Tick Bite: टिक बाइट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट May 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिभाषा

टिक एक छोटा कीट होता है जो पहाड़ी इलाकों और वहां अधिक होता है जहां जंगली जानवर और पक्षी अधिक होते हैं। टिक के काटने को टिक बाइट्स कहा जाता है। टिक छोटा सा कीड़ा होता है जो जानवरों और पक्षियों के पंखों और बालों में भी चिपक जाता है। जब कोई इनके संपर्क में आता है तो टिक बाइट हो सकता है। वैसे तो यह बहुत हानिकारक नहीं है, लेकिन यदि समय रहते उपचार न कराया जाए तो टिक बाइट्स से गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

टिक बाइट क्या है?

कई तरह के छोटे-छोटे कीट होते हैं जिनके काटने से त्वचा लाल हो जाती है, लेकिन सभी हानिकारक नहीं होते। लेकिन आपको यदि टिक बाइट हो तो इसे हल्के में न लें। छोटा सा यह कीट त्वचा के अंदर घुसकर आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इसके काटने से संक्रमण के साथ ही कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं। यदि आपको टिक बाइट हो जाए तो इससे उबरने के लिए सही समय पर उपचार कराना जरूरी है।

और पढ़ेंः Astigmatism: एस्टिगमैटिज्म क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपचार

बीमारियां

टिक शरीर के किस हिस्से में काटते हैं?

टिक आमतौर पर शरीर के गर्म और नमी वाले हिस्से को पसंद करते हैं। एक बार टिक जब आपके शरीर में चले जाते हैं, तो वह आपके बगल, कमर या बालों में भी घुस सकते हैं। जब वे एक वांछनीय स्थान पर होते हैं, तो वे आपकी त्वचा में काटते हैं और रक्त खींचना शुरू कर देते हैं। टिक शरीर में जानने के बाद करीब 10 दिनों तक खून पीता रहता है और उसके बाद अपने आप शरीर से अलग होकर गिर सकता है।

टिक बाइट से होने वाली अन्य बीमारी

टिक खटमल या मक्खी की तरह नहीं होते हैं जो आपकी त्वचा पर काटकर उड़ जाते हैं, बल्कि शरीर में जाने के बाद वहां घर बना लेते हैं और अपना सिर आपकी त्वचा में घुसा आपके शरीर को भोजन की तरह खाने लगते हैं।यह आपके शरीर में कई दिनों तक रहते हैं। आमतौर पर टिक के काटने पर आपको कुछ महसूस नहीं होता है। न दर्द होता है और न ही खुजली होती है, क्योंकि यह बहुत छोटा होता है। शुरु में यह जमी हुई गंदगी की तरह दिखाई देता है, लेकिन जैसे-जैसे टिक आपके शरीर को खाता रहता है उस हिस्से की त्वचा में सूजन आ जाती है और टिक बाइट को आसानी से पहचाना जा सकता है। जहां पर टिक बाइट हुआ है वहां कि त्वचा लाल होकर थोड़ी सूज जाती है। कुछ लोगों की त्वचा पर 1 से 2 इंच तक रेडनेस हो जाती है, लेकिन यह फैलता नहीं है, जब तक कि यह रैश की तरह न दिखाई दे, जो कि बीमारी का लक्षण हो सकता है।

और पढ़ेंः Dental Abscess: डेंटल एब्सेस (दांत का फोड़ा) क्या है?

लक्षण

टिक बाइट में रैश कैसा दिखाई देता है?

टिक बाइट से होने वाली कुछ बीमारियों में ही रैश दिखाई देता है। यह कैसा दिखेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि कौन सी बीमारी हुई है।

लाइम डिसीज- यह बीमारी होने पर अधिकांश लोगों को रैश हो जाता है, लेकिन ऐसा सबको नहीं होता। टिक के काटने के बाद यह 3 से 30 दिन के भीतर दिखाई देता है। आमतौर पर यह एक हफ्ते के बाद ही दिखाई देता है। जहां टिक काटता है उस हिस्से में राउंड या ओवल शेप में त्वचा लाल हो जाती है। शुरुआत में यह बाइट से हुए रिएक्शन की तरह दिखता है, लेकिन कुछ दिनों या हफ्ते में रैश बड़ा होने लगता है। आमतौर पर यह 6 इंच तक फैल जाता है और आपको गर्म जैसा महसूस होता है, लेकिन इसमें न तो दर्द होता है और न ही खुजली होती है।

रॉकी मॉउन्टेन स्पॉटेड फीवर- इस डिसीज में लक्षण दिखने के 2 से 5 दिन के भीतर रैश (दाने) दिखने लगते हैं। यह सभी में समान नहीं दिखता है, शुरू में यह कलाई और एंकल पर छोटा, फ्लैट, पिंक स्पॉट जैसा दिखता है। यहां से यह शरीर के बाकी हिस्सों में फैल जाता है। आधे मामलों में कुछ हफ्ते बाद स्पॉट लाल या पर्पल हो जाते हैं।

सदन टिक एसोसिएडेट रैश इलनेस- इसमें लाइम डिसीज की तरह दाने निकलते हैं।

टुलारेमिया- टुलारेमिया कई तरह के होते हैं, लेकिन इसमें सबसे आम टुलारेमिया में दर्द होता है और टिक बाइट वाले हिस्से में ओपन सोर होता है।

एर्लिचियोसिस- बड़ों की तुलना में बच्चों को रैश अधिक हो जाते हैं। रैश बहुत छोटे, फ्लैट, लाल और पर्पल रंग के हो सकते हैं।

अन्य लक्षण

जरूरी नहीं की लाइम डिसीज और रॉकी मॉउन्टेन स्पॉटेड फीवर होने पर सबको रैश (चकत्ते) हो, इसलिए आपको टिक बाइट के अन्य लक्षणों के बारे में भी पता होना चाहिए जैसेः

शरीर में दर्द

ठंडी लगना

थकान महसूस होना

बुखार

सिरदर्द

गंभीर बाइट होने पर सांस लेने में दिक्कत

लाइम डिसीज में आपको जोड़ों में दर्द भी हो सकता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।
और पढ़ेंः Upper Airway Obstruction: अपर एयरवे ऑब्स्ट्रक्शन क्या है?

उपचार

टिक बाइट का उपचार कैसे किया जाता है?

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जब भी आपको टिक बाइट दिखे तो टिक को निकालकर फेंक दे। इसे आप खुद ही टिक रिमूवल टूल या ट्विजर सेट से निकाल सकते हैं। इसके लिए इन स्टेप्स को फॉलो करेः

  • अपनी त्वचा की सतह के करीब टिक को पकड़ें।
  • स्थिर दबाव बनाते हुए त्वचा से सीधे ऊपर की ओर दूर खींचें। इसे घुमाएं या मोड़ें नहीं।
  • जिस हिस्से पर टिक ने काटा है वहां देखें कि टिक को हटाने के दौरान क्या उसका सिर या कुछ हिस्सा त्वचा में छूट तो नहीं गया है, यदि हां तो उसे भी हटा दें।
  • टिक काटने वाले हिस्से को साबुन या पानी से साफ करें।
  • एक बार जब टिक को हटाने के बाद इसे रबिंग अल्कोहल में डुबो कर सुनिश्चित करें कि यह मृत है। इसे सील्ड कंटेनर में रखें।
  • जितनी जल्दी संभव हो डॉक्टर के पास जाएं और इसका उपचार करवाएं। शरीर के अलग-अलग हिस्से में टिक बाइट के खतरे अलग-अलग होते हैं।
और पढ़ेंः Shin splints: शिन स्प्लिंट्स क्या है?

बचाव

टिक बाइट से होने वाले इन्फेक्शन से बचाव

टिक से होने वाली बीमारियों से बचाव का बेहतरीन तरीक है टिक बाइट से बचना। इसलिए जब भी कभी आप जंगल या पहाड़ी इलाके में जाएं तो पूरी बांह के कपड़े पहनें, क्योंकि ऐसे इलाकों में टिक बाइट का खतरा अधिक होता है। इसके साथ ही इन बातों का ध्यान रखेः

–  रास्ते/पंगडडी के बीच से चलें।

– कम से कम 20 प्रतिशत DEET टिक रिपलेंट का उपयोग करें।

– कपड़ों और गियर पर 0.5 प्रतिशत परमेथ्रिन लगाएं।

– बाहर से आने के बाद दो घंटे के भीतर स्नान करें।

– बाहर से आने के बाद त्वचा की बारीकी से जांच करें। खासतौर पर बाहों के नीचे, कानों के पीछे, पैरों के बीच, घुटनों के पीछे और बालों में

– टिक जब 24 घंटे तक आपके शरीर के अंदर रहकर खून चूसता है तब बीमारी की संभावना रहती है। इसलिए यदि जल्दी इसे पहचानकर निकाल दिया जाए तो संक्रमण और बीमारी से बचा सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Bandy Syrup: बैंडी सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

बैंडी सिरप की जानकारी in hindi. दवा का डोज, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां और चेतावनी को जानने के साथ इसके रिएक्शन और स्टोरेज को जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Betnovate GM: बेटनोवेट जीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

बेटनोवेट जीएम की जानकारी in hindi. डोज, साइड इफेक्ट्स, सावधानी और चेतावनी के साथ रिएक्शन से कैसे बचें? और इसे कैसे स्टोर करें जानने के लिए पढ़ें आगे...

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Fever : बुखार क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

जानिए बुखार (Fever) की जानकारी in hindi,निदान और उपचार, बुखार के क्या कारण हैं, लक्षण क्या हैं, घरेलू उपचार, जोखिम फैक्टर, Fever का खतरा, जानिए जरूरी बातें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
लक्षण, स्वास्थ्य June 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

मलेरिया से जुड़े मिथ पर कभी न करें विश्वास, जानें फैक्ट्स

जानिए मलेरिया से जुड़े मिथ और फैक्ट्स क्या हैं, Myths and Facts about Malaria in hindi, मलेरिया से जुड़े मिथ से कैसे दूर रहें, Malaria se jude myths, malaria se kaise bachav kareien, मलेरिया से कैसे बचें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal

Recommended for you

फेफड़ों की सफाई

वर्ल्ड लंग्स डे: इस तरह कर सकते हैं फेफड़ों की सफाई, बेहद आसान हैं तरीके

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ September 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
वायल बुखार के घरेलू उपाय

वायरल बुखार के घरेलू उपाय, जानें इस बीमारी से कैसे पायें निजात

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ July 14, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Caffeine overdose- कैफीन का ओवरडोज

Caffeine Overdose: कैफीन का ओवरडोज क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ July 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बीटाडीन क्रीम

Betadine Cream: बीटाडीन क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ June 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें