स्किन में खुजलीदार बम्प्स के क्या हो सकते हैं कारण?

    स्किन में खुजलीदार बम्प्स के क्या हो सकते हैं कारण?

    त्वचा में किसी भी प्रकार की समस्या हो जाने पर जलन या फिर खुजली का एहसास शुरू हो जाता है। मच्छर के काटने पर उस स्थान पर अक्सर उभार सा जाता है, वहीं कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या के कारण भी स्किन में उभारा जाता है। कई बार इंसेक्ट त्वचा में उभार का कारण बनते हैं। कई कारणों से स्किन में खुजली की समस्या पैदा होती है। कुछ लोगों में तो स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin) के कारणों का भी पता चल नहीं पाता है।

    अमेरिकन कॉलेज ऑफ एलर्जी, अस्थमा और इम्यूनोलॉजी की माने तो स्किन में खुजली होने पर वहां पर आराम से सहलाना चाहिए, वरना स्किन में खरोंच के साथ ही घाव भी हो सकता है। अगर स्किन में खुजली की समस्या हो रही है, तो ल्यूकवॉर्म वॉटर से नहाना चाहिए। ऐसे में धूप के सीधे संपर्क में आने से भी बचना चाहिए। आप खुजली वाले स्थान में कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसे में आपको बहुत ही राहत मिलेगी। आपको शरीर के जिस भी स्थान में खुजली हो रही है. उस स्थान में टाइप कपड़े पहनने से बचना चाहिए। ऐसा करने से भले ही खुजली का कारण कोई भी हो लेकिन आपको बहुत राहत मिलेगी। स्किन में खुजली क्यों होते हैं, आइए जानते हैं।

    और पढ़ें: स्किन फिशर्स क्या है? जानिए इनके कारण और इलाज

    स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin)

    स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin)

    जैसे कि हमने आपको पहले बताया कि स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin) के कई कारण हो सकते हैं।कुछ कारणों से पैदा होने वाली खुजली की समस्या अपने आप ही ठीक हो जाती है, वहीं कुछ कारणों से लंबे समय तक स्किन में समस्या बनी रहती है। आइए जानते हैं कुछ कारणों के बारे में।

    हाइव्स या पित्ती के कारण स्किन में खुजलीदार बम्प्स

    हाइव्स के कारण भी स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin) की समस्या हो सकती है।स्किन में खुजली का एक कारण है पित्ती भी हो सकता है। पित्ती की समस्या एलर्जी के कारण हो सकती है। कुछ फूड्स जैसे कि सी फूड्स, मूंगफली, पीनट बटर आदि खाने से स्किन में एलर्जी की समस्या पैदा हो जाती है। इस कारण से पूरी स्किन में पित्ती यानी कि हाइव्स निकल आती है। यह समस्या 2 से 6 दिन तक रह सकती है। कुछ लोगों को तो यह कई हफ्तों तक रहती है। हाइव्स बहुत ही आम समस्या है, जो किसी भी व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। यह शरीर के किसी भी स्थान में दिखाई दे सकती है और कुछ समय बाद अपने आप गायब हो जाती है। पित्ती की समस्या किस कारण से हुई है, इसको जानने के बाद ही ट्रीटमेंट किया जाता है। ट्रीटमेंट में एंटी-इचिंग लोशन के साथ ही ओटीसी एंटीहिस्टामाइन दवा दी जाती है, ताकि एलर्जी के लक्षणों (Allergy symptoms) को कंट्रोल किया जा सके।

    और पढ़ें: Red skin: रेड स्किन की समस्या किन कारणों से होती है, क्या इससे पाया जा सकता है छुटकारा?

    कहीं बिस्तर में तो नहीं छुपा है स्किन की खुजली का राज

    अगर आपकी स्किन में अचानक से खुजली की समस्या शुरू हो गई है और साथ ही चकत्ते जैसे बन गए हैं, तो हो सकता है कि यह आपके बेड यानी कि बिस्तर में छिपे हुए खटमल के कारण हो सकता है। जी हां! बिस्तर में छुपे हुए खटमल काटने से स्किन में खुजली की समस्या हो जाती है और इस कारण से स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin) हो जाते हैं। खटमल खून चूसने का काम करते हैं। खटमल चादर या फिर गद्दे पर छिपे हो सकते हैं। अगर आप ध्यान नहीं देंगे, तो यह आपको बहुत परेशान भी कर सकते हैं। ऐसे में स्किन में खुजली की समस्या होती है, जो ज्यादा करने पर घाव का रूप ले लेती है। डॉक्टर खरोंच या घाव में एंटीसेप्टिक मरहम लगाने की सलाह देते हैं। जरूरत पड़ने पर डॉक्टर एंटीहिस्टामाइन भी दे सकते हैं। आपको बेड से खटमल को हटाने के लिए गद्दे और चादर की रोजाना सफाई करनी चाहिए। आप चाहे तो नीम के पत्तों को चादर के नीचे रख सकती हैं। ऐसा करने से खटमल दूर भागेंगे। बिस्तर के आसपास भी साफ-सफाई का ध्यान जरूर रखें।

    और पढ़ें: Melasma On Dark Skin: 7 टिप्स दूर कर सकती है डार्क स्किन पर मेलास्मा की समस्या!

    कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Contact dermatitis) के कारण स्किन में खुजलीदार बम्प्स

    अगर किसी व्यक्ति को एलर्जी की समस्या हो गई है और ऐसे में कोई अन्य स्वस्थ व्यक्ति स्किन संपर्क में आ जाता है, तो उसे भी एलर्जी की समस्या हो सकती है। इसे कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Contact dermatitis) के नाम से जाना जाता है। इस कारण से स्किन में खुजली हो सकती है। यह एलर्जी लेटेक्स या फिर कुछ अन्य मेटल प्रोडक्ट के कारण भी पैदा हो सकती है। इसके कारण 1 से 2 दिन में एलर्जी के लक्षण विकसित हो जाते हैं, जिन्हें 1 से 2 सप्ताह तक गायब होने में लग सकते हैं। डॉक्टर जांच के बाद मरहम या कोल्ड कंप्रेस, कैलामाइन लोशन लगाने की सलाह दे सकते हैं।

    और पढ़ें:डेड स्किन से छुटकारा (Get rid of dead skin) कैसे मिल सकता है?

    ह्युमन ईच माइट या घुन के कारण स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin)

    ह्युमन ईच माइट के कारण भी स्किन में खुजली की समस्या हो जाती है। यह स्किन में ही अंडे देता है और त्वचा में भी टनल बना लेता है। जिस स्थान में स्केबीज होता है, वहां की त्वचा में रेखाएं नजर आती हैं और साथ ही खुजली भी होती है। यह समस्या कलाई, कोहनी, उंगलियों के बीच में या फिर घुटने के पीछे हो सकती है। यह एक प्रकार का इंफेक्शन होता है।स्केबीज की समस्या से बचने के लिए प्रिसक्रिप्शन लोशन का इस्तेमाल करना चाहिए। अगर किसी व्यक्ति को ऐसी समस्या है, तो बेहतर होगा कि उससे दूरी बनाए रखी जाए। वरना अन्य व्यक्तियों में भी आसानी से फैल सकता है। जिस व्यक्ति को इसकी समस्या हो गई है ,उसे अपने कपड़े और अन्य सामान को दूसरों के साथ साझा नहीं करना चाहिए और साथ ही साफ-सफाई का ध्यान भी रखना चाहिए।

    स्किन में खुजलीदार बम्प्स: एटोपिक डर्मेटाइटिस कंडीशन

    इस कंडीशन के कारण भी स्किन में खुजली की समस्या हो जाती है। त्वचा का लाल पड़ना, त्वचा का पपड़ी दार हो जाना या त्वचा में बम्प्स बन जाना और साथ ही त्वचा का रंग बदल जाना आदि इस कंडीशन के लक्षण होते हैं। अधिक खुजली करने से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। यह समस्या चेहरे, खोपड़ी, हाथ या पैर में हो सकती है। ऐसी समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर ने जो लोशन लगाने की सलाह दी है, उसका इस्तेमाल करें।

    और पढ़ें: स्किन पेलनेस के कारण क्या हो सकते हैं?

    स्किन में खुजली की समस्या अगर मच्छर के काटने से या फिर खटमल के काटने से हुई है तो यह कुछ समय बाद अपने आप ठीक भी हो जाती है। आपको इस समस्या से बचने के लिए घर की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना होगा। अगर एलर्जी के कारण स्किन में लालिमा या पित्ती हो गई है, तो आपको एलर्जी का कारण पता करना होगा। कुछ बातों का ध्यान रखा आप स्किन संबंधित समस्याओं से बच सकते हैं।

    इस आर्टिकल में हमने आपको स्किन में खुजलीदार बम्प्स (Itchy Bumps On The Skin) को लेकर जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की ओर से दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/02/2022 को
    और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड