home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

CBC Test: सीबीसी परीक्षण / सीबीसी टेस्ट क्या है?

CBC Test: सीबीसी परीक्षण / सीबीसी टेस्ट क्या है?
बेसिक्स को जाने|जानने योग्य बातें|रिजल्ट को समझें

बेसिक्स को जाने

सीबीसी परीक्षण / सीबीसी टेस्ट (CBC Test) क्या है?

Complete Blood Count (सीबीसी टेस्ट) हमारे खून में कोशिकाओं के बारे में विशेष रूप से लाल रक्त कोशिकाओं, प्लेटलेट और श्वेत रक्त कोशिकाओं के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देता है। सीबीसी टेस्ट की मदद से एनीमिया (Anemia) , इंफेक्शन या ल्यूकेमिया (Leukemia) जैसी गंभीर बीमारियों का भी पता लगाया जा सकता है। कंप्लीट ब्लड काउंट में हमारे खून के कई महत्वपूर्ण भागों के बारे में जानकारी जुटाई जाती है जैसे-

  • लाल रक्त कोशिकाओं का स्तर जो ऑक्सीजन का आदान प्रदान करती हैं
  • श्वेत रक्त कोशिकाएं जो संक्रमण से लड़ती हैं
  • हीमोग्लोबिन का स्तर जो ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद करता है।
  • खून में प्लाज्मा का स्तर
  • ब्लड प्लेटलेट्स का स्तर

इन सभी चीजों का असामान्य स्तर किसी बीमारी से जुड़ा हुआ होता है। सीबीसी द्वारा किसी भी बीमारी का आसानी से पता लगाया जा सकता है।

जानने योग्य बातें

सीबीसी परीक्षण / सीबीसी टेस्ट (CBC Test) किस लिए किया जाता है?

सीबीसी परीक्षण एक कॉमन ब्लड टेस्ट है जो निम्नलिखित कारणों से कराया जा सकता है:

ओवरऑल हेल्थ के लिए: आपका डॉक्टर कंप्लीट ब्लड काउंट के लिए आपको यह टेस्ट रिकमेंड किया जा सकता है। इससे डॉक्टर शरीर में तमाम डिसऑर्डर जैसे एनीमिया और ल्यूकेमिया।

मेडिकल कंडिशन को डायग्नोस करने के लिए: आपका डॉक्टर आपको कमजोरी का एहसास, बुखार, सूजन और ब्लीडिंग होने पर कंप्लीट ब्लड टेस्ट रिकमेंड कर सकता है। कंप्लीट ब्लड टेस्ट इन लक्षणों को डायग्नोज करने में मदद करता है। यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपको कोई इंफेक्शन है तो भी यह टेस्ट मदद करता है।

मेडिकल कंडिशन को मोनिटर करने के लिए: यदि आप ब्लड डिसऑर्डर है जो ब्लड सेल काउंट्स पर असर डालता है तो आपका डॉक्टर कंप्लीट ब्लड काउंट को मोनिटर करने के लिए यह टेस्ट रिकमेंड कर सकता है।

मेडिकल ट्रीटमेंट को मोनिटर करने के लिए: कंप्लीट ब्लड काउंट आपकी हेल्थ और दवाओं के असर को मोनिटर करने के लिए भी यह टेस्ट रिकमेंड कर सकते हैं।

विभिन्न कारणों की जाँच के लिए सीबीसी परिक्षण/CBC टेस्ट किया जा सकता है जैसे-

  • कमजोरी लगना, थकान, बुखार, वजन घटने या चोट के कारणों और लक्षणों का पता लगाने के लिए।
  • एनीमिया की जांच करने के लिए
  • यदि खून बह रहा हो तो यह देखने के लिए कि कितना खून बह गया है।
  • शरीर में संक्रमण की जांच करने के लिए
  • रक्त के कुछ रोगों का निदान करने के लिए, जैसे ल्यूकेमिया।
  • यह देखने के लिए कि शरीर कुछ प्रकार के उपचार या दवा के साथ कैसे प्रतिक्रिया दे रहा है।

सीबीसी टेस्ट (CBC Test) कैसे होता है?

सीबीसी टेस्ट ‘ब्लड टेस्ट’ होता है। इस टेस्ट के दौरान खाली पेट रहने की जरूरत नहीं होती है। व्यक्ति खा-पीकर भी सीबीसी टेस्ट के लिए जा सकता है। अगर आपको डॉक्टर ने इस टेस्ट की सलाह दी है तो एक बार डॉक्टर से इस बारे में जानकारी जरूर लें कि आप खाली पेट या फिर खाकर इस टेस्ट को करवाना चाहिए।

  • सीबीसी टेस्ट को करवाने के लिए नर्स या डॉक्टर को बहुत कम समय लगता है।
  • नर्स और लैब टेक्नीशियन आर्म वेंस से निडिल की हेल्प से थोड़ा ब्लड सैंपल लेंगे।
  • इसके बाद आपको अस्पताल में रुकने की जरूरत नहीं है। आप अपने दिनचर्या के अन्य काम के लिए जा सकते हैं।
  • ब्लड सैंपल को लैब में टेस्ट के लिए भे दिया जाता है।
  • टेस्ट की रिपोर्ट एक से दो दिन के भीतर आ जाती है।

उपरोक्त दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको ब्लड टेस्ट करवाना है तो पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें कि किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

रिजल्ट को समझें

क्या कहते हैं सीबीसी टेस्ट (CBC Test) के नतीजे?

सफेद रक्त कोशिका (WBC, ल्यूकोसाइट) काउंट: हमारे शरीर को संक्रमण के विरुद्ध सफेद रक्त कोशिकाओं (कभी-कभी ल्यूकोसाइट्स कहा जाता है) के द्वारा संरक्षित किया जाता है। यदि कोई संक्रमण विकसित होता है, तो सफेद रक्त कोशिकाओं के कारण बैक्टीरिया, वायरस या अन्य जीव नष्ट हो जाते हैं। जब सफेद कोशिकाओं की संख्या बहुत तेज हो जाती है, तो यह शरीर में संक्रमण का संकेत देती है।

लाल रक्त कोशिका Indices (RBC Indices): लाल रक्त कोशिका (आरबीसी) Indices सीबीसी टेस्ट का हिस्सा है। इसमें तीन लाल रक्त कोशिका Indices हैं: Mean Corpuscular Hemoglobin (MCH), यह औसत लाल रक्त कोशिका में मौजूद एचबी की सामग्री है। (MCV), यह लाल रक्त कोशिका की औसत मात्रा है और

Mean Corpuscular Hemoglobin Concentration (MCHC) हेमटोक्रिट की दी गई मात्रा में हेमोग्लोबिन की औसत मात्रा मौजूद है। यह आरबीसी के आकार, आकृति और शारीरिक विशेषताओं को मापता है। एनीमिया के कारण का निदान करने में डॉक्टर की मदद के लिए आरबीसी इंडाइसेस का उपयोग किया जा सकता है।

और पढ़ें : Echocardiogram Test : इकोकार्डियोग्राम टेस्ट क्या है?

हीमोग्लोबिन (HB): हीमोग्लोबिन (एचबी या एचजीबी) एक प्रोटीन है जो शरीर में ऑक्सीजन लाता है और रक्त कोशिका को लाल रंग देता है। यह टेस्ट पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने की खून की क्षमता को मापता है और रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा को भी मापता है। यदि आपका हीमोग्लोबिन स्तर सामान्य से कम है, तो इसका मतलब है कि आपके पास कम लाल रक्त कोशिका (एनीमिया) है।

लाल रक्त कोशिका (RBC) काउंट: फेफड़ों से शरीर के बाकी हिस्सों तक ऑक्सीजन ले जाने में लाल रक्त कोशिकाएं एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। आरबीसी फेफड़ों में कार्बन डाइऑक्साइड वापस ले जाता है, जिससे सांस से छोड़ा जा सकता है। अगर आरबीसी की गणना कम होती है , तो शरीर को आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन नहीं मिलती है।

हेमेटोक्रिट: हेमेटोक्रिट (जिसे पीसीवी पैक्ड सेल वॉल्यूम भी कहा जाता है) यह एक सरल रक्त परीक्षण है जो रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं (आरबीसी) का प्रतिशत निर्धारित करता है। ऑक्सीजन लाल रक्त कोशिकाओं द्वारा पूरे शरीर में किया जाता है। आपके शरीर में बहुत ज़्यादा या बहुत कम लाल रक्त कोशिकाओं के होने से कुछ रोगों का संकेत हो सकता है। यह पीसीवी टेस्ट लाल रक्त कोशिकाओं से बनी हुई मात्रा के द्वारा रक्त के प्रतिशत दर्शाता है।

प्लेटलेट (थ्रोम्बोसाइट) काउंट: प्लेटलेट्स सबसे छोटी रक्त कोशिकाएं हैं जो थक्के द्वारा रक्तस्राव को रोकने के लिए हमारे शरीर की सहायता करती हैं। जब हमारे शरीर में खून बह रहा होता है, तो यह प्लेटलेट्स द्वारा उठाए गए संकेतों को भेजता है और फिर खून बह रही साइट पर जम जाता है और यह चिपचिपा प्लग या खून का थक्का बनता है जो रक्तस्राव को रोकने में मदद करता है।

Mean Platelet Volume (MPV): Mean Platelet Volume रक्त में पाए जाने वाले प्लेटलेट्स के औसत आकार और मात्रा को पहचानती है। कुछ रोगों का पता लगाने के लिए प्लेटलेट काउंट के साथ इस टेस्ट का उपयोग किया जाता है। कभी-कभी भले ही प्लेटलेट काउंट सामान्य हो, लेकिन Mean Platelet Volume बहुत अधिक या बहुत कम हो सकता है।

अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लेना ना भूलें। ।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में सीबीसी टेस्ट से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। सीबीसी टेस्ट से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं।

और पढ़ें: Cerebrospinal Fluid Test : सीएसएफ टेस्ट (CSF Test) क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Piyush Singh Rajput द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/07/2019
x