कैफीन की आदत कम करना चाहते हैं, तो जानिए इस पर एक्सपर्ट की राय

    कैफीन की आदत कम करना चाहते हैं, तो जानिए इस पर एक्सपर्ट की राय

    अधिकतर लोग कैफीन के आदि होते हैं, उनमें से कई लोग इसे छाेड़ना भी चाहते हैं। लेकिन कैफीन की लत ऐसी होती है कि इसे छोड़ना इतना आसान नहीं होता है। क्योंकि कैफीन दुनिया का सबसे अधिक सेवन किया जाने वाला साइकोएक्टिव पदार्थ है यानि कि यह शरीर में तेजी से रक्त का संचार बढ़ाकर, दिमाग को तेजी से एक्टिव करता है। इसके लिए यह मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर जैसे एडेनोसिन और डोपामिन के स्तर को प्रभावित करता है। जो लोग रोजाना कैफीन का सेवन करते हैं, उनका शरीर कैफीन के प्रभावों का आदी होने लगता है। हम यह भी कह सकते हैं कि वो इसके लती बन जाते हैं। जब धीरे-धीरे शरीर को कैफीन की आदत हो जाती है, तो इसका सेवन बंद करने के आमतौर पर 12 से 24 घंटों के अंदर कैफीन विड्रॉल के लक्षण नजर आने लगते हैं। इसके अलावा जो लोग नियमित कैफीन का सेवन करने के बाद अचानक कैफीन छोड़ते हैं। उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, जिनमें सिर दर्द भी शामिल है। जिसमें सिरदर्द और चिड़चिड़ापन जैसे लक्षणों का सामना करना पड़ता है, जिसे कैफीन विड्रॉल सिंड्रोम कहते हैं। इसका समय रहते इलाज जरूरी है। आइए जानिए इसके बारे में यहां:

    और पढ़ें: लॉकडाउन में आप भी तो नहीं पी रहे ज्यादा चाय और कॉफी, कितने बड़े हैं नुकसान?

    कैफीन की लत कैसे छुड़वानी चाहिए (How to get rid of caffeine addiction)

    कैफीन विड्रॉल कई लोगो के लिए एक गंभीर समस्या हाे सकती है। कई लोग अपने कैफीन की लत को छोड़ना चाहते हैं। यदि आप ऐसा सोज रहे हैं, तो आपकाे अचानक से नहीं छोड़ना चाहिए। आपको अपने लाइफ से धीरे-धीरे इसकी मात्रा कम करनी चाहिए। लेकिन कई लोगों में रोजाना कम मात्रा में कैफीन का सेवन करने के बाद भी कैफीन अचानक छोड़ने पर विड्रॉल के हल्के लक्षण नजर आ सकते हैं।

    और पढ़ें: Cardiovascular Health and Tea benefits: कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ के लिए चाय के फायदे के लिए ग्रीन टी या ब्लैक टी है बेहतर!

    कैफीन विड्रॉल के दौरान नजर आने वाले लक्षण (Symptoms seen during caffeine withdrawal)

    कैफीन के सेवन से आपका शरीर उसका आदि हो जाता है, जोकि शरीर के कई सिस्टम को प्रभावित करता है। कैफीन विड्रॉल से पीड़ित मरीज में सबसे पहले कैफीन विड्रॉल के लक्षण नजर आ सकते हैं। इसके अलावा इस तरह के लक्षण भी नजर आ सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

    ऐसा जरूरी नहीं है कि यह लक्षण सभी में नजर आएं। वैसे अधिक लोगों में आते हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी हो सकते है, जिनमें यह लक्षण नजर न आए। ऊपर बताएं गए लक्षणों में किसी भी लक्षण के सामने आने के बाद आप डॉक्टर से मिलें। हर किसी के शरीर पर इसके अलग प्रभाव डाल सकता है। इसलिए किसी भी परिस्थिति के लिए आप डॉक्टर से बात कर लें।

    और पढ़ें: चाय की चुस्की से नहीं दूध के सेवन से करें सिगरेट की आदत दूर!

    कैफीन विड्रॉल होने के कारण क्या है?

    कैफीन एक मादक और नशीला पदार्थ है, जो न्यूरोट्रांसमीटर को एक्टिव रखता है और धीरे-धीरे शरीर और दिमाग दोनों ही कैफीन का आदी होने लगता है। जब व्यक्ति सीमित मात्रा में कैफीन का सेवन करता है तो कई बार इसे छोड़ना बेहद आसान होता है लेकिन अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन करने के बाद जब यह लत बन जाती है तो कैफीन का सेवन किए बिना व्यक्ति एक्टिव नहीं हो पाता और उसके रोजमर्रा के कई काम प्रभावित होते हैं।

    इसके साथ ही कैफीन का सेवन करने के बाद यह पूरी तरह ब्लड स्ट्रीम में अवशोषित हो जाता है और 30 से 45 मिनट के अंदर खून के स्तर को बढ़ा देता है। सिर्फ इतना ही नहीं कैफीन का चयापचय लिवर द्वारा होता है। स्वास्थ्य समस्याओं और जीवन पर कैफीन के खराब प्रभाव से बचने के लिए कैफीन विड्रॉल करने की जरुरत पड़ती है।

    और पढ़ें:डायबिटीज में सिनेमन टी: जानना न भूलें दालचीनी की चाय के ढेरों फायदों के बारे में!

    कैफीन विड्रॉल के साथ मुझे क्या समस्याएं हो सकती हैं (What Problems Can I Have With Caffeine Withdrawal?)?

    कैफीन विड्रॉल से स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। कैफीन सेरेब्रल वैस्कुलर सिस्टम, ब्लड प्रेशर, श्वसन तंत्र, गैस्ट्रिक और कोलोनिक एक्टिविटी, यूरीन की मात्रा पर असर डालता है। कैफीन विड्रॉल के कारण चिंता, घबराहट, अवसाद, नींद न आना और पेट खराब होने सहित कई अन्य समस्याएं हो सकती हैं।

    सिर्फ इतना ही नहीं कैफीन का अधिक सेवन करने पर यह प्लेसेंटा को पार करके रक्त के प्रवाह को बाधित करता है और भ्रूण के विकास को प्रभावित करता है। प्रेगनेंट महिला में कैफीन विड्रॉल के लक्षण स्पष्ट नहीं हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

    यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

    और पढ़ें:शरीर पर कैफीन का असर : जानें कब, कितना है फायदेमंद और नुकसानदायक

    कैफीन विड्रॉल का निदान कैसे किया जाता है (How is Caffeine Withdrawal Diagnosed)?

    कैफीन विड्रॉल का पता लगाने के लिए डॉक्टर शरीर की जांच करते हैं और मरीज का पारिवारिक इतिहास भी देखते हैं। इस समस्या को जानने के लिए संबंधित लक्षणों का मूल्यांकन करते हैं। डॉक्टर पीड़ित व्यक्ति से कैफीन विड्रॉल से जुड़े लक्षणों के संबंध में कुछ सवाल पूछते हैं और स्लीप पैटर्न, हाइपोथायरॉयडिज्म, डिप्रेशन, इंफेक्शन जैसी समस्याओं का पता लगाने के लिए टेस्ट कराने की सलाह देते हैं। कैफीन विड्रॉल का निदान आमतौर पर लक्षणों के आधार पर ही किया जाता है।

    और पढ़ें: शिशु में हिमोरॉइड्स : क्या अपने बच्चे को बचाया जा सकता है इस गंभीर स्थिति से?

    कैफीन विड्रॉल का इलाज कैसे होता है (How is Caffeine Withdrawal Treated)?

    कैफीन विड्रॉल का इलाज संभव है। कुछ थेरिपी और दवाओं से व्यक्ति में कैफीन विड्रॉल के असर को कम किया जाता है। कैफीन विड्रॉल के लिए कई तरह की मेडिकेशन की जाती है :

    • कैफीन विड्रॉल के कारण सिरदर्द और मांसपेशियों में दर्द को कम करने के लिए दवा दी जाती है।
    • कैफीन विड्रॉल के कारण गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण, जैसे मतली या उल्टी का इलाज ओवर-द-काउंटर दवाओं से किया जा सकता है।
    • ओरल और इंट्रावेनस दवाओं से नींद न आने के लक्षणों को कम किया जाता है।

    इसके अलावा कैफीन की मात्रा को धीरे-धीरे कम करना चाहिए और कैफिनेटेड पेयपदार्थ की जगह हर्बल टी का सेवन करना फायदेमंद होता है।

    और पढ़ें:डायबिटीज में सिनेमन टी: जानना न भूलें दालचीनी की चाय के ढेरों फायदों के बारे में!

    अगर आपको कैफीन विड्रॉल है तो आपके डॉक्टर आपको पोषक तत्वों से भरपूर हेल्दी और संतुलित आहार का सेवन करने के लिए बताएंगे। इसके साथ ही थकान और सिरदर्द के लक्षणों को कम करने के लिए दिन में सात से आठ गिलास पानी पीने के लिए कहेंगे। कैफीन विड्रॉल के लक्षणों से उबरने के लिए पर्याप्त आराम करना चाहिए और दोस्तों एवं परिवार की मदद लेनी चाहिए। कैफीन विड्रॉल के असर को कम करने के लिए निम्न फूड्स का सेवन करना चाहिए:

    • फल
    • हरी पत्तेदार सब्जियां
    • सलाद
    • ब्रोकली
    • जूस
    • सूप
    • अंकुरित अनाज

    इस संबंध में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपके स्वास्थ्य की स्थिति देख कर ही डॉक्टर आपको उपचार बता सकते हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    डॉ. ज्ञान चंद्रा द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/05/2022 को