अगर आपको एक्सरसाइज के दौरान दमा के लक्षण (Asthma Symptoms) महसूस होते है, तो डॉक्टर से आपको बात कर के उन्हें टेस्ट करवाना चाहिए। ताकि आपमें इसके लक्षण आगे न बढ़ पाएं।

आपके डॉक्टर आपकी शारीरिक गतिविधि से पहले, आपकी ब्रिदिंग की जांच कर सकते हैं। वह यह चैक करेंगे कि आपके फेफड़े कैसे काम कर रहे हैं। इसके अलावा यह भी चैक करेंगे कि क्या एक्सरसाइज आपके अस्थमा के प्रॉब्लम (Asthma Problem) को ट्रिगर कर रहा है।

अस्थमा के मरीजों के लिए एक्सरसाइज के दोरान अगर प्रॅाब्लम बढ़ रही है, तो आपको अस्थमा एक्शन प्लान बनाने के लिए अपने चिकित्सक के साथ भी काम करना चाहिए। यानि कि आपको डाॅक्टर द्वारा बताए गए एक्सरसाइज रूटिन और मेडिकेशन (Medication) को फॉलो करें।

और पढ़ें: अस्थमा और हार्ट पेशेंट के लिए जरूरी है पूरे साल फेस मास्क का इस्तेमाल

अस्थमा के मरीजों के लिए एक्सरसाइज (Exercise of asthma patient) :इन बातों का रखें ध्यान

नियमित रूप से एक्सरसाइज हम सभी के लिए कितनी जरूरी है, यह हम सभी जानते हैं। यदि आपको एलर्जिक अस्थमा है, तो इन टिप्स को अपनाकर आप सुरक्षित एक्सरसाइज कर सकते हैं, जैसे कि:

  • वर्कआउट से पहले मेडिसन लें (Take medication before your workout)अपने वर्कआउट से पहले (Before Workout) दवा लें। इससे एक्सरसाइज के दौरान अस्थमा के लक्षणों से बचने में कुछ दवाएं निवारक रूप में काम करती हैं। डॉक्टर एक्सरसाइज से 10 से 15 मिनट पहले या व्यायाम से एक घंटे पहले लंबे समय तक काम करने वाले ब्रोन्कोडायलेटर के लिए एक शॉर्ट-एक्टिंग बीटा-एगोनिस्ट (या ब्रोन्कोडायलेटर) लेने की सलाह दे सकता है। कुछ दुर्लभ स्थितियों में डॉक्टर स्टेबलाइजर्स की सलाह दे सकते हैं।
  • सर्दी के मौसम में खास ध्यान रखें (Practice caution in winter months) अस्थमा के मरीजों के लिए एक्सरसाइज (Exercise of asthma patient) की बात करें, तो उन्हें सर्दी के मौसम में विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। ठंडे वातावरण से दमा की एलर्जी (Asthma allergy) बढ़ सकती है। अगर आपको सर्दियों में ओउटडोर एक्सरसाइज करने से बचें। घर पर ही एक्सरसाइज करें। खुद को अच्छे से कवर भी रखें।
  • गर्मी के मौसम में भी ध्यान रखें (Be mindful of summer months, too) इसी तरह गर्मी के मौसम में भी सांस संबंधी समस्या बढ़ जाती है। गर्मी के मौसम में दमा की समस्या से बचने के लिए (To avoid asthma) सुबह या शाम को एक्सरसाइज करें। दिन का समय न चुनें। यदि आपको एक्सरसाइज बाहर जाकर करना है तो।
  • इंनडोर एक्टिविटीज करें (Choose indoor activities) हवा में मौजूद एलर्जन और प्रदूषण आपकी समस्या को और भी बढ़ सकते हैं। इसके लिए कोशिश करें कि इंडोर यानि कि घर की एक्टिविटीज करें।
  • कुछ स्पोटर्स का चुनाव (Practice less triggering sports)ऐसी गतिविधियों का चुनाव करें जिनमें “व्यायाम के कम समय लगे और दमा के लक्षण ट्रिगर होने का रिस्क भी कम हो, यानि कि बहुत हार्ड एक्सरसाइज न हो, जैसे कि वॉलीबॉल, बेसबॉल, जिमनास्टि।
  • स्ट्रेचिंग करें (Stretching) : स्ट्रेचिंग अस्थमा वालों के लिए एक अच्छी एक्सराइज है। इसमें उन्हें ज्यादा महनत नहीं लगती हे और अस्थमा की प्रॉब्लम के होने चांसेज कम होते हैं।
  • इनहेलर अपने पास रखें (Keep your inhaler with you. दमा के मरीजों के लिए जरूरी है कि वो एक्सरसाइज के दौरान अपने इनहेलर (inhaler during exercise) को अपने पास रखें। ताकि दिक्कत होने पर तुरंत उपचार ले सकें।

दमा के मरीजों के लिए जरूरी है कि आप वो एक्सरसाइज के दौरान अपना खास ध्यान रखें। अधिक प्रॉबल्म होने पर डॉक्टर से मिलें।