home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

हाइड्रोसेफलस (Hydrocephalus) : शिशुओं में होने वाली इस बीमारी के बारे में कितना जानते हैं आप?

परिभाषा|लक्षण|कारण|रिस्क फैक्टर|निदान और उपचार|जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार
हाइड्रोसेफलस (Hydrocephalus) : शिशुओं में होने वाली इस बीमारी के बारे में कितना जानते हैं आप?

परिभाषा

हाइड्रोसेफलस क्या है? (Hydrocephalus )

हाइड्रोसेफलस बीमारी में मस्तिष्क की कैविटीज में तरल पदार्थ भर जाता है। अतिरिक्त तरल पदार्थ वेंट्रिकल्स के आकार को बढ़ाता है और मस्तिष्क पर दबाव डालता है। मस्तिष्कमेरु द्रव ( Cerebrospinal fluid) सामान्य रूप से वेंट्रिकल्स से बहता है और मस्तिष्क और स्पाइनल कॉलम की ओर जाता है। द्रव जब अधिक प्रेशर के साथ बहता है तो ये ब्रेन के टिशू को डैमेज करता है।

यह भी पढ़ें : हेपेटाइटिस बी क्या है?

हाइड्रोसेफलस (Hydrocephalus) कितना आम है?

हाइड्रोसेफलस किसी भी उम्र में हो सकता है। यह शिशुओं और वयस्कों में आम है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर एंड स्ट्रोक (एनआईएनडीएस) का अनुमान है कि प्रत्येक 1,000 शिशुओं में से 1 से 2 बच्चे हाइड्रोसेफालस के साथ पैदा होते हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने चिकित्सक से चर्चा करें।

लक्षण

हाइड्रोसेफलस के लक्षण क्या हैं? (Hydrocephalus Symptoms)

हाइड्रोसेफलस के लक्षण उम्र के साथ भिन्न हो जाते हैं,

शिशुओं में

शिशुओं में हाइड्रोसेफलस के सामान्य लक्षण और लक्षण शामिल हैं,

  • सिर के आकार में परिवर्तन
  • असामान्य रूप से बड़ा सिर
  • सिर के आकार में तेजी से वृद्धि
  • सिर के शीर्ष पर कोमल स्थान (फॉन्टानेल) का दिखना

शारीरिक लक्षण

  • उल्टी
  • नींद न आने की समस्या
  • चिड़चिड़ापन
  • उचित पोषण न मिलना
  • मिरगी का दौरा
  • आंखें नीचे की ओर होना
  • मांसपेशियों की ताकत में कमी

यह भी पढ़ें : ये दवाएं आपके दिमाग को बना सकती हैं ‘एवेंजर्स’!

टोडलर्स और बड़े बच्चें में लक्षण

टोडलर्स और बड़े बच्चों में दिखने वाले लक्षण

शारीरिक लक्षण

  • सिरदर्द
  • धुंधलापन या दोहरा विजन

शारीरिक संकेत

  • बच्चें का सिर अचानक बढ़ना
  • नींद न आना
  • जागने में कठिनाई
  • उलटी अथवा मितली
  • अस्थिर संतुलन
  • कॉर्डिनेशन में कमी
  • अपर्याप्त भूख
  • मिरगी का दौरा

व्यवहार और संज्ञानात्मक परिवर्तन (Behavioral and cognitive changes)

  • चिड़चिड़ापन
  • व्यक्तित्व में बदलाव
  • ध्यान के साथ समस्या
  • स्कूल के प्रदर्शन में गिरावट
  • युवा और मध्यम आयु वर्ग के वयस्क

इस आयु वर्ग के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं

  • जागने में कठिनाई होना
  • समन्वय या संतुलन में समस्या
  • मूत्राशय के नियंत्रण में कमी या बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना
  • धुंधली दृष्टि
  • स्मृति, एकाग्रता में कमी

वयस्कों में कमी

60 वर्ष और अधिक उम्र के वयस्कों में हाइड्रोसिफलस के सामान्य लक्षण

  • मूत्राशय के नियंत्रण में कमी या बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना
  • मेमोरी लॉस
  • प्रोग्रेसिव लॉस
  • चलने में कठिनाई
  • कॉर्डिनेशन में दिक्कत
  • मूवमेंट में समस्या

यह भी पढ़ें : ‘गजनी’ फिल्म की तरह हो गई है इस लड़की की जिंदगी…

हो सकता है कि यहां कुछ लक्षण न दिए गए हो, कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

जब आपको ये लक्षण दिखें

  • जोर से रोना
  • चूसने या खिलाने में समस्या
  • उल्टी
  • गर्दन या सिर को हिलाने की इच्छा न होना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • मिरगी की समस्या

किसी भी आयु वर्ग में अन्य लक्षण भी दिख सकते हैं। कृपया अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हाइड्रोसिफलस से जुड़ी समस्याओं में एक से अधिक स्थिति हो सकती है, इसलिए समय पर निदान और उचित देखभाल लेना जरूरी है।

कारण

यह भी पढ़ें : Myasthenia Gravis : मियासथीनिया ग्रेविस क्या है? जानें कारण , लक्षण और उपाय

हाइड्रोसेफलस का क्या कारण है? (Hydrocephalus Causes)

हाइड्रोसेफालस बीमारी सेरेब्रोस्पाइनल फ्लूड उत्पादन की अधिकता की वजह से होता है। सेरेब्रोस्पाइनल तरल पदार्थ मस्तिष्क के वेट्रिकल्स के टिशू से बनता है। यह चैनलों को आपस में जोड़ने के लिए वेट्रिकल्स से निकलता है और अंत में मस्तिष्क और स्पाइनल कॉर्ड के आसपास पहुंचता है। यह मुख्य रूप से मस्तिष्क के ऊतकों में रक्त वाहिकाओं द्वारा अवशोषित होता है।

मस्तिष्कमेरु द्रव( Cerebrospinal fluid) मस्तिष्क के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है (ब्रेन और स्पाइलन कॉर्ड से जुड़ी समस्याओं के बारे में पता लगाने के लिए सीएसएफ टेस्ट कराया जाता है।):

  • भारी मस्तिष्क को खोपड़ी के भीतर फ्लोट कराता है।
  • चोट से बचाने के लिए मस्तिष्क की कुशनिंग करना
  • मस्तिष्क के मेटाबॉलिज्म के वेस्ट प्रोडेक्ट को हटाना
  • मस्तिष्क के अंदर निरंतर दबाव बनाए रखने के लिए मस्तिष्क गुहा और रीढ़ की हड्डी के स्तंभ के बीच आगे और पीछे बहना
  • ब्रेन में तरल पदार्थ निम्म कारणों से बढ़ता है
  • तरल पदार्थ का एक वेंट्रिकल से दूसरे में या वेंट्रिकल से मस्तिष्क के आसपास के अन्य स्थानों पर बहना

अवशोषण में कमी

मेकेनिज्म के तहत ब्लड वेसल्स सेरेबरल स्पाइनल फ्लूड को अवशोषित करता है।

रिस्क फैक्टर

हाइड्रोसेफलस के लिए मेरा जोखिम कब बढ़ता है? (Hydrocephalus Risk Factors)

केंद्रीय तंत्रिका तंत्र का असामान्य विकास जो सेरेब्रल स्पाइनल द्रव के प्रवाह को बाधित कर सकता है।

  • वेंट्रिकल्स में ब्लीडिंग होना
  • गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय में संक्रमण, जैसे कि रूबेला या सिफलिस, जो भ्रूण के मस्तिष्क के ऊतकों में सूजन पैदा कर सकता है
  • मस्तिष्क या रीढ़ की हड्डी के घाव या ट्यूमर
  • केंद्रीय तंत्रिका तंत्र संक्रमण जैसे कि बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस या मम्पस
  • सिर की चोट से मस्तिष्क में ब्लीडिंग
  • मस्तिष्क की अन्य दर्दनाक चोट

निदान और उपचार

प्रदान की गई जानकारी किसी भी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

हाइड्रोसेफलस का निदान कैसे किया जाता है? (Hydrocephalus Diagnosis)

अगर आपको लगता है कि आपके बच्चे में हाइड्रोसेफिलस है, तो आपका डॉक्टर लक्षणों को पहचाने के लिए फिजिकल टेस्ट करेगा। डॉक्टर अंदर धंसी हुई आंखों की जांच करता है। उभरा हुआ फॉन्टानेल और अधिक बड़ा सिर इसकी पहचाना है।

डॉक्टर मस्तिष्क की जानकारी के लिए एक अल्ट्रासाउंड कर सकता है। इसमे उच्च-आवृत्ति की ध्वनि तरंगों का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार का अल्ट्रासाउंड केवल उन शिशुओं में किया जा सकता है, जिनके फॉन्टानेल खुले हुए होते हैं।

CSF के संकेतों को पहचानने के लिए चुंबकीय अनुनाद इमेजिंग (MRI) स्कैन का उपयोग किया जा सकता है। एमआरआई मस्तिष्क की छवि बनाता है। इसमे चुंबकीय क्षेत्र और रेडियो तरंगों का उपयोग करते हैं।

सीटी स्कैन बच्चों और वयस्कों में किया जाता है। सीटी स्कैन मस्तिष्क की क्रॉस-सेक्शनल छवि बनाने के लिए कई अलग-अलग एक्स-रे का उपयोग करता है। ये स्कैन बढ़े हुए मस्तिष्क को दिखा सकता है।

हाइड्रोसेफलस का इलाज कैसे किया जाता है? (Hydrocephalus Treatment)

ज्यादातर मामलों में, एक शंट (shunt) की सहायता ली जाती है। शंट एक जल निकासी प्रणाली है, ये एक लंबी ट्यूब से बना होता है। आपका डॉक्टर मस्तिष्क में ट्यूब के एक छोर को डालता है और दूसरा अंत आपके सीने या पेट की गुहा में डालता है। एक शंट इम्प्लांट आमतौर पर स्थायी होता है और इसकी नियमित निगरानी की जाती है।

वेंट्रिकुलोस्टॉमी (Ventriculostomy)

वेंट्रिकुलोस्टॉमी नामक एक प्रक्रिया को विकल्प के रूप में किया जा सकता है। इसमें एक वेंट्रिकल के नीचे या वेंट्रिकल के बीच में एक छेद बनाया जाता है। यह CSF को मस्तिष्क छोड़ने के लिए अलाउ करता है।

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

जीवनशैली में बदलाव या घरेलू उपचार क्या हैं क्या इस बीमारी में मदद कर सकते हैं?

  • रिहेबिटेटिव थेरिपीज की हेल्प से, एजुकेशनल इंटरवेंशन्स की सहायता से इस बीमारी के खतरे को कम किया जा सकता है।
  • बच्चों के लिए सरकार की ओर से प्रायोजित स्वास्थ्य देखभाल और अन्य सहायता सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है।
  • हाइड्रोसेफलस के साथ रहने वाले वयस्कों को हाइड्रोसफलस एजुकेशन और हेल्प के लिए कुछ ऑर्गेनाजेशन काम कर रही है। उनकी सहायता ली जा सकती है।

यदि आपके पास कोई प्रश्न हैं तो समाधान के लिए कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

उम्मीद करते हैं कि आपको हाइड्रोसेफलस (Hydrocephalus) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

और पढ़ें : दिमाग तेज करने के साथ और भी हैं चिलगोजे के फायदे, जानकर हैरान रह जाएंगे

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/06/2021 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड