home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोविड ट्रैकर एप बताएगा आपके आसपास मौजूद कोरोना वायरस के मरीजों के बारे में

कोविड ट्रैकर एप बताएगा आपके आसपास मौजूद कोरोना वायरस के मरीजों के बारे में

कोरोना वायरस की बीमारी (COVID- 19) किसी भी तरह नियंत्रित नहीं हो पा रही है। चीन में तबाही मचाने के बाद यह वायरस पूरे विश्व में कहर बरपा रहा है। अब इससे इटली जैसा समृद्ध देश त्रासदी झेल रहा है। दूसरी तरफ, हमारे देश में भारत में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिसे नियंत्रित करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे देश में 21 दिन के कंप्लीट लॉकडाउन का फैसला लिया है। कई रिपोर्ट्स के मुताबिक इस फैसले के अलावा, भारत सरकार एक और अहम कदम उठाने जा रही है, जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी। यह कदम होगा कोविड ट्रैकर एप, जो आपके आसपास मौजूद कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 से संक्रमित व्यक्तियों की पहचान करने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस वैक्सीन को विकसित होने में इतना समय क्यों लग रहा है? कैसे बनती है कोई वैक्सीन

कोविड ट्रैकर एप (Covid tracker App) क्या है

कई न्यूज वेबसाइट द्वारा जारी रिपोर्ट्स की मानें, तो भारत सरकार बहुत जल्दी कोविड ट्रैकर एप लॉन्च कर सकती है। यह स्मार्टफोन एप अंग्रेजी समेत सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में लॉन्च की जाएगी। लॉन्च होने के बाद यह स्मार्टफोन एप एंड्रॉयड यूजर्स गूगल प्ले स्टोर और आईफोन यूजर्स आईओएस एप स्टोर से डाउनलोड कर सकेंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह स्मार्टफोन एप्लिकेशन यूजर्स को यह जानने में मदद करेगी कि कहीं उनके आसपास कोरोना वायरस से संक्रमित कोई मरीज रह रहा है क्या? या क्या वह किसी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज के आसपास से गुजरे हैं।

कोविड ट्रैकर एप की टेस्टिंग

न्यूज वेबसाइट को दिए अपने बयान में एप से जुड़े एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि, “ टीम द्वारा इस एप का निरीक्षण किया जा रहा है। भारत की मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी (MeitY) और नीति आयोग के प्रयासों के बाद इस एप के बारे में अधिक जानकारी दी जाएगी।” आपको बता दें कि सूचना के मुताबिक, यह एप्लिकेशन अभी बीटा वर्जन में टेस्ट की जा रही है।

कोविड ट्रैकर एप की तरह और भी एप आ सकती हैं

अनुमान के मुताबिक यह एप बहुत जल्द ही आम लोगों के लिए उपलब्ध करवा दी जाएगी। बीते कुछ दिनों से MeitY एक एंड्रॉयड बेस्ड एप ‘कोरोना कवच’ की भी टेस्टिंग कर रही है, जो कि अभी एपीके टाइप में टेस्टिंग करवाई जा रही है। रिपोर्ट में कोविड ट्रैकर एप के बारे में जानकारी दी गई है कि यह एप यूजर के मोबाइल नंबर और उसके स्मार्टफोन की लोकेशन को आईसीएमआर के डाटा के साथ कार्य करेगी। आपको बता दें कि, साउथ कोरिया ने भी ऐसी ही एक एप विकसित की थी, जिसका नाम Corona 100m था, जो कि निश्चित दायरे में मौजूद कोरोना वायरस पोजिटिव व्यक्ति के बारे में बताती है।

यह भी पढ़ें- शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना वायरस से करनी होगी लड़ाई, लेकिन नींद का रखना होगा खास ध्यान

भारत के लिए क्यों उपयोगी होगा कोविड ट्रैकर एप (Covid Tracker App)

दुनियाभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है और अधिकतर देश इस महामारी की तीसरे स्टेज यानी कंयुनिटी के जरिए फैलने वाले संक्रमण में पहुंच चुका है। लेकिन, भारत जहां खड़ा है वह बहुत ही संवेदनशील स्थिति है, क्योंकि अगर इस समय देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी या इस वायरस के फैलने को नहीं रोका गया तो यह स्टेज 3 में प्रवेश कर जाएगा। जो कि भारत जैसे बहुसंख्यक आबादी वाले देश के लिए काफी खतरनाक स्थिति हो सकती है। ऐसे में कोविड ट्रैकर एप लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को ट्रैक करने में मदद करेगा और अगर वह उनके संपर्क में आते हैं, तो जरूरी एहतियात और सावधानी को जल्द से जल्द शुरू करके कोरोना वायरस को आगे फैलने से रोकने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस आउटब्रेक : वुहान से पूरी दुनिया तक ऐसे फैला ये वायरस, ले ली 19 हजार जान

कोरोना वायरस अपडेट (latest news on corona)

कोविड ट्रैकर एप के अलावा जानते हैं कि कोरोना वायरस से जुड़े आंकड़े कहां तक पहुंच गए हैं। वर्ल्ड ओ मीटर के मुताबिक 27 मार्च 2020 को दोपहर 15.35 तक दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4,89,579 हो गई है और इस खतरनाक बीमारी से जान गंवाने वालों की तादाद 22,150 हो गई है। कोरोना वायरस के अभी 5,40,847 पहुंच गई है। इनमें से 25 हजार लोगों की मौत हो चुकी है।

कोविड ट्रैकर एप- भारत में कोरोना वायरस के मरीज (How many cases of coronavirus in India?)

भारत के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 27 मार्च 2020 को दोपहर 15.35 तक देश में 753 कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की पहचान कर ली गई है। जिसमें से 71 का इलाज करने के बाद छुट्टी दे दी गई है वहीं 20 लोगों की जान जा चुकी है।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस से सावधानी : क्या करें, क्या न करें? एक्सपर्ट ने दिया आपके हर सवाल का जवाब

कोरोना वायरस से सावधानी

कोविड ट्रैकर एप के लिए प्रयासों के अलावा कोरोना वायरस से बचने के लिए भारत सरकार ने लोगों के लिए कुछ सलाह दी है। जबतक कोरोना वायरस वैक्सीन नहीं मिल जाती, तबतक इन एहतियात रूपी सलाह को फॉलो करने से आप कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं

  1. अपने हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ करेें
  2. बेवजह लोगों से न मिलें, भीड़ न लगाएं।
  3. आंखों, नाक और मुंह को टच करने की गलती न करें।
  4. छींकते या खांसते समय अपने मुंह और नाक को किसी टिश्यू पेपर या फिर कोहनी को मोड़कर ढकें।
  5. अगर आपको बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलें।
  6. आपके हेल्थ केयर प्रोवाइडर ने जो आपको सलाह दी है उसे फ़लो करें।।
  7. भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि अगर आप मास्क लगा रहे हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
  8. अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छी तरह कवर करें कि उसमें किसी भी तरह का गैप न रहे।
  9. एक बार इस्तेमाल किए गए मास्क को दोबारा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  10. मास्क को हटाते समय इस बात का ध्यान रखें कि उसे पीछे से हटाएं।
  11. मास्क को एक बार इस्तेमाल करने के बाद उसे डस्टबिन में फेंक दें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 26/3/2020

Coronavirus disease (COVID-19) outbreak – https://www.who.int/westernpacific/emergencies/covid-19 – Accessed on 26/3/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 26/3/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 26/3/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 64 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200324-sitrep-64-covid-19.pdf?sfvrsn=703b2c40_2 – Accessed on 26/3/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 26/3/2020

Government likely to launch Covid path-tracing app – https://economictimes.indiatimes.com/tech/software/govt-likely-to-launch-covid-path-tracing-app/articleshow/74819186.cms – Accessed on 26/3/2020

Coronavirus pandemic | Govt may launch a Covid tracker app soon – https://www.moneycontrol.com/news/technology/coronavirus-pandemic-govt-may-launch-a-covid-tracker-app-soon-5074281.html – Accessed on 26/3/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x