आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Monkeypox: मंकीपॉक्स क्या है?

परिचय |लक्षण |कारण |निदान|रोकथाम|इलाज
    Monkeypox: मंकीपॉक्स क्या है?

    परिचय

    मंकीपॉक्स (Monkeypox) क्या है?

    मंकीपॉक्स एक रेयर डिजीज है जो कि मंकीपॉक्स वायरस के इंफेक्शन या कहे कि संपर्क में आने की वजह से होती है। मंकीपॉक्स वायरस ऑर्थोपॉक्सीवायरस जीनस से संबंधित है जो कि पॉक्सवेरेडाय (Poxviridae) फैमिली से आता है। ऑर्थोपॉक्सीवायरस जीनस में वेरिओला वायरस (जो स्माॅलपॉक्स का कारण बनता है) वेसिनिया वायरस (जो स्माॅलपॉक्स के वैक्सीन में यूज किया जाता है) और काउपॉक्स वायरस आता है। यह वायरल जूनोसिस (जो कि जानवरों से इंसानों में फैलती है) है। कई बार इसके लक्षण स्माॅलपॉक्स के मरीजों में दिखने वाले लक्षणों की तरह पाए गए।

    पहली बार 1958 में मंकीपॉक्स बीमारी के बारे में पता लगाया गया था। यह बीमारी उस कॉलोनी में पाई गई थी जहां पर बंदरों को रिसर्च के लिए रखा गया था। इसलिए इसका नाम मंकीपॉक्स पड़ा। मंकीपॉक्स का पहला ह्यूमन केस 1970 डेमोक्रेटिक पब्लिक कॉन्गो में दर्ज किया गया। इसका पता स्माॅलपॉक्स को खत्म करने के गहन प्रयास के दौरान लगा था। उस दौरान कॉन्गो बेसिन में ज्यादातर इस बीमारी के केसेज ग्रामीण, वर्षावन (rainforest) क्षेत्रों में पाए गए।

    यह बीमारी ज्यादा अफ्रीकी देशों में पाई जाती है। अफ्रीका के बाहर यह बीमारी तीन बार पाई गई है। जिसमें 2003 में 47 केसेज यूनाइटेड स्टेट्स में पाए गए। इसके अलावा 2018 में यूनाइटेड किंगडम में 3 और इजरायल में 1 केस पाया गया। मंकीपॉक्स वायरस के दो अलग-अलग आनुवंशिक समूह (क्लोन) हैं- मध्य अफ्रीकी और पश्चिमी अफ्रीकी। सेंट्रल अफ्रीकन मंकीपॉक्स वायरस का मनुष्य के साथ सकंम्रण पश्चिम अफ्रीकी वायरस की तुलना में अधिक गंभीर होता है और इनकी मृत्यु दर भी अधिक होती है।

    Mitral valve prolapse: माइट्रल वाल्व प्रोलैप्स क्या है?

    क्या मंकीपॉक्स (Monkeypox) एक आम बीमारी है?

    नहीं मंकीपॉक्स एक आम बीमारी नहीं है। इसे रेयर डिजीज की श्रेणी में रखा जाता है। यह जानवरों से इंसान में फैलने वाली बीमारी है। इस बीमारी का वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में घाव, बॉडी फ्लूइड, रेस्पिरेटरी ड्रॉपलेट्स और गंदी बेडशीट आदि से फैल सकता है।

    लक्षण

    मंकीपॉक्स के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Monkeypox)

    इस बीमारी का इंक्यूबेशन पीरियड 6-13 दिन तक होता है पर ये 5-21 दिन तक का भी हो सकता है। मंकीपॉक्स के लक्षण स्मॉलपॉक्स के लक्षण की तरह ही होते हैं। इस बीमारी की शुरुआत निम्म लक्षणों से होती है।

    • बुखार
    • सिर दर्द
    • मांसपेशियों में दर्द
    • ठंड लगना
    • थकान होना
    • इसमें और स्मालपॉक्स में यही अंतर है कि इसमें लिंफ नोड सूज जाती है बल्कि स्मालपॉक्स में ऐसा नहीं होता।

    अन्य लक्षण

    त्वचा का फटना आमतौर पर बुखार आने के 1-3 दिनों के भीतर शुरू हो जाता है। चकत्ते के बजाय दाने चेहरे और पूरे शरीर पर हो जाते हैं। यह चेहरे (95% मामलों में), और हाथों और पैरों के तलवों (75% मामलों में) को प्रभावित करते हैं। इसके साथ ही म्यूक्यूस मेंब्रेन (70% मामलों में), जननांग (30%), और कंजकटिव (20%), साथ ही कॉर्निया को प्रभावित करते हैं।

    यह भी पढ़ें- Chest Pain : सीने में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    आमतौर पर 2 से 4 सप्ताह तक चलने वाले लक्षणों के साथ मंकीपॉक्स एक स्व-सीमित बीमारी है। गंभीर मामले बच्चों में अधिक पाए जाते हैं और यह वायरस के जोखिम, रोगी की स्वास्थ्य स्थिति और जटिलताओं की प्रकृति से संबंधित होते हैं। इस बीमारी की गंभीरता सेकेंडरी इंफेक्शन, ब्रोन्कोनिमोनिया, सेप्सिस, एन्सेफलाइटिस और दृष्टि की हानि के साथ कॉर्निया के संक्रमण शामिल हो सकते हैं।

    मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

    ऊपर बताए लक्षण आपको दिखाई देते हैं तो आपको डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए। कई बार मंकीपॉक्स के लक्षण स्मालपॉक्स की तरह दिखने की वजह से कंफ्यूजन हो सकता है। इसलिए डॉक्टर से सलाह लेना बेहतर होता है।

    और पढ़ें: Anthrax (skin): स्किन एंथ्रेक्स क्या है?

