॉल, पिरैम्पानेल, रिफैम्पीन, सर्टालीन, सेंट जॉन वर्ट, टेलाप्रिवीर, वेंलाफाक्सिन।

क्या एल्कोहॉल और भोजन के साथ जोल्पिडेम का इस्तेमाल किया जा सकता है?

जोल्पिडेम भोजन और एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे ड्रग का एक्शन प्रभावित हो सकता है या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस ड्रग को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इस बारे में बात करें।

जोल्पिडेम खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

जोल्पिडेम आपकी स्वास्थ्य स्थिति के अनुसार इंटरैक्ट कर सकती है। इससे आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं खासतौर पर अगर ये समस्याएं हैं जैसे;

  • एल्कोहॉल की बुरी लत
  • ड्रग की लत या उस पर निर्भरता- इससे जोल्पिडेम पर निर्भरता बढ़ सकती है।
  • डिप्रेशन या पहले से इसकी समस्या हो
  • फेफड़े की बीमारी या सांसाें की तकलीफ
  • मानसिक बीमारी या पहले कभी यह बीमारी हुई हो
  • मायस्थेनिया ग्रेविस (मांसपेशियों की बीमारी)
  • स्लीप एपनिया (सोते समय सांस की समस्या)- इस स्थिति में ध्यान से इस दवा का इस्तेमाल करें क्योंकि इससे स्थिति और अधिक खराब हो सकती है। लिवर की बीमारी- ध्यान से इस्तेमाल करें। इस स्थिति में ब्लड में जोल्पिडेम का स्तर बढ़ जाता है जिससे साइड इफेक्ट्स होने की संभावना बढ़ सकती है।
और पढ़ें : Glycomet : ग्लाइकोमेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

जोल्पिडेम कैसे उपलब्ध है?

जोल्पिडेम निम्नलिखित खुराक और क्षमताओं में उपलब्ध है;

  • टैबलेट 6.25 मिलीग्राम; 12.5 मिलीग्राम

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में अपने लोकल इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड पर जाएं।

ओवरडोज के लक्षण इस प्रकार हैं;

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप जोल्पिडेम की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

स्टोरेज और डिस्पोजेबल तरीके

  • इस टैबलेट को अतिरिक्त गर्मी और प्रकाश से बचाएं। सुरक्षा के लिए इस टैबलेट को बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें। दवा को कमरे के तापमान पर स्टोर करें।
  • दवा की एक्सपायरी हो जाने पर इस टैबलेट का उपयोग न करें। टैबलेट को डिस्पोज करने के बारे में फॉर्मासिस्ट से सलाह लेनी चाहिए। इसे टॉयलेट में फ्लश न करें।

उपलब्ध खुराक

नींद की कमी को दूर करने के लिए इस दवा के सेवन की सलाह दी जाती है। इसलिए आपके डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देश का पालन करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Zolpidem Accessed on 16/07/2016

Zolpidem Accessed on 16/07/2016

Zolpidem Accessed on 16/07/2016

Zolpidem, Oral Tablet Accessed on 09/12/2019

Zolpidem Accessed on 09/12/2019

Zolpidem TARTRATE Accessed on 09/12/2019

AMBIEN Accessed on 09/12/2019

zolpidem – oral, Ambien Accessed on 09/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anoop Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 31/10/2019
x