Cauliflower: फूल गोभी क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

परिचय

फूल गोभी क्या है?

फूल गोभी पौष्टिक गुणों से भरपूर एक सब्जी है, वैसे तो भारत में सफेद फूल गोभी का अधिक इस्तेमाल किया जाता है लेकिन, इसमें भी आपको कई प्रकार देखने को मिलेंगे। यह ब्रेसिक्का परिवार की सदस्य है जिसमें, ब्रोकली और पत्तागोभी भी शामिल हैं। सबसे पहले इसकी खेती एशिया में की गई थी। ये सफेद, बैंगनी और ऑरेंज रंग में आती है। इनमें सबसे ज्यादा पौष्टिक ऑरेंज फूल गोभी को माना जाता है क्योंकि, सफेद की तुलना में ऑरेंज फूलगोभी में विटामिन ए की मात्रा अधिक पाई जाती है।

फूल गोभी में फाइबर, विटामिन-बी, विटामिन-सी, फोलेट, विटामिन-के का अच्छा स्त्रोत है। इसमें मैग्नीशियम, कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम और मैंग्नीज जैसे खनिज भी उपलब्ध होते हैं। प्रोटीन से भरपूर फूल गोभी में वसा कम मात्रा में होती है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के अनुसार पावर हाउस फलों और सब्जियों की लिस्ट में फूल गोभी 24वें स्थान पर है।

फूल गोभी का उपयोग किस लिए किया जाता है?

कैंसर के उपचार में लाभकारी है :

फूल गोभी में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और फाइटो न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो कैंसर से कवच प्रदान करते हैं। कई अनुसंधान में पता चला है कि इसमें ग्लूकोसाइनोलेट्स शामिल होते हैं, जो कैंसर की कोशिकाओं के विकास में बाधा डालते हैं। इसका सेवन यूट्रस में कैंसर, फेफड़ों में कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर आदि के जोखिम को कम करने में सहायता करता है। इसके अलावा, यह स्वस्थ्य ह्दय के लिए लाभदायक है।

स्वस्थ्य ह्दय के लिए फायदेमंद :

फूल गोभी के सेवन से ब्लड सर्क्यूलेशन में सुधार होता है। इसमें मौजूद ग्लूकोराफेनिन रक्त वाहिकाओं को बनाए रखने का काम करता है। 

हार्मोन को करे संतुलित

फूल गोभी में पाए जाने वाले फाइटोएस्ट्रोजन हॉरमोन को संतुलित रखने में मददगार हैं। इससे असंतुलित हॉरमोन के कारण होने वाली बीमारियों से बचा जा सकता है

डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए भी है अच्छी :

डायबिटीज टाइप 2 के पेशेंट्स के लिए गैर स्टार्च वाली सब्जियां बेहतर होती हैं। फूल गोभी स्टार्च रहित होती है। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के मुताबिक शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए प्रतिदिन स्टार्च रहित सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

हड्डियों का विकास :

इसमें अच्छी मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है। ये शरीर में कोलेजन के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ये सूजन को कम करने के साथ जोड़ों और हड्डियों में होने वाली समस्याओं के लिए भी प्रभावकारी है।

अल्जाइमर :

कॉलीफ्लॉवर में सल्फोराफेन और इंडोल्स होता है जो न्यूरो संबंधित परेशानी के उपचार में मदद करता है।

आंखों के लिए :

फूल गोभी विटामिन सी का एक अच्छा स्त्रोत है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, इसका सेवन मोतियाबिंद के जोखिम को भी कम करता है। 

प्रेग्नेंसी में सहायक :

फोलेट से भरपूर होने के कारण फूल गोभी को गर्भावस्था में खाना अच्छा होता है। शिशु के स्वस्थ तंत्रिता के विकास के लिए फोलेट महत्वपूर्ण माना जाता है।

वजन कम करने में लाभदायक :

कई अध्ययनों में भी इस तथ्य का समर्थन किया गया है कि फूल गोभी वजन कम करने के लिए वरदान समान है। इसमें मौजूद सल्फोराफेन एलडीएल के स्तर को कम करने में सहायता करता है।

कैसे काम करती है फूल गोभी?

इसमें ऐसे रसायन होते हैं जो हमारे शरीर को भोजन या पर्यावरण से होने वाले कैंसर को पनपने नहीं देते हैं। इसमें अधिक मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो बीमारियों से कोसों दूर रखने में मदद करते हैं।

ये भी पढ़ें: कैफीन क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है फूल गोभी का उपयोग ?

फूल गोभी का सीमित मात्रा में सेवन करना सेफ होता है। इसको अधिक मात्रा में लेना हानिकारक साबित हो सकता है। जो लोग खून को पतला करने की दवाइयों का सेवन कर रहे हैं, उन्हें अचानक से अधिक मात्रा में गोभी का सेवन करना शुरू नहीं कर देना चाहिए। इससे उनके शरीर में विटामिन-के बढ़ जाएगा और उन्हें फायदा पहुंचने की जगह नुकसान हो सकता है।

अगर आप डायट का ख्याल रखते हुए फाइबर युक्त खाने का सेवन कर रहे हैं तो अपनी ओवरऑल डायट का ख्याल रखें। इसमें फाइबर उच्च मात्रा में होता है जो पेट में सूजन और पेट फूलने की शिकायत पैदा कर सकते है।

इसमें कई ऐसे कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो पाचन तंत्र में पूरी तरह टूट नहीं पाते हैं, जो कई बार स्वास्थय के लिए हानिकारक साबित होते हैं।

इसमें प्यूरीन होता है, जिस वजह से इसके अत्यधिक सेवन से यूरिक एसिड का निर्माण हो सकता है। यूरिक एसिड के बढ़ने से बाद में दूसरी बीमारियां घेर सकती हैं।

ये भी पढ़ें: पपीता क्या है?

साइड इफेक्ट्स

फूल गोभी से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • अत्यधिक गैस बनना
  • यूरिक एसिड बढ़ना
  • एलर्जी
  • पथरी

जरूरी नहीं हर किसी में ये ही साइड इफेक्ट्स दिखाई दें। अगर आपको इससे अलग भी कोई साइड इफेक्ट दिखते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

ये भी पढ़ें: बलूत क्या है?

डोजेज

फूल गोभी को लेने की सही खुराक क्या है?

इसकी खुराक को लेकर कोई सही जानकारी नहीं है। इसे लेकर अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से संपर्क करें।

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  • गोभी
  • एक्सट्रेक्ट कैप्सूल्स

ये भी पढ़ें: इलायची क्या है?

रिव्यू की तारीख सितम्बर 18, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 19, 2019