    कारण

    मंकीपॉक्स के कारण क्या हैं? (Cause of Monkeypox)

    मंकीपॉक्स (Monkeypox) बीमारी दो लोग के बीच इतनी आसानी से नहीं फैलती है। यह बीमारी तब होती है जब कोई आदमी इस वायरस से संक्रमित किसी जानवर, मनुष्य और वायरस के संपर्क में या फिर वायरस के संपर्क में आई वस्तु के संपर्क में तुरंत आता है। यह वायरस बॉडी में कटी-फटी त्वचा के माध्यम से प्रवेश कर सकता है। इसके अलावा यह रेस्पिरेटरी ट्रेक्ट और नाक, आंख और मुंह से भी बॉडी में प्रवेश कर सकता है। एक व्यक्ति से दूसरे में फैलना असामान्य है, लेकिन नीचे बताई परिस्थितियों में ऐसा हो सकता है।

    • इंफेक्टेड व्यक्ति के यूज किए हुए टॉवेल, बेडशीट आदि का यूज करने से।
    • मंकीपॉक्स बीमारी से इंफेक्टेड व्यक्ति के डायरेक्ट संपर्क में आने से।
    • मंकीपॉक्स बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के पास होने पर उसके छींकने या खांसने से।

    और पढ़ें: Anosmia: एनोस्मिया क्या है?

    निदान

    मंकीपॉक्स का पता कैसे लगाया जा सकता है? (Diagnosis of Monkeypox)

    इस रोग की पहचान करना इतना आसान नहीं है। कई बार लोग मंकीपॉक्स, स्माॅलपॉक्स और चिकनपॉक्स में कंफ्यूज हो सकते हैं। क्लीनिकल जांचों के द्वारा चिकनपॉक्स, मंकीपॉक्स, मीजल्स, बैक्टीरियल स्किन इंफेक्शन, स्केबीज, सिफलिस और दवाइयों से एलर्जी में आदि में अंतर किया जा सकता है।

    यदि किसी को मंकीपॉक्स होने पर संदेह किया जाता है तो स्वास्थ्यकर्मी का एक उपयुक्त नमूना एकत्र करते हैं और उसे लेबोरेटरी में ले जाते हैं। मंकीपॉक्स की पुष्टि नमूना के प्रकार और गुणवत्ता और प्रयोगशाला परीक्षण के प्रकार पर निर्भर करती है। कई बार इन नमूनों को देश और विदेश में रिसर्च और उपयोगिता के आधार पर भेजे जाते हैं।

    और पढ़ें: Bird (avian) Flu: बर्ड (एवियन) फ्लू क्या है?

    रोकथाम

    मंकीपॉक्स की रोकथाम कैसे की जा सकती है? (How to prevent Monkeypox)

    निम्न बातों का ध्यान रखकर मंकीपॉक्स से बचा सकता है।

    • उन जानवरों के संपर्क में आने से बचें जो वायरस (Virus) के कैरियर हो सकते हैं (ऐसे जानवर जो बीमार हैं या जो उन क्षेत्रों में मृत पाए गए हैं जहां मंकीपॉक्स होता है)।
    • किसी भी सामग्री के साथ संपर्क से बचें जो बीमार जानवर के संपर्क में रही हो जैसे कि बिस्तर।
    • संक्रमित रोगियों को दूसरे रोगियों और आम आदमियों से अलग करें जो संक्रमण के लिए खतरा हो सकते हैं।
    • संक्रमित रोगियों की देखभाल करते समय उचित व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण पहनें।
    • संक्रमित रोगियों की देखभाल के बाद, अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं, या एल्कोहॉल-आधारित हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें
    • इसके अलावा, स्मालपॉक्स वैक्सीन के उपयोग से मंकीपॉक्स होने की संभावना कम हो सकती है। यह टीका हालांकि, वर्तमान में यह आम जनता के लिए उपलब्ध नहीं है।

    JYNNEOSTM (जिसे इमामुने (Imvamune) या इवानवेक्स (Imvanex) के नाम से भी जाना जाता है) एक लाइव वायरस वैक्सीन है जिसे यू.एस. फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने मंकीपॉक्स की रोकथाम के लिए अनुमोदित किया है। टीकाकरण संबंधी आचरण संबंधी सलाहकार समिति (ACIP) वर्तमान में इस दवा का मूल्यांकन कर रही है कि यह ऑर्थोपॉक्सवायरसों जैसे कि स्मालपॉक्स और मंकीपॉक्स के लिए कितनी उपयोगी है।

    इलाज

    मंकीपॉक्स का इलाज क्या है? (Treatment for Monkeypox)

    आपको जानकर दुख और हैरानी दोनों होंगी कि इस खतरनाक बीमारी का कोई इलाज अभी तक उपलब्ध नहीं है। हालांकि, कुछ एंटीवायरल दवाओं (Antiviral medicine) के उपयोग की जांच मंकीपॉक्स (Monkeypox) पर की जा रही है।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    हमें उम्मीद है कि इस बीमारी से जुड़ी ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Monkeypox/ https://www.cdc.gov/poxvirus/monkeypox/prevention.html/ Accessed on May 25th, 2020

    Monkeypox/https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/monkeypox/Accessed on May 25th, 2020

    Monkeypox/ https://www.gov.uk/guidance/monkeypox/Accessed on May 25th, 2020

    Monkeypox/ https://www.vdh.virginia.gov/epidemiology/epidemiology-fact-sheets/monkeypox/Accessed on May 25th, 2020

    Human Monkeypox/
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5895105/Accessed on May 25th, 2020

    Monkeypox/
    https://www.nhs.uk/conditions/monkeypox/Accessed on May 25th, 2020

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/12/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: