आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Black Cumin: एक नहीं बल्कि कई बीमारियों के ट्रीटमेंट में इस्तेमाल किया जाता है काला जीरा!

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
Black Cumin: एक नहीं बल्कि कई बीमारियों के ट्रीटमेंट में इस्तेमाल किया जाता है काला जीरा!

परिचय

काला जीरा (Black Cumin) क्या है ?

ब्लैक क्यूमिन को काला जीरा (Black Cumin) भी कहते हैं। बहुत सारे लोगों को ब्लैक क्यूमिन और ब्लैक सीड एक ही लगता है लेकिन, ये दोनों अलग-अलग हैं। ब्लैक क्यूमिन का वैज्ञानिक नाम Bunium bulbocastanum है। वहीं ब्लैक सीड Nigella sativa है। भारतीय मसालों के अलावा काला जीरा का प्रयोग कई बीमारियों के उपचार के लिए भी किया जाता है। इसकी जड़ों का स्वाद नारियल जैसा होता है, वहीं इसकी पत्तियां हर्ब्स के तौर पर प्रयोग की जाती हैं। कई थेरिपी में इसका प्रयोग किया जाता है और इसके बीज बहुत महंगे होते हैं।

पौराणिक समय में काला जीरा (Black Cumin) का इस्तेमाल सिरदर्द, दांतों के दर्द, नेजल कंजेशन, अस्थमा, अर्थराइटिस, इंटेस्टाइनल वॉर्म आदि का इलाज करने के लिए किया जाता था। वहीं, इसका इस्तेमाल कंजेक्टीवाइटिस के इलाज के लिए भी किया जाता था। मौजूदा समय में काला जीरा का इस्तेमाल अस्थमा, डायबिटीज, हाइपरटेंशन, वेट लॉस सहित अन्य स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं से निजात पाने के लिए किया जाता है। इसके इस्तेमाल के साइंटिफिक पहलू भी हैं। तो आइए इस आर्टिकल में हम काला जीरा के फायदे सहित अन्य पहलुओं के बारे में जानते हैं।

और पढे़ंः सिंघाड़ा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Singhara (Water chestnut)

काले जीरे का उपयोग किस लिए किया जाता है?

इंफेक्शन को दूर करने के लिए ब्लैक क्यूमिन (Black cumin to remove infection)

कई शोध में काला जीरा (Black Cumin) को एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर पाया गया है। खासतौर पर स्टैफिलोकोकस ऑरियस (Staphylococcus aureus) में, जो त्वचा और सॉफ्ट टिशयू संक्रमण के कारणों से लड़ने में मदद करता है। इंफेक्शन से बचने की वजह से त्वचा संबंधी परेशानियों से बचने के साथ-साथ अन्य बीमारियों का खतरा भी कम हो जाता है।

स्वस्थ इम्यून के लिए:

काला जीरा (Black Cumin) हमारे शरीर में मौजूद इम्यून सेल्स को स्वस्थ सेल्स में बदलकर ऑटोइम्यून विकारों को कोसों दूर करता है। अगर इसका सेवन डॉक्टर के सलाह अनुसार किया जाये तो इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग होता है और आप हेल्दी रह सकते हैं।

और पढ़ें: कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताए कुछ आसान उपाय

पेट संबंधित परेशानी को करे दूर:

इसमें मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण पेट संबंधित परेशानियों के लिए फायदेमंद है। ये गैस्ट्रीक, पेट फूलना, पाचन संबंधी परेशानियां, पेट में कीड़े आदी समस्याओं में राहत प्रदान करता है।

ब्लैक क्यूमिन: डायबिटीज

काले जीरे में एंटी-ऑक्सिडेशन और एंटी-ग्लीकेशन गुण होते हैं जो मधुमेह की जटिलताओं और बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में मददगार है। डायबिटीज (मधुमेह) होने की वजह से दिल की बीमारी, दिल का दौरा या स्ट्रोक जैसी समस्या हो सकती है। अगर आप डायबिटीज के पेशेंट हैं, तो ब्लड शुगर लेवल और साथ ही ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करके दिल की बीमारी और अन्य शारीरिक परेशानी से बच सकते हैं।

कैंसर से सुरक्षा:

इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने, अस्थमाकैंसर जैसी बीमारियों से भी राहत पहुंचाते हैं।

और पढ़ें : जानिए ब्रेस्ट कैंसर के बारे में 10 बुनियादी बातें, जो हर महिला को पता होनी चाहिए

सर्दी-जुकाम से बच सकते हैं:

सर्दी-जुकाम या सर्दी-खांसी की परेशानी होने पर व्यक्ति कमजोरी महसूस करने लगता है। ऐसी स्थिति में अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए ब्लैक क्यूमिन का सेवन आपकी परेशानी को काम करने के साथ-साथ अन्य बीमारियों से बचाने का काम भी करता है।

वजन कम करने में है सहायक:

वजन को कम करने में सहायक है ब्लैक क्यूमिन। दरअसल इसमें मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण पेट से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए लाभकारी होता है। ब्लैक क्यूमिन गैस्ट्रीक, पेट फूलना, पाचन संबंधी परेशानियां, पेट में कीड़े आदि समस्याओं में भी राहत देने में सक्षम है।

इन परेशानियों में भी मददगार:

और पढ़ें: सिर दर्द ठीक करने के साथ ही गैस में राहत दिला सकता है केसर, जानें इसके फायदे

कैसे काम करता है काला जीरा (Black Cumin)?

काला जीरा (Black Cumin) कैसे काम करता है इस बारे में कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। हालांकि कई रिसर्च बताते हैं कि इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो कई बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करने में ममदगार है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्व कई प्रकार की बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं।

और पढे़ंः केवांच के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kaunch Beej

उपयोग

कितना सुरक्षित है काला जीरा (Black Cumin) का उपयोग?

इसके इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें, यदि:

  • अगर आप गर्भवती हैं या अपने बच्चे को दूध पिलाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन दोनों ही हालत में डॉक्टर से परामर्श किए बिना कोई दवा नहीं लेनी चाहिए।
  • अगर आप हाई ब्लड प्रेशर के पेशेंट हैं तो भी इसका सेवन एवॉइड करें।
  • बच्चों के लिए ब्लैक क्यूमिन ऑयल एक सीमित मात्रा में सेफ है। लंबे समय तक इसे न दें।
  • आप कोई दूसरी दवाइयां खा रहे हैं। ऐसे में डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसका सेवन करें।
  • अगर आपको जीरा या फिर किसी दूसरे हर्ब्स से एलर्जी है तो।
  • लो डायबिटीज के पेशेंट्स इसका सेवन न करें। इससे उनकी शुगर पहले से ज्यादा लो हो सकती है जो नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  • अगर आपको ब्लीडिंग डिसऑर्डर है तो काला जीरा (Black Cumin) ब्लीडिंग की संभावना को बढ़ाता है। इसलिए इसे एवॉइड करें।
  • लो ब्लड प्रेशर वाले इसका सेवन न करें।
  • आप पहले से किसी तरह की बीमारी से पीड़ित हों तो भी इसका सेवन डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही करें।

इन बीमारियों में भी है उपयोगी

  • प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए
  • ब्रॉन्काइटिस के इलाज में
  • आंतों की गैस और दस्त सहित पाचन संबंधी समस्याएं
  • फ्लू
  • सिरदर्द
  • स्तनपान करवाने में
  • मासिक धर्म संबंधी विकार
  • कैंसर का रोकथाम
  • नाक बंद
  • खांसी

किसी भी हर्बल के सेवन करने के नियम उतने ही सख्त होते है जितने कि अंग्रेजी दवाइयों के होते हैं । सुरक्षा के लिहाज से अभी इसमें और अध्ययन की जरूरत है । हर्बल के सेवन से होने वाले फायदे से पहले आपको इसके खतरों को समझ लेना चाहिए। ज्यादा जानकारी के लिए अपने हर्बल एक्सपर्ट से बात कीजिए।

और पढ़ेंः कदम्ब के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kadamba Tree (Neolamarckia cadamba)

साइड इफेक्ट्स

काला जीरा से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स (Side effects of black cumin)

ज्यादातर सभी के लिए इसका सेवन सुरक्षित है। काले जीरे के ऑयल को सीमित मात्रा में कुछ समय तक लेना सेफ है। इसकी तासीर गर्म होती है जिस कारण इसका सेवन एक दिन में तीन ग्राम से ज्यादा नहीं करना चाहिए। कुछ लोगों में निम्न साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

  • पेट में गड़बड़ी होना
  • लो डायबिटीज होना
  • लो ब्लड प्रेशर होना
  • स्किन पर लगाने से रैशेज हो सकते हैं।

गर्भवती व शिशु को दूध पिलाने वाली महिलाओं के लिए: गर्भवती महिलाओं के लिए काला जीरा (Black Cumin) का सेवन सुरक्षित माना गया है, लेकिन ज्यादा मात्रा में इसका सेवन करने से स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है। ऐसे में महिलाएं डॉक्टरी सलाह लेकर ही इसका सेवन करें।

बच्चों के लिए: बच्चों के लिए जीरे का तेल सुरक्षित माना जाता है। हालांकि, इस विषय पर अधिक अध्ययन मौजूद न होने के कारण इस बात की पुष्टि नहीं की जा सकती है।

ब्लीडिंग डिसऑर्डर: काला जीरा(Black Cumin) का सेवन करने से ब्लड क्लोटिंग की प्रक्रिया को धीमा करने के साथ ब्लीडिंग की संभावनाओं को बढ़ाता है।

डायबिटीज :काला जीरा (Black Cumin) का सेवन करने से कुछ लोगों को लोअर ब्लड शुगर की समस्या हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि इसके लक्षणों को देखते रहें। ब्लड शुगर लेवल को मॉनिटर करते रहें। उसके बाद ही इसका सेवन उचित होता है।

और पढ़ें: पारिजात (हरसिंगार) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Night Jasmine (Harsingar)

सर्जरी : ब्लैक सीड का सेवन करने से ब्लड क्लोटिंग होने के साथ, ब्लड शुगर घट सकता है, वहीं लोगों को ज्यादा नींद आ सकती है। यदि आपको हाल ही में सर्जरी करानी है तो उसके दो सप्ताह पूर्व से हीकाला जीरा (Black Cumin) का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसका सेवन करने वाले लोगों में सर्जरी के दौरान ब्लीडिंग की समस्या होने की संभावना रहती है। इस मामले में आप डॉक्टरी सलाह भी ले सकते हैं।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ेंः अर्जुन की छाल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Arjun Ki Chaal (Terminalia Arjuna)

डोसेज

काला जीरा (Black Cumin) को लेने की सही खुराक क्या है?

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

काला जीरा (Black Cumin) निम्न रूपों में उपलब्ध है:

  • काला जीरा (Black Cumin) सीड ऑयल
  • काला जीरा (Black Cumin) लिक्विड एक्सट्रेक्ट
  • एनकैप्सूलेटेड क्यूमिन सीड एक्सट्रेक्ट
हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में काला जीरा (Black Cumin) से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई-सी भी समस्या है, तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें, तभी इसका इस्तेमाल करें। अगर आप काला जीरा (Black Cumin) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Black cumin (Nigella sativa) and its constituent (thymoquinone): a review on antimicrobial effects/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4387228/Accessed on 13/12/2019

Black Cumin- the New Miracle Cure?/https://www.mcgill.ca/oss/article/controversial-science-food-health-you-asked/you-asked-black-cumin-seed-really-cure-all-things-one-newsletter-purports/Accessed on 13/12/2019

A review on Nigella sativa: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3642442/ Accessed on 13/12/2019

Nigella sativa  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5633670/ Accessed on 13/12/2019

Medicinal Uses of Nigella Sativa: https://www.researchgate.net/publication/26565331_A_Review_of_Medicinal_Uses_and_Pharmacological_Activities_of_Nigella_sativa Accessed on 13/12/2019

Nigella Sativa: https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT04347382 Accessed on 13/12/2019

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/08/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड