backup og meta

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन? ये 10 उपाय आ सकते हैं काम

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/05/2022

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन? ये 10 उपाय आ सकते हैं काम

प्रेग्नेंसी के दौरान स्किन में कई प्रकार के बदलाव आते हैं जिनमें से ज्यादातर डिलिवरी के बाद ठीक हो जाते हैं, लेकिन कई बार लूज स्किन की परेशानी बनी रहती है। प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) को कैसे ठीक किया जा सकता है इसके बारे में इस आर्टिकल में बताया जा रहा है। बता दें कि स्किन कोलाजन और इलास्टिन से मिलकर बनी है इसलिए वजन के बढ़ने पर यह फैलती है। एक बार स्ट्रेच होने पर इसके वापस ओरिजनल शेप में आने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन महिलाओं के लिए परेशानी का कारण बन सकती है जो ये चाहती है कि उनकी बॉडी प्रेग्नेंसी के पहले जैसी हो जाए, लेकिन यह याद रखना बेहद जरूरी है कि इसमें समय लगता है। प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन को ठीक करने के लिए कुछ काम किए जा सकते हैं।

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन को ठीक करने के टिप्स (Tips for Firming Loose Skin After Pregnancy)

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन को ठीक करने के लिए निम्न टिप्स अपनाए जा सकते हैं।

1.प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) को ठीक करने के लिए एक कार्डियो रूटीन सेट करें

कार्डियो एक्सरसाइज फैट को बर्न करने में और मसल्स को टोन करने में मदद करती है। शुरुआत करें तेज चलने, जॉगिंग और साइकल चलाने से। इसके बाद धीरे-धीरे एक्टिविटीज को एड करते जाएं। नया रूटीन शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह जरूर लें कि क्या आप इन एक्टिविटीज को शुरू कर सकती हैं या नहीं।

और पढ़ें: Prenatal Massage: जानिए प्रीनेटल मसाज प्रेग्नेंसी के किस ट्राइमेस्टर के बाद करना चाहिए!

2.हेल्दी फैट्स और प्रोटीन्स प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) को ठीक करने में कर सकते हैं मदद

हेल्दी फैट्स और प्रोटीन्स से मांसपेशियों का निर्माण करने में मदद मिल सकती है। प्रोटीन में कोलेजन भी हो सकता है। आप कितना व्यायाम करते हैं, साथ ही आपकी ऊंचाई और वजन के आधार पर आपकी व्यक्तिगत प्रोटीन की जरूरत अलग-अलग होती है। यदि आप स्तनपान करा रही हैं तो आपको अधिक प्रोटीन की भी आवश्यकता हो सकती है।

3.रेगुलर स्ट्रेंथ ट्रेनिंग का अभ्यास करें

अपने मसल्स को टोन करने और शेप देने के लिए स्ट्रेंथ ट्रेनिंग वर्कआउट्स का सहारा भी लिया जा सकता है। मसल टोन करने से लूज स्किन पर पॉजिटिव इफेक्ट होता है। सिटअप्स, पुशअप्स, पिलाटे, योगा और प्लैंक्स जैसी एक्सरसाइज कोर मसल्स, हिप और ग्लूट मसल्स को टाइट करने में मदद करती हैं। इससे मसल टोन में सुधार होने के साथ ही स्किन टाइट होती है। ट्रेनर के साथ वर्कआउट करते वक्त इस बात की जानकारी होना जरूरी है कि हाल ही में डिलिवरी हुई है। प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) ठीक करने में यह टिप्स भी मददगार है।

4.पानी जरूर पिएं

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy)

पानी स्किन को हायड्रेट रखने के साथ ही इसे और भी इलास्टिक बनाता है। अधिक पानी के साथ बॉडी अधिक एफिसिएंट होती है। इसे फैट आसानी से बर्न हो सकता है और बेली से वॉटर रिटेंशन कम होता है। प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) को ठीक करने में यह छोटा सा उपाय मदद कर सकता है।

और पढ़ें: पोस्टपार्टम साइकोसिस : प्रसव के बाद डिप्रेशन की इस बीमारी को सामान्य न समझें!

5.प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) होने पर ऑयल्स से मसाज करें

कुछ प्लांट बेस्ड ऑयल्स स्किन को रिपेयर करने में मदद करते हैं। ऐसा इनके एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लामेटरी प्रॉपर्टीज की वजह से होता है। उदाहरण के लिए बादाम के तेल का उपयोग स्ट्रेच मार्क्स के लिए किया जाता है। एसेंशियल ऑयल्स को कैरियर ऑयल्स में डायल्यूट करके यूज किया जाता है। इसका भी स्किन पर पॉजिटिव असर होता है। पेपरमिंट, रोजहिप ऑयल, जोजोबा ऑयल आदि मार्केट में उपलब्ध हैं। 

6.स्किन को टाइट करने वाले प्रोडक्ट्स का उपयोग करें (Try skin tightening products)

आपकी त्वचा में कोलेजन और इलास्टिन को बढ़ाने के लिए बाजार में कई त्वचा-फर्मिंग प्रोडक्ट तैयार किए गए हैं। सामग्री, जैसे कोलेजन, विटामिन सी, और रेटिनोइड्स, त्वचा को उसकी कुछ दृढ़ता को ठीक करने में मदद कर सकते हैं।

7.स्पा (Spa) की मदद लें

प्रेग्नेंसी के बाद स्किन लूज हो गई तो ऊपर बताए उपायों को अपनाने के साथ ही स्पा की मदद भी ली जा सकती है। इसमें सी सॉल्ट, मिट्टी आदि का उपयोग किया जाता है। ये स्किन को फर्म करने में मदद करते हैं लेकिन अस्थाई तौर पर। ये स्किन को सॉफ्ट और डिटॉक्स करने में मदद करते हैं।

8.प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन को ठीक करने में कोलाजन सप्लिमेंट्स (Collagen supplements) आ सकते हैं काम

बॉडी कोलाजन का निमार्ण प्राकृतिक तौर पर करती है। उम्र बढ़ने के साथ यह प्रॉसेस प्रभावित होती है। स्किन की इलास्टिसिटी बढ़ाने के लिए कोलाजन सप्लिमेंट्स फायदेमंद हो सकते हैं। एनसीबीआई में छपी स्टडी जो मुख्य रूप से झुर्रियों पर आधारित हैं उनमें ओरल कोलाजन सप्लिमेंटेशन के रिजल्ट काफी अच्छे आए हैं। ये सप्लिमेंट्स इलास्टिसिटी को बूस्ट करने के साथ ही त्वचा को हायड्रेट करने में मदद करते हैं। साथ ही ये डर्मल कोलाजन डेंसिटी को बढ़ाने में मददगार हैं जो एक साथ मिलकर लूज स्किन की अपीरिएंस में सुधार करते हैं।

और पढ़ें: निकाल कर थोड़ा ‘मी टाइम’, पोस्टपार्टम पीरियड के दौरान मेंटल हेल्थ को रखें दुरुस्त

9.नॉनसर्जिकल ट्रीटमेंट ऑप्शन (Nonsurgical treatment option)

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) के लिए कुछ अन्य नॉनसर्जिकल ट्रीटमेंट भी उपलब्ध हैं। जैसे रेडियोफ्रीक्वेंसी ट्रीटमेंट या लाइट ट्रीटमेंट जैसे गैर-सर्जिकल उपचार, डर्मल लेयर्स को गर्म करके और कोलेजन उत्पादन को बढ़ाकर पेट पर अतिरिक्त त्वचा को कसने में मदद कर सकते हैं। उपचार के दौर से गुजर रहे व्यक्ति को कई सेशन्स की आवश्यकता हो सकती है, और इसका रिजल्ट उपचार के बाद कई महीनों में धीरे-धीरे पता चलता है।

कोलेजन और इलास्टिन को उत्तेजित करने के लिए गर्मी का उपयोग करके लेजर स्किन टाइटनिंग ट्रीटमेंट भी काम करता है। शरीर पर कहीं भी त्वचा को टाइट करने के लिए लोग इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। एक व्यक्ति को परिणाम देखने के लिए तीन से पांच ट्रीटमेंट सेशन की आवश्यकता हो सकती है। रिजल्ट्स आमतौर पर उपचार के बाद 2 से 6 महीने के बीच धीरे-धीरे दिखाई देते हैं।

नॉनसर्जिकल प्रक्रियाएं सुविधाजनक होती हैं, क्योंकि वे छोटी होती हैं, और इनका रिकवरी टाइम बहुत कम होता है। हालांकि, वे गंभीर मामलों के लिए ये उपयुक्त नहीं हो सकते हैं।

10.सर्जिकल कॉस्टमेटिक प्रॉसीजर (Surgical cosmetic procedures)

प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) ने आपकी परेशानी बहुत बढ़ा दी है तो आप सर्जिकल प्रॉसीजर की मदद ले सकते हैं। इसे एब्डोमिनोप्लास्टी या टमी टक कहा जाता है। परिणाम तब तक स्थायी होते हैं जब तक व्यक्ति सर्जरी के बाद स्थिर वजन बनाए रखता है। विभिन्न प्रकार के टमी टक में शामिल हैं:

स्टैंडर्ड, या फुल (Standard or full)

इसमें प्यूबिक हेयरलाइन के ठीक ऊपर से बेलीबटन तक अतिरिक्त त्वचा और वसा को हटाया जाता है। यह प्रक्रिया नाभि के चारों ओर एक निशान और पेट के निचले हिस्से में एक लंबा निशान छोड़ती है।

मिनी (Mini)

इसमें नाभि के नीचे की अतिरिक्त त्वचा और फैट को हटाया जाता है, प्यूबिक माउंट के ऊपर छोटे हॉरिजेंटल निशान रह जाते हैं।

और पढ़ें: अगर दिखाई दें ये लक्षण तो समझ लें हो गईं हैं पोस्टपार्टम डिप्रेशन का शिकार!

विस्तारित (Extended)

इसमें ऊपरी और निचले पेट और शरीर के किनारों से त्वचा को निकालना शामिल है। यह प्रकार शरीर के सामने और किनारों के चारों ओर साथ ही नाभि के दोनों ओर निशान रह जाते हैं। सर्जन सलाह देते हैं कि महिलाओं को केवल तभी टमी टक जैसी सर्जरी प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है, जब वे आगे गर्भधारण के लिए प्रयास नहीं करने वाली हैं। वजन उठाने पर प्रतिबंध के कारण प्रक्रिया के बाद बच्चे की देखभाल में मदद की आवश्यकता हो सकती है।

उम्मीद करते हैं कि आपको प्रेग्नेंसी के बाद लूज स्किन (Loose Skin After Pregnancy) को ठीक कैसे करें इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


Manjari Khare द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/05/2022

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement