Allergy Blood Test: एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

बेसिक्स को जानें

एलर्जी ब्लड टेस्ट (Allergy Blood Test) क्या है?

एलर्जी ब्लड टेस्ट एक टेस्ट है जो सीरम में इम्युनोग्लोबुलिन ई (IgE) की मात्रा को चेक करता है। एलर्जी ब्लड टेस्ट यह जानने का एक बेहतरीन जरिया है कि आपको एलर्जी है या नहीं और अगर है तो किससे ? एलर्जी एक ऐसी स्थिति है जिसमें किसी चीज को खाने या फिर उसके संपर्क में आने के बाद बीमार महसूस करना। हमारा इम्यून सिस्टम एंटीबॉडी उत्पन्न करता है, जो शरीर की ऊर्जा कोशिकाओं के प्रेरित करने का काम करती है।

जिन मरीजों को एलर्जी है, उन्हें एलर्जीन के संपर्क में आने पर सीरम में IgE की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसे कई एलर्जीन है जो एलर्जी पैदा कर सकते हैं। इनमें जानवरों के फर, भोजन, पराग, धूल, फूलों, कीटनाशक और दवाएं शामिल हैं। भारत में करीब 3 प्रतिशत व्यस्क और 6 से 8 प्रतिशत बच्चे फूड एलर्जी से ग्रसित हैं। बहुत सारे लोगों को गेहूं, बाजरा, मछली, राई, मूंगफली, अंडे, सोयाबीन और मेवे आदि से एलर्जी होती है। वहीं कई लोगों में खीरा, भिंडी, बैंगन और पपीता से एलर्जी भी देखी गई है।

एलर्जी ब्लड टेस्ट (Allergy Blood Test) क्यों किया जाता है?

यदि आपको किसी निश्चित पदार्थ के संपर्क में आने पर एलर्जी के लक्षण दिखाई देते हैं तो आपको यह टेस्ट करवाना चाहिए। इस टेस्ट को कराने का मकसद यह पता करना होता है कि किस पदार्थ के कारण शरीर एलर्जिक प्रतिक्रिया पैदा करता है।

एलर्जी के कुछ लक्षण

और पढ़ें : Cardiac perfusion test: कार्डियक परफ्यूजन टेस्ट क्या है?

जानने योग्य बातें

एलर्जी ब्लड टेस्ट (Allergy Blood Test) से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

ऐसी कई परिस्थतियां हैं जहां इस टेस्ट को लेकर मतभेद आ जाते हैं, जैसे;

  • ऐसे रोगी जिन्हें कई एलर्जी हैं
  • जब तक टेस्ट विशिष्ट एलर्जी की पहचान न कर ले, तब तक किसी भी तरह की जानकारी नहीं मिल सकती एलर्जी ब्लड टेस्ट को प्रभावित करने वाले कुछ घटक;
  • ऐसी बीमारियां जिनके कारण शरीर में आईजीजी बढ़ जाता है
  • ऐसी दवाइयां जो IgE की एकाग्रता को बढ़ा सकती हैं जैसे कि; कॉर्टिकोस्टेरॉइड

यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि आप इस टेस्ट को कराने से पहले इसकी चेतावनी और सावधानियों को समझ लें। यदि आपको टेस्ट कराने की जरूरत, इसके जोखिम या फिर यह कैसे किया जाता है से जुड़ी कोई जानकारी चाहिए, तो आप अपने डॉक्टर से बात करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें : Nonstress Test (NST): नॉन स्ट्रेस टेस्ट क्या है?

जानिए क्या होता है

एलर्जी ब्लड टेस्ट (Allergy Blood Test) के लिए खुद को कैसे तैयार करें?

टेस्ट से पहले कोई भी खास तयारी की जरुरत नहीं होती है। आप अपनी रोजाना की दिनचर्या का पालन कर सकते हैं। लेकिन यह बेहतर होगा कि एक बार अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह जरूर कर लें। टेस्ट के लिए छोटी आस्तीन की शर्ट पहन के जाएं ताकि नर्स आसानी से आपकी बांह से खून ले सके।

एलर्जी ब्लड टेस्ट (Allergy Blood Test) के दौरान क्या होता है?

टेस्ट के लिए डॉक्टर यह करते हैं को लागू करने के लिए, डॉक्टर करेंगे:

  • नस साफ दिखने के लिए हाथ के चारों ओर पट्टी बांध देते हैं।
  • एलकोहॉल से जहां से खून लेना है उस जगह को साफ और कीटाणुरहित करते हैं।
  • नस में सुई चुभाकर इंजेक्शन में पर्याप्त खून भर लेते हैं
  • पर्याप्त रक्त प्राप्त करने के बाद हाथ की पट्टी खोल देते हैं।
  • खून को रोकने के लिए जख्म पर बैंडेज लगा देते हैं

एलर्जी ब्लड टेस्ट के बाद क्या होता है?

टेस्ट के दौरान रक्त लेते समय होने वाला दर्द आपके डॉक्टर या नर्स के अनुभव पर निर्भर करता है। खून निकलने के बाद उस जगह को हलके हाथों से रगड़ें और वहां बैंडेज लगा लें। टेस्ट के बाद आप अपने काम पर वापस लौट सकते हैं। एलर्टी ब्लड टेस्ट को कराने के बाद जिस जगह पर सुई लगाई गई उस जगह पर आपको हल्का दर्द या नील महसूस हो सकता है लेकिन ये बहुत जल्दी ठीक हो जाता है। किसी भी तरह की कोई भी शंका होने पर अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

एलर्जी ब्लड टेस्ट कराने से क्या मुझे कोई साइड-इफेक्ट्स हो सकते हैं?

एलर्जी ब्लडटेस्ट कराने के बाद आपको सुई जिस जगह पर लगाई गई वहां हल्की खुजली, सूजन या लालिमा महसूस हो सकती है। कई बार ऐसा भी देखा गया है कि त्वचा के उस हिस्से पर एस छोटा सा उभार बन गया हो। ये लक्षण कुछ दिन में अपने आप ठीक हो जाते हैं। इनमें किसी तरह घबराने वाली कोई बात नहीं है। बहुत दुर्लभ मामलों में इस टेस्ट को कराने से गंभीर एलर्जिक रिएक्शन देखे गए हैं। ऐसे में तुरंत मेडिकल जांच की जरूरत होती है। यदि आपको टेस्ट कराने के बाद किसी तरह का गंभीर लक्षण नजर आए तो बिना देरी के अपने चिकित्सक से कंसल्ट करना चाहिए।

रिजल्ट को समझें

अगर आपका कुल IgE स्तर सामान्य से अधिक है, तो इसका मतलब है कि आपको किसी प्रकार की एलर्जी है। लेकिन इससे यह पता नहीं चलता कि आपको किस चीज से एलर्जी है। आपको किस चीज से एलर्जी है इसकी पहचान करने के लिए IgE परीक्षण किया जा सकता है।

अगर आपके परिणाम में किसी तरह के एलर्जी के संकेत प्राप्त होते हैं, तो आपके डॉक्टर आपको एलर्जी विशेषज्ञ से परामर्श करने की सलाह दे सकते हैं।

जिसके बाद आपके उपचार की प्रक्रिया आपके एलर्जी के प्रकार और गंभीरता पर निर्भर करेगी। अगर आपकों अपने टेस्ट या उसके परिणामों को लेकर कोई संदेह है, तो इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

असामान्य परिणाम

असामान्य परिणाम होने पर आप इनमें से कुछ एलर्जी संबंधित बीमारियों से पीड़ित हो सकते हैं:

लेबोरेट्री या अस्पताल अनुसार सिस्टोस्कोपी के दर अलग हो सकते हैं। आप अपने डॉक्टर से इस बारे में परामर्श कर सकते हैं।हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या सारवार नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में एलर्जी ब्लड टेस्ट से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई भी लक्षण नजर आते हैं तो हो सकता है आपका डॉक्टर आपको यह टेस्ट रिकमेंड करें। एलर्जी ब्लड टेस्ट से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Recofast Tablet : रिकोफास्ट टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

रिकोफास्ट टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, रिकोफास्ट टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Recofast Tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

Betnesol: बेटनेसोल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए बेटनेसोल (Betnesol) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, बेटनेसोल डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Alerid: एलेरिड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए एलेरिड (Alerid) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, एलेरिड डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Alaspan: एलास्पेन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए एलास्पेन (Alaspan) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, एलास्पेन डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Recommended for you

जानें बच्चों के लिए टमाटर के फायदे और नुकसान, इन बातों का रखें ध्यान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ February 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
सेटसिप एल टैबलेट

Cetcip L Tablet : सेटसिप एल टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 31, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
डैजिट एम टैबलेट

Dazit M Tablet : डैजिट एम टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
सोल्विन टैबलेट

Solvin Tablet : सोल्विन टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें