home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Fibromyalgia : फाइब्रोमायल्जिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

मूल बातें जानिए|जानिए इसके लक्षण|जानें इसके कारण|निदान और उपचार को समझें|जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार
Fibromyalgia : फाइब्रोमायल्जिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

मूल बातें जानिए

फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) क्या है?

फाइब्रोमायल्जिया सिंड्रोम (एफएमएस), जिसे आमतौर पर फाइब्रोमायल्जिया के रूप में जाना जाता है, एक विकार है जो आपके मस्तिष्क के द्वारा मिलने वाले दर्द के संकेतों को प्रभावित करता है। इसमें मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द होता है।

फाइब्रोमायल्जिया से पीड़ित लोगों को अक्सर थकान, नींद, याद्दाश्त और मूड स्विंग्स जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा, वे तनाव (Tension), सिरदर्द (Headache), चिंता, अवसाद (Depression) आदि को भी अनुभव कर सकते हैं।

क्या फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) एक आम बीमारी है?

फाइब्रोमायल्जिया एक सामान्य बीमारी है। लगभग 20 लोगों में से एक को थोड़ा-बहुत फाइब्रोमायल्जिया हो सकता है। आमतौर पर, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह अधिक देखने को मिलता है। 90% महिलाओं में यह बीमारी देखने को मिलती है। आमतौर पर, इस बीमारी के लक्षण 30 से 50 वर्ष की उम्र के में दिखते हैं लेकिन, बच्चों और बुजुर्गों सहित किसी भी उम्र के लोगों में हो सकती है। इसके कारणों को नियंत्रित करके इससे निपटा जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें : Gas pains: गैस का दर्द क्या है?

जानिए इसके लक्षण

फाइब्रोमायल्जिया के क्या लक्षण हैं? (Symptoms of Fibromyalgia)

कभी-कभी फाइब्रोमायल्जिया के लक्षण शारीरिक चोट, सर्जरी, संक्रमण या अन्य मनोवैज्ञानिक तनाव के बाद व्यक्ति में देखने को मिलते हैं। कुछ मामलों में लक्षण धीरे-धीरे खराब हो सकते हैं। फाइब्रोमायल्जिया के सामान्य लक्षण हैं:

  • कमर के ऊपर और नीचे, शरीर के दोनों तरफ तेज दर्द, जो कम से कम तीन महीने तक रहता है।
  • थकान, दर्द के कारण आराम न कर पाना या नींद न आना।
  • मानसिक कार्यों पर ध्यान केंद्रित करने में समस्या होना।
  • अन्य समस्याएं जैसे- सिरदर्द और पेट के निचले हिस्से में दर्द या ऐंठन।

इसके कुछ और लक्षण भी हो सकते हैं। यदि आपके पास इन संकेतों के बारे में कोई प्रश्न हैं, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर होने वाला दर्द और नींद की कमी के कारण आपके घर और ऑफिस में काम करने की क्षमता प्रभावित हो रही है, तो डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा, सिरदर्द, अवसाद और चिंता के साथ पेट में ऐंठन होती है, मांसपेशियों में दर्द और अत्यधिक थकान लगती है, तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

और पढ़ें : अर्थराइटिस के दर्द से ये एक्सरसाइज दिलाएंगी निजात

जानें इसके कारण

फाइब्रोमायल्जिया का क्या कारण है? (Cause of Fibromyalgia)

फाइब्रोमायल्जिया के कारणों का स्पष्ट रूप से पता नहीं चला है लेकिन, वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि मस्तिष्क के संकेतों और केमिकल से इसका कुछ लेना-देना हो सकता है। फाइब्रोमायल्जिया के संभावित कारण हो सकते हैं:

  • जेनेटिक : अगर आपके परिवार में किसी व्यक्ति को फाइब्रोमायल्जिया है, तो आपको यह समस्या होने का जोखिम बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि इस समस्या में कुछ जेनेटिक बदलाव भूमिका निभा सकते हैं।
  • संक्रमण: कुछ बीमारियां फाइब्रोमायल्गिया को बढ़ा सकती हैं।
  • शारीरिक या भावनात्मक चोट। इसे पोस्ट ट्रोमैटिक तनाव विकार से जोड़कर देखा जाता है।

फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) का खतरा किन कारणों से बढ़ जाता है?

  • फाइब्रोमायल्जिया, महिलाओं में पुरुषों की तुलना में अधिक होता है।
  • परिवार में किसी को यह बीमारी हो।
  • रुमेटाइड गठिया या ल्यूपस, लोगों को फाइब्रोमायल्जिया होने का अधिक जोखिम रहता है।

और पढ़ें : मानव शरीर की 300 हड्डियों से जुड़े रोचक तथ्य

निदान और उपचार को समझें

दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) का निदान कैसे किया जाता है?

फाइब्रोमायल्जिया का निदान करने का कोई प्रयोगशाला परीक्षण नहीं है, तो डॉक्टर नीचे बताए टेस्ट करा सकते हैं –

  • सीबीसी (Complete Blood Count)
  • एरिथ्रोसाइट सेडीमेंटेशन रेट (ESR) टेस्ट
  • थायरॉइड फंक्शन परीक्षण (Thyroid Function Test)।

फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) का इलाज कैसे किया जाता है?

हालांकि, वर्तमान में फाइब्रोमायल्जिया का कोई इलाज नहीं है लेकिन, दवाओं से बीमारी के लक्षणों को नियंत्रित किया जा सकता है। व्यायाम, आराम और तनाव कम करने के उपाय भी इस बीमारी के नियंत्रण में मदद कर सकते हैं।

दवाएं फाइब्रोमायल्जिया के दर्द को कम करने और नींद की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकती हैं। इसमें शामिल हैं:

  • दर्द निवारक, जैसे- एसिटामिनोफेन (टाइलेनॉल, अन्य), इबुप्रोफेन (एडविल, मोट्रिन आईबी, अन्य) या नेप्रोक्सन सोडियम (एलेव, अन्य), ट्रामाडोल (अल्ट्राम, कोनिप)।
  • एंटीडिप्रेसेंट्स, जैसे- डुलोक्सेटीन (सिंबाल्टा) और मिल्नासीप्रान (सेवेल्ला), एमिट्रिप्टिलाइन या फ्लुओक्सेटीन (प्रोजैक)।
  • एंटी-सीजर (Seizure) ड्रग्स, जैसे- गबापेंटिन (न्यूरॉप्ट, ग्रेलिज), प्रेगैबालिन (लाइरिका)। मिर्गी के इलाज के लिए बनाई गई कुछ दवाएं, कुछ तरह के दर्द को कम करने में उपयोगी होती हैं।
  • थेरिपी: तनावपूर्ण स्थितियों से निपटने के लिए स्ट्रैटेजी के बारे में प्रशिक्षण, जैसे- संज्ञानात्मक व्यवहार थेरिपी (सीबीटी) और काउंसलिंग। काउंसलर से बात करने से आपकी क्षमताओं में विश्वास को मजबूत करने में मदद मिल सकती है और तनावपूर्ण परिस्थितियों से निपटने के लिए आपको स्ट्रैटेजी सिखाई जा सकती है।
  • एक्यूपंक्चर, कायरोप्रैक्टिक और मायोफेशियल रिलीज जैसी थेरिपी रोगियों को अस्थायी राहत दे सकती है।
  • जीवनशैली में बदलाव – जैसे व्यायाम (Workout) और रिलैक्सेशन तकनीक।

और पढ़ें : ऐसे 5 स्टेज में बढ़ने लगता है ब्रेस्ट कैंसर

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

क्या जीवनशैली में बदलाव या घरेलू उपचार से मुझे फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) से निपटने में मदद मिल सकती है?

  • जब आपको पता चल जाता है कि फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) की समस्या से आप ग्रसित हैं, तो जितना ज्यादा हो सके, उसके बारे में जानने की कोशिश करें। स्थिति को जितनी बेहतर तरीके से समझेंगे, उसका सामना करना उतना ही आसान होगा। फाइब्रोमायल्जिया के रोगियों को अक्सर कम सहानुभूति और समर्थन मिलता है, क्योंकि दूसरे लोग यह नहीं समझते हैं कि इन रोगियों को दर्द हो रहा है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि इसके लक्षण दिखाई नहीं देते।
  • सपोर्ट ग्रुप- सपोर्ट ग्रुप एक महत्वपूर्ण नेटवर्क प्रदान करते हैं, जहां फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) की स्थिति से जूझ रहे लोगों को उनके जैसे ही लोग मिलते हैं जिनसे बात करना और बीमारी से निपटना आसान हो जाता है।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें – विशेष रूप से फाइब्रोमायल्जिया (Fibromyalgia) से ग्रसित लोगों के लिए बनाए गए व्यायाम से काफी लाभ देखे गए हैं। हो सकता है शुरुआत में व्यायाम आपके दर्द को बढ़ा दे। हालांकि नियमित रूप से करने से यह धीरे-धीरे दर्द कम हो जाता है और बीमारी के लक्षणों से निपटना आसान हो जाता है। हल्के-फुल्के एरोबिक व्यायाम काफी असरदार होते हैं। इसके अलावा, वॉकिंग, जॉगिंग, स्ट्रेचिंग Stretching), रिलैक्सेशन टेक्निक आदि भी सहायक होते हैं।
  • एक स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखें। स्वस्थ भोजन खाएं। कैफीन (Caffeine) का सेवन सीमित करें, धूम्रपान (Smoking) छोड़ें
  • पर्याप्त नींद लें – खराब नींद अक्सर फाइब्रोमायल्जिया का कारण होती है और यह दर्द को और बढ़ा सकती है। नींद की अच्छी आदतों को अपनाएं, जैसे कि एक ही समय में बिस्तर पर जाना और सुबह जागना।
  • तनाव कम करना – अपने आप को पूरे दिन आराम करने के लिए समय दें लेकिन, कोशिश करें कि अपनी दिनचर्या को न बदलें। तनाव प्रबंधन तकनीकों का प्रयास करें, जैसे कि गहरी-सांस लेना या ध्यान करना।
  • भरपूर आराम करें – अपनी काम को पूरे दिन में बांट लें। अगर आप एक दिन में ही बहुत अधिक काम करने की कोशिश करते हैं, तो आप थका हुआ महसूस कर सकते हैं।

अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श लेना न भूलें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/06/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x