आंवला, अदरक और लहसुन बचा सकते हैं हेपेटाइटिस बी से आपकी जान

Medically reviewed by | By

Update Date मई 21, 2020 . 2 mins read
Share now

हेपेटाइटिस बी लिवर में होने वाला एक रोग है जो हेपेटाइटिस बी वायरस के कारण फैलता है। यह एक घातक बीमारी है जिसका जल्दी पता नहीं चल पाता है। यह संक्रमित व्यक्ति के खून के संपर्क में आने से फैलता है। लंबे समय तक अगर यह बीमारी बनी रहे तो सिरोसिस या लिवर कैंसर होने की भी संभावना रहती है और गंभीर स्थिति में व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। हेपेटाइटिस बी आज एक ग्लोबल हेल्थ प्रॉब्लम बन चुका है और दुनियाभर में करीब 25 करोड़ से ज्यादा लोग इस बीमारी की चपेट में हैं।

ऐसे फैलती है यह बीमारी

हेपेटाइटिस बी संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध बनाने, ब्लेड, उपकरण का इस्तेमाल करने या फिर संक्रमित सुई के प्रयोग से फैलता है। यह संक्रमित मां से उसके गर्भ में पल रहे बच्‍चे को भी हो सकता है। इसके अलवा ब्लड ट्रांसफ्यूजन या ऑर्गन ट्रांसप्लांट करते समय ठीक से जांच न करने पर भी हेपेटाइटिस बी हो सकता है। ऐसा माना जाता है कि हेपेटाइटस बी, एचआईवी से 50 गुना ज्यादा तेजी से फैलता है।

यह भी पढ़ें : Flu: फ्लू क्या है ? जाने इसे कारण , लक्षण और उपाय

60% लिवर कैंसर का कारण

हेपेटाइटिस बी एक वायरल संक्रामक रोग है जो हेपेटाइटिस बी वायरस के कारण फैलता है। कई बार हेपेटाइटिस बी से जुड़ी बीमारी में ज्यादा तकलीफ नहीं होती है जिस कारण लंबे समय तक इस बीमारी का पता भी नहीं चलता है। इस कारण हर साल कई लोगों की हेपेटाइटिस बी के कारण मौत भी हो जाती है। हेपेटाइटिस बी के वायरस के कारण लिवर भी खराब हो सकता है जिससे, हर साल चार हजार से पांच हजार लोगों की मृत्यु हो जाती है। विश्वभर में लिवर कैंसर के 60% मामले हेपेटाइटिस बी के कारण होते हैं।

हेपेटाइटिस बी के घरेलू उपचार क्या हैं?

आंवला

आंवले में एंटी वायरल गुण पाया जाता है। हेपेटाइटिस बी से निपटने के लिए आप आंवले के रस में शहद मिलाकर दिन में कई बार इसका सेवन करें। इसके अलावा आंवले के रस को पानी में मिलाकर पिएं या आंवला पाउडर में गुड़ मिलाकर एक महीने तक दिन में दो बार खाएं।


hepatitis home remedies

लहसुन

लहसुन में मेटाबोलाइट्स और अमीनो एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो, हेपेटाइटिस बी के वायरस को तेजी से खत्म करने में मदद करता है। कच्चे लहसुन की कलियां चबाने से लिवर की बीमारी से छुटकारा मिलता है।

यह भी पढ़ें : Glaucoma :ग्लूकोमा क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चुकंदर

चुकंदर में पर्याप्त मात्रा में आयरन, पोटैशियम, फॉलिक एसिड, मैग्नीशियम, कैल्शियम और कॉपर के अलावा विटामिन ए, बी और सी पाया जाता है। ये सभी मिनरल्स लिवर में डैमेज सेल्स को दोबारा जोड़कर सूजन और दर्द से राहत दिलाते हैं। दो गिलास चुकंदर का जूस रोजाना पीने से पीलिया में जल्दी आराम मिलता है।

ऑलिव लीफ

ऑलिव लीफ में फाइटोकेमिकल नाम का एक कंपाउंड पाया जाता है जिसे ओलेरोपिन कहते हैं जिसमें एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण अधिकता में मौजूद होते हैं। एक कप पानी में एक चम्मच सूखे ऑलिव लीफ को दस मिनट तक उबालें और फिर इसे छानकर दिन में तीन बार पिएं। ऑलिव लीफ की जगह बाजार में उपलब्ध ऑलिव लीफ के 500 एमजी कैप्सूल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन, सिर्फ डॉक्टरी सलाह से ही।

निष्कर्ष- हेपेटाइटिस बी मूल रूप से लिवर को प्रभावित करता है। ऐसे में घरेलू उपचार कर आप अपने लिवर को इसके खतरों से बचा सकते हैं।

अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लेना न भूलें।

और पढ़ें:-

Bajra : बाजरा क्या है?

Astragalus: एस्ट्रागैलस क्या है?

Camphor: कपूर क्या है?

Cardamom : इलायची क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

प्रेगनेंसी में इम्यून सिस्टम पर क्या असर होता है?

जानें प्रेगनेंसी में इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण शिशु पर इसका क्या प्रभाव पड़ सकता है। साथ ही प्रेगनेंसी में इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए टिप्स।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shivam Rohatgi

गर्भावस्था का बालों पर असर को कैसे रोकें? जाने घरेलू उपाय

इस लेख में जाने की गर्भावस्था का बालों पर असर क्यों और कैसे पड़ता है और साथ ही इसे रोकने के लिए आप क्या कर सकती हैं। Home remedies for hair loss in pregnancy

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shivam Rohatgi

Constipation (Adult) : कब्ज (कॉन्स्टिपेशन) क्या है?

जानिए कब्ज क्या है in hindi, कब्ज के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, Constipation को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Anoop Singh

Pinched nerve : नस दबना (पिंच्ड नर्व) क्या है?

नस दबना (पिंच्ड नर्व) क्या है, नस दबने (पिंच्ड नर्व) के कारण, जोखिम व उपचार क्या है, इसको ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Anoop Singh