अमिताभ बच्चन बर्थडे: कैसा है बिग बी का बेटी श्वेता और पोती अराध्या से रिश्ता, शंहशाह से लें पेरेटिंग टिप्स

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

बिग बी यानी सदी के महानायक अमिताभ बच्चन आज अपना 77वां जन्मदिन मना रहे हैं। अमिताभ के जन्मदिन का उनके फैंस भी बेसब्री से इंतजार करते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं कि किस तरह अमिताभ एक्टिंग के साथ-साथ पेरेटिंग के भी शंहशाह हैं। हालांकि अमिताभ अपने निजी रिश्तों और जीवन को प्राइवेट रखते हैं और मीडिया में इन पर बात करने से अक्सर बचते हैं। लेकिन, समय-समय पर वे खुद सोशियल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर बेटी और पोती की तस्वीरें शेयर कर अपनी भावनाओं को व्यक्त करते रहते हैं। कुछ दिन पहले ही अमिताभ ने अपनी बेटी श्वेता नंदा की कामयाबी पर ट्वविटर पर फोटो शेयर कर उनकी तारीफ की थी। अमिताभ ने श्वेता की बचपन की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा था कि पिता के लिए बेटी की कामयाबी सबसे बड़ा गर्व का मौका होता है। अमिताभ ने यह तस्वीर श्वेता की नॉवेल (पेरेडाइस टावर्स) को बेस्ट सेलर होने पर पोस्ट की थी।

इससे पहले भी श्वेता और अमिताभ एक ज्वेलरी एड में एक साथ दिखे थे। तब भी अमिताभ ने श्वेता के लिए भावुक पोस्ट लिखा था। ऐसे में साफ है कि अमिताभ पेरेटिंग के भी शंहशाह हैं और समय-समय पर बेटी श्वेता का आत्मविश्वास बढ़ाते रहते हैं। जो कि किसी भी पेरेंट के लिए बेहद जरूरी है।

अमिताभ बच्चन बेटी श्वेता के लिए ही नहीं बल्कि पोती आराध्या बच्चन (अभिषेक और ऐश्वर्या की बेटी) के लिए भी अक्सर पोस्ट लिखते रहते हैं। अराध्या के सातवें जन्मदिन पर अमिताभ ने बहुत ही भावुक संदेश में आराध्या को हमेशा खुश रहने और गर्व से जीने की दुआएं दी थीं। अमिताभ ने अपने ब्लॉग पर आराध्या की कुछ तस्वीरें साझा की और लिखा, ‘मैं नन्ही परी के जन्मदिन की संध्या पर उसे ढेरों शुभकामनाएं और आशीष देता हूं कि उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो। आराध्या बच्चन, हमारे घर में बेटी का आशीर्वाद हैं।” अराध्या के लिए अमिताभ के सोशल मीडिया पोस्ट से जाहिर है कि अमिताभ उनके साथ काफी समय बिताते हैं और उनका मार्गदर्शन भी करते हैं। जो कि अच्छी पेरेंटिग का गोल्डन रूल भी है।

ये भी पढ़ेंः जानें पॉजिटिव पेरेंटिंग के कुछ खास टिप्स

वहींअमिताभ ने कुछ समय पहले ऐश्वर्या और अराध्या का फोटो ट्वीट करते हुए लिखा था कि ‘आपके चेहरे की मुस्कुराहट ही खुशी है’। इस तरह की पोस्ट बताते हैं कि बिग बी अपनी पोती अराध्या को स्पेशल फील कराने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते हैं। बच्चों को स्पेशल फील कराना और खासकर के छोटी उम्र में उनके ऊपर सकारात्मक प्रभाव डालता है। ऐसे में बच्चों का मानसिक विकास बेहतर तरीके से होता है और वे हीन भावना के शिकार नहीं होते।

अमिताभ ने खत लिख नव्या और अराध्या को सिखाए थे जीवन के गुर

अमिताभ बच्चन ने कुछ साल पहले फिल्म पिंक की रिलीज के समय टीचर्स डे के मौके पर अपनी पोती आराध्या और नातिन नव्या के नाम खत लिखा था। इसमें उन्होंने दोनों को जिंदगी जीने व सफलता हासिल करने के गुर सिखाए हैं। यहां पढ़िए उस चिट्ठी के अहम बातें

दादाजी की विरासत संभालनी है
बिग बी ने दोनों को संबोधित करते हुए लिखा है, ” आप दोनों के नाजुक कंधों पर इस परिवार की बड़ी अहम जिम्मेदारी है। आराध्या को अपने दादाजी डॉक्टर हरिवंश राय बच्चन और नव्या आप को अपने दादा श्री एचपी नंदा की विरासत को आगे ले जाना है। आप दोनों के नाम में बच्चन और नंदा सरनेम के तौर पर लगा है, लेकिन आप लड़की भी हैं। औरत भी।

सोच थोपी जाएगी
अमिताभ ने लिखा चूंकि आप औरत हैं, लोग आप पर अपनी सोच थोपने की कोशिश करेंगे। आप को निर्देश देंगे कि क्या पहनना है, कैसे बर्ताव करना है? आप कहां जा सकते हो? कहां नहीं? मगर आप को इन चीजों को तव्वजो नहीं देनी है। कभी लोगों की धारणा की परछाईं में मत जीना। अपने फैसले खुद अपने विवेक से लेना।

शादी को लेकर भी दिए थे टिप्स
आप लड़की हो सिर्फ इस सोच के कारण शादी मत करना। बल्कि, जब आपको लगे आप इस जिम्मेदारी को उठाने के लिए तैयार हैं तब ही फैसला लेना। लोग इस पर भी बातें करेंगे। आप को चुभती हुई बातें सुनाएंगे। लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं कि आप उन पर ध्यान दें ही। आप कभी चिंता मत करना कि लोग क्या कहेंगे?

ये भी पढ़ेंः जब बच्चा स्कूल से घर अकले जाए तो अपनाएं ये सेफ्टी टिप्स

मैं रहूं न रहूं, मेरी बातें याद रखना
आराध्या यह मुमकिन है कि आप जब यह खत पढ़ने व समझने लायक होंगी, तब मैं शायद न रहूं। लेकिन मेरी ये बातें उस वक्त भी आपका मार्गदर्शन करेंगी। नव्या आपके नाम के मायने अलग हैं। कभी नकारात्मक चीजों से मत घबराना। दुनिया में अच्छे लोग भी हैं। औरतों के लिए यह दुनिया बड़ी जालिम है, लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि आप जैसी शख्सियतें बदलाव लाएंगी।

अपनी सीमाएं खुद तय करें
आपके लिए अपनी सीमाएं तय करना आसान न हो। अपने फैसले खुद करने की आजादी न मिले, मगर आप घबराना मत। दूसरी औरतों के लिए मिसाल बनना। दुनिया अपनी नजरों से देखना और समझना। जिंदगी के सभी सबक खुद सीखना। मुझे गर्व होगा कि मैं अमिताभ बच्चन की बजाय आप के दादाजी व नानाजी के तौर पर जाना जाऊं।

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 10, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 11, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे