home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे कैसे मनाएं, जानें टिप्स

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे कैसे मनाएं, जानें टिप्स

जन्मदिन हर किसी व्यक्ति की जिंदगी का सबसे खूबसूरत दिन होता है और बच्चों के लिए तो यह किसी त्योहार से कम नहीं होता। बच्चे पूरे साल अपने बर्थडे का इंतजार करते हैं और तरह-तरह की प्लानिंग करते हैं कि, वह उन दिन क्या-क्या करेंगे। तो फिर ऑटिज्म डिसऑर्डर (Autism disorder) से ग्रसित बच्चों को इस फीलिंग से दूर क्यों रखा जाए। ऑटिज्म एक विकास संबंधी डिसऑर्डर है, जो जिंदगीभर बात करने, समझने या भावना दर्शाने में चुनौती पैदा करती है। लेकिन, ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे सेलिब्रेट (Autistic child birthday) कर उन्हें स्पेशल फील करवाया जा सकता है। आइए, हम जानते हैं कि, ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे (Autistic child birthday) मनाते हुए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

ऑटिज्म (Autistic) क्या है?

ऑटिज्म एक मनोविकार है, जिसे हिंदी में स्वलीनता भी कहा जाता है। इस विकार में प्रभावित व्यक्ति को बात करने, सीखने, कुछ व्यक्त करने में चुनौती महसूस होती है। यह मनोविकार आमतौर पर, छोटी उम्र में ही दिखने लगता है, लेकिन कई बार यह थोड़ा समय निकल जाने के बाद सामने आने लगता है। इसके पीछे के सटीक और सभी कारणों का अभी पता नहीं लग पाया है, लेकिन एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसके पीछे कई एंवायरमेंटल, बायोलॉजिक और जेनेटिक फैक्टर (Genetic factor) हो सकते हैं। जिसकी वजह से असामान्य मानसिक विकास या दिमागी संरचना में समस्या हो जाती है।

और पढ़े : आपके बच्चे का दिल दाईं ओर तो नहीं, हर 12,000 बच्चों में से किसी एक को होती है यह कंडीशन

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे (Autistic child birthday) कैसे सेलिब्रेट करें?

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे सेलिब्रेट करते हुए आपको इन बातों या टिप्स का ध्यान रखना चाहिए, जिससे आपके स्पेशल चाइल्ड को काफी स्पेशल फील होगा।

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे: जानी-पहचानी जगह का चुनाव

जैसा कि, हम किसी सामान्य बच्चे के बर्थडे (Autistic child birthday) को सेलिब्रेट करने की जगह के बारे में सोचते हैं कि, कुछ ऐसी जगह का चुनाव करना चाहिए, जो उसके लिए नयी हो, जिससे वह उत्साहित हो सके। लेकिन, ऑटिज्म से प्रभावित बच्चे के लिए यह आइडिया उचित नहीं होगा। क्योंकि, ऑटिस्टिक चाइल्ड नये लोगों, नयी जगहों और नयी चीजों के प्रति जल्दी फ्रेंडली नहीं हो पाते, जिससे उनका यह दिन काफी तनाव और लोगों से दूर रहने में बीत सकता है। इसके विपरीत आपको, स्पेशल चाइल्ड के जन्मदिन (Autistic child birthday) मनाने की जगह का चुनाव करते हुए ध्यान देना चाहिए कि, आखिर सबसे ज्यादा वह किस जगह से फ्रेंडली है, वह जगह अधिकतर मामले में उनका खुद का घर हो सकता है।

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे: गेस्ट लिस्ट में किसको करें शामिल

जब बर्थडे सेलिब्रेट करने की बात है, तो मेहमानों के नाम या गेस्ट लिस्ट भी बनानी पड़ेगी। लेकिन, यहां यह ध्यान रखें कि, सामान्य बच्चे का जन्मदिन मनाने की तरह कई लोगों को बुलाने की गलती न करें। क्योंकि, अभी हमने ऊपर बताया कि, ऑटिज्म से ग्रसित बच्चे बात करने में या अपनी भावनाएं प्रकट करने में काफी मुश्किलें महसूस करते हैं। इसलिए, कम से कम मेहमानों को बुलाएं और ध्यान रखें कि गेस्ट सिर्फ वही हों, जिनके आसपास आपका स्पेशल चाइल्ड खुद को सामान्य फील करे। कई मामलों में पार्टी में शामिल होने वाले मेहमान सिर्फ घर के लोग भी हो सकते हैं।

और पढ़े : बच्चों में अस्थमा की बीमारी होने पर क्या करना चाहिए?

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे: पार्टी एक्टिविटी

हर बच्चे को कुछ चीजें या एक्टिविटी में काफी मजा आता है और वह उन एक्टिविटीज को करने में काफी आनंदित महसूस करते हैं। इस मामले में ऑटिज्म से प्रभावित बच्चे (Autistic child) अपनी पसंद को लेकर ज्यादा गंभीर होते हैं। इसलिए, आप उनकी पसंद को पहचानकर और समझकर एक्टिविटी का चुनाव करें। हो सकता है आपके बच्चे को कुछ खाना पसंद हो, हो सकता है आपके बच्चे को कोई और एक्टिविटी (Activity) करना ज्यादा पसंद हो।

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे: पार्टी का समय

इस बात का ध्यान रखें कि, पार्टी या इवेंट ज्यादा लंबा न हो, क्योंकि ऐसा करने से बच्चा थकान महसूस कर सकता है। इसलिए, कोशिश करें कि, पार्टी का समय कुछ घंटे का ही हो, क्योंकि जितना लंबा समय होगा, उतनी ही ज्यादा आशंका आपके बच्चे को कुछ बुरा लगने की हो सकती है।

और पढ़े : शिशु या बच्चों को मलेरिया होने पर कैसे संभालें?

कैसे पहचानें कि आपका बच्चा ऑटिस्टिक चाइल्ड है?

ऑटिज्म की पहचान बच्चे के शुरुआती वर्षों में ही होने लगती है। क्योंकि, वह दूसरे बच्चों से विपरीत व्यवहार करने लगता है। उसमें निम्नलिखित लक्षण दिख सकते हैं।

  1. ऑटिस्टिक चाइल्ड, माता-पिता या किसी भी व्यक्ति के बोलने या कहने पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देते हैं। ऐसा होने पर पेरेंट्स को टेंशन (Tension) होने लगती है कि, कहीं उनके बच्चे को सुनने में कोई परेशानी तो नहीं है। लेकिन, चिंता की कोई बात नहीं, ऐसा ऑटिज्म के कारण भी हो सकता है।
  2. ऑटिज्म से प्रभावित बच्चों को बात करने या बोलने में समस्या होती है और वह अपनी बात को रखने में मुश्किल का सामना करते हैं। जिससे उनमें चिड़चिड़ापन (Irritating) भी आ सकता है।
  3. जो बच्चे ऑटिज्म से प्रभावित होते हैं, उनमें शारीरिक अंगों का बेवजह हिलना होता है।
  4. ऑटिज्म के शिकार बच्चे खुद में ही खोये रहते हैं, वह किसी भी नयी चीज को सीखने में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं दिखाते हैं।
  5. ऐसे बच्चे किसी कार्य को करने में काफी समय लगा सकते हैं।
  6. ऑटिस्टिक चाइल्ड का दिमागी विकास (Brain development) सामान्य बच्चों की तुलना में काफी धीरे होता है।

और पढ़े : बेबी हार्ट मर्मर के क्या लक्षण होते हैं? कैसे करें देखभाल

क्या ऑटिस्टिक चाइल्ड के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

  1. ऑटिज्म का अभी तक पूर्ण इलाज नहीं मिल पाया है, हालांकि इसके लक्षणों को सुधारा जा सकता है। इसके लिए थेरिपी, परिवार, शिक्षा और सामाजिक सहयोग की मदद ली जाती है।
  2. ऑटिस्टिक चाइल्ड (Autistic child) की स्थिति कई मामलों में सुधरने लगती है, जिसकी वजह से वह शादी, जॉब या अन्य कार्य करने में सक्षम हो जाते हैं।
  3. ऑटिज्म की सभी रोगी एक समान नहीं होते हैं, जिस वजह से उनकी मुश्किलें और चुनौतियां भी अलग-अलग हो सकती हैं। इस वजह से उनकी मदद भी अलग-अलग तरीके से की जाती है।
  4. जो बच्चे ऑटिज्म डिसऑर्डर (Autism disorder) के शिकार होते हैं, उनमें एक छिपी हुई कला होती है। यह कला आप धीरे-धीरे पहचान सकते हैं और उसके बाद उन्हें उस एक्टिविटी के लिए और प्रोत्साहित कर सकते हैं।
  5. अगर आप ऑटिस्टिक चाइल्ड (Autistic child) को कुछ सीखाना चाह रहे हैं, तो सिर्फ उन्हें बताना काफी नहीं है। बल्कि, बेहतर लर्निंग के लिए आप उन्हें वह कार्य करके दिखा सकते हैं। क्योंकि, ऑटिज्म से प्रभावित बच्चे सुनने से ज्यादा देखने से जल्दी सीखते हैं।
  6. उम्मीद है कि, आपको ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे (Autistic child birthday) मानाने का तरीका इस आर्टिकल की मदद से मिलेगी। अगर आपको, इसके बाद भी कोई समस्या है, तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं।

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे (Autistic child birthday) अगर आप ठीक तरह से प्लान कर करें, तो इससे बच्चे को भी खुशी मिलेगी और उनका फ्रेंड सर्कल भी बढ़ेगा। अगर आप ऑटिस्टिक चाइल्ड के पेरेंट हैं, तो आपको सिर्फ या हमेशा उनकी डिसेबिलिटी के बारे में ही नहीं सोंचे। आजकल ऑटिस्टिक चाइल्ड के लिए स्कूल भी है, जहां जा कर वो पढ़ाई कर सकते हैं और अपने ही जैसे अन्य बच्चों से दोस्ती भी कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

PLANNING A BIRTHDAY PARTY – https://www.carautismroadmap.org/planning-a-birthday-party/ – Accessed on 22/5/2020

6 tips for planning an Autism friendly birthday party – https://www.friendshipcircle.org/blog/2012/04/24/6-tips-for-planning-an-autism-friendly-birthday-party/ – Accessed on 22/5/2020

Parties and social events: children and teenagers with autism spectrum disorder – https://raisingchildren.net.au/autism/school-play-work/social-life/parties-social-events-asd – Accessed on 22/5/2020

Autism Information – https://www.hhs.gov/programs/topic-sites/autism/index.html – Accessed on 22/5/2020

Autism Spectrum Disorder (ASD) – https://www.cdc.gov/ncbddd/autism/index.html – Accessed on 22/5/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/07/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड