स्टडी: PTSD के साथ ही बुजुर्गों में रेयर स्लीप डिसऑर्डर के मामलों में इजाफा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

वाशिंगटन में हाल ही में रेयर स्लीप डिसऑर्डर से संबंधित स्टडी हुई। स्टडी के दौरान ये बात सामने आई है कि बजुर्गो में पोस्ट-ट्रॉमैटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर की वजह से स्लीपिंग बिहेवियर में असर पड़ता है, जोकि सामान्य आबादी पर पड़ने वाले असर से कहीं ज्यादा है। रिसर्चर ये भी चेक करना चाहते हैं कि ये डिसऑर्डर जो कि आरबीडी (RBD) के रूप में जाना जाता है, कहीं पार्किंसंस रोग जैसे न्यूरोडीजेनेरेटिव स्थितियों के विकास का प्रारंभिक संकेत तो नहीं है।

यह भी पढ़ें: रुजुता दिवेकरः ब्रेन हैल्थ के लिए जरुरी है लोअर स्ट्रैंथ एक्सरसाइज

नींद के समय आंखों की स्थिति क्या होती है?

आमतौर पर नींद के समय आंखे अस्थायी रूप पैरालाइज हो जाती हैं। इस दौरान हमे सपने दिखाई देते हैं। रेपिड आई मूवमेंट स्पील बिहेवियर डिसऑर्डर (Rapid Eye Movement Sleep Behavior Disorder) (RBD) के मामलों में ऐसा नहीं होता है। इस स्थिति से गुजर रहे लोग अपने साथी हो चोट पहुंचा सकते हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि ऐसे लोगों की संख्या एक प्रतिशत से कम है। जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, 394 बुजुर्गों में किए गए अध्ययन में यह समस्या 9 फिसदी अधिक पाई गई, वहीं स्लीप और पोस्ट-ट्रॉमैटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD) के साथ ये 21 फिसदी तक पहुंच गई। वीए पोर्टलैंड हेल्थ केयर सिस्टम में साल 2015 और 2017 के बीच अध्ययन किया गया। RBD को डायग्नोज करने के लिए अध्ययन के 8 घंटों के दौरान मांसपेशियों की गतिविधि की लगातार निगरानी की गई। अध्ययन में पाया गया कि PTSD वाले लोगों में और बिना PTSD के बुजुर्गों में तुलना के दौरान RBD वाले लोगों में रेयर स्लीप डिसऑर्डर 2 गुना अधिक थी।

यह भी पढ़ें: जानें कैसे धुएं का एक कश भी आपके लिए है खतरनाक?

रेयर स्लीप डिसऑर्डर और स्वास्थ्य का संबंध

चिकित्सक व वरिष्ठ लेखक मिरांडा लिम ने कहा कि ‘यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जनरल पॉपुलेशन में RBD को पार्किंसंस रोग से जोड़ा जाता है। इसके लक्षण पहले दिख जाते हैं।’ आगे वो कहते हैं कि ‘हमे नहीं पता कि जिन्हें PTSD है और साथ ही हाई रेट RBD है, उनमे पार्किंसंस रोग विकसित होगा या नहीं। लेकिन हमें इस प्रश्न का जवाब खोजना होगा।’ रिसर्चर ने पाया है कि ब्रेन में क्रोनिक स्ट्रेस होने पर PTSD के साथ ही स्लीपिंग डिसऑर्ड पैदा हो जाता है। ये न्यूरोडीजेनेरेटिव प्रक्रियाओं को तेज करने का काम करता है। हालांकि पार्किंसंस के कुछ लक्षणों को कम करने के लिए कई उपचार हैं, इस दौरान पेशेंट को कंपकंपी और थकान महसूस होती है, लेकिन अभी तक इसे रोकने के लिए कोई निश्चित उपचार नहीं है।

लिम ने कहा कि जब तक किसी मरीज में पार्किंसंस के क्लासिक लक्षण दिखाते हैं, तब तक बहुत देर हो सकती है। अगर पहले से ही RBD के लक्षणों को पहचान लिया जाए तो पार्किंसंस के लक्षणों को रोका जा सकता है।

यह भी पढ़ें: डेंगू से हुई एक और मौत, बेहद जरूरी है जानना इसके लक्षण और उपाय

रेयर स्लीप डिसऑर्डर क्या है?

रेयर स्लीप डिसऑर्डर भी नींद से जुड़ी अन्य समस्याओं जैसे, स्लीप एपनिया, नार्कोलेप्सी और अनिद्रा की तरह होती है। हालांकि, रेयर स्लीप डिसऑर्डर अधिक गंभीर हो सकती है। मौजदा समय में नींद से जुड़ी लगभग 80 से अधिक स्लीप डिसऑर्डर की जानकारियां इक्ठ्ठी की जा चुकी हैं, जिसका सबसे ज्यादा प्रकोप अमेरिकियों के जीवन पर देखा जा रहा है। रेयर स्लीप डिसऑर्डर या नींद से संबंधित अन्य समस्याओं के प्रभाव लगभग एक जैसे या अलग-अलग भी हो सकते हैं। सामान्य तौर पर, नींद की बीमारी वाले रोगियों को रात में सोने में परेशानी महसूस होती है और दिन में अत्यधिक नींद आती है।

जानिए रेयर स्लीप डिसऑर्डर के कारण होने वाली कुछ समस्याएं

1. नींद में बड़बड़ाना भी हो सकता है रेयर स्लीप डिसऑर्डर

नींद में बड़बड़ाने या बात करने की समस्या अक्सर कई लोगों में देखी जाती है। हालांकि, नींद में जो व्यक्ति बात करता है, सुबह जागने पर उसे इसके बारे में कुछ याद भी नहीं रहता है। हालांकि, यह एक सामान्य स्थिति हो सकती है इसके लिए किसी भी तरह के उपचार की आवश्यकता नहीं हो सकती है।

2.रेयर स्लीप डिसऑर्डर के लक्षण हैं नींद में चलना

कई लोग नींद में सोते हुए ही अपने बिस्तर से उठकर इधर-ऊधर घूमने-फिरने की समस्या से भी परेशान रहते हैं जिसके नींद में चलना या स्लीप वॉकिंग भी कहा जाता है। बड़े लोगों की तुलना में इसकी समस्या छोटी उम्र के बच्चों में अधिक देखी जा सकती है। हालांकि, आमतौर पर इसकी समस्या पारिवारिक इतिहास पर भी निर्भर कर सकती है। नींद में चलना भी सामान्य स्थिति ही होती है हालांकि, कुछ मामलों में स्लीप वॉकिंग खतरनाक स्थिति हो सकती है। कई बार लोग नींद में चलते हुए आत्महत्या करने का प्रयास करने के साथ ही, किसी का खून करने का भी प्रयास कर सकते हैं। इसके अलावा नींद में चलते हुए, स्टोव चालू करने की आदत, सीढ़ियों से नीचे गिरने का डर हो सकता है। इन स्थितियों का कोई उपचार नहीं है, इससे बचाव करने के लिए आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए, जैसे- घर के दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें, चाकू या अन्य तेज वस्तु सुरक्षित स्थान पर रखें।

यह भी पढ़ें: ‘प्लॉगिंग’ के समय प्रधानमंत्री ने की स्वच्छता की अपील

3.नींद में डर जाना

अक्सर छोटे बच्चे सोते-सोते रोने लगते हैं, जिसका कारण नींद में डर जाना होता है। आमतौर पर सोते हुए डरावने सपने देखने के कारण ही डर लगता है। सोते हुए डरना, चिल्लाना या बहुत डर की वजह से बहुत ज्यादा पसीना होना भी एक आम समस्या होती है। लेकिन, अगर यह समस्या लंबे समय तक बनी रहे, तो डॉक्टर से इसके उपचार के बारे में बात किया जा सकता है।

4.रेयर स्लीप डिसऑर्डर के कारण हो सकता है स्लीप पैरालिसिस

स्लीप पैरालिसिस एक सामान्य स्थिति होती है आनुवांशिक हो सकती है। स्लीप पैरालिसिस की स्थिति रेपिड आई मूवमेंट स्पील बिहेवियर डिसऑर्डर के कारण हो सकती है। REM के दौरान, शरीर की मांसपेशियों को लकवा हो सकता है। लेकिन ऐसा नींद से जागने के तुरंत बाद होता है। स्लीप पैरालिसिस में ऐसी स्थिति होती है जब व्यक्ति नींद से जागता हो, तो खुद के शरीर के अंगों को हिलाने में असमर्थ महसूस करता है। ऐसी स्थिति लगभग 30 सेकेंड तक या कुछ मिनटों तक रह सकती है। इस रेयर स्लीप डिसऑर्डर की घटना से लगभग 50 प्रतिशत लोग पूरे जीवन में एक बार इस स्थिति का सामना जरूर करते हैं। वहीं, लगभग 4 प्रतिशत लोग इस रेयर स्लीप डिसऑर्डर स्थिति से लगभग पांच बार गुजरते हैं। यह जीवन के लिए जोखिम भरा नहीं होता है। लेकिन, अगर इसकी स्थिति बार-बार हो तो आपक अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

ऊपर दी गई रेयर स्लीप डिसऑर्डर से जुड़ी सलाह किसी भी चिकित्सा को प्रदान नहीं करती हैं। रेयर स्लीप डिसऑर्डर के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

और पढ़ेंः-

ज्यादा सोने के नुकसान से बचें, जानिए कितने घंटे की नींद है आपके लिए जरूरी

अच्छी नींद के जरूरी है जानना ये बातें, खेलें और जानें

नींद की गोलियां (Sleeping Pills): किस हद तक सही और कब खतरनाक?

इस दिमागी बीमारी से बचने में मदद करता है नींद का ये चरण (रेम स्लीप)

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्लीप सेक्स क्या है? जानें इसके बारे में सबकुछ

स्लीप सेक्स क्या है, स्लीप सेक्स के लक्षण क्या है, सेक्सॉम्निया का इलाज क्या है, सेक्सॉम्निया का पता कैसे लगाएं, sleep sex sexomnia in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

Omeprazole+Domperidone: ओमेप्राजोल+डोमपेरिडोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए ओमेप्राजोल+डोमपेरिडोन की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, ओमेप्राजोल+डोमपेरिडोन उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Omeprazole+Domperidone डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Quiz : बच्चों की नींद के लिए क्या है जरूरी?

बच्चों को अच्छी नींद ऐसे में माता-पिता क्या करें?

के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
क्विज फ़रवरी 10, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Aceclofenac + Paracetamol + Chlorzoxazone : एसिक्लोफेनाक + पेरासिटामोल + क्लोरजोक्साजोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए एसिक्लोफेनाक + पेरासिटामोल + क्लोरज़ोक्साज़ोन की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Aceclofenac + Paracetamol + Chlorzoxazone डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 9, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

प्रेग्नेंसी के दौरान रागी के सेवन से से लाभ होता है

प्रेग्नेंसी में रागी को बनाएं आहार का हिस्सा, पाएं स्वास्थ्य संबंधी ढेरों लाभ

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ जुलाई 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
बच्चों को नींद न आना-bacho-ko-neend-na-aana

बच्चों को नींद न आना नहीं है मामूली, उनकी अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये टिप्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
नींद की गोली

इंसोम्निया में मददगार साबित हो सकती हैं नींद की गोली!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
प्रकाशित हुआ मई 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
महिला और पुरुषों के स्लीप पैटर्न

महिला और पुरुषों के स्लीप पैटर्न क्यों होते हैं अलग?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